सूखी खांसी - Dry Cough in Hindi

Dr. Nabi Darya Vali (AIIMS)MBBS

July 10, 2018

March 06, 2020

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
सूखी खांसी
सुनिए कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

सूखी खांसी​ क्या है?

फेफड़ों से हवा के अचानक और तेज़ आवाज़ के साथ निष्कासन को खांसी कहा जाता है। वायुमार्ग में जमा होने वाले किसी भी असुविधा जनक पदार्थ को निष्कासित करने के लिए यह शरीर की प्राकृतिक प्रतिक्रिया है। जुकाम या फ्लू से ग्रसित ज्यादातर लोगों को खांसी होती है। खांसी सूखी व खुजली वाली हो सकती है, या बलगम वाली भी हो सकती है।

(और पढ़ें - फेंफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं)

सूखी खांसी, खांसी का एक प्रकार है जो बहुत कम श्लेष्म या कफ पैदा करती है, या बिलकुल भी नहीं करती। इसको चिकित्सा भाषा में टिकली कफ़ (tickly cough) भी कहा जाता है। सूखी खांसी साधारण ठंड, धूम्रपान, फेफड़ों से संबंधित विकार, अस्थमाहार्ट फेल होने या फेफड़ों के कैंसर के कारण हो सकती है। कुछ मामलों में, इसका कोई स्पष्ट कारण नहीं होता। लगातार हो रही सूखी खांसी आपके दैनिक जीवन को गंभीर रूप से प्रभावित कर सकती है, खासकर रात को। इसके लक्षण भारी आवाज व गला खराब होना हो सकते हैं।

हालांकि खांसी का मूल कारण जानना पूरी तरह इलाज करने के लिए महत्वपूर्ण है, कुछ घरेलू उपचार और दवा इसमें कुछ राहत दे सकते हैं। कैफीन युक्त पेय, जो पर्याप्त आराम करने में बाधा उत्पन्न करते हैं जैसे कि काली चाय और कॉफी पीने से बचें।

अगर सूखी खांसी का इलाज नहीं किया जाता तो बहुत सारी समस्याएं पैदा हो सकती हैं। व्यक्ति को अंतर्निहित समस्याओं के कारण गंभीर जटिलताएं आ सकती हैं जैसे सांस लेने में असमर्थता, बेहोशी

(और पढ़ें - खांसी ठीक करने के घरेलू उपाय)

सूखी खांसी के लक्षण - Dry Cough Symptoms in Hindi

सूखी खांसी के लक्षण क्या हैं?

शुष्क खांसी के लक्षण :

संक्रमण को इंगित करने वाले संकेत और लक्षण :

शुष्क खांसी के लक्षणों का एक या दो सप्ताह तक रहना सामान्य है। ज़्यादा से ज़्यादा, ये तीन सप्ताह के भीतर खत्म हो जाने चाहिए। किसी वायरल बीमारी के बाद, कुछ खांसी आठ सप्ताह तक चल सकती हैं।

(और पढ़ें - वायरल फीवर क्या है)

डॉक्टर को कब दिखाएँ?

यदि आपको एक या दो सप्ताह तक हल्की खांसी है तो आमतौर पर डॉक्टर की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, आपको चिकित्सा सलाह लेनी चाहिए यदि :

सूखी खांसी के कारण और जोखिम कारक - Dry Cough Causes in Hindi

सूखी खांसी क्यों आती है? 

सूखी खांसी अक्सर निम्नलिखित का परिणाम होती है :

  • कोई वायरल बीमारी, जैसे जुकाम या इन्फ्लूएंजा (फ्लू)
  • वायरल या संक्रमण के बाद वाली खांसी (खांसी जो वायरल बीमारी के बाद 1 सप्ताह तक बनी रहती है)

(और पढ़ें - वायरल इन्फेक्शन क्या है

हालांकि, शुष्क खांसी अन्य समस्याओं का भी परिणाम हो सकती है, जैसे कि:

  • दमा (अस्थमा)
  • गर्ड या गैस्ट्रो-ओसोफेगल रिफ्लक्स (GERD or gastro-oesophageal reflux)
  • धूम्रपान (और पढ़ें - धूम्रपान करने के नुकसान)
  • एलर्जिक राइनाइटिस या हे फीवर (Hay Fever) - ऐसी चीज़ों के नाक में जाने से जिनसे आप को एलर्जी है जैसे पराग, धूल या बालों की रूसी (और पढ़ें - एलर्जी की दवा)
  • पोस्ट-नेज़ल ड्रिप (श्लेष्म स्राव का गले में जाना - जिसे "अपर एयरवे कफ सिंड्रोम" भी कहा जाता है)
  • लेरिन्जाइटिस (लारनेक्स, जिसे वॉयस बॉक्स भी कहा जाता है, की सूजन)
  • काली खांसी 
  • अवरोधक स्लीप एप्निया (obstructive sleep apnoea) और खर्राटे
  • आदतन खांसी (खांसी जो केवल दिन में होती है और बीमारी के कारण नहीं होती - यह अक्सर स्कूल आयु वर्ग के बच्चों को प्रभावित करती है)
  • सांस के साथ बाहरी पदार्थ अंदर चले जाना (जैसे भोजन या अन्य वस्तु - आम तौर पर बच्चों और छोटे बच्चों में)
  • कुछ प्रकार की फेफड़ों की बीमारी जिसे "इंटरस्टिशियल फेफड़ों की बीमारी" कहा जाता है (और पढ़ें - फेफड़ों में संक्रमण)
  • किसी दवा का दुष्प्रभाव। उदाहरण के लिए, खांसी अधिकांश एसीई अवरोधकों (ACE inhibitors) का एक संभावित साइड इफेक्ट होती है। यह दवाएं अक्सर हाई बीपी के लिए दी जाती हैं। (और पढ़ें - बीपी कम करने के उपाय)

अन्य कारण :

सूखी खांसी होने की सम्भावना किन वजहों से बढ़ जाती है?

सूखी खांसी से बचाव - Prevention of Dry Cough in Hindi

सूखी खांसी होने से कैसे रोकें?

खांसी की रोकथाम खांसी के कारण होने वाली चिकित्सा समस्याओं से बचने पर आधारित है। रोकथाम का सबसे महत्वपूर्ण पहलू धूम्रपान न करना और सेकंड हैंड धूम्रपान (passive smoking) से बचना है, खासकर अस्थमा, पुरानी फेफड़ों की बीमारी और पर्यावरण एलर्जी से ग्रस्त लोगों के लिए।

  • जोखिम कारकों से बचें: अस्थमा जैसी पुरानी स्थितियों से हुई सूखी खांसी को, ठंडी और सूखी हवा, प्रदूषण या अत्यधिक बात करने या चिल्लाने जैसे कारकों से बचकर कम किया जा सकता है। 
  • गर्ड (GERD) रोग से ग्रसित लोगों के लिए, रोकथाम का उद्देश्य आहार संशोधन करना, बिस्तर के सिर को ऊपर करके सोना और निर्धारित सभी दवाओं को लेना है।
  • किसी भी व्यक्ति के लिए जो पुरानी फेफड़ों की बीमारी के लिए दवा ले रहा है, सबसे अच्छी रोकथाम डॉक्टर के निर्धारित उपचारों का सख्ती से पालन करना है।
  • अपने हाथों को बार-बार धोएं, खासतौर पर खांसी करने, खाने, बाथरूम जाने या बीमार होने वाले किसी व्यक्ति की देखभाल करने के बाद। (और पढ़ें - पर्सनल हाईजीन से जुडी गलतियां)
  • खांसी और छींकने पर अपनी नाक और मुंह को ढकें - अपने घर, काम या स्कूल को साफ रखें।

(और पढ़ें - धूल से एलर्जी का इलाज)

सूखी खांसी का परीक्षण - Diagnosis of Dry Cough in Hindi

परीक्षण 

खांसी का परीक्षण काफी हद तक डॉक्टर को दी गई जानकारी पर आधारित होता है। सटीक परीक्षण के लिए आवश्यक जानकारी में खांसी से संबंधित संकेत और लक्षण, खांसी को बेहतर या बदतर करने वाली गतिविधियां या स्थान, खांसी के दिन और समय के बीच संबंध, पिछला चिकित्सा इतिहास और किये गए घरेलू उपचार शामिल हैं। 

डॉक्टर आपकी खांसी और अन्य लक्षणों के बारे में पूछेंगे और शारीरिक परीक्षण करेंगे। आपकी उम्र, चिकित्सा इतिहास और परीक्षा के आधार पर, डॉक्टर निम्न परीक्षण के लिए कह सकते हैं:

सूखी खांसी अक्सर किसी वायरल बीमारी से संबंधित होती है और ज्यादातर मामलों में विशेष परीक्षण की आवश्यकता नहीं होती है।

सूखी खांसी का इलाज - Dry Cough Treatment in Hindi

सूखी खांसी का इलाज क्या है?

 इलाज कारण पर निर्भर करता है। कुछ विकल्प इस प्रकार हैं:

  • दवाइयां -
    ओवर-द-काउंटर खांसी उपचार कई तरीकों से मदद कर सकते हैं। ये खांसी को कम करते हैं व श्लेष्म को पतला करते हैं और उसे बाहर निकालना आसान बनाते हैं।
     
  • किसी अन्य समस्या के लिए उपचार -
    अस्थमा, गर्ड, स्लीप एप्निया और अन्य चिकित्सीय स्थितियों से उत्पन्न खांसी को विशेष उपचार (अधिकतर दवा) की आवश्यकता होती है। (और पढ़ें - अस्थमा के उपाय)
     
  • आम वायरस -
    कभी-कभी, वायरस खत्म होने के बाद खांसी सप्ताह या महीने तक चल सकती है। समय के साथ आपके वायुमार्ग ठीक हो जाएंगे और खांसी रुक जाएगी।
     
  • कफ सप्रेसेंट - 
    जैसा कि नाम से पता चलता है, यह उपचार खांसी को दबा देगा। उदाहरण - कफ सिरप। (और पढ़ें - घर में कफ सिरप बनाने का नुस्खा)

सूखी खांसी की जटिलताएं - Dry Cough Complications in Hindi

जटिलताएं

निरंतर सूखी खांसी निम्नलिखित जटिलताओं का कारण बन सकती है:

सूखी खांसी में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Dry Cough in Hindi?

सूखी खांसी में क्या खाएं?

बीमार होने पर खाने के लिए कुछ अच्छी चीज़ें:



संदर्भ

  1. American lung association. Cough Symptoms, Causes and Risk Factors. Chicago, Illinois, United States
  2. NHS Inform. Cough. National health information service, Scotland. [internet].
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Cough
  4. Health Link. Dry Coughs. British Columbia. [internet].
  5. Healthdirect Australia. Cough. Australian government: Department of Health
  6. Zbigniew Zylicz and Małgorzata Krajnik. What has dry cough in common with pruritus? Treatment of dry cough with paroxetine. Journal of Pain and Symptom Management, February 2004; 27(2): 180-184.
  7. Chung K.F. and Lalloo U.G. Diagnosis and management of chronic persistent dry cough. Postgraduate Medical Journal, 1996; 72(852): 594-598.
  8. Karlberg B.E. Cough and inhibition of the renin-angiotensin system. Journal of Hypertension. Supplement: Official Journal of the International Society of Hypertension, 1 Apr 1993, 11(3):S49-52 PMID: 8315520.
  9. L. Padma. Current drugs for the treatment of dry cough. Journal of the Association of Indian Physicians, May 2013; 61
  10. Ing A.J., Ngu M.C. and Breslin A.B. Chronic persistent cough and gastro-oesophageal reflux. Thorax, 1991; 46(7): 479-483.
  11. Mahashur A. Chronic dry cough: Diagnostic and management approaches. Lung India, January-February 2015; 32(1): 44–49. PMID: 25624596.
  12. Chung K.F. and Pavord I.D. Prevalence, pathogenesis, and causes of chronic cough. The Lancet, 19–25 April 2008; 371(9621): 1364-1374.
  13. TB Online [Internet]. Pulmonary TB.
  14. The Physiological Society, via EurekAlert [Internet]. New release: The good cough and the bad cough, 7 October 2020.
  15. Farrell M.J., Bautista T.G., Liang E., Azzollini D., Egan G.F. and Mazzone S.B. Evidence for multiple bulbar and higher brain circuits processing sensory inputs from the respiratory system in humans. The Journal of Physiology, 7 October 2020. Epub ahead of print. PMID: 33029786.

सूखी खांसी के डॉक्टर

Dr. Chintan Nishar Dr. Chintan Nishar कान, नाक और गले सम्बन्धी विकारों का विज्ञान
10 वर्षों का अनुभव
Dr. K. K. Handa Dr. K. K. Handa कान, नाक और गले सम्बन्धी विकारों का विज्ञान
21 वर्षों का अनुभव
Dr. Aru Chhabra Handa Dr. Aru Chhabra Handa कान, नाक और गले सम्बन्धी विकारों का विज्ञान
24 वर्षों का अनुभव
Dr. Jitendra Patel Dr. Jitendra Patel कान, नाक और गले सम्बन्धी विकारों का विज्ञान
22 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

सूखी खांसी की दवा - Medicines for Dry Cough in Hindi

सूखी खांसी के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹65.1

20% छूट + 5% कैशबैक


₹31.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹43.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹53.2

20% छूट + 5% कैशबैक


₹0.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹153.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹197.1

20% छूट + 5% कैशबैक


₹91.6

20% छूट + 5% कैशबैक


₹225.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹125.0

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 633 entries

सूखी खांसी की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Dry Cough in Hindi

सूखी खांसी के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।