भारतीय आहार पराठे के बिना अधूरा है। कई सब्जियों के साथ लोग पराठे खाना पसंद करते हैं और ये नाश्ते में खाने के लिए भी एक अच्छा विकल्प है। प्लेन पराठे बिना किसी स्टफिंग के बनाए जाते हैं और इन्हें किसी सूखी सब्जी के साथ खाया जाता है। पराठे के प्रकार अनगिनत हैं, किसी भी सब्जी या मसाले को भरकर पराठा बनाया जा सकता है।

इस लेख में हमने आपको पराठा बनाने की सामग्री और उसके तरीके के बारे में बताया है।

संक्षेप में  
तैयारी करने का समय 40 मिनट
पकाने का समय 10 मिनट
बनाने का कुल समय 50 मिनट
कितने पराठों के लिए है ये रेसिपी 4 पराठे
कब खाएं खाने या नाश्ते में
कहां की है ये डिश उत्तरी भारत
टाइप वेज (शाकाहारी)
एक समोसे में कैलोरी 258Kcal

(और पढ़ें - नान बनाने की विधि)

  1. पराठा बनाने के लिए सामग्री - Ingredients for making paratha in hindi
  2. पराठा बनाने की विधि - How to make paratha in hindi
  3. पराठे में मौजूद पोषक तत्वों की जानकरी - Nutritional information of paratha in hindi
  4. पराठा बनाने के लिए कुछ टिप्स - Tips for making paratha in hindi
  5. पराठे को हैल्दी बनाने का तरीका - How to make paratha healthy in hindi
  6. पराठे के अन्य प्रकार - Other variants of paratha in hindi
  7. पराठा बनाने की वीडियो - Paratha recipe video in hindi

पराठा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री नीचे दी गई है:

इस सामग्री से आप चार पराठे बना सकते हैं।

पराठा बनाने का तरीका नीचे दिया गया है:

आटा तैयार करने के लिए:

  1. एक बाउल में आटा, नमक और थोड़ा तेल मिला लें। (और पढ़ें - सरसों के तेल के फायदे)
  2. अब आटे में धीरे-धीरे करके पानी मिलाएं और इसे गूंथना शुरू करें। आपको आटा मुलायम व लचीला रखना है।
  3. गूंथने के बाद आटे को हल्के गीले कपडे से आधे घंटे तक ढककर रख दें। आप चाहें तो आटे पर थोड़ा सा तेल लगाकर भी ढक सकते हैं।
  4. आधे घंटे बाद आटा निकालें और उससे चार बराबर गोले बना लें। इन्हें ढके ही रहने दें।

(और पढ़ें - वड़ा पाव रेसिपी)

पराठा बनाने के लिए:

  1. पराठा बनाने के लिए सबसे पहले तैयार किए गए गोलों में से एक गोला लें और उसपर थोड़ा सूखा आटा लगा लें।
  2. अब उसे बेलन से चपटा बेलें और उसके बीच में थोड़ा घी डाल दें।
  3. घी डालने के बाद परांठे को सब तरफ से बंद कर दें और फिर से बेल लें।
  4. अगर आटा बेलन से चिपक रहा है, तो इसपर थोड़ा सूखा आटा लगाएं। (और पढ़ें - कूटू के आटे के फायदे)
  5. अब एक तवा लें और उसपर थोड़ा तेल डालकर मध्यम आंच पर गरम कर लें।
  6. गरम होने के बाद पराठे को आराम से तवे पर डालें और तलें।
  7. जब इसपर भूरे रंग के धब्बे आने लगें, तो पराठे के चारों ओर घी डालें।
  8. एक तरफ से तलने के बाद पराठे को करछी की मदद से पलट दें और दूसरी तरफ से भी तलने दें।
  9. अब पराठे को टिशू पर उतार लें ताकि उसका एक्स्ट्रा तेल निकल जाए।
  10. इसके बाद आपका पराठा परोसने के लिए बिलकुल तैयार है। इसे सब्जी के साथ गरम-गरम परोसें।

(और पढ़ें - गुजिया बनाने की विधि)

पराठे में मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी नीचे दी गई है। ये पोषक तत्व एक पराठे के आधार पर हैं।

पोषक तत्व मात्रा
कैलोरी 258Kcal
फैट 10 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल 0.8 मिलीग्राम
सोडियम 357 मिलीग्राम
कार्बोहायड्रेट 36 ग्राम
प्रोटीन 5 ग्राम
नेचुरल शुगर 3.3ग्राम

(और पढ़ें - पोहा बनाने की विधि)

पराठा बनाने के लिए निम्नलिखित टिप्स आपके काम आ सकती हैं:

  • अगर आटा सूखा लग रहा है, तो उसमें थोड़ा पानी मिला लें।
  • आटे को अच्छे से गूंथें, नहीं तो आपका पराठा सख्त बनेगा।
  • अगर आप परांठा कुरकुरा बनाना चाहते हैं, तो इसे थोड़ी ज्यादा देर तक तवे पर तलने दें।
  • आटे को बेलते समय उसपर बहुत ज्यादा सूखा आटा न लगाएं, नहीं तो आपका पराठा सख्त बनेगा।
  • अगर आपको आटा ज्यादा चिपचिपा या गीला लग रहा है, तो इसमें थोड़ा सूखा आटा मिला लें।
  • तवे पर पराठा डालने से पहले देख लें कि तवा बहुत ज्यादा गरम न हो। अगर तवा ज्यादा गरम होगा, तो पराठा तवे पर डालते ही जलने लगेगा।

(और पढ़ें - भारतीय हैल्दी ब्रेकफास्ट रेसिपी)

वैसे तो पराठे हैल्दी ही होते हैं अगर उन्हें शुद्ध देसी घी में बनाए जाएं। हालांकि, अगर आप चाहें तो पराठा जैतून के तेल में भी बना सकते हैं। पराठे में कई तरह की स्टफिंग करके इसे हैल्दी बनाया जा सकता है, जैसे सब्जी की स्टफिंग, पनीर की स्टफिंग आदि।

(और पढ़ें - गाय के घी के फायदे)

पराठे को कई तरह की स्टफिंग के साथ बनाया जा सकता है, जिनके बारे में नीचे दिया गया है:

  • आलू पराठा:
    आलू का पराठा बनाने के लिए आलू को उबालकर व मसलकर उसमें मसाले डाले जाते हैं और इस मसाले को पराठे में भरा जाता है। आलू का पराठा, पराठों का सबसे मुख्य व आम प्रकार है। (और पढ़ें - मसालों के औषधीय गुण)
     
  • पनीर पराठा:
    आलू की ही तरह पनीर का पराठा बनाने के लिए भी इसे मसल कर इसमें मसाले डाले जाते हैं और फिर इस मसाले को पराठे में भरा जाता है। (और पढ़ें - टोफू या पनीर: स्वास्थ्य के लिए क्या बेहतर है)
     
  • मिक्स वेज पराठा:
    वैसे तो आप किसी भी सब्जी का पराठा बना सकते हैं, लेकिन सब सब्जियों को मिलाकर भी पराठा बनाया जा सकता है, जिसे मिक्स वेज पराठा कहा जाता है। ये हैल्दी के साथ बहुत पौष्टिक भी होता है।
     
  • गोभी पराठा:
    गोभी के पराठे में गोभी को बारीक काटकर उसे मसाले के साथ मिलाया जाता है और इस मसाले को भर कर पराठा बनाया जाता है। (और पढ़ें - ब्रोकली के फायदे)
     
  • मूली पराठा:
    मूली का पराठा बहुत ही लोकप्रिय है। इसके लिए पहले मूली को कद्दूकस किया जाता है और फिर उसमें नमक, मिर्च व मसाले डालकर मिलाया जाता है। पराठा बनाते समय तैयार की गई मसाले वाली मूली को पराठे में भरा जाता है। (और पढ़ें - लाल मिर्च के फायदे)
     
  • प्याज पराठा:
    प्याज पराठा बनाने के लिए प्याज को बारीक काटकर मसाले में मिलाया जाता है और फिर इसे पराठे में भर दिया जाता है। आप चाहें तो प्याज को मसाले के साथ मिलाकर आटे में ही साथ गूंथ सकते हैं। (और पढ़ें - हरे प्याज के फायदे)
     
  • दाल पराठा:
    दाल का पराठा भी बहुत लोकप्रिय है और ये पौष्टिक भी होता है। इसके लिए दाल को पहले उबाला जाता है और फिर उबली हुई दाल में नमक, मिर्च व मसाले डाले जाते हैं। दाल को भी आलू की तरह ही पराठे में भरा जाता है। (और पढ़ें - हरी मिर्च खाने के फायदे)
     
  • अंडा पराठा:
    अंडा पराठा बनाने के लिए अंडे को फेंटा जाता है और उसमें ऑमलेट की तरह ही मसाले मिलाए जाते हैं। फिर इस अंडे को पराठा बनाते समय ही बीच में डाल दिया जाता है।
     
  • लच्छा पराठा:
    लच्छा पराठा बिना किसी स्टफिंग के बनाया जाता है। इसमें आटे को गोल-गोल घुमाकर बेला जाता है ताकि उसमें अलग-अलग परतें बन जाएं। पकने के बाद पराठे की परतों को खोल दिया जाता है। लच्छा पराठा बहुत ही कुरकुरा बनता है।
     
  • चिकन पराठा:
    वेज पराठों की तरह ही नॉन-वेज पराठे भी बनाए जाते हैं। चिकन पराठा बनाने के लिए चिकन का कीमा बनाया जाता है और उसे पराठे के अंदर भर कर पकाया जाता है।

(और पढ़ें - पौष्टिक आहार खाने के फायदे)

इस वीडियो को देखकर आप आसानी से पराठा बना सकते हैं।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ