myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

ज्वार पूरी दुनिया में उष्णकटिबंधीय और उपोष्णकटिबन्ध देशों में पाए जाने वाला एक घास की प्रजाति है। दुनिया भर में 30 से अधिक ज्वार की प्रजातियां हैं पर मानव के खाने के लिए सिर्फ एक प्रजाति का उपयोग किया जाता है। बाकि अन्य प्रजातियों का उपयोग पशुओं के लिए चारे के रूप में किया जाता है। मनुष्यों के खाने के लिए इसकी महत्वपूर्ण प्रजाति ज्वार बायकलर (Sorghum bicolor) का उपयोग किया जाता है जिसकी खेती सबसे पहले अफ्रीका में हुई थी। लेकिन आज के समय में इसका उपयोग दुनिया भर में किया जाता है। इसकी खेती कई अलग अलग देशों में की जाती है। ज्वार का उपयोग मुख्य रूप से ज्वार शीरा, ज्वार सिरप और अनाज के रूप में किया जाता है। इसके अलावा इसका उपयोग दुनिया भर में शराब बनाने और जैव ईंधन के लिए किया जाता है। इसे दुनिया में पांचवां सबसे महत्वपूर्ण अनाज माना जाता है।

यह उन लोगों के लिए बहुत अच्छा है जिनको गेहूं खाने से एलर्जी होती है। इसके साथ-साथ इसके और भी कई स्वास्थ्य लाभ है। तो चलिए इसके पोषक तत्वों और स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं -

ज्वार पोषक तत्वों का खजाना है। इसमें नियासिन, राइबोफ्लैविविन और थियामीन जैसे विटामिनों के साथ-साथ मैग्नीशियम, लोहा, तांबा, कैल्शियम, फास्फोरस और पोटेशियम भी पाया जाता है। इसमें प्रोटीन और फाइबर भी बहुत अधिक मात्रा में पाया जाता है।

  1. ज्वार के फायदे - Jowar ke fayde in hindi
  2. ज्वार के नुकसान - Jowar ke nuksan in hindi

ज्वार के फायदे हृदय स्वास्थ्य के लिए - Jowar ke fayde for heart patients in hindi

हम सभी जानते हैं कि कई स्वस्थ खाद्य पदार्थों में कुछ मात्रा में फाइबर होता है जो पाचन तंत्र की कार्यक्षमता में सुधार करता है। फाइबर की प्राप्ति के लिए ज्वार सबसे अच्छा भोजन है। इसके एक बार सेवन से हमें पूरे दिन का करीब 48% फाइबर मिल जाता है जो 12 ग्राम से अधिक होता है। इसका मतलब यह है कि यह पाचन तंत्र को अच्छा कर भोजन को तेजी से पचाने में मदद करता है और पेट की समस्या जैसे ऐंठन, सूजन, कब्जपेट में दर्द, अतिरिक्त गैस, और दस्त से छुटकारा दिलाता है। इसके अलावा फाइबर की अधिक मात्रा शरीर में खतरनाक कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को हटाने में मदद करती है जिससे हृदय स्वास्थ्य को बेहतर बनाने, धमनियों के सख्त होने को रोकने, दिल के दौरा और स्ट्रोक जैसी स्थितियों से बचने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें – हृदय को स्वस्थ रखने के लिए खाएं ये आहार)

ज्वार खाने के लाभ करे वजन कम - Benefits of jowar in weight loss in hindi

ज्वार फाइबर का एक अच्छा स्रोत है जो आपकी भूख को नियंत्रित करने में और लंबे समय तक भूख नहीं लगने में आपकी मदद करता है। परिणामस्वरूप आप कम खाते हैं और वज़न कम करने करने में आपकी मदद करता है। फाइबर के अलावा इसमें आवश्यक पोषक तत्व भी होते हैं जो आपके शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करते हैं।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए क्या न खाए और वेट कम करने के लिए डाइट)

ज्वार के गुण कैंसर में - Jowar health benefits for cancer in hindi

ज्वार के चोकर में महत्वपूर्ण एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो कई अन्य प्रकार के भोजन में नहीं पाए जाते हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट्स जो नियमित रूप से गेहूं और मकई खाते है, उनकी तुलना में विभिन्न प्रकार के कैंसर सहित एसोफैगल कैंसर के विकास की संभावना को कम करते हैं। एंटीऑक्सिडेंट फायदेमंद यौगिक हैं जो शरीर में मुक्त कणों के असर को खत्म करते हैं जो हमारे शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में बदलते हैं।

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

ज्वार के लाभ मधुमेह के लिए - Jowar benefits for diabetes in hindi

जब अत्यधिक कार्बोहाइड्रेट सरल शर्करा में टूट जाते हैं और शरीर में ग्लूकोज का स्तर बढ़ जाता है, तब मधुमेह जैसी समस्या होती है। यह उन लोगों के लिए और भी खतरनाक है जो पहले से ही इस रोग से पीड़ित हैं। हालांकि ज्वार के चोकर में टैनिन पाया जाता है जो एक प्रकार का एंजाइम है। यह शरीर द्वारा स्टार्च के अवशोषण को रोकता है जो शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज के स्तर को नियमित करने में मदद करता है। इससे मधुमेह रोगियों के ग्लूकोज के स्तर में न तो गिरावट होती है और न तो यह बढ़ता है जिससे मधुमेह के झटके और अन्य स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को रोका जा सकता है।

(और पढ़ें – मधुमेह रोगियों के लिए एक स्वादिष्ट और सेहतमंद व्यंजन)

ज्वार की रोटी के फायदे रखे एलर्जी दूर - Sorghum is gluten free in hindi

सीलिएक रोग लस से सम्बंधित एक प्रकार की गंभीर एलर्जी है जो मुख्य रूप से गेहूं आधारित उत्पादों के सेवन के कारण होती है। जिन लोगों को सीलिएक रोग है, वे ज्वार को बिना दर्दनाक सूजन, मतली और जठरांत्र संबंधी समस्या के सुरक्षित रूप से खा सकते हैं।

(और पढ़ें – लस एलर्जी के लिए बेसन का उपयोग)

ज्वार का उपयोग हड्डियों के लिए - Sorghum benefits for Bone in hindi

ज्वार में उच्च मात्रा में मैग्नीशियम पाया जाता है जो शरीर में कैल्शियम के स्तर को ठीक से बनाए रखता है। क्योंकि मैग्नीशियम शरीर में कैल्शियम के अवशोषण को बढ़ाता है, ये दो खनिज हड्डियों के ऊतकों के विकास के अभिन्न अंग हैं और बुढ़ापे में हड्डियों के उपचार में मदद करते हैं। यह ऑस्टियोपोरोसिस और गठिया जैसी स्थिति को रोकने में मदद करते हैं, जिससे हम बुढ़ापे में भी स्वस्थ और एक्टिव रहते हैं।

(और पढ़ें – कैल्शियम युक्त भारतीय आहार)
 

ज्वार का महत्व करे लाल रक्त में वृद्धि - Jowar helps anemia in hindi

मैग्नीशियम और कैल्शियम की तरह ज्वार में कॉपर और आयरन भी पाए जाते हैं। कॉपर शरीर में लोहे के अवशोषण को बढ़ाने में मदद करता है जो एनीमिया के विकास की संभावना को कम करता है। शरीर में पर्याप्त मात्रा में कॉपर और आयरन लाल रक्त कोशिका के निर्माण में वृद्धि करते हैं और रक्त परिसंचरण को बढ़ाते हैं। ये कोशिकाओं के विकास और मरम्मत के साथ-साथ बालों के विकास में भी मदद करते हैं। ये पूरे शरीर में ऊर्जा के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। ज्वार के एक बार के सेवन से पूरे दिन के 58% कॉपर की मात्रा प्राप्त होती है

(और पढ़ें - एनीमिया के लक्षण)
 

ज्वार खाने के फायदे बढ़ाए एनर्जी - Sorghum for energy in hindi

नियासिन, जिसे विटामिन बी 3 के रूप में भी जाना जाता है, भोजन को ऊर्जा में बदल कर शरीर तक पहुंचाने में मदद करता है। यह पोषक तत्वों को ऊर्जा में बदल कर और मेटाबोलाइज़ करके आपके शरीर में ऊर्जा के स्तर को पूरे दिन स्थिर बनाए रखता है। ज्वार में प्रतिदिन आपकी जरूरत का 28% नियासिन होता है।

(और पढ़ें – ये 7 प्राकृतिक एनर्जी ड्रिंक रखेंगी आपको जिम के दौरान ऊर्जावान)

ज्वार का सेवन करने के किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होती है। चूंकि यह घास है तो कुछ लोगों को इससे एलर्जी होने की संभावना हो सकती है।
इसके अलावा इसमें कुछ खनिजों और विटामिन की उच्च मात्रा होती है इसलिए इसका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करें।

और पढ़ें ...

References

  1. United States Department of Agriculture. Basic Report: 20067, Sorghum grain. National Nutrient Database for Standard Reference Legacy Release; Agricultural Research Service
  2. De Re V, Magris R, Cannizzaro R. New Insights into the Pathogenesis of Celiac Disease. 2017 Aug 31;4:137. PMID: 28913337
  3. Farrar JL, Hartle DK, Hargrove JL, Greenspan P. A novel nutraceutical property of select sorghum (Sorghum bicolor) brans: inhibition of protein glycation.. 2008 Aug;22(8):1052-6. PMID: 18570276
  4. Kim E, Kim S, Park Y. Sorghum extract exerts cholesterol-lowering effects through the regulation of hepatic cholesterol metabolism in hypercholesterolemic mice.. 2015 May;66(3):308-13.PMID: 25582172
  5. Carr TP1, Weller CL, Schlegel VL, Cuppett SL, Guderian DM Jr, Johnson KR. Grain sorghum lipid extract reduces cholesterol absorption and plasma non-HDL cholesterol concentration in hamsters.. 2005 Sep;135(9):2236-40.PMID: 16140904
  6. Yang L, Browning JD, Awika JM. Sorghum 3-deoxyanthocyanins possess strong phase II enzyme inducer activity and cancer cell growth inhibition properties.. 2009 Mar 11;57(5):1797-804. PMID: 19256554
ऐप पर पढ़ें