myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

खासकर भारत जैसे देश में बड़ी संख्या में लोगों का यही मानना है कि अच्छे नैन-नक्श और हेल्दी स्किन के साथ-साथ रंग भी गोरा हो तभी कोई व्यक्ति सुंदर और आकर्षक लगता है। और यही कारण है कि हमारे देश में गोरा बनाने वाली या फेयरनेस क्रीम्स सिर्फ महिलाओं के बीच ही नहीं बल्कि पुरुषों के बीच भी काफी पॉप्युलर है। इसके अलावा स्किन लाइटनिंग प्रॉडक्ट्स और ट्रीटमेंट्स की भी उतनी ही ज्यादा मांग है। ये सारे प्रॉडक्ट्स आपकी त्वचा के रंग को बदलने का दावा करते हैं। लेकिन सच्चाई इसके ठीक उलट है क्योंकि इस तरह के दावे, प्रॉडक्ट्स और जानकारियां न केवल भ्रामक हैं, बल्कि यह चिकित्सीय रूप से भी गलत हैं। हकीकत यही है कि खूबसूरती या सुदंरता का कोई रंग नहीं होता।  

(और पढ़ें - अपनी त्वचा को हमेशा स्वस्थ रखना है तो करें ये उपाय)

स्किन स्पेशलिस्ट्स भी यही मानते हैं कि आपकी जो प्राकृतिक या जन्मजात त्वचा का रंग है उसे बदलना असंभव है। लेकिन अगर स्किन पर पिगमेंटेशन, डार्क स्पॉट्स, टैनिंग आदि की वजह से त्वचा का रंग डार्क हो जाए तो इसके लिए त्वचा की रंगत को हल्का करने के कई सुरक्षित और प्रभावी तरीके मौजूद हैं जिन्हें अपनाया जा सकता है। इसके अलावा कुछ घरेलू उपाय भी हैं जिन्हें आजमाकर न सिर्फ स्किन को हेल्दी बनाया जा सकता है कि बल्कि उसके प्राकृतिक निखार को भी बढ़ाया जा सकता है।

(और पढ़ें - 10 आसान टिप्स से अपनी स्किन को रखें सदा के लिए जवां)

इस आर्टिकल हम आपको बता रहे हैं कि सांवली त्वचा का निखार और गोरापन लंबे समय तक बना रहे इसके लिए आपको क्या करना चाहिए, स्किन के निखार को बनाए रखने के लिए कौन से टिप्स अपनाने चाहिए, किन घरेलू उपायों की मदद से आप अपनी त्वचा में निखार ला सकती हैं।  

  1. सांवली त्वचा का रंग हल्का करना - Sanwli skin ka rang nikharna
  2. सांवली स्किन का ध्यान रखने के टिप्स - Sanwli tvacha ka dhyan rakhne ke tips
  3. सांवली स्किन को कैसे साफ करें? - Sanwli skin ko saaf kaise kare?
  4. सांवली स्किन को निखारने के घरेलू उपाय - Sanwli skin ko nikharne ki home remedies
  5. सांवली त्वचा की रंगत कैसे निखारें? के डॉक्टर

इंसान की त्वचा का रंग हल्के भूरे रंग से लेकर गहरे भूरे रंग तक का होता है और हमारी स्किन टोन का रंग कैसा होगा यह हमारे आनुवंशिक यानी जेनेटिक कारकों के साथ ही इस बात पर ही निर्भर करता है कि हम सूरज की किरणों के संपर्क में कितनी देर तक रहते हैं। स्किन लाइटनिंग या त्वचा की रंगत को हल्का करना एक कॉस्मेटिक तकनीक है जिसे त्वचा का एक समान रंग पाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। यह आपकी त्वचा में मेलेनिन की मात्रा को कम या नियंत्रित करने का काम करता है।  

(और पढ़ें - मेलेनिन की कमी, कारण, लक्षण, इलाज)

कई बार असमान स्किन टोन हाइपरपिग्मेंटेशन का परिणाम हो सकता है जिस कारण त्वचा पर काले धब्बे बन जाते हैं और त्वचा का रंग गहरा हो जाता है। स्किन पर मौजूद काले क्षेत्र एज स्पॉट्स, झाईयां या मेलास्मा के कारण हो सकते हैं। लोग इन खामियों और समस्याओं को दूर करने के लिए स्किन-लाइटनिंग तकनीक का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन डर्मेटॉलजिस्ट्स और बाकी डॉक्टर्स भी यही मानते हैं कि आपकी प्राकृतिक त्वचा के रंग में भारी बदलाव को मेडिकली भी हासिल करना असंभव है।

आपकी स्किन का प्राकृतिक निखार बना रहे और त्वचा पर किसी तरह के काले धब्बों के निर्माण को रोकने के लिए आप निम्नलिखित उपाय अपना सकते हैं:

  • बहुत देर तक धूप और सूर्य की किरणों के सीधे संपर्क में रहने से बचें। जहां तक संभव हो छांव में रहने की कोशिश करें।
  • रोजाना सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें। एसपीएफ 30 या उससे अधिक वाले सनस्क्रीन को हर 2 घंटे के बाद फिर से लगाएं। (और पढ़ें- अच्छी सनस्क्रीन चुनने के लिए ये टिप्स अपनाएं)
  • टोपी, धूप का चश्मा, दुपट्टे से मुंह को ढंकना और लंबी आस्तीन वाले कपड़ों का इस्तेमाल करें ताकि सूर्य की हानिकारक किरणों से त्वचा को बचा सकें।
  • अपनी त्वचा को नियमित रूप से साफ करें और स्किन को बहुत ज्यादा रगड़ने से बचें।
  • सिगरेट पीने और शराब का सेवन करने से भी बचें।

उपचार और क्रीम आपको प्राकृतिक, साफ, फ्रेश और हेल्दी त्वचा पाने में मदद कर सकते हैं, लेकिन अपनी वांछित त्वचा को बनाए रखने के लिए आपको उन सुझावों को अपनाना चाहिए जिससे आपकी स्किन साफ भी हो जाए और उसका निखार लंबे समय तक बना रहे।

  • स्किनकेयर रूटीन को फॉलो करें : एक उचित स्किनकेयर रूटीन बनाएं और सुनिश्चित करें कि आप इसे पूरी लगन से नियमित रूप से फॉलो करें। अपनी त्वचा के स्वस्थ रंग को बनाए रखने के लिए, आपको अपनी त्वचा के प्रकार (स्किन टाइप) को समझना होगा और उन उत्पादों की पहचान करनी होगी जो आपकी स्किन को सूट करते हों। (और पढ़ें - क्या आप जानती हैं अपनी स्किन टाइप)
  • स्किन की सफाई कैसे करें : अपनी स्किन टाइप को ध्यान में रखते हुए एक अच्छा फेशियल क्लीनजर चुनें और रोजाना 2 बार सुबह और शाम इस क्लीन्जर का इस्तेमाल कर चेहरे को अच्छे से साफ करें ताकि चेहरे पर जमा धूल, गंदगी और मेकअप को अच्छे से हटाया जा सके। हफ्ते में 1 या 2 बार आप स्किन के रोमछिद्रों की गहराई से सफाई करने के लिए एक्सफोलिएशन की प्रक्रिया को भी अपना सकती हैं। 
  • स्किन को मॉइश्चराइज करें : अपनी त्वचा को हाइड्रेट यानी नमी से भरपूर बनाए रखना भी बेहद जरूरी है है और इसके लिए आप एक अच्छे मॉइस्चराइज़र का उपयोग करें और ध्यान रखें कि यह मॉइश्चराइजर आपकी स्किन टाइप के हिसाब से ही हो। सुनिश्चित करें कि यदि आपकी त्वचा ऑइली है तो आप वॉटर बेस्ड मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें।
  • सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें : बाहर धूप निकली हो या बादल हों, मौसम गर्मी का हो या सर्दी का घर से बाहर निकलने से कम से कम 20 मिनट पहले अपनी त्वचा पर एसपीएफ 30 या इससे अधिक का सनस्क्रीन लगाना न भूलें क्योंकि स्किन की रंगत को सुरक्षित रखने के लिए साथ ही स्किन को हेल्दी बनाए रखने में भी मदद करता है।

मार्केट में मिलने वाली क्रीम्स और कॉस्मेटिक उत्पादों का इस्तेमाल करने से आपकी सांवली स्किन में निखार आए या न आए लेकिन केमिकल प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करने से आपकी त्वचा में साइड इफेक्ट्स जरूर हो सकते हैं। लिहाजा घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करना ज्यादा बेहतर होगा जिनके इस्तेमाल से त्वचा पर कोई दुष्प्रभाव भी नहीं होगा:

(और पढ़ें - नैचरल टिप्स जो आपको बना सकते हैं गोरा)

  1. सांवली त्वचा को सुंदर बनाने के लिए बेसन और दही - Sanwli skin ke liye besan aur dahi
  2. सांवली स्किन के लिए पपीता - Sanwli tvacha ke liye papita
  3. सांवली स्किन के लिए शहद - Sanwli skin ke liye honey
  4. सांवली स्किन के लिए हल्दी - Sanwli skin ke liye haldi
  5. सांवली त्वचा को गोरा बनाने के लिए एलोवेरा जेल - Sanwli skin ke liye aloe vera gel

सांवली त्वचा को सुंदर बनाने के लिए बेसन और दही - Sanwli skin ke liye besan aur dahi

अपनी स्किन के पुनर्जीवन या कायाकल्प के लिए घरेलू उपाय के रूप में दही का उपयोग बेहद फायदेमंद साबित हो सकता है। दही को स्किन पर लगाने और खाने में दही का सेवन करने दोनों ही तरीकों से आपको नरम और चमकीली त्वचा प्राप्त करने में मदद मिल सकती है। डेयरी उत्पाद होने के नाते, दही पोषक तत्वों से भरपूर होता है जो आपकी त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है। दही में मौजूद लैक्टिक एसिड प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट के रूप में काम करता है।

वहीं दूसरी तरफ बेसन स्किन को पोषण प्रदान करके त्वचा की गुणवत्ता में सुधार करता है और साथ ही स्किन के रंगरूप को भी हल्का करने में मददगार साबित हो सकता है। बेसन और दही का मिश्रण त्वचा को मॉइस्चराइज कर अतिरिक्त तेल को हटाने में मदद कर सकता है। (और पढे़ं- त्वचा और बालों के लिए औषधी से कम नहीं है बेसन)

क्या चाहिए

  • 2 चम्मच बेसन
  • 1 चम्मच दही

लगाने की विधि

  • दही और बेसन को अच्छी तरह से मिलाएं और मिश्रण को अपनी त्वचा पर लगाएं।
  • इसे 30 मिनट तक सूखने दें, फिर त्वचा पर अच्छी तरह से मालिश करें और इसे पानी से धो लें।
  • आप चाहें तो सप्ताह में 2-3 बार दही और बेसन के इस मिश्रण का इस्तेमाल कर सकती हैं।

सांवली स्किन के लिए पपीता - Sanwli tvacha ke liye papita

पौष्टिक गुणों के कारण, पपीता का व्यापक रूप से स्किनकेयर के लिए उपयोग किया जाता है। यह प्राकृतिक ब्लीचिंग एजेंट के रूप में भी काम करता है। पपीते का उपयोग त्वचा की रंगत को हल्का करने के उपाय के रूप में भी किया जाता है।

पपीते का अर्क आपकी त्वचा में कोलाजन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए जाना जाता है और बदले में यह स्किन के कॉम्प्लेक्शन में सुधार करता है और दाग-धब्बे और चेहरे पर किसी तरह के निशान को भी दूर करने का काम करता है।

क्या चाहिए

  • पका हुआ आधा पपीता
  • नींबू का रस

लगाने की विधि

  • पपीता अगर अच्छी तरह से पका हुआ है तो आप हाथ से भी उसे अच्छी तरह से मैश करके उसका भर्ता बना सकते हैं या फिर उसे ब्लेंडर में डालकर पीस भी सकते हैं।
  • फिर इसमें नींबू के रस की कुछ बूंदें मिलाएं और इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं।
  • 15-20 के लिए पपीते के पेस्ट को चेहरे पर लगा रहने दें और फिर गुनगुने पानी से चेहरे को अच्छी तरह से धो लें।
  • आप पपीते के इस मिश्रण को हफ्ते में 1 बार चेहरे पर लगा सकती हैं।

(और पढ़ें - चेहरे पर निखार लाने के घरेलू उपाय)

सांवली स्किन के लिए शहद - Sanwli skin ke liye honey

शहद में अल्फा-हाइड्रॉक्सी एसिड और अन्य बायोऐक्टिव यौगिक होते हैं जो आपकी त्वचा पर अत्यधिक पिगमेंटेशन के प्रभाव को कम करने में मदद करते हैं, जिससे स्किन की रंगत हल्की होने के साथ ही धब्बे भी कम हो जाते हैं।

इतना ही नहीं, शहद त्वचा को हाइड्रेट कर नमी देने का भी काम करता है जिससे स्किन टोन या त्वचा का रंग हल्का करने में भी मदद मिलती है। एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण शहद एज स्पॉट्स और दाग धब्बों को भी कम करने में मददगार है। (और पढ़ें - चेहरे के चकत्तों को दूर करें शहद से)

क्या चाहिए

  • 1 चम्मच शहद
  • नींबू का रस

लगाने की विधि

  • एक चम्मच शहद में नींबू के रस की कुछ बूंदें डालें और अच्छी तरह से मिक्स कर लें।
  • अब एक ब्रश की मदद से इस मिश्रण को चेहरे और गर्दन पर अच्छी तरह से फैलाकर लगाएं और 10-15 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • फिर सादे पानी से चेहरे को धो और लें हफ्ते में 1 बार नियमित रूप से इस मिश्रण का इस्तेमाल करें। सांवली स्किन की रंगत निखारने में मदद मिलेगी।

सांवली स्किन के लिए हल्दी - Sanwli skin ke liye haldi

हल्दी त्वचा में मेलेनिन के उत्पादन को रोकता है और त्वचा को एक समान रंग देकर कॉम्प्लेक्शन को निखारने में मदद करता है। यह स्वस्थ त्वचा को बनाए रखने में भी मदद करता है क्योंकि हल्दी में एंटीऑक्सिडेंट और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं। हल्दी में पाया जाने वाला करक्यूमिन इसका प्रमुख कम्पाउंड है। (और पढ़ें - चेहरे पर हल्दी लगाने के फायदे नुकसान)

2016 में प्रकाशित एक रिव्यू पेपर में त्वचा को हेल्दी बनाए रखने के लिए हल्दी या कर्क्यूमिन युक्त उत्पादों और हल्दी वाले सप्लिमेंट्स के उपयोग पर प्रकाश डाला गया। इस रिव्यू पेपर में हल्दी को खाने और टॉपिकली इसे त्वचा पर लगाने दोनों के फायदों के बारे में बताया गया। हल्दी आपकी त्वचा को एक प्राकृतिक चमक भी प्रदान करती है।

क्या चाहिए

  • आधा चम्मच हल्दी पाउडर
  • 1 चम्मच दही

लगाने की विधि

  • हल्दी पाउडर में दही को अच्छी तरह से मिक्स करके पेस्ट बना लें और इसे चेहरे पर 10-15 मिनट के लिए लगा रहने दें।
  • फिर गुनगुने पानी से चेहरे को धो लें और इस फेस पैक को हफ्ते में एक बार इस्तेमाल करें।

सांवली त्वचा को गोरा बनाने के लिए एलोवेरा जेल - Sanwli skin ke liye aloe vera gel

एलोवेरा में एलोइन नाम का एक बायोऐक्टिव कंपाउंड होता है जिसका मेलेनिन सिंथेसिस की प्रक्रिया पर निरोधात्मक प्रभाव होता है। यह आपकी त्वचा के रंगरूप को हल्का करने और निखारने में मदद कर सकता है और स्किन को प्राकृतिक चमक भी प्रदान करता है। (और पढ़ें- चेहरे पर एलोवेरा लगाने के फायदे नुकसान)

एलोवेरा की तासीर ठंडी होती है इसलिए इसके कूलिंग एजेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी इफेक्ट के कारण यह त्वचा के रंगत को हल्का करने वाले एजेंट के रूप में भी काम करता है। एलोवेरा को चेहरे पर लगाने से यह कोशिका विभाजन और क्षतिग्रस्त ऊत्तकों की मरम्मत को भी बढ़ावा देता है, साथ ही यह हाइपरपिग्मेंटेशन के इलाज में भी मदद करता है। 

क्या चाहिए

  • एक चम्मच फ्रेश एलोवेरा जेल

लगाने की विधि

  • आप चाहें तो एलोवेरा के पत्ते को काटकर उसमें से फ्रेश ऐलोवेरा जेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर मार्केट में मिलने वाले एलोवेरा जेल को भी यूज कर सकते हैं।
  • एक चम्मच जेल को अच्छी तरह से मिक्स करके चेहरे और गर्दन पर लगाएं।
  • कुछ देर के लिए लगा रहने दें और फिर पानी से चेहरे को धो लें। हफ्ते में 2 बार एलोवेरा को चेहरे पर लगाएं और सांवली त्वचा की रंगत में होने वाले निखार को महसूस करें।

(और पढ़ें - साफ त्वचा के लिए इस तरह रोजाना करें एलोवेरा का इस्तेमाल)

Dr.Raghwendra Dadhich

Dr.Raghwendra Dadhich

सामान्य चिकित्सा
6 वर्षों का अनुभव

Dr. Brajesh Kharya

Dr. Brajesh Kharya

सामान्य चिकित्सा
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Tannu Malik

Dr. Tannu Malik

सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Sarabjeet Kaur

Dr. Sarabjeet Kaur

सामान्य चिकित्सा
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें