myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

त्वचा की देखभाल के लिए टोनर का इस्तेमाल बहुत ही महत्वपूर्ण चरण माना जाता है। टोनर एक ही साथ आपकी त्वचा को क्लींज़ करता है, मॉइस्चराइज़ करता है, छिद्रों को सिकोड़ता है, त्वचा का PH स्तर संतुलित रखता है और अशुद्धियों से लड़ने के लिए एक सुरक्षात्मक कवच बनाता है। जब आप अपनी त्वचा की देखभाल में टोनर को शामिल करें, तो इस बात का ध्यान रखें कि टोनर को आप क्लींजिंग के बाद और मॉइस्चराइज़िंग से पहले लगाएं। 

(और पढ़ें - स्किन केयर टिप्स)

जब टोनर को लगाएं तो रूई का इस्तेमाल करें और उससे पूरे चेहरे पर टोनर को फैला दें। इसके साथ ही जब आप टोनर का चयन करें तो अपनी त्वचा के प्रकार के अनुसार करें।

इसके अलावा आज हम आपके लिए टोनर की अन्य जानकारियां लेकर आये हैं, जैसे टोनर क्या है, स्किन टोनर कैसे लगाएं, टोनर लगाने और बनाने का तरीका और टोनर के फायदे।

(और पढ़ें - चेहरे को गोरा करने के उपाय)

तो आइये जानते हैं -

  1. स्किन टोनर क्या है - What is toner in Hindi
  2. स्किन टोनर कैसे लगायें - How to use toner in Hindi
  3. घर में टोनर बनाने और लगाने का तरीका - How to make and use homemade toner in Hindi
  4. टोनर के फायदे - Benefits of toner in Hindi

टोनर एक स्किन केयर उत्पाद होता है। आमतौर पर ये पानी पर आधारित होता है, जो बड़े छिद्रों को सिकोड़ देता है। मेकअप या धुल-मिट्टी को हटाने के बाद भी बचे रहने वाली गंदगी को टोनर अच्छे से साफ करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – गोरा होने के उपाय)

टोनर त्वचा का PH स्तर फिर से वापस लाता है, क्योंकि त्वचा की क्लींजिंग (साबुन या कठोर क्लींजर से) करने से वो स्तर असंतुलित हो जाता है। इससे त्वचा और बैक्टीरिया या अन्य सूक्ष्मजीवों की चपेट में आसानी से आ जाती है। ज़्यादा क्लींजर के इस्तेमाल से त्वचा रूखी हो जाती है और बुढ़ापे की निशानी की तरफ बढ़ने लगती है। टोनर उस स्तर को नियंत्रित रखता है।

(और पढ़ें - झुर्रियां हटाने का तरीका)

1. पहले अपना चेहरा धोएं - चेहरे को पहले गुनगुने पानी से धोएं, फिर त्वचा पर क्लींजर लगाएं। मेकअप, गंदगी और अशुद्धियों को साफ करने के लिए क्लींजर से हल्के-हल्के हाथ से मसाज करें। फिर चेहरे को गुनगुने पानी से धो दें, गुनगुने पानी के बाद चेहरे पर ठंडे पानी का प्रयोग करें। अब चेहरे को साफ़ तौलिये से पोछ लें। 

(और पढ़ें – पिम्पल्स हटाने के उपाय)

2. टोनर को रूई पर लगाएं - अब टोनर को कॉटन पैड (Cotton pad) पर लें और उसे चेहरे पर लगा लें। इसके अलावा आप इसे लगाने के लिए रूई का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्रीम)

3. अब धीरे-धीरे टोनर को चेहरे और गर्दन पर लगाएं - कॉटन पैड को आराम-आराम से चेहरे और गर्दन पर फैलाएं। लगाते समय ध्यान रखें कि पैड आपके आँखों और होठों के आसपास के क्षेत्र पर न पहुंचे। इसके अलावा नाक, आईब्रो, कान और बालों के आसपास ध्यान से टोनर को लगाएं। टोनर से पहले इस्तेमाल किया जाने वाला क्लीन्ज़र आपकी त्वचा की अशुद्धियों को अच्छे से नहीं निकाल पाता, वो काम आपका टोनर करता है। इसके साथ ही टोनर पानी में मिले केमिकल, क्लोरीन और नमक को भी साफ़ करने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए फेस पैक)

4. अधिक मॉइस्चर के लिए दूसरे प्रकार के टोनर का भी इस्तेमाल करें - स्प्रे में आने वाले टोनर सिर्फ आपकी त्वचा की अशुद्धियों को कम करते हैं, उन्हें साफ़ नहीं करते। इसके लिए आपको पहले वाइपिंग टोनर (Wiping toner) का इस्तेमाल करना चाहिए। हालाँकि, अगर आपको स्प्रे टोनर का इस्तेमाल करने से ताज़ा महसूस होता है, तो आप वाइपिंग टोनर के बाद स्प्रे टोनर का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्लीन्ज़र)

5. टोनर के ड्राई होने का इंतज़ार करें - चूँकि ज़्यादातर टोनर पानी पर आधारित होते हैं और वो तेज़ी से त्वचा में अवशोषित हो जाते हैं। तो कोई अन्य उत्पाद लगाने से पहले ये सुनिश्चित कर लें कि आपका टोनर पूरी तरह से अवशोषित हो जाए। इससे आपकी त्वचा में मॉइस्चर बनाये रखने में मदद मिलेगी और अशुद्धियों भी दूर हो जाएंगी। 

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा से छुटकारा पाने के उपाय)

6. आखिर में त्वचा के लिए चलने वाली दवाई या मॉइस्चराइज़र लगाएं - अगर आप कील-मुहांसों के लिए कोई क्रीम लगाते हैं, जैसे बेंज़ोइल पेरोक्साइड, या कोई मॉइस्चराइज़र, तो टोनर लगाने के बाद उसे ज़रूर लगाएं। टोनर लगाने से आपकी त्वचा पूरी तरह से साफ हो जाएगी और कील-मुहांसों या मॉइस्चराइज़र उत्पाद आपकी त्वचा में गहराई से जाकर इलाज करने में मदद करेंगे। 

(और पढ़ें – ब्लैक हेड्स कैसे हटाये)

7. पूरे दिन में दो बार टोनर का इस्तेमाल करें - आमतौर पर, आपको टोनर का इस्तेमाल एक बार सुबह और एक बार रात में करना चाहिए। सुबह में टोनर, रात के दौरान निकलने वाले सीबम को साफ़ करने में मदद करता है और त्वचा के PH स्तर को संतुलित रखता है। रात में, टोनर पूरी तरह से त्वचा से अशुद्धियों, गंदगी और मेकअप को हटाता है। साथ ही क्लींजर के इस्तेमाल के बाद त्वचा पर रहने वाले तेल को भी टोनर पूरी तरह से साफ़ कर देता है। अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो आपको पूरे दिन में एक बार यानी रात को ही टोनर का इस्तेमाल करना चाहिए। टोनर का अत्यधिक इस्तेमाल आपकी त्वचा को ड्राई करने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - व्हाइट हेड्स को दूर करने के फेस पैक)

टोनर को बनाने और लगाने के तरीके इस प्राकर हैं -

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

1. खीरे से बना टोनर - 

सामग्री –

  1. एक खीरा। (और पढ़ें - खीरे के फायदे)

विधि –

  1. सबसे पहले खीरे को मिक्सर में डाल लें।
  2. इसके बाद उसका जूस निकाल लें।
  3. अब आप इस जूस को फ्रिज में रख दें।
  4. ठंडा होने के बाद आप इस टोनर को कभी भी लगा सकते हैं।
  5. ये टोनर तैलीय त्वचा के लिए बेहद फायदेमंद है।

(और पढ़ें – खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

2. ग्रीन टी से बना टोनर -

सामग्री –

  1. दो कप गर्म पानी। (और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)
  2. एक या दो ग्रीन टी बैग। (और पढ़ें - ग्रीन टी के गुण)

विधि –

  1. सबसे पहले दो कप पानी को गर्म कर लें।
  2. फिर गैस को बंद कर दें और उसमें एक या दो ग्रीन टी बैग को डाल दें (ग्रीन टी बैग के आकर पर निर्भर)। या फिर आप ग्रीन टी के चार चम्मच पानी में डाल सकते हैं।
  3. फिर बर्तन को ढक दें और आधे घंटे के लिए उसे ऐसे ही छोड़ दें।
  4. अब मिश्रण को छान लें और इस पानी को बोतल में भरके फ्रिज में रख दें।
  5. ठंडा होने के बाद आप जब चाहे इसे टोनर के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए तेल)

3. पुदीने के पत्ते से बना टोनर -

सामग्री –

  1. एक कप पुदीने के पत्ते। (और पढ़ें - पुदीने के लाभ)
  2. एक-दो कप पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले पानी को उबलने को रख दें।
  2. फिर गैस को बंद कर दें और पुदीने की पत्तियों को उसमे डाल दें।
  3. अब बर्तन को ढक दें और मिश्रण के ठंडा होने का इंतज़ार करें।
  4. फिर आधे घंटे बाद मिश्रण को छान लें और फिर इस टोनर को किसी बोतल में भर लें।
  5. इस टोनर को आप जब चाहे तब इस्तेमाल कर सकते हैं और ये टोनर सनबर्न के लिए भी बेहद प्रभावी है।

(और पढ़ें - सर्दियों में रूखी त्वचा की देखभाल)

4. नीम से बना टोनर -

सामग्री –

  1. मुट्ठीभर नीम की पत्तियां। (और पढ़ें - नीम के फायदे)
  2. एक-दो कप पानी।

विधि –

  1. सबसे पहले पानी को उबालने के लिए रख दें।
  2. फिर जब पानी उबल जाए, तो इसमें नीम की पत्तियां डाल दें और गैस को बंद कर दें।
  3. अब बर्तन को ढक कर रख दें और ठंडा होने का इंतज़ार करें।
  4. ठंडा होने के बाद मिश्रण को छान लें और फिर उसे किसी बोतल में डालकर फ्रिज में रख दें।
  5. आप जब चाहे इस टोनर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  6. ये टोनर कील-मुहांसों के लिए बेहतरीन है।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के घरेलू उपाय)

5. कपूर और गुलाब जल से बना टोनर -

सामग्री –

  1. एक तिहाई कपूर। (और पढ़ें - कपूर के औषधीय गुण)
  2. एक कप गुलाब जल।

विधि –

  1. सबसे पहले एक तिहाई कपूर को कूटकर एक कप गुलाब जल में मिला लें।
  2. मिलाने के बाद इस टोनर को फ्रिज में रख दें।
  3. ठंडा होने के बाद आप जब चाहे इस टोनर का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  4. यह टोनर तीन से चार हफ्ते तक ख़राब नहीं होता।

(और पढ़ें - आंखों के नीचे की झुर्रियां हटाने के उपाय)

टोनर के फायदे कुछ इस प्रकार हैं –

1. टोनर PH स्तर संतुलित रखता है -

फेशियल टोनर त्वचा का PH स्तर और हाइड्रोजन स्तर संतुलित रखता है। PH स्तर आपकी त्वचा का एसिडिटी स्तर बताता है और इसे 0 से 14 की संख्या तक मापा जाता है। अगर स्तर 7 है तो यह स्तर सामान्य है। अगर ये स्तर सामान्य है तो इसका मतलब है कि आपकी त्वचा पर तेल और संक्रमण की समस्या बहुत ही कम है। इस तरह आपकी त्वचा अधिक कोमल और निखरी हुई रहती है। 

(और पढ़ें - काले दाग हटाने के उपाय)

2. टोनर त्वचा को डिटॉक्सीफाई करता है -

ज़्यादातर विषाक्त पदार्थ आपके स्वास्थ्य और त्वचा को प्रभावित करते हैं। फेशियल टोनर का कार्य वातावरण में मौजूद विषाक्त पदार्थ जैसे धूम्रपान, धुंध और अन्य केमिकल्स को साफ करने का होता है। इससे आपकी त्वचा निखरी और स्वस्थ लगने लगती है और लम्बे समय तक इसका इस्तेमाल करते रहने से त्वचा पर कील-मुहांसे और झुर्रियों की समस्या नहीं होती। 

(और पढ़ें - चेहरे के दाग धब्बे हटाने के उपाय)

3. टोनर छिद्रों को सिकोड़ता है और त्वचा में कसाव लाता है -

अगर त्वचा पर अधिक बड़े छिद्र होते हैं तो इससे गंदगी, तेल या विषाक्त पदार्थ और आसानी से अंदर तक पहुंच जाते है। इस तरह त्वचा पर इरिटेशन और संक्रमण की समस्या बढ़ने लगती है। फेशियल टोनर छिद्रों को टाइट करता है, तेल को संतुलित रखता है और त्वचा से विषाक्त पदार्थों को निकालता है। इस तरह आपकी त्वचा साफ और कम तैलीय लगने लगती है। 

(और पढ़ें - झाइयां हटाने के उपाय)

4. टोनर की मदद से त्वचा पर कील-मुहांसे नहीं होते -

मुहांसे चेहरे को तो बिगाड़ते ही हैं साथ ही जगह-जगह दर्द भी करते हैं। ये आपकी त्वचा को और तैलीय, बेजान और असंतुलित बनाते हैं। तेल को अधिक बढ़ने से रोकने के लिए और मृत कोशिकाओं को साफ करने के लिए फेशियल टोनर बेहद फायदेमंद होता है। इसके साथ ही यह दाग-धब्बों को भी दूर करता है। 

(और पढ़ें – सनबर्न हटाने के उपाय)

5. टोनर त्वचा को हाइड्रेट और पोषित रखता है -

फेशियल टोनर त्वचा को हाइड्रेट रखता है, जिससे त्वचा की लोच और मॉइस्चर बनी रहती है। त्वचा हाइड्रेट रहने से जवान लगती है। त्वचा को अच्छे से हाइड्रेट करने से बुढ़ापे की वजह से होने वाली समस्याएं रूकती हैं। ज़्यादातर फेशियल टोनर में विटामिन और अन्य पोषक तत्व होते हैं, जो त्वचा को स्वस्थ और संतुलित रखते हैं। 

(और पढ़ें – सन टैन दूर करने के उपाय)

6. टोनर अन्य त्वचा क्षेत्र के लिए -

फेशियल टोनर को कान के आसपास के क्षेत्र को साफ करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इसके साथ ही इसे कमर, छाती और बांह पर जमने वाले तेल को दूर करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए फेस पैक)

और पढ़ें ...