myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

प्रदूषित वातावरण व अन्य कई कारणों की वजह से शरीर में अलग-अलग प्रकार के फोड़े फुंसी हो जाते हैं। त्वचा पर गुलाबी व लाल रंग के दिखने वाले फोड़े फुंसी में कई बार पस भी हो जाता है, जिसकी वजह से इनमें दर्द होने लगता है। चेहरे पर फोड़े फुंसी होते ही लड़कियों को अपनी खूबसूरती को लेकर चिंता सताने लगती है।

फोड़े फुंसियों का इलाज जितना जल्द कर लिया जाए उतना ही बेहतर होता है। यदि आप भी फोड़े फुंसियों के कारण अक्सर परेशान रहते हैं तो आपको बता दें कि ऐसे कई घरेलू उपाय मौजूद हैं जिनको अपनाकर आप इस समस्या से आसानी से छुटकारा पा सकते हैं।

इस लेख में फोड़े फुंसी के घरेलू उपाय और नुस्खे के बारे में विस्तार से बताया गया है। साथ ही आपको फोड़े फुंसी होने के कारण, फोड़े फुंसी होने पर क्या करें, फोड़े फुंसी को हटाने के तरीके, घरेलू उपाय और नुस्खों के बारे में भी बताने का प्रयास किया गया है। 

(और पढ़ें - बालतोड़ का घरेलू उपाय)

  1. फोड़े फुंसी के घरेलू उपाय - Fode funsi ke gharelu upay
  2. फोड़े फुंसी को हटाने के घरेलू नुस्खे - Fode funsi ko hatane ke gharelu nuskhe
  3. फोड़ें फुंसी होने पर क्या करें - Fode funsi hone par kya karen
  4. फोड़े फुंसी के अन्य घरेलू उपाय - Fodi funsi ke anya gharelu upay

फोड़े फुंसी का घरेलू नुस्खा है हल्दी - Fode funsi ka gharelu nuskha hai haldi

फोड़े फुंसी के घरेलू नुस्खों में हल्दी को भी शामिल किया जाता है। इसमें कई औषधिय गुण होते हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • हल्दी पाउडर एक से डेढ़ चम्मच
  • एक गिलास दूध या पानी

इस्तेमाल करने का तरीका:

  • हल्दी पाउडर को दूध या पानी में मिलाकर पीने से आपको फोड़े फुंसी में आराम मिलता है। (और पढ़ें - हल्दी और गर्म पानी के फायदे)
  • अंदरुनी संक्रमण को खत्म करने के लिए आपको एक दिन में करीब दो से तीन बार हल्दी वाला दूध पीना चाहिए।
  • इसके अलावा हल्दी पाउडर को एक चम्मच दूध या पानी में मिलाकर, आप सीधे तौर पर अपने फोड़े फुंसी पर भी लगा सकते हैं।
  • इसके बाद आप इसको करीब 20 से 30 मिनट तक सूखने दें। जब यह पेस्ट सूख जाए तो इसको साफ पानी से धो लें।
  • हल्दी के पेस्ट को आप दिन में दो या तीन बार फोड़े फुंसी पर लगा सकते हैं।  

कैसे काम करता है:

हल्दी में एंटी इन्फ्लेमेटरी और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जो फोड़ फुंसी को ठीक करने में सहायक होते हैं।

(और पढ़ें - हल्दी दूध बनाने की विधि)

फोड़े फुंसी का इलाज है नारियल तेल और टी ट्री ऑयल - Fode Funsi ka ilaj hai nariyal tel aur tea tree oil

नारियल के तेल और टी ट्री ऑयल को कई तरह के सौंदर्य उत्पादों में प्रयोग किया जाता है। इन दोनों तेलों की मदद से आप अपने फोड़े फुंसियों को भी ठीक कर सकते हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • करीब एक से दो चम्मच शुद्ध नारियल का तेल
  • करीब दस से पंद्रहा बूंद टी ट्री ऑयल

इस्तेमाल करने का तरीका:

  • इस मिश्रण को बनाने के लिए आप एक कटोरे में नारियल के तेल को डालें।
  • इसके बाद आप इसमें टी ट्री ऑयल को मिला दें। (और पढ़ें - नारियल पानी के फायदे)
  • इस मिश्रण को एक दिन में करीब चार से पांच बार फोड़े फुंसी पर लगाएं।
  • यह उपाय कम से कम एक सप्ताह तक अपनाएं।  

कैसे काम करता है:

टी ट्री ऑयल में एंटीमाइक्रोबियल और एंटीसेप्टिक और नारियल के तेल में एंटीबैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो फोड़े फुंसी को कम करने का काम करते हैं।

(और पढ़ें - नारियल के दूध के फायदे

फोड़े फुंसी को हटाने का तरीका है बेकिंग सोडा - Fode funsi ko hatane ka tarika hai baking soda

फोड़े फुंसी को ठीक करने के लिए बेंकिग सोडे का भी उपयोग किया जा सकता है।

आवश्यक सामग्री

कैसे इस्तेमाल करें

  • आप सबसे पहले बेकिंग सोडे और नमक को मिक्स कर लें। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा और नींबू के फायदे)
  • इसके बाद आप इसमें करीब दो से तीन चम्मच पानी डालकर एक पेस्ट बना लें।
  • जब पेस्ट बन जाए तो रूई के टुकड़े की मदद से उसको अपने फोड़े फुंसी पर लगाएं।
  • इसके बाद पेस्ट को फोड़े फुंसी पर करीब 20 से 25 मिनट तक लगा रहने दें।
  • पेस्ट को हटाने से पहले फोड़े या फुंसी पर हल्का सा दबाव डालकर उसके अंदर के पस को बाहर निकालें।
  • इस उपाय को आप दिन में केवल एक बार ही अपनाएं।

कैसे काम करता है

अगर फोड़ा या फुंसी पक नहीं रहा हो और आप उसके दर्द और दबाव को कम करने के लिए पस को बाहर निकालना चाहते हों तो यह उपाय प्रभावी रूप से काम करता है। फोड़े फुंसी होने पर त्वचा में पहले से ही खिंचाव होता है और फुंसी की जगह पर त्वचा बेहद ही पतली हो जाती है, ऐसे में नमक और बेकिंग सोडे का मिश्रण फोड़े या फुंसी को पकाने और उसके पस को बाहर निकालने में सहायक होता है। एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण बेकिंग सोडा त्वचा का संक्रमण से भी बचाव करता है। 

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा कर सकता है आपके मुंहासों का इलाज)

फोड़े फुंसी हटाने का उपाय है नीम - Fode funsi hatane ka upay hai neem

त्वचा पर होने वाली कई तरह की समस्याओं में नीम का इस्तेमाल सदियों से किया जाता रहा है।

आवश्यक सामग्री:

  • नीम की पत्तियां
  • आवश्यकतानुसार पानी

इस्तेमाल करने का तरीका:

  • नीम की पत्तियों को मिक्सी या सिल बट्टे पर पीस लें। (और पढ़ें - नीम के उपयोग से रूसी हटाने का तरीका)
  • जब पत्तियों का पेस्ट तैयार हो जाए तो इसको अपने फोड़े फुंसी पर लगाएं।
  • इस पेस्ट को करीब 20 मिनटों तक फोड़े फुंसी पर लगा रहने दें।
  • इसके बाद आप इसको साफ पानी से धो लें।
  • अगर आपको नीम की पत्तियां ना मिल पाएं तो ऐसे में आप नीम के तेल की कुछ बूंदों को एक चम्मच ऑलिव ऑयल में मिलाकर भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • एक दिन में तीन से चार बार आप इस उपाय को अपना सकते हैं।

कैसे काम करता है:

नीम में एंटीबैक्टीरियल, एंटी वायरल और एंटी फंगल गुण होते हैं, जिसकी वजह से यह ना सिर्फ फोड़े फुंसी को ठीक करता है, बल्कि इससे त्वचा में किसी भी प्रकार का संक्रमण भी नहीं होता है। 

(और पढ़ें - दाद के घरेलू उपाय)

फोड़े फुंसी को दूर करने का उपाय है सेंधा नमक - Fode funsi ko dur karne ka upay hai sendha namak

सेंधा नमक को फोड़े फुंसी के साथ ही कई तरह के घरेलू उपायों में शामिल किया जाता है।

आवश्यक सामग्री:

इस्तेमाल करने का तरीका:

  • किसी बड़े कटोरे, बालटी या बाथ टब में गर्म पानी के साथ सेंधा नमक मिला लें।
  • इसके बाद आप फोड़े फुंसी से प्रभावित त्वचा को इस पानी में करीब 20 से 30 मिनटों के लिए डुबोकर रखें। (और पढ़ें - नमक की कमी का इलाज)
  • बेहतर परिणाम पाने के लिए आप इस उपाय को एक दिन में तीन से चार बार दोहरा सकते हैं।

कैसे काम करता है:

सेंधा नमक का गर्म पानी फोड़े फुंसी के दर्द को कम करने का काम करता है। इस उपाय से आपकी त्वचा मुलायम और संक्रमण मुक्त बनती है। साथ ही सेंधा नमक आपके सूजन को कम करने का भी काम करता है। 

(और पढ़ें - समुद्री नमक के फायदे)

फोड़े फुंसी को हटाने के घेरलू उपाय है अनार का छिलका - Fode funsi ko hatane ke gharelu upay hai anaar ka chilka

अनार में कई ऐसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जो खून को साफ करने और आपकी त्वचा को रोग मुक्त बनाने में सहायक होते हैं। इसी वजह से फोड़े फुंसी होने पर भी आप अनार का उपयोग कर सकते हैं।

आवश्यक सामग्री:

इस्तेमाल करने का तरीका:

  • इस उपाय के लिए आपको सबसे पहले अनार के छिलकों को धूप में सूखाना होगा।
  • जब यह छिलके सूख जाएं तो आप इसको पीस कर पाउडर बना लें। (और पढ़ें - अनार के पत्तों के फायदे)
  • इस उपाय को आपने जब भी अपनाना हो तो थोड़ा सा पाउडर लें और उसमें थोड़ा सा नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बना लें।
  • इस पेस्ट को फोड़े फुंसी पर लगाएं और कुछ देर सूखने के लिए छोड़ दें।
  • जब यह पेस्ट सूख जाए तो इसको ठंडे पानी से धोकर साफ कर लें।
  • इस उपाय को आप दिन में दो बार अपना सकते हैं।

कैसे काम करता है:

अनार खाने के फायदों के बारे में आप सभी ने कई बार सुना ही होगा, लेकिन इसके छिलको से होने वाले फायदों के बारे में जानने के बाद अब इसके छिलकों को भी नहीं फेकेंगी। अनार के छिलकों में एंटी इंफेक्टिव और एंटी इन्फ्लेमेटरी प्रभाव होते हैं। इसके साथ ही नींबू में एंटीमाइक्रोबियल तत्व के साथ ही एंटीऑक्सीडेंट्स भी मौजूद होते हैं, जो फोड़े फुंसी को कम करने का काम करते हैं। 

(और पढ़ें - अनार के बीज के तेल के फायदे)

फोड़े फुंसी को कम करने के लिए आप निम्नलिखित कुछ अन्य घरेलू नुस्खों को अपना सकते हैं:

(और पढ़ें - चेहरे की झाइयां हटाने के उपाय)

और पढ़ें ...