बेकिंग सोडा और नींबू के रस को एक साथ मिक्स करके, उपयोग करने से कई प्रकार के लाभ मिलते हैं। बेकिंग सोडा और नींबू के रस के उपयोग से शरीर को डिटॉक्सीफाई करने, पीएच स्तर को संतुलित रखने, पाचन में सुधार, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने, हृदय को स्वस्थ रखने, त्वचा की रक्षा करने, लिवर को ठीक करने और अन्य कई प्रकार की बीमारियों को रोकने में मदद मिलती है।

स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने के लिए ऐसे कई घरेलू उपचार है, जिन्होंने अभी के कुछ वर्षों में लोकप्रियता हासिल की है। लेकिन बेकिंग सोडा और नींबू का उपयोग सदियों से किया जा रहा है। ताजा नींबू का रस विटामिन सी और अन्य एंटीऑक्सीडेंट्स में भरपूर होता है और यह शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने के साथ साथ मूत्रवर्धक लक्षणों से भी निजात दिलाने में मदद करता है। नींबू में खनिज पदार्थ और विटामिन की भरपूर मात्रा होती है, जो भोजन में और वैकल्पिक स्वास्थ्य उपचार में बहुत ही लोकप्रिय है।

(और पढ़ें - नींबू पानी पीने के फायदे)

  1. बेकिंग सोडा और नींबू के फायदे - Baking Soda aur Numbu ke Fayde
  2. बेकिंग सोडा और नींबू के नुकसान - Baking Soda aur Nimbu ke Nuksan

बेकिंग सोडा सोडियम बाइकार्बोनेट के नाम से जाना जाता है, जिसे तकनिकी तौर पर एक दवा माना जाता है। लेकिन इसका उपयोग भोजन में भी कई तरह से किया जाता है। इसके एसिडिटी को ठीक करने वाले गुणों के कारण, यह पाचन और छाती की जलन के लिए उपयोग किया जा सकता हैं। साथ ही यह शरीर के असंतुलित पीएच स्तर के कई साइड इफेक्ट्स को कम कर सकता है।

(और पढ़ें - छाती की जलन के उपाय)

तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में:

बेकिंग सोडा और नींबू के फायदे रखें पी एच स्तर को सामान्य - Baking soda aur nimbu ke fayde rakhen PH star ko samany

लोग अक्सर शरीर में एसिड का स्तर कम होने को नजरअंदाज करते हैं। लेकिन एक संतुलित पीएच स्तर को बनाए रखना पूरे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही जरूरी है। सोडियम बाइकार्बोनेट को क्षारीय एजेंट के रूप में जाना जाता है जो एसिड के स्तर को कम कर सकता है।

ना केवन यह छाती की जलन और अपच जैसी परेशानियों को कम कर सकता है, बल्कि शरीर को क्षारीय स्तर पर भी संतुलित रख सकता है जिसके कारण शरीर में बीमारी और रोगजनकों का रहना मुश्किल हो जाता है। इसी तरह, नींबू में मौजूद साइट्रिक एसिड के पेट में पच जाने के बाद शरीर पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है।

(और पढ़ें - छाती में जलन के लिए क्या करें)

बेकिंग सोडा एंड लेमन जूस फॉर वेट लॉस इन हिंदी - Baking soda and lemon juice for weight loss in hindi

बेकिंग सोडा और नींबू के रस का सेवन वजन कम करने में मदद करने के लिए उपयोग किया जाता है। क्योंकि बेकिंग सोडा एक्सरसाइज के दौरान अधिक ऊर्जा और सहनशक्ति प्रदान कर सकता है और आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

बेकिंग सोडा और नींबू के रस के फायदे दांतों के लिए - Baking soda aur nimbu ke ras ke fayde danton ke liye

परंपरागत रूप से, लोगों द्वारा दांतों को सफेद करने के लिए इस मिश्रण का उपयोग किया जाता है। लेकिन यदि आप लगातार इसे रगड़ रहे हैं तो यह आपके दांतों के लिए हानिकारक हो सकता है। हालांकि, यह दांतों के दाग कम कर सकता है और मुंह में एसिड का स्तर भी कम कर सकता है। लेकिन इस मिश्रण का उपयोग टूथपेस्ट के रूप में करना अधिक सुरक्षित तरीका नहीं हैं, इससे अधिक सुरक्षित तरीके मौजूद हैं। इसलिए टूथपेस्ट के रूप में इस्तेमाल करने की बजाय किसी अन्य सुरक्षित तरीके से इसका उपयोग करें। 

(और पढ़ें - दांतों का पीलापन दूर करने के तरीके)

बेकिंग सोडा नींबू के रस का उपयोग रखें पाचन को बेहतर - Baking Soda nimbu ke ras ka upyog rakhen pachan ko swasth

आप जानते हैं कि नींबू से कई प्राकृतिक स्वास्थ्य लाभ होते हैं जैसे पाचन को स्वस्थ और बेहतर रखने में मदद करना। नींबू का रस और बेकिंग सोडा मिक्स करके सेवन करने से आपके पाचन तंत्र में काफी सुधार करने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - पाचन तंत्र के रोग का इलाज)

बेकिंग सोडा और नींबू का रस एक एंटीसिड के रूप में कार्य करता है जो अपच, पेट फूलना, सूजन, ऐंठन और छाती में जलन के लक्षणों को जल्दी कम करने में लाभकारी होता है। साथ ही यह आंतों में सूजन को रोकने में लाभकारी होता है। बेकिंग सोडा आपके पेट के स्वास्थ्य को काफी हद तक स्वस्थ और बेहतर रखने में मदद कर सकता है।

(और पढ़ें - पेट में ऐंठन का इलाज)

बेकिंग सोडा और नींबू के रस के फायदे रखें ह्रदय को स्वस्थ - Baking soda aur nimbu ke ras ke fayde rakhen hriday ko swasth

कुछ रिसर्च के अनुसार यदि बेकिंग सोडा को पीने वाले पानी में मिक्स करके पिया जाएं तो यह पानी "खराब" कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है। साथ ही एचडीएल कोलेस्ट्रॉल के स्तर में सुधार करने में लाभकारी साबित होता है, जो एथेरोस्क्लेरोसिस की संभावनाओं को कम कर सकता है। इस प्रकार बेकिंग सोडा और नींबू का सेवन स्ट्रोक और दिल के दौरे के खतरे को कम कर सकता है।

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के तरीके)

बेकिंग सोडा नींबू के रस के फायदे त्वचा के लिए - Baking Soda nimbu ke ras ke fayde tvcha ke liye

नींबू के रस में साइट्रिक एसिड की बहुत अधिक मात्रा होती है। साथ ही इसमें कई महत्वपूर्ण एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो ऑक्सीडेटिव तनाव को कम कर सकते हैं और शरीर में से मुक्त कणों को खत्म करने में मदद करते हैं। यह त्वचा के लिए भी बहुत ही अच्छा होता है और उम्र बढ़ने के संकेतों को धीमा करने में मदद सकता है। साथ ही यह मिश्रण झुर्रियों को कम करने में और आपकी त्वचा को चमकदार और मुलायम रखने में मदद कर सकता है।

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियों को कैसे खत्म करें​)

बेकिंग सोडा और नींबू के गुण बचाएं कैंसर से - Baking Soda aur Nimbu ke Gun Bachayen Cancer se

नींबू के रस और बेकिंग सोडा का कैंसर पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है। विशेष रूप से नींबू का रस, कैंसर को पैदा करने वाली कोशिकाओं के खिलाफ बहुत लाभकारी पाया गया है। साथ ही पूरे शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है जिससे कैंसर का खतरा काफी कम हो जाता है।

(और पढ़ें - कैंसर से लड़ने वाले आहार)

इसके अलावा बेकिंग सोडा का ब्रैस्ट कैंसर पर असर पता करने के लिए अध्ययन किए जा रहे हैं। एक अध्ययन में चूहों के ट्यूमर पर असर देखा गया है। ये परिणाम तब प्राप्त हुए जब विटामिन सी के एंटीऑक्सीडेंट व एंटीमाइक्रोबियल प्रभावों और लिमोनोइड्स (नींबू की प्रजाति के फल) को आपस में मिलाया गया।

(और पढ़ें - स्तन कैंसर का ऑपरेशन)

बेकिंग सोडा और नींबू के लाभ करें छाती में जलन से बचाव - Baking soda aur nimbu ke labh kare chhati mein jalan se bachaav

छाती में जलन बहुत ही परेशानी का कारण बनती है। सोडियम बाइकार्बोनेट यानी की बेकिंग सोडा एक एंटासिड के रूप में कार्य करता है। इसलिए यदि आप नींबू पानी में बेकिंग सोडा मिक्स करके पीते हैं तो यह मिश्रण पेट के एसिड को शांत करने में मदद कर सकता है। इसका उपयोग छाती में जलन, पेट में अल्सर के दर्द में राहत और अपच के लिए घरेलू उपाय के रूप में किया जा सकता है।

(और पढ़ें - पेट में अल्सर के घरेलू उपाय)

एसिडिटी को ठीक करने के लिए हर दो घंटे में आधे गिलास पानी में आधा चम्मच बेकिंग सोडा मिक्स करें। लेकिन 24 घंटे के दौरान सात से अधिक बार इसका सेवन ना करें। यदि आप 60 वर्ष से अधिक उम्र के हैं, तो 24 घंटे के दौरान तीन बार से अधिक ना लें।

(और पढ़ें - एसिडिटी के घरेलू उपाय)

बेकिंग सोडा और नींबू रस है लिवर के लिए लाभकारी - Baking soda aur nimbu ras hai liver ke liye labhkari

नींबू के सबसे बड़े लाभों में से एक है, आपके लिवर को स्वस्थ और सुरक्षित रखना। आपका लिवर आपके शरीर की छानने वाली (विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने वाली) प्रणाली के रूप में कार्य करने के लिए जाना जाता है, जिसका मतलब है कि यह पोषक तत्वों को संसाधित (processes) करता है और आपके शरीर से अपशिष्ट और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालता है।

(और पढ़ें - लिवर को स्वस्थ रखने के लिए क्या खाएं)

किसी भी अन्य भोजन की तुलना में, नींबू लिवर में एंजाइम के उत्पादन को अधिक बढ़ाने में मदद कर सकता है। यह पोषक तत्वों के अवशोषण, अपशिष्ट हटाने और बेहतर स्वास्थ्य के लिए लाभदायक हो सकता है।

(और पढ़ें - लिवर रोग का इलाज)

बेकिंग सोडा और नींबू के फायदों के साथ-साथ कुछ नुकसान भी हो सकते हैं। जैसे कि बेकिंग सोडा क्षारीय (alkaline) समस्याओं का कारण बन सकता है। बेकिंग सोडा को बड़े पैमाने पर एक दवा के रूप में पहचाना जाता है। इसलिए किसी भी प्रकार के प्राकृतिक उपचार को करने से पहले, अपने डॉक्टर से सलाह कर लें।

(और पढ़ें - बेकिंग सोडा से मुहांसों का इलाज)

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ