myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आंखों में जलन होना परेशानी वाली और गंभीर समस्या हो सकती है। हालांकि, अधिकतर मामलों में ये किसी अन्य समस्या का लक्षण होता है जिसका पता आराम से लगाया जा सकता है। आंखों में जलन की समस्या को मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली दवाओं से आसानी से ठीक किया जा सकता है।

(और पढ़ें - एलर्जी होने पर क्या होता है)

आंख में जलन होने का सबसे आम कारण होता है ड्राई आई सिंड्रोम या आंखों में सूखापन होना। हालांकि, ये एलर्जी, आंख आना, पलकों की सूजन और कई अन्य समस्याओं के कारण भी हो सकता है। कभी-कभी आंखों में कोई बहरी वस्तु भी चली जाती है, जिसके कारण आंखों में जलन होने लगती है।

(और पढ़ें - आँख आने पर क्या करना चाहिए)

इस लेख में आंखों की जलन के लिए क्या करना चाहिए और आंखें जलने पर डॉक्टर के पास कब जाएं के बारे में बताया गया है।

  1. आंखों में जलन हो तो क्या करना चाहिए - Aankhon mein jalan hone par kya kare
  2. आंखों में जलन के लिए डॉक्टर के पास कब जाना चाहिए - Ankho me jalan ho to doctor ke pas kab jaye

अधिकतर मामलों में आंखों में जलन होना गंभीर स्थिति नहीं होती है और इसके लिए निम्नलिखित तरीके से प्राथमिक उपचार किया जा सकता है -

  1. सबसे पहले आंखों में जलन करने वाले पदार्थ, वातावरण या स्थिति से दूर चले जाएं।
  2. आंखों में जलन की समस्या के लिए आंखों के ऊपर टी बैग रखने से जलन में आराम मिलता है, खासकर ग्रीन टी के बैग से।
  3. हलके गुनगुने पानी और क्लींजर से आंखों को अच्छी तरह से धोएं और तौलिये से रगड़ कर पोंछने की जगह तौलिये को आंख पर रखकर हल्के हाथों से दबाएं। (और पढ़ें - गुनगुना पानी पीने के फायदे)
  4. अगर आपके पास एलोवेरा का जेल है, तो उसे कुछ मात्रा में अपनी पलकों और आंख के आस-पास लगा लें। इससे आंखों में दर्द और जलन दोनों में आराम मिलेगा। (और पढ़ें - आँखों में दर्द का घरेलू इलाज)
  5. अगर आंखों की जलन एलर्जी के कारण है, तो मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली एंटीहिस्टामिन दवाओं या ड्रॉप्स का उपयोग किया जा सकता है। हालांकि, इनका प्रयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात कर लें। (और पढ़ें - एलर्जी के घरेलू उपाय)
  6. अगर आप आंख में कोई दवा या ड्रॉप्स नहीं डालना चाहते हैं, तो आप चम्मच का उपयोग भी कर सकते हैं। इसके लिए एक ठंडा चम्मच लें और उसे अपनी आंखों पर तब तक रखें जब तक वो गर्म न हो जाए। इससे कुछ समय के लिए आंखों की खुजली, दर्द व जलन से राहत मिलेगी। (और पढ़ें - आंख आने के घरेलू उपाय)
  7. अलसी और मछली के तेल से ड्राई आई सिंड्रोम से होने वाली आंखों की जलन में राहत मिलती है। (और पढ़ें - अलसी के तेल के फायदे)
  8. आंखों में जलन के लिए खीरे के टुकड़े को आंख पर रखा जा सकता है। खीरे में विटामिन सी होता है, जिससे आंखों के आस-पास की त्वचा मुलायम होती है और आंखों की जलन कम होती है। (और पढ़ें - खीरे के बीज के फायदे)
  9. पूरे दिन में बहुत सारा पानी पीने से आंखों में सूखापन होने की समस्या नहीं होती, जिससे आंखों में जलन भी कम होती है। (और पढ़ें - खाली पेट पानी पीने के 9 फायदे)
  10. आंखों में जलन से राहत के लिए बर्फ के उपयोग को सबसे अच्छा माना जाता है। बर्फ के कुछ टुकड़ों को एक तौलिये में लपेट लें और बर्फ के पिघलने तक उसे अपनी आंखों पर रखें। ध्यान रहे कि बर्फ को सीधे अपनी त्वचा पर न रखें, इससे त्वचा को नुक्सान हो सकता है। (और पढ़ें - त्वचा पर बर्फ लगाने के फायदे)
  11. अगर आप कंप्यूटर पर काम करते हैं, तो थोड़ी-थोड़ी देर में ब्रेक लें। ऐसा करने से आपको आंखों के सूखेपन और जलन की समस्या कम होगी। (और पढ़ें - आँख लाल होने के कारण)
  12. आंखों को यूवी किरणों से बचाने के लिए घर से बाहर जाते समय आंखों पर धूप के चश्मे लगाएं। (और पढ़ें - स्वास्थ्य के लिए सूरज के प्रकाश के लाभ)
  13. आप आंखों पर रखने के लिए खीरे की जगह आलू का उपयोग भी कर सकते हैं। आलू से भी आंखों की जलन की समस्या कम होती है। (और पढ़ें - त्वचा के लिए फ़ायदेमंद हो आलू)
  14. आप मेडिकल स्टोर में मिलने वाली आर्टिफिशियल टीयर्स ड्रॉप्स का उपयोग भी कर सकते हैं, जैसे रिफ्रेश टीयर्स, टीयर प्लस और नॉरमो टीयर्स आदि।

(और पढ़ें - आंखों में खुजली के कारण)

वैसे तो आंखों की जलन कोई गंभीर समस्या नहीं होती और ये प्राथमिक उपचार की तकनीकों से सही भी हो जाती है। हालांकि, अगर कुछ दिनों में आपकी आंखों की जलन ठीक न हो, तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए।

आंखों में जलन के साथ निम्नलिखित लक्षण अनुभव करने पर तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं -

(और पढ़ें - मोतियाबिंद के लक्षण)
 

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें