• हिं

डेंगू बुखार में बहुत ज्यादा कमजोरी आ जाती है. ऐसे में कुछ खाद्य पदार्थ हैं जो डेंगू फीवर से जल्दी रिकवरी करने में मदद करते हैं, जैसे मीट, अंडे और फल. ये खाद्य पदार्थ प्रोटीन, आयरन से भरपूर होते हैं और एनीमिया को रोकने के साथ ही इम्यू्न सिस्टम को मजबूत करने में मदद करते हैं.

(और पढ़ें - डेंगू में क्या खाना चाहिए)

डेंगू बुखार के दौरान कुछ-कुछ समय के अंतराल पर खाना, दिनभर में कम से कम 3 लीटर तरल पदार्थों का सेवन और पूरी तरह से आराम करना चाहिए. डेंगू से पीड़ित लोगों के लिए सबसे अधिक उन फलों और खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए जिनमें प्रोटीन और आयरन भरपूर मात्रा में हो, जो प्लेटलेट्स के निर्माण को बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं, साथ ही जो रक्तस्राव को रोकने और डेंगू के खिलाफ लड़ने में मदद करें.

आज इस लेख में जानेंगे डेंगू में कौन से फल खाना सबसे ज्यादा फायदेमंद हो सकता है.

(और पढ़ें - डेंगू होने पर क्या करना चाहिए)

  1. डेंगू में फल - Fruit diet in dengue in Hindi
  2. डेंगू में डाइट से जुड़ी अन्य टिप्स - Other diet tips for dengue in Hindi
  3. सारांश - Takeaway
डेंगू में कौन से फल खाएं, कौन से न खाएं के डॉक्टर

जब शरीर को ठीक से पोषण मिलता है तो वो डेंगू बुखार से लड़ने में सक्षम होता है. डेंगू में विशेषरूप से कुछ फलों का सेवन करके इससे जल्दी छुटकारा पा सकते हैं, जैसे -

पपीता

पपीता बहुत जल्दी ब्लड प्लेटलेट्स बढ़ाने में मददगार है. मलेशिया की एशियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी की एक रिसर्च के मुताबिक, पपीते का जूस डेंगू फीवर में कम हुई प्लेटलेट्स को बहुत जल्दी बढ़ा देता है. पपीते के पत्तोंं के रस और छिले हुए पपीते के जूस से आसानी से प्लेटलेट्स को बढ़ाया जा सकता है.

अनार

अनार आवश्यक पोषक तत्वों और मिनरल्स से भरपूर होता है जो शरीर को आवश्यक ऊर्जा प्रदान करता है. अनार के सेवन से थकावट कम होती है. पपीते की तरह अनार भी ब्लड में प्लेटलेट्स बढ़ाने में मददगार है. अनार में उच्च मात्रा में मौजूद आयरन तेजी से प्लेटलेट्स बढ़ाने में मदद करता है. दो सप्ता‍ह तक यदि आप अनार का 150 मिलिलीटर जूस भी रोजाना पीते हैं तो भी आपकी प्लेटलेट्स बहुत जल्दी बढ़ जाती हैं, जो डेंगू से उबरने के लिए आवश्यक है. इतना ही नहीं, अनार में मौजूद विटामिन डेंगू फीवर के दौरान आने वाली कमजोरी को भी भरता है.

कीवी

डेंगू फीवर के लक्षणों की शुरूआत में ही किवी का सेवन करने से आप समय रहते प्लेटलेट्स का कम होना रोक सकते हैं. कीवी विटामिन सीविटामिन केविटामिन ईविटामिन बी9फाइबर, प्रोटीन, कैल्शियम और पोटैशियम जैसे पोषक तत्वों से भरपूर है. इसमें बहुत सारे एंटीऑक्सीडेंट होते हैं जो कि डेंगू के मरीजों के लिए बहुत जरूरी है. डेंगू में प्लेटलेट्स घटने के कारण खून के थक्के जम जाते हैं और ब्लड प्रेशर आमतौर पर कम हो जाता है. कीवी में ब्लड क्लोेटिंग को कम करने और ब्लड प्रेशर को नियंत्रि‍त करने की क्षमता होती है. साथ ही यह इम्यून बूस्टर भी है.

सेब

फाइटोकेमिकल के शोधों के दौरान पाया गया है कि सेब, पपीते और नींबू में कैरोटेनॉयड्स, एस्टर, फ्लेवोनोइड्स, फेनोलिक एसिड, टेरपीन और विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. सेब में फाइटोएस्ट्रोजेन, प्रोसायनिडिन और रोस्मारिनिक एसिड जैसे कई एंटीवायरल यौगिक पाए जाते हैं. फाइटोकेमिकल्स मजबूत एंटी-ऑक्सीडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट के रूप में काम करते हैं जो शरीर को डेंगू के कारण होने वाली सूजन और ऑक्सीकरण तनाव से निजात दिलाने में मदद कर सकते हैं.

(और पढ़ें - डेंगू के घरेलू उपाय)

कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ भी हैं जो डेंगू फीवर को गंभीर बना सकते हैं. आपको ऐसे खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए, जिनमें सैलिसिलेट होते हैं और एस्पिरिन की तरह काम करते हैं, जो खून को पतला कर सकते हैं. ये खाद्य पदार्थ हैं:

एवोकाडोजामुनचेरीअंगूरआड़ू और आलूबुखारा. इसके अलावा आलूकाली मिर्चटमाटरबादामअखरोटखुबानीखीरालहसुनप्याजअदरक में भी सैलिसिलेट पाया जाता है. हालांकि इन खाद्य पदार्थों का सेवन करना है या नहीं, ये आपके डॉक्‍टर और न्यूट्रिशनिस्ट डेंगू के दौरान आपकी स्थिति को देखकर ही सुनिश्चित करते हैं. 

इसके अलावा, तले हुए खाद्य पदार्थ, मसालेदार खाने और कैफीन-युक्त पेय पदार्थ के सेवन से बचें.

(और पढ़ें - डेंगू की आयुर्वेदिक दवा)

डेंगू में आमतौर पर प्रोटीन, फाइबर और आयरन युक्त डायट के साथ ही ऐसे खाद्य पदार्थों का सेवन किया जाता है जिन्हें आसानी से पचाया जा सके. प्लेटलेट काउंट बढ़ाने के लिए विटामिन सी और विटामिन के दोनों जरूरी हैं. इसलिए कीवी के अलावा अनानाससंतरेआंवलाकेले जैसे फलों का सेवन भी करना चाहिए. ये फल आंतों के जरिए आयरन को अवशोषित करते हैं और इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाते हैं. इसके साथ ही दलियाउबली हुई सब्जियांचावल का दलिया, सूप, टोस्ट, ताजा जूस और नारियल पानी का सेवन भी किया जा सकता है.

(और पढ़ें - डेंगू की होम्योपैथिक दवा)

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
8 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ