myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कुछ लोगों के लिए गर्मियों का समय काफी सुखद होता है, लेकिन यह मौसम उन लोगों के लिए परेशानी बन जाता है जो घमौरियों से काफी ज्यादा पीड़ित रहते हैं। घमौरियों को स्वेट रैश या हीट रैश (Sweat rash or Heat rash) भी कहते हैं। चिकित्सीय भाषा में, इस स्थिति को मिलिरिया (Miliaria) भी कहते हैं। यह त्वचा संबंधी एक आम समस्या है जो शिशुओं, बच्चों और व्यस्क को होती है।

यह समस्या ज्यादातर उन लोगों को होती है जो गर्मी व नमी वाले मौसम में अधिक रहते हैं। ऐसे मौसम में ज्यादा रहने से अत्यधिक पसीना आता है, जिसकी वजह से पसीने की ग्रंथियां बंद हो जाती हैं। इससे त्वचा पर छाले और छोटी-छोटी गांठ हो जाती हैं। कुछ प्रकार की घमोरियों में कांटे चुभने जैसा महसूस होने लगता है या अत्यधिक खुजली होने लगती है।

(और पढ़ें - ज्यादा पसीना आना रोकने के घरेलू उपाय)

घमोरियां काफी ज्यादा बढ़ जाएं तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को दिखाएं। इसके अलावा घमोरी के शुरूआती लक्षण अगर कम हैं तो आप कुछ बेहतरीन घरेलू उपायों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इस लेख में हमने आपको घमोरियों के घरेलू उपाय, तरीके और नुस्खे बताये हैं, जिनकी मदद से आप अपनी घमोरियां ठीक कर सकते हैं।

(और पढ़ें - घमौरी के लक्षण)

तो चलिए आपको बताते हैं घमोरी से बचने के उपाय, तरीके और नुस्खे –

  1. घमौरियों से बचने के घरेलू उपाय - Ghamoriyo se bachne ke gharelu upay
  2. घमोरियां कैसे दूर करें - Ghamoriya kaise door kare
  3. घमौरियों को दूर करने के घरेलू उपाय - Ghamoriyo ko door karne ke gharelu upay
  4. घमोरी के लिए आसन टिप्स - Ghamori ke liye aasan tips

घमौरियों का घरेलू नुस्खा है कोल्ड कम्प्रेस - Ghamoriya ka gharelu nuskha hai cold compress

वयस्क के लिए यह उपाय बहुत ही बेहतरीन है। घमोरियों के कारण छालों के आसपास सूजन आ जाती है, सूरज की तेज किरणों की वजह से उस जगह पर खुजली और कांटे चुभने जैसा महसूस होता है। घमोरी दूर करने के लिए आप प्रभावित क्षेत्र पर बर्फ या ठंडे कपड़े का इस्तेमाल कर सकते हैं। कोल्ड कम्प्रेस लगाने से सूजन, खुजली और अन्य समस्याओं से काफी आराम मिलता है।

कोल्ड कम्प्रेस का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. तीन से चार बर्फ के टुकड़े। (और पढ़ें - बर्फ की सिकाई के फायदे)
  2. एक तौलिया।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले बर्फ के टुकड़े लें।
  2. अब उन्हें किसी कपड़े या तौलिये में बांध लें।
  3. अब कपड़े को प्रभावित क्षेत्र पर पांच से दस मिनट तक लगाकर रखें।
  4. अगर घमोरियां काफी ज्यादा है तो आप बर्फ वाले कपड़े को घमोरियों पर गोल-गोल भी घुमा सकते हैं।
  5. इस उपाय को हर पांच से छः घंटे में कम से कम दो से तीन बार दोहराएं।
  6. इसके अलावा आप ठंडे पानी में कपड़े को भिगोकर फिर उसे निचोड़कर प्रभावित क्षेत्र पर कम से कम पांच से दस मिनट तक लगा सकते हैं। एक हफ्ते तक इस उपाय को पूरे दिन में तीन से चार बार दोहराएं। साथ ही रोजाना ठंडे पानी से भी जरूर नहाएं।

(और पढ़ें - सिकाई करने के फायदे

घमौरियों का उपाय है बेकिंग सोडा - Ghamoriya ka upay hai baking soda

बेकिंग सोडा घमोरियों के लिए एक और बेहतरीन उपाय है। यह एक्सफोलिएटिंग की तरह कार्य करता है और मृत कोशिकाओं, अशुद्धियों और अन्य विषाक्त पदार्थों को साफ कर बंद छिद्रों को खोलने में मदद करता है। इस तरह घमोरी से होने वाली सूजन व खुजली से आपको काफी आराम मिलता है।

बेकिंग सोडा का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. दो बड़ा चम्मच बेकिंग सोडा। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)
  2. एक कप ठंडा पानी। (और पढ़ें - एक्सफोलिएट क्या है)
  3. साफ कपड़ा।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले बेकिंग सोडा को पानी में मिला लें।
  2. अच्छे से मिलाने के बाद मिश्रण में साफ कपड़ा डुबो दें।
  3. डुबोने के बाद कपड़े को निचोड़ लें।
  4. अब कपड़े को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  5. लगाने के बाद दस मिनट तक उसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  6. इस प्रक्रिया को एक हफ्ते तक पूरे दिन में तीन से चार बार जरूर दोहराएं।

 (और पढ़ें - फेशियल किट करने की विधि)

घमौरियों से छुटकारा पाने का तरीका है पाउडर - Ghamoriyo se chutkara pane ka tarika hai powder

घमोरियों को ठीक करने के लिए आप पाउडर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। ऐसे पाउडर का इस्तेमाल करें जो त्वचा को ठंडक दे और घमोरियों के लक्षणों से छुटकारा दिलाए। घमोरी के कारण त्वचा पर होने वाले छालों के आसपास सूजन और खुजली की परेशानी भी कम हो जाती है।

पाउडर का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. अच्छे से नहाने के बाद शरीर को तौलिये से पोछ लें।
  2. जब शरीर अच्छे से सूख जाए तब प्रभावित क्षेत्र पर पाउडर लगाएं। आप चंदन के पाउडर को भी त्वचा पर लगा सकते हैं।
  3. इसके अलावा चंदन के पाउडर को गुलाब जल में मिलाकर प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं। लगाने के बाद पेस्ट को सूखने के लिए छोड़ दें और फिर त्वचा को पानी से धो दें। इस पेस्ट का इस्तेमाल पूरे दिन में दो बार करें।

नोट - खुशबूदार पाउडर का इस्तेमाल न करें इससे घमोरियां और बढ़ सकती हैं।   

(और पढ़ें - चेहरे के गड्ढे मिटाने के उपाय)

घमौरी हटाने का तरीका है एलो वेरा - Ghamori hatane ka tarika hai aloe vera

इस पौधे का इस्तेमाल कई त्वचा संबंधी समस्याओं का इलाज करने के लिए किया जाता है जैसे त्वचा में जलन, सूजन, खुजली, सनबर्न और घमोरियां। इसका ठंडक देने वाला प्रभाव और सूजनरोधी गुण घमौरियों से होने वाली सूजन व खुजली को कम कर देते हैं। एलो वेरा त्वचा को मुलायम बनाता है और पानी की कमी नहीं होने देता है।

एलो वेरा का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एलो वेरा जेल। (और पढ़ें - एलोवेरा के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले एलो वेरा की पत्ती से जेल निकालें।
  2. अब जेल को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद 15 से 20 मिनट तक जेल को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. अब ठंडे पानी से नहा लें।
  5. इस प्रक्रिया को एक हफ्ते तक पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - सनस्क्रीन क्या है

घमोरियां मिटाने का नुस्खा है दही - Ghamoriya mitane ka nuskha hai dahi

दही का ठंडा प्रभाव छाले की वजह से त्वचा में होने वाली सूजन, जलन और खुजली को कम करने में मदद करता है। यह छिद्रों को बंद करता है और घमोरियों का तेजी से इलाज करता है।

दही का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. जरूरत अनुसार दही। (और पढ़ें - दही खाने के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. एक कटोरी में दही लें और फिर इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  2. त्वचा पर दही को 15 से 20 मिनट तक लगाकर रखें।
  3. अब त्वचा को पानी से धो लें।
  4. इस उपाय को रोजाना पूरे दिन में एक बार इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - त्वचा पर चकत्ते के लक्षण

चने का पाउडर दिलाएं घमोरी से छुटकारा - Chane ka powder dilaye ghamori se chutkara

चने का पाउडर त्वचा के लिए क्लींजर की तरह कार्य करता है। यह त्वचा की अशुद्धियों और मृत कोशिकाओं को साफ करता है, जिसकी वजह से छिद्र बंद हो जाते हैं। यह घरेलू उपाय खुजली और छाले की वजह से होने वाली सूजन से भी राहत दिलाता है।

चने के पाउडर का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. तीन से चार बड़ी चम्मच चने का पाउडर। (और पढ़ें - काबुली चने खाने के फायदे)
  2. पानी या गुलाब जल।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले चने के पाउडर में पानी या गुलाब जल मिला लें।
  2. मुलायम पेस्ट तैयार होने के बाद इसे प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद 15 से 20 मिनट के लिए पेस्ट को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. अब त्वचा को ठंडे पानी से साफ कर लें।
  5. इस पैक को रोजाना लगाएं।

(और पढ़ें - एलर्जी के लक्षण

घमोरियों के लिए खीरे का इस्तेमाल करें - Ghamoriyo ke liye kheere ka istemal kare

घमोरी के कारण प्रभावित क्षेत्र पर जलन भी महसूस होने लगती है। आप जलन की समस्या को खीरे की मदद से कम कर सकते हैं। खीरे में ठंडक देने वाले गुण होते हैं जो प्रभावित क्षेत्र को ठंडा रखते हैं और घमोरी से होने वाली जलन व खुजली से राहत दिलाते हैं।

खीरे का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एक खीरा। (और पढ़ें - खीरे के फायदे और नुकसान)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले एक बड़े खीरे को छील लें।
  2. फिर लम्बे व पतले टुकड़ों में खीरे को काट लें।
  3. अब खीरों को फ्रिज में कुछ मिनट के लिए रख दें जिससे कि वो ठंडे हो जाएं।
  4. फिर इन्हें प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं और तब तक लगाकर रखें जब तक आपको खीरों की गर्माहट न महसूस होने लगे।
  5. जरूरत पड़े तो इस प्रक्रिया को फिर से दोहरा सकते हैं।
  6. इस उपाय को रोजाना इसी तरह दोहराएं। 

ओट्स की मदद से होती हैं घमोरी दूर - Oats ki madad se hoti hain ghamori door

ओट्स बहुत ही पोषित नाश्ता है जिसमें कई फायदे मौजूद होते हैं। यह संवेदनशील त्वचा के लिए बेहद बेहतरीन है। ओट्स त्वचा को एक्सफोलिएट करता है और पसीने से जमा मैल को साफ करता है। यह घरेलू उपाय खुजली और सूजन से राहत दिलाने में भी मदद करता है।

ओट्स का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. दो से तीन कप ओट्स। (और पढ़ें - ओट्स के फायदे)
  2. गुनगुना पानी।
  3. बाल्टी या बाथ टब। (और पढ़ें - ओट्स कैसे बनाये और खाये)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले बाथ टब या बाल्टी में गुनगुना पानी डालें।
  2. अब उसमें ओट्स डालें और अच्छे से पूरे मिश्रण को चला लें।
  3. फिर उस पानी को शरीर पर डालें या बाथ टब में 20 से 25 मिनट के लिए बैठ जाएं।
  4. नहाने के बाद शरीर को तौलिये से पोछ लें।

(और पढ़ें - एलर्जी होने पर क्या होता है

घमोरी के लिए पपीते का प्रयोग करें - Ghamori ke liye papite ka prayog kare

पपीते का गूदा घमोरी के कारण होने वाली जलन को कम करता है और खुजली से राहत दिलाता है। यह बंद छिद्रों को खोलता है और मृत व खराब हुई कोशिकाओं को साफ करने में मदद करता है।

पपीते का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. पपीते के टुकड़े। (और पढ़ें - पपीते के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले पपीते के टुकड़ों को पीस लें।
  2. पीसने के बाद उन्हें प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।
  3. त्वचा को धोने से पहले 25 से 30 मिनट के लिए गूदे को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. इस उपाय को एक या दो दिन छोड़कर आजमाएं या फिर जब जरूरत हो तब इसका इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - एलर्जी के घरेलू उपाय

घमोरी में आंवला लगाएं - Ghamori me amla lagaye

घमोरियों के लिए आंवला बहुत ही बेहतरीन उपाय है और इसमें अधिक मात्रा में विटामिनखनिज पदार्थ मौजूद होते हैं। आंवला में मौजूद विटामिन सी रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करता है और घमोरी से लड़ने में मदद करता है।

आंवला का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. दो से तीन आंवला। (और पढ़ें - आंवला के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले आंवला को दो हिस्सों में काट लें।
  2. फिर एक बर्तन में पानी लें और पानी में आंवला के टुकड़ों को डाल दें।
  3. रातभर आंवला को पानी में ऐसे ही छोड़ दें।
  4. अब सुबह में उस पानी में आंवला को कुचल लें।
  5. अब मिश्रण को किसी बर्तन में छाने और शहद डालकर पी जाएं।
  6. जब तक आराम न मिल जाए तब तक मिश्रण को रोजाना इसी तरह पीते रहें।

(और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय

घमोरी के लिए आसन टिप्स इस प्रकार हैं -

  1. कभी भी टाइट कपड़े न पहनें जिसकी वजह से आपको त्वचा पर खुजली, सूजन व जलन की समस्या होने लगे।
  2. ऐसी जगह पर रहें जहां ठंडक हो।
  3. क्रीम या तेल का इस्तेमाल न करें जिससे आपकी त्वचा के छिद्र बंद हो जाएं।
  4. गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा पानी पिएं।
  5. बाहर छांव में ज्यादा रहने की कोशिश करें।  
  6. पूरे दिन में दो से तीन बार ठंडे पानी से नहाएं।
  7. अत्यधिक गर्मी और नम वाले मौसम में न रहें।
  8. गर्मियों में सौम्य साबुन का इस्तेमाल करें।
  9. शराब, मसालेदार खाने या कॉफी का सेवन न करें, इनसे आपकी स्थिति और बिगड़ सकती है।
  10. गर्मियों में ज्यादा से ज्यादा दही या छाछ पिएं।  

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी के लक्षण

और पढ़ें ...