myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

मोटापे से बचने और हेल्दी रहने के लिए आमतौर पर लोग फ्राइड यानि तला-भूना खाना खाने से परहेज करते हैं। जैसे कि पराठा, क्योंकि पराठे को घी या मक्खन के साथ पकाया जाता है। जिससे फैट बढ़ने का जोखिम होता है, लेकिन क्या पराठा खाने के साथ भी वजन को कम या नियंत्रित किया जा सकता है?

(और पढ़ें - आलू का पराठे बनाने की विधि)

पराठे के साथ डाइट संभव है?
दरअसल पराठा एक पारंपरिक और स्वादिष्ठ व्यंजन है, जो आपके नाश्ते की प्लेट में सबसे बेहतरीन विकल्पों में से एक है। मगर कई लोग पराठे के सेवन को बढ़ते वजन की वजह मानते हैं। शायद यही कारण है कि कई लोग स्वाद से समझौता कर सेहत के लिए पराठा खाना छोड़ देते हैं, लेकिन अगर कोई आपसे कहे कि वजन कम करने के साथ भी आप पराठे को अपने नाश्ते का हिस्सा बना सकते हैं तो। वास्तव में आपको एक हेल्दी पराठा बनाने के लिए उसकी विधि को अलग-अलग हिस्सों में बांटना होगा। जैसे कि एक अच्छा पराठा बनाने के लिए आपको जिन चीजों की आवश्यकता होती है। जैसे- आटे की लोई, मसालेदार स्टफिंग और तेल, घी या मक्खन

इसके बाद आपको पराठा बनाने के लिए जरूरी सामान इकट्ठा करना होगा, जो इसे बनाने में सहायक भी हैं और आपके लिए हेल्दी भी। तो चलिए हम आपको बताते हैं पराठा बनाने का सबसे अच्छा उपाय, जो रखेगा आपको हेल्दी।

आटा
हम सभी ये जानते हैं कि गेहूं के आटे में रिफाइंड आटे या मैदे की तुलना में डाइटरी फाइबर, विटामिन बी1 और बी9 होते हैं। इसके अलावा इस आटे में फास्फोरस, मैग्नीशियम, लोहा (आयरन) और जस्ता (जिंक) जैसे कई तरह के खनिज होते हैं, लेकिन क्या ये आटा हेल्दी पराठा बनाने के लिए काफी है। शायद नहीं। मगर इसकी जगह पर कुट्टू का आटा बेहतर ऑप्शन हो सकता है।

एक हेल्दी और स्वादिष्ट पराठे के लिए कुट्टू का आटा एक अच्छा विकल्प है। कुट्टू का आटा, जो कि उत्तर भारत में बहुत प्रचलित है। इस आटे में उच्च आहार फाइबर और प्रोटीन के साथ-साथ मैंगनीज, मैग्नीशियम, लोहा और तांबा जैसे खनिज पदार्थ होते हैं, जो पराठे को दिल और स्वास्थ के लिए अनुकूल बनाते हैं।

(और पढ़ें - चावल के आटे के फायदे)

स्टफिंग या पराठे को कैसे भरें
पराठे को स्टफिंग या उसे भरने के लिए ताजा और मौसमी सब्जियों का उपयोग करना सबसे अच्छा है। जो कि हेल्दी भी होते हैं और टेस्टी भी। हालांकि, ये ध्यान रहे कि पराठे को हेल्दी बनाने के लिए स्टफिंग को प्री-कुक या फ्राई ना करें। अब जैसा कि हम जानते हैं कि पराठा बनाने के लिए पनीर, दाल और फूलगोभी जैसे कई विकल्प हैं। हालांकि, इनके अलावा तीन ऐसे ऑप्शन हैं, जो सामान्य तो नहीं, मगर पराठे की स्टफिंग के साथ आपके लिए हेल्दी हैं।

  • मशरूम - आपके पराठे में मशरूम भी बाकी विकल्प की तरह स्वाटिष्ट भले ना हो, लेकिन इसे पराठे में अच्छी तरह से भरा जा सकता है। मशरूम में प्रोटीन, आहार (डायटरी) फाइबर, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और सेलेनियम नामक एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट होता है।
  • चुकंदर - इसमें डायटरी फाइबर, पोटेशियम, प्रोटीन, आवश्यक विटामिन और खनिज पदार्थ होते हैं। मौसमी सब्जी के रूप में सर्दियों में सबसे ज्यादा चुकंदर का सेवन किया जाता है। ये आपके पराठे को स्वादिष्ट भी बनाता है और बनाते वक्त स्टफिंग भी आसानी से होती है।
  • मिक्स वेज (सभी मौसमी सब्जियां) - सभी तरह की मौसमी सब्जियों के जरिए भी एक हेल्दी पराठा बनाया जा सकता है और उसकी स्टफिंग भी अच्छी तरह से हो जाती है।

पराठे को पकाने का तरीका
आखिर में एक हेल्दी पराठा पकाने के लिए आपको तेल की जरूरत होगी। यहां आप तेल को कम मात्रा में पूरे पराठे पर फैलाने के लिए एक सिलिकॉन तेल ब्रश का इस्तेमाल करें। इसके जरिए आप एक स्वादिष्ट और स्वास्थ्य के लिए अनुकूल पराठा बना सकते हैं।

हालांकि, यहां पराठे को पकाने के लिए आपके पास सोयाबिन तेल, नारियल तेल और जैतून (ऑलिव ऑयल) के बेहतर विकल्प हैं, इनकी मदद से ही पराठा बनाएं।

इस तरह से आप कह सकते हैं कि इन विकल्पों के जरिए आप पराठा खाने के बाद भी वजन को नियंत्रित कर सकते हैं। साथ ही स्वाद के साथ फिट रहने में भी आपको मदद मिलेगी।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें