myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

दोपहर के खाने में या रात के खाने में चावल होना आम है। सभी को खाने में चावल बेहद पसंद होते हैं, लेकिन क्या आपने चावल के आटे के बारें में सुना है। चावल का आटा चावल को बारीक पीसकर बनाया जाता है। इसे ग्लूटन फ्री फ्लार (Gluten-free flour) भी कहते हैं। चावल के आटे में स्वास्थ्य और त्वचा से जुड़े कई लाभ होते हैं। इस लेख में चावल के आटे के फायदे और नुकसान के बारे में बताया गया है, जिन्हें जानने के बाद आप भी इस आटे का इस्तेमाल किए बिना आप रह नहीं पाएंगे।

(और पढ़ें - चावल के पानी के फायदे)

तो चलिए जानते हैं चावल के आटे के फायदे लाभ और नुकसान क्या हैं:

  1. चावल के आटे के फायदे - Chawal ke aate ke fayde
  2. चावल के आटे के नुकसान - Chawal ke aate ke nuksan

चावल का आटा फाइबर से समृद्ध होता है - Chawal ka aata fiber se samridh hota hai

विषाक्त पदार्थों को शरीर से निकालने के लिए अघुलनशील फाइबर की जरूरत होती है, ये विषाक्त पदार्थों को साफ करने में मदद करता है। अगर आपको कब्ज की समस्या है तो आप चावल के आटे का उपयोग कर सकते हैं। चावल के आटे के साथ साथ नट्स, बीन्स और सब्जियां जैसे पत्ता गोभीआलू जैसे फाइबर में समृद्ध खाद्य पदार्थ कब्ज में मदद कर सकते हैं। 

फाइबर से भरपूर आहार न सिर्फ शरीर की अशुद्धियों को निकालता है, बल्कि कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है तथा ब्लड शुगर के स्तर को भी नियंत्रित रख सकता है। चावल का आटा डाइवर्टिकुलर डिजीज, कोलन रोग, टाइप 2 मधुमेह और हाइपरटेंशन का जोखिम कम करने में भी मदद कर सकता है।

(और पढ़ें - हाई बीपी के घरेलू उपाय)

चावल के आटे में ग्लूटन नहीं होता - Chawal ke aate me gluten nahi hota

गेहूं और राई जैसे अनाज में ग्लूटन नामक प्रोटीन पाया जाता है। लेकिन चावल ग्लूटन मुक्त अनाज है, इसलिए चावल का आटा ग्लूटेन इन्टॉलरेंस और सीलिएक रोग से पीड़ित लोगों के लिए बेहद अच्छा विकल्प है।

ग्लूटन वाले अनाज के सेवन से सीलिएक रोग से पीड़ित लोगों को पाचन संबंधित समस्या होती है जिससे उनकी प्रतिरक्षा प्रणाली पर बुरा प्रभाव पड़ता है। इस समस्या को ही ग्लूटेन इन्टॉलरेंस कहा जाता है। इसलिए ऐसे लोगों के लिए चावल जैसे ग्लूटन मुक्त अनाज बेहतर होते हैं।

(और पढ़ें - मैदा खाने से नुकसान)

 

चावल का आटा लीवर के लिए फायदेमंद होता है - Chawal ka aata liver ke liye faydemand hota hai

चावल के आटे में कोलीन होता है, जो कोलेस्ट्रॉल और ट्रिग्लीसेराइड (Triglycerides) को लीवर से किसी ऐसी जगह लेकर जाता है जहां उनकी जरूरत होती है। इसलिए कोलीन लीवर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। झिल्ली के आवश्यक घटकों को बनाए रखने के लिए कोलीन की आवश्यकता होती है। 

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय​)

कुछ चूहों पर एक शोध किया गया और पाया कि डाइट में कोलीन की कमी से और फैट की अधिक मात्रा की वजह से चूहों में लीवर फाइब्रोसिस की समस्या तेजी से बढ़ने लगी। चूंकि चावल के आटे में कोलीन होता है, तो लीवर को स्वस्थ रखने के लिए यह बेहद अच्छा विकल्प है।

(और पढ़ें - गेहूं के जवारे के फायदे)

चावल का आटा प्रोटीन से होता है समृद्ध - Chawal ka aata protein se hota hai samridh

चावल के आटे में प्रोटीन की मात्रा सबसे अधिक होती है और ब्राउन राइस से बने आटे में अधिक मात्रा में विटामिन बी होता है। ब्राउन राइस और सफेद चावलों में पहला अंतर है उनके छिलके का। पिसाई के समय चावलों का छिलका निकाल दिया जाता है, जिससे सफेद चावल बनते हैं। हालांकि ब्राउन राइस के छिलके के साथ उसे पीसा जाता है, जिसमें फाइबर, विटामिन और पोषक तत्व जैसे कैल्शियमजिंक होता है। चावल के आटे का उपयोग करने के लिए आप ब्राउन राइस का भी चयन कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - ब्राउन राइस या वाइट राइस - किसका सेवन है अधिक फायदेमंद)

चावल के आटे को चेहरे पर लगाने से मुहांसे नहीं होते - Chawal ke aate ko chehre par lagane se muhanse nahi hote

चावल का आटा फाइन लाइंस और मुहांसों, जिनकी वजह से उम्र से पहले एजिंग की समस्या शुरू हो जाती है, के लिए बेहद अच्छा उपाय है। चावल के आटे का उपयोग त्वचा पर करने से इसमें लचीलापन बना रहता है, जिससे आप जवान और ताजा महसूस करते हैं। (और पढ़ें - मुहासे के दाग मिटाने के उपाय​)

चावल के आटे से आप फेस पैक भी बना सकते हैं। इस फेस पैक का इस्तेमाल करने से मुहांसों के दाग-धब्बे साफ हो जाते हैं और अन्य त्वचा संबंधी समस्याएं भी दूर हो जाती है। एंटीसेप्टिक और जर्मीसाइडल गुण बैक्टीरिया से लड़ते हैं, जिनकी वजह से कील-मुहांसों की समस्या होती है। (और पढ़ें - मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

चावल के आटे का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

  1. एक छोटा चम्मच चावल का आटा।
  2. एक बड़ा चम्मच खीरे का जूस।
  3. एक बड़ा चम्मच नींबू जूस।

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. पहले सभी सामग्रियों को एक बर्तन में मिलाकर पेस्ट बना लें।
  2. अब इस गाढ़े पेस्ट को चेहरे पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद पेस्ट को सूखने के लिए छोड़ दें।
  4. सूखने के बाद त्वचा को पानी से धो लें।
  5. आप इस पैक को सन टैन हटाने के लिए भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

 (और पढ़ें - सन टैन दूर करने के घरेलू उपाय)

चावल के आटे के लाभ बनाएं बालों को खुबसूरत - Chawal kea ate ke labh banaye balo ko khubsurat

चावल का आटा दानेदार और स्टार्च वाला होता है इसलिए इससे बालों को मजबूत व मुलायम बनाने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - बालों को मजबूत बनाने के लिए तेल)

चावल के आटे का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

  1. एक बड़ा चम्मच चावल का आटा।
  2. एक बड़ा चम्मच मुल्तानी मिट्टी। आप बालों के अनुसार भी इन दोनों सामग्रियों को मात्रा ले सकते हैं।

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. सबसे पहले दोनों सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस पेस्ट को बालों में लगाएं।
  3. लगाने के बाद आधे घंटे के लिए पेस्ट को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर बालों को ठंडे पानी से धो दें।
  5. इस पैक का रोजाना लगाने से बालों को मजबूत करने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - मुल्तानी मिट्टी हेयर पैक

चावल के आटे से डार्क सर्कल को करें दूर - Chawal ke aate se dark circle ko kare door

चावल का आटा आंखों के काले घेरों का इलाज करने के लिए बहुत ही बेहतरीन प्राकृतिक उपाय है। इससे आपका चेहरा और आंखें ताजा महसूस करती हैं। इन सामग्रियों के इस्तेमाल से आंखों के आसपास काले घेरे हल्के पड़ने लगते हैं और इस तरह आप जवान लगने लगते हैं।

चावल के आटे का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

  1. एक केला
  2. एक बड़ा चम्मच अरंडी का तेल
  3. एक बड़ा चम्मच चावल का आटा।

(और पढ़ें - केले के छिलके के फायदे)

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. पहले गाढ़ा पेस्ट तैयार करने के लिए केले को चम्मच से मसल लें।
  2. अब अरंडी के तेल और चावल के आटे को एक साथ मिलाएं और फिर उसमें केले को भी मिला दें।
  3. अब इस पेस्ट को आंखों पर और काले घेरों पर लगाएं।
  4. फिर इस पेस्ट को पानी से धो दें।

(और पढ़ें - आंखों के काले घेरे हटाने के उपाय

चावल का आटा सनटैन को करता है दूर - Chawal ka aata suntan ko karta hai door

चावल में सूरज की किरणों से बचाने के गुण मौजूद होते हैं जैसे फेरुलिक एसिड (ferulic acid) और एलन्टोइन (Aallantoin) जो कि एक बेहतरीन प्राकृतिक सनस्क्रीन हैं। चावल के आटे में सूजनरोधी गुण होते हैं जो सनबर्न की समस्या को दूर करते हैं और सन टैन होने से बचाते हैं। 

चावल के आटे का इस्तेमाल कैसे करें:

सामग्री:

  1. एक बड़ा चम्मच चावल का आटा।
  2. एक बड़ा चम्मच ठंडा दूध

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. गाढ़ा पेस्ट तैयार करने के लिए पहले दोनों सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस पेस्ट को चेहरे पर लगा लें।
  3. लगाने के बाद 15 मिनट के लिए मिश्रण को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. फिर चेहरे को ठंडे पानी से धो दें।
  5. इस उपाय को एक हफ्ते तक रोजाना दोहराएं।
  6. इस तरह आप देखेंगे कि आपकी त्वचा एक या दो महीने में गोरी होती जा रही है।

(और पढ़ें - सनबर्न हटाने के घरेलू उपाय

चावल के आटे के नुकसान इस प्रकार है:

1. गेहूं के आटे के मुकाबले चावल के आटे में कम फोलेट होता है:

गेहूं के आटे और चावल के आटे में समान रूप से थायमिननियासिन और राइबोफ्लाविन और विटामिन जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं वही गेहूं के आटे में चावल के आटे के मुकाबले फोलेट अधिक मात्रा में होता है जिसके कारण गेहूं के आटे से आपको रोजाना का 14% फोलेट प्राप्त होता है।

(और पढ़ें - हृदय रोग में क्या खाएं)

हमारे लिए फोलेट बेहद आवश्यक होता है क्योंकि यह खून से होमोसिस्टीन को साफ करता है और ह्रदय रोग के जोखिम कम करने में मदद करता है। यह नई कोशिकाओं के विकास और वृद्धि के लिए भी आवश्यक होता है, जो कि प्रेगनेंसी में बेहद लाभदायक है।

(और पढ़ें - हृदय रोग के घरेलू उपाय)

2. गेहूं के आटे के मुकाबले चावल के आटे में फाइटोन्यूट्रिएंट्स कम होते हैं:

चावल के आटे और गेहूं के आटे में में कैंसर से लड़ने वाले फाइटोन्यूट्रिएंट्स होते हैं जिन्हें लिग्नंस कहते हैं, लेकिन साबुत अनाज में चावल के आटे के मुकाबले 30% फाइटोन्यूट्रिएंट्स अधिक होते हैं। लिग्नंस शरीर में एस्ट्रोजन के स्तर को संतुलित रखने में मदद करते हैं। जिन खाद्य पदार्थों में लिग्नंस होते हैं वो हृदय रोग, कैंसर और कोलेस्ट्रॉल का जोखिम कम करते हैं।

(और पढ़ें - दिल के बढ़ने का इलाज)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें