वजन कम करने के लिए लोग कई तरह के उपाय अपनाते हैं. वजन घटना जरूरी भी है, क्योंकि मोटापा कई बीमारियों का कारण बन सकता है. ऐसे में अपने आप को फिट रखने के लिए वजन को संतुलित रखना आवश्यक है. वैसे तो वेट मैनेजमेंट के लिए लोग कई तरह के डाइट और फास्टिंग अपनाते हैं, जैसे - कीटो डाइट, वीगन डाइट, लो कार्ब डाइट व इंटरमिटेंट फास्टिंग आदि. ऐसी ही एक फास्टिंग है 'वाटर फास्टिंग'.

आज इस लेख में आप वाटर फास्टिंग का मतलब, फायदे व नुकसान आदि के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

  1. वाटर फास्टिंग क्या है?
  2. वाटर फास्टिंग के फायदे
  3. वाटर फास्टिंग के नुकसान
  4. क्या वाटर फास्टिंग से वजन कम होता है?
  5. कौन वाटर फास्टिंग न करे?
  6. वाटर फास्टिंग के लिए टिप्स
  7. सारांश
वाटर फास्टिंग के डॉक्टर

इस फास्टिंग में लोग खाने के बजाय सिर्फ पानी पर निर्भर रहते हैं. इस फास्ट यानी उपवास को करने का कोई निर्धारित वक्त नहीं है. हालांकि, मेडिकल के अनुसार इस फास्ट को 24 घंटे से लेकर 3 दिन से ज्यादा समय तक नहीं करना चाहिए. कुछ लोग वाटर फास्टिंग वजन कम करने के लिए करते हैं, तो कुछ धार्मिक व आध्यात्मिक कारण से करते हैं. इसके अलावा, शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए वाटर फास्टिंग की जाती है, लेकिन इसे करने के पीछे मुख्य कारण हेल्द को बेहतर करना है. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि यह कितना फायदेमंद है.

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए क्या खाएं)

Weight Loss Juice
₹539  ₹599  10% छूट
खरीदें

वाटर फास्टिंग का मुख्य लाभ वजन कम करना है. यहां हम इसके कुछ अन्य फायदों के बारे में बता रहे हैं. ये लाभ कुछ इस प्रकार हैं -

  • ऑटोफैगी (autophagy) की प्रक्रिया बेहतर हो सकती है. इसमें कोशिकाओं के पुराने या डैमेज भाग टूट जाते हैं या रिसाइकल हो जाते हैं. इससे कैंसर और अल्जाइमर जैसे स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम कम हो सकता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल या कम किया जा सकता है.
  • इंसुलिन और लेप्टिन जैसे हार्मोन की संवेदनशीलता को बेहतर किया जा सकता है.
  • क्रोनिक रोग यानी पुरानी बीमारी जैसे - हाई ब्लड प्रेशर व डायबिटीज के जोखिम को कम कर सकता है.
  • वजन कम हो सकता है.
  • हाई कोलेस्ट्रॉल को कम किया जा सकता है.
  • हृदय रोग के जोखिम को कम किया सकता है.

(और पढ़ें - वजन घटाने वाले फल व सब्जियां)

हर चीज के फायदे और नुकसान दोनों होते हैं. इसके नुकसान कुछ इस प्रकार हैं -

  • जैसे कि इसमें आप सिर्फ पानी का सेवन करते हैं, तो इससे बहुत ज्यादा वजन कम हो सकता है.
  • डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है. यह सुनकर अजीब लग सकता है कि पानी पीने के बाद भी डिहाइड्रेशन कैसे हो सकता है. असर में शरीर को 20 से 30 प्रतिशत पानी खाने से मिलता है. ऐसे में सही तरीके से खाना न खाने के कारण शरीर डिहाइड्रेशन का शिकार हो सकता है. इससे आपको चक्कर आनामतली व कब्ज जैसी परेशानियां हो सकती हैं.
  • ब्लड प्रेशर काफी कम हो सकता है. इससे सिर में हल्कापन महसूस होने व चक्कर आने जैसी समस्या हो सकती है.
  • अगर किसी तरह की स्वास्थ्य समस्या जैसे - गाउट या खाने से जुड़ी परेशानी है, तो समस्या हो बढ़ सकती है.

(और पढ़ें - वजन कम करने के आयुर्वेदिक उपाय)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Medarodh Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को वजन कम करने के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Weight Control Tablets
₹899  ₹999  10% छूट
खरीदें

हां, अन्य प्रकार के उपवासों की तरह वाटर फास्टिंग वजन कम करने में मदद कर सकता है. हालांक, यह कई स्वास्थ्य जोखिमों का कारण भी बन सकता है. अगर कोई फास्टिंग के फायदे प्राप्त करना चाहता है, तो बेहतर है कि वाटर फास्टिंग की जगह इंटरमिटेंट फास्टिंग या एक दिन छोड़कर फास्टिंग करें. इस तरह की फास्टिंग स्वास्थ्य लाभ प्रदान करती है और इसका लंबे समय तक पालन किया जा सकता है. फिर भी बेहतर यही होगा कि वजन कम करने के लिए किसी भी तरह का उपवास करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछना चाहिए.

(और पढ़ें - महिलाओं का मोटापा कम करने के उपाय)

वाटर फास्टिंग हर किसी के लिए सुरक्षित नहीं है. ऐसे में कुछ लोगों को इस फास्टिंग को नहीं करना चाहिए या करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए -

  • 18 वर्ष से कम आयु वाले.
  • अगर किसी को खाने से जुड़ा कोई विकार हो.
  • कम वजन वाले लोग.
  • गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाएं.
  • अगर किसी को टाइप 1 डायबिटीज है.
  • अगर किसी को माइग्रेन है.
  • किसी को अगर हृदय रोग है.
  • अगर कोई खास दवा का सेवन कर रह हो.

(और पढ़ें - वजन कम करने वाले हेल्दी स्नैक्स)

अगर कोई वाटर फास्टिंग करने का सोच रहा है, तो वह इस उपवास को करने से पहले यहां दिए गए कुछ टिप्स को जरूर फॉलो करें -

  • उपावस शुरू करने से पहले अच्छी तरह से खा लें. खासतौर से हाई एनर्जी वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें.
  • फास्टिंग का ऐसा समय चुनें जब आप ज्यादा एक्टिविटी न कर रहे हों.
  • अगर स्वास्थ्य ठीक नहीं है, तो इस फास्टिंग को न करें.
  • आप थकान महसूस हो रही है, तो भी इस उपवास को न करें.
  • इस फास्ट के दौरान किसी भी तरह की एक्सरसाइज या योग करने से बचें.

(और पढ़ें - क्या कम खाने से वजन घटता है)

वजन कम करने के लिए उपवास के अलावा एक और बेहतरीन विकल्प Myupchar Ayurveda Medarodh है, जिसका नियमित रूप से करीब 3 माह तक सेवन करने से सकारात्मक फायदा होता है -

Amla Juice
₹269  ₹299  10% छूट
खरीदें

वाटर फास्टिंग के कुछ स्वास्थ्य लाभ हैं, जिसमें वजन कम करना प्रमुख है. हालांकि, फायदे के साथ-साथ वाटर फास्टिंग कई सारे जोखिमों का भी कारण बन सकता है. खासतौर से अगर कोई 3 दिन से ज्यादा इस फास्टिंग को करता है. इसके अलावा, अगर किसी को गाउट, लो ब्लड प्रेशर या डायबिटीज जैसी स्वास्थ्य समस्याएं हैं, तो यह उपवास उनकी स्थिति को गंभीर कर सकता है. ऐसे में बेहतर है कि वाटर फास्टिंग के बजाय अन्य वेट मैनेजमेंट विकल्पों को जैसे - व्यायाम, स्वस्थ और सही डाइट व योग को प्राथमिकता दें.

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए डाइट टिप्स)

डायबिटीज से बचने के लिए myUpchar Ayurveda Madhurodh डायबिटीज टैबलेट का उपयोग करे।और अपने जीवन को स्वस्थ बनाये।

 

Dt. Priti Kumari

Dt. Priti Kumari

आहार विशेषज्ञ
2 वर्षों का अनुभव

Dt. Sonal jain

Dt. Sonal jain

आहार विशेषज्ञ
5 वर्षों का अनुभव

Dt. Rajni Sharma

Dt. Rajni Sharma

आहार विशेषज्ञ
7 वर्षों का अनुभव

Dt. Neha Suryawanshi

Dt. Neha Suryawanshi

आहार विशेषज्ञ
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें