myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

सर्दियों की छुट्टियों में ठंडे पहाड़ों तथा समुद्र के किनारे तट पर परिवारजनों तथा मित्रों, संबंधियों के संग वक्त गुुजरने का पता ही कहां चलता है।

सर्दियों की छुटियों को कुछ ही दिन बाकी बचे हैं। सालभर बचाकर रखी छुटियों के निपटारे, शहरों में प्रदूषण की मार, क्रिसमिस जैसे त्योहारों में बच्चों की बाहर जाने की जिद तथा एक ही जगह की उबाऊ जिन्दगी में नयापन और ताजगी लाने के लिए हम अक्सर पहाड़ों पर बर्फबारी या समुद्र की लहरों का आनन्द उठाने के लिए कुछ दिनों के लिए घर से बाहर सैर-सपाटे के लिए निकलते हैं। हालाकि, समान की पैकिंग में दवाईयों, स्नैक्स, कपड़ों आदि पर पूरा ध्यान रहता है, लेकिन हम अक्सर अपनी त्वचा, बालों और सौन्दर्य जरूरतों की ज्यादातर अनदेखी कर देते हैं। सामान्यत: यह अहसास रहता है कि छुटियों में कुछ हल्केपन में समय व्यतीत किया जाए और सौन्दर्य जरूरतों पर ज्यादा फोकस न किया जाए। इस नजरिये की वजह से आपकी त्वचा, बालों और शरीर के खुले अंगों को मौसम की सीधी मार झेलनी पड़ती है, जिससे अनेक समस्याएं खड़ी हो जाती हैं तथा सैर सपाटे का आनन्द लेने की बजाय मूड़ का मिजाज बिगड़ जाता है और वापस आते ही डर्मोटोलॉजिस्ट, सौन्दर्य विषेशज्ञों की महंगी फीस भी भरनी पड़ जाती है, जिससे बजट उल्टा खराब हो जाता है।

(और पढ़ें - शहनाज हुसैन के ये 10 टिप्स आपकी स्किन की हर परेशानी का है इलाज)

आपकी त्वचा के लिए ठीक नहीं बर्फीली हवाएं
अब जबकि सर्दियों की छुट्टियों का सीजन नजदीक पहुंच गया है और आप पहाड़ों या समुद्री तटों पर कुछ आरामदायक सुकून भरे पल गुजारने का कार्यक्रम बना रहे हैं तो इस बात का भी ध्यान रखिए कि सौंदर्य के लिहाज से बर्फीली हवाएं, कंपकंपा देने वाली ठंडक तथा मौसम में नमी की कमी हमारी त्वचा को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचाती हैं तथा समुद्री तटों व पहाडों की बर्फ के पारदर्शी सतहों पर सूर्य की किरणें मैदानी इलाकों की बजाय ज्यादा तेज होती हैं, जिससे आपकी त्वचा में जलन, कालापन, सनबर्न तथा मुहांसे जैसी सौदर्य समस्याएं उग्र रूप धारण कर सकती हैं।

सर्दियों में पानी और नमी की कमी न होने दें
सर्दियों में नारियल तेल त्वचा को सबसे बेहतर नमी प्रदान करता है। अगर आपको नारियल तेल से एलर्जी है या आप इसे ज्यादा चिपचिपा मानती हैं तो आप ऑलिव ऑयल या कोकुम ऑयल का उपयोग भी कर सकती हैं, क्योंकि यह दोनों ही तेल काफी हलके होते हैं और त्वचा में चिपचिपापन नहीं लाते। सर्दियों में यात्रा के दौरान अपने शरीर की आंतरिक नमी बनाए रखने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पीएं। जब भी आप होटल से बाहर घूमने के लिए निकलें तो अपने साथ पानी की बोतल अनिवार्य रूप से ले जाएं। इसके अलावा बाजार में बिकने वाले नारियल पानी, मौसमी फलों और भोजन के साथ सूप का आनन्द लेना कभी न भूलें। इससे आपके शरीर की आंतरिक नमी बरकरार रहेगी, जोकि आपको मौसम की मार से बचाएगी।

अपने हाथों का रखें खास ख्याल
सर्दियों में हाथों का फटना आम बात होती है। हाथ मौसम की चपेट में सबसे ज्यादा आते हैं। सफर के दौरान छोटे बच्चों की माताओं को अक्सर बच्चों के कपड़े आदि बार बार धोने पड़ते हैं, जिसकी वजह से उनके हाथ केमिकल के संपर्क में बार-बार आ जाते हैं, जिससे हाथों में खाज-खुजली आदि की समस्या पैदा हो जाती है और हाथ फटना शुरू हो जाते हैं। यह हाथों के लिए बड़ा ही पीड़ादायक होता है। सफर के दौरान कपड़े आदि धोते समय हर बार हाथों पर प्लास्टिक के दस्ताने जरूर पहनें तथा मॉइस्चराइजिंग साबुन का उपयोग करें। रात को सोते समय हैंड क्रीम की मोटी परत लगा कर इसे कॉटन के दस्तानों से कवर कर लें, जिससे आप के हाथों की नमी बरकरार रहेगी और आप मौसम की मार झेल पाएंगे।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा की देखभाल के तरीके जानें)

सर्दियों की धूप से बच के रहना
हमें यह भ्र्म रहता है कि सनस्क्रीन क्रीम की जरूरत हमें गर्मियों में ही पड़ती है तथा सर्दियों में वातावरण में ठंडक की वजह से किसी सुरक्षा क्रीम की जरूरत नहीं होती, लेकिन यह पाया गया है कि रेतीले समुद्री तटों तथा बर्फीले क्षेत्रों में सर्दियों के मौसम में दोपहर के स्य सूर्य की तेज किरणों की वजह से साफ सुथरी त्वचा को कील मुंहासों की समस्या से रूबरू होना पड़ सकता है। छुट्टियों पर जाने से पहले ही सूर्य की हानिकारक यू.वी. किरणों से त्वचा को होने वाले नुकसान के प्रभावी रोकथाम के उपाय करने चाहिए, ताकि सौंदर्य के हिसाब से छुट्टियां दुखद अनुभव की यादगार न बन जाएं।

जब भी आप यात्रा कर रही हों, तो डेड स्किन सेल हटाना काफी जरूरी हो जाता है और यह काम आप रेडीमेड फेस पैक से आसानी से कर सकती हैं। अगर आप यह पैक घर भूल आई हैं तो थोड़ी सी चीनी और जैतून का तेल लेकर इसे हथेली पर रख कर खुले अंगों पर दस या पन्द्रह मिनट तक हलके से मालिश कीजिए।

(और पढ़ें - ताजा फलों से लौटाएं चेहरे की रंगत और खूबसूरती)
 
गर्मागर्म पानी से नहाने से बचें
सर्दियों में यात्रा के दौरान काफी भाग दौड़ करनी पड़ती है, जिससे हम अक्सर ज्यादा थकान महसूस करते हैं। मौसम में ठंडक होने की वजह से भी हम आराम महसूस करने के लिए नहाने के लिए गर्म पानी का ज्यादा इस्तेमाल कर बैठते हैं। इससे त्वचा की नमी खत्म हो जाती है और त्वचा में रुखापन आ जाता है। गर्म पानी से नहाने से बाल उलझ सकते हैं तथा यह आपकी त्वचा और खोपड़ी के प्राकृतिक तेलों को सूखा सकते हैं। इस दौरान लम्बे समय तक गर्म पानी से नहाने की बजाय सामान्य तापमान वाले पानी या गुनगुने पानी से नहाने को प्राथमिकता दें।

ताकि होंठों की मुस्कान बनी रहे
यात्रा में ठंडक की मार से होंठों का फटना आम बात होती है, जोकि काफी पीड़ादायक भी होता है। इसलिए एक अच्छी गुणवत्ता की लिप क्रीम अपने साथ जरूर रखिए और दिन में कम से कम तीन बार लिप क्रीम का जरूर इस्तेमाल कीजिए। अगर आपके होंठों की नमी सामान्य है तो होंठो पर लगाई गई लिपस्टिक ज्यादा देर तक टिकी रहती है, जबकि सूखे होंठ लिपस्टिक को जल्दी सोख लेते हैं।

(और पढ़ें - आंखों के नीचे काले धब्‍बों से कैसे पाएं निजात)

आप कुछ सौंदर्य सावधनियां बरतकर अपनी छुट्टियों का भरपूर आनन्द उठा सकती हैं। सर्दियों में छुट्टियों की तैयारियां सौन्दर्य सावधानियों से ही शुरू कीजिए। त्वचा की प्रतिरक्षा के लिए सनस्क्रीन लोशन अपने साथ जरूर ले ले। त्वचा की कालिख तथा सूर्य की किरणों से बचाव के लिए प्रभावी सनस्क्रीन लोशन लें। जब भी आप बाहर धूप में जा रहे हों तो जाने से 20 मिनट पहले चेहरे तथा शरीर के सभी खुले अंगों पर सनस्क्रीन का लेप जरूर कर लें। यदि आप धूप में एक घंटा या ज्यादा समय तक रहे तो सनस्क्रीन का दोबारा लेप कर लें। सर्दियों में छुट्टियों के दौरान अपने सौन्दर्य को बनाए रखने के लिए माइस्चराईजर, रिहाईडरेंट क्लींजर, हैंड क्रीम तथा होठों का बाम साथ रखना कतई न भूलें।

सर्दियों में दमकती त्वचा के लिए
सर्दियों की छुट्टियों के दौरान तैलीय त्वचा को चमकाने तथा रोमछिद्रों को साफ करने के लिए स्क्रब का अधिकतम उपयोग कीजिए। समुद्री तट पर खारे पानी में नहाने के बाद चेहरे को ताजे साफ पानी से धोंऐ। जब भी आप वापस अपने होटल के कमरे में पहुंचे तो चेहरे पर ठंडे दूध की मालिश करके इसे कुछ समय तक छोड़ दें। इससे सूर्य की किरणों के प्रभाव को रोकने में मदद मिलेगी तथा चेहरे की त्वचा को ठंडक मिलेगी। चेहरे पर माइस्चराईजर लगाऐं। चेहरे की त्वचा के पोषण तथा पनुयौवन के लिए ‘‘पील आफ मास्क’’ उपयोगी साबित होगा। शहद को अंडे के सफेद भाग में मिलाकर इस पेस्ट को चेहरे पर 20 मिनट तक लगा रहने के बाद इसे ताजे स्वच्छ जल से धो डालिए। इस मिश्रण से त्वचा कोमल, मुलायम तथा चमकदार बनती है।

(और पढ़ें - पिम्पल खत्म करने के लिए शहनाज़ हुसैन के टिप्स)

खारे पानी से बालों को बचाएं
समुद्री पानी से नहाने से आपके बाल निर्जिव तथा उलझ सकते हैं। समुद्री पानी में नहाते समय सिर को कैप। स्कार्फ़ से ढकने से बालों को खारे पानी के नुकसान से प्रभावी तरीके से बचाया जा सकता है। समुद्र में नहाने से पहले अपने बालों को सामान्य ताजे पानी से अच्छी तरह धोइए। बालों के छिद्र खुले होते हैं तथा बालों को धोने के बाद समुद्र में नहाने से बालों को नुकसान नहीं होगा, क्योंकि बाल समुद्री पानी को कतई नहीं सोखेगे क्योंकि वह पहले ही ताजे पानी को सोख चुके हैं। समुद्री पानी में नहाने के बाद बालों को हल्के हर्बल शैम्पू से धो डालिए तथा शैम्पू के बाद बालों में कंडीशनर या हेयर सीरम का उपयोग कीजिए।

समुद्र तट पर जाने से पहले सौंदर्य प्रसाधनों का कम से कम इस्तेमाल करें, जबकि आप सफर के दौरान लिपग्लॉस, पाऊडर, आई-पेंसिल, मास्कारा, लिपस्टिक जैसे सामान्य सौदर्य प्रसाधनों का उपयोग कर सकती हैं। यदि आपकी तैलीय त्वचा है तो टिशू पेपर, टैलकम पाऊडर तथा डीओडरेंट अपने साथ जरूर रखें। सफर के दौरान सौन्दर्य के कुछ टिप्स आपके सौन्दर्य में चार चांद लगा सकते हैं। यदि आप बाहर पर्यटक स्थलों पर घूम रहे हैं तो दिन में कम से कम दो बार अपना चेहरा ताजे पानी से जरूर धोइए।

(और पढ़ें - चेहरे की खूबसूरती बनाए रखने के लिए शहनाज हुसैन की ब्यूटी टिप्स)

‘‘पिक मी अप’’ फेस मास्क आपकी त्वचा को साफ, चमकदार तथा आकर्षक बना सकता है। इससे त्वचा की थकान को मिटाने तथा त्वचा को तरोताजा बनाए रखने में मदद मिलती है। सफर के दौरान ‘‘पील आफ मास्क’’ के प्रयोग से त्वचा में चमक बनाए रखने में मदद मिलती है। ऊंचे पर्वतीय दर्शनीय स्थलों, शुष्क तथा ठंडे़ मौसम के दौरान बालों में नमी की कमी सामान्य रूप से पाई जाती है। इस मौसम में हाथ तथा होंठ भी शुष्क हो जाते हैं। इस मौसम में हाथों तथा शरीर के खुले अंगों में दिन में दो-तीन बार माइस्चराईजर का प्रयोग करें तथा इसकी त्वचा पर मालिश करें। बालों के सौंदर्य के लिए सनस्क्रीन रहित हेयर क्रीम, हर्बल शैम्पू, हेयर सीरम तथा कंडीशनर का लगातार उपयोग करें। बालों को सूर्य की किरणों, हवा के झौंकों तथा धूल-मिट्टी से बचाने के लिए सकार्फ का उपयोग करें। तैलीय बालों के लिए गर्म पानी में टी बैग डुबोइए। टी बैग को हटाकर बाकी बचे पानी को ठंडा होने दें तथा बाद में इसमें नींबू का रस मिला दीजिए तथा उससे बालों को साफ कीजिए। इससे बालों को मुलायम तथा चमकदार बनाने में मदद मिलती है।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें