myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गले में खराश या खुजली होने की समस्या अधिकतर हर व्यक्ति कभी न कभी अनुभव करता ही है। आमतौर पर इसमें कोई चिंता वाली बात नहीं होती, लेकिन ये एलर्जी, संक्रमण, एलर्जिक राइनाइटिस और किसी अन्य समस्या का संकेत हो सकता है।

(और पढ़ें - गले में दर्द के कारण)

गले को उत्तेजित करने वाले पदार्थों को सांस के द्वारा अंदर लेने पर गले में खराश या खुजली होने लगती है। ये खराश हमारे शरीर के द्वारा उस पदार्थ के विरुद्ध प्रतिक्रिया होती है।

(और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय)

इन लक्षणों को आप घरेलू उपाय या प्राथमिक उपचार से ठीक कर सकते हैं, लेकिन कुछ मामलों में इसके लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता भी हो सकती है।

इस लेख में गले में खराश होने पर क्या-क्या करना चाहिए और ऐसी स्थिति में डॉक्टर के पास कब जाएं के बारे में बताया गया है।

  1. गले की खराश के लिए क्या करना चाहिए - Gale me kharash ho to kya kare in hindi
  2. गले में खराश (खुजली) के लिए डॉक्टर के पास कब जाएं - Gale ki kharash ke liye doctor ke pas kab jana chahiye

गले की खराश व खुजली के लिए उसके कारण के आधार पर अलग-अलग इलाज किए जाते हैं। हालांकि, आप निम्नलिखित उपाय भी अपना सकते हैं -

  • सबसे पहले तो ऐसी उत्तेजक चीजों या पदार्थों से दूर रहें जिनसे आपके गले में खराश हो सकती हैं, जैसे परफ्यूम, धुआं आदि। (और पढ़ें - गले में इन्फेक्शन के लक्षण)
  • अगर आपके गले में खराश है, तो ज्यादा न बोलें और अपने गले को आराम दें। अगर आप ऐसा काम करते हैं जिसमें बोलने की आवश्यकता होती है, तो अपने साथ एक पानी की बोतल रखें और थोड़ी-थोड़ी देर में पानी में पीते रहें। (और पढ़ें - बोलने में दिक्कत के कारण)
  • गले की खराश के लिए आप नमक के पानी के गरारे भी कर सकते हैं। नमक में ऐसे गुण होते हैं, जिनसे बलगम निकलता है और गले की खराश दूर होती है। इसके लिए एक गिलास हल्के गर्म पानी में थोड़ा नमक डालकर उससे गरारे करें। दिन में तीन से चार बार गरारे करने से आपको बेहतर महसूस होगा। (और पढ़ें - बलगम निकालने के उपाय)
  • गले में खराश होने पर आप मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली मीठी गोलियां या कफ ड्रॉप्स भी ले सकते हैं। (और पढ़ें - खांसी आने पर क्या करे)
  • शहद एक ऐसा उपाय है, जिससे गले की खराश से तुरंत राहत मिलती है क्योंकि ये गले पर अपनी परत बना देता है जिससे खुजली व खराश तुरंत ठीक हो जाते हैं। अगर आपको बार-बार गले में खराश होती है, तो रोजाना सुबह एक चम्मच शहद खाएं। इस बात का ध्यान रखें कि एक साल से छोटे शिशुओं को कभी भी शहद न दें, इससे उन्हें बोटुलिज़्म नामक गंभीर समस्या हो सकती है और उनकी जान भी जा सकती है। (और पढ़ें - अस्थमा अटैक आने पर क्या करे)
  • गले की खराश के लिए कभी-कभी नाक में उपयोग किए जाने वाले स्प्रे का भी इस्तेमाल किया जाता है। (और पढ़ें - बंद नाक का इलाज)
  • गले की खराश में अदरक, नींबू व शहद युक्त चाय पीना लाभदायक होता है। इसके लिए गर्म पानी में एक चम्मच शहद डालें और उसमें नीम्बू निचोड़कर अच्छे से मिला लें। अब इस मिश्रण को गर्म-गर्म पिएं। दिन में तीन से चार बार ये चाय पीने से आपको गले की खराश से आराम मिलेगा। (और पढ़ें - अदरक की चाय के फायदे)
  • गले की खराश अधिकतर शरीर में पानी की कमी के कारण होती है क्योंकि पानी न होने के कारण गला सूख जाता है और उसमें इतना बलगम नहीं बचता कि गला तर हो सके। इसके लिए जितना हो सके उतना पानी पिएं, खासकर अगर आपको फ्लू या जुकाम है तो। (और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)
  • नमक के पानी के अलावा आप माऊथवॉश से भी गरारे कर सकते हैं। इससे आपका गला भी तर रहेगा और खराश व खुजली में भी आराम मिलेगा। (और पढ़ें - गरारे करने का तरीका)
  • एलर्जी के कारण होने वाली गले की खराश एक लिए आप मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली एलर्जी की दवाएं भी ले सकते हैं। (और पढ़ें - एलर्जी होने पर क्या होता है)
  • गले की खुजली के लिए एक बर्तन में दूध डालें और उसमें थोड़ी हल्दी मिला लें और इसे उबाल लें। अब इस मिश्रण को थोड़ा ठंडा करके धीरे-धीरे पिएं। खुजली ठीक हो जाने तक हर शाम या रात को सोने से पहले ये मिश्रण पिएं। (और पढ़ें - हल्दी दूध बनाने की विधि)
  • हवा के सूखेपन के कारण भी आपके गले में खराश हो सकती है। इसके लिए 'ह्युमिडिफायर' (Humidifier) का उपयोग करें, ये उपकरण हवा में नमि बनाए रखता है और आपका गला सूखता नहीं है। (और पढ़ें - मुंह सूखने के कारण)
  • अगर आप ह्युमिडिफायर नहीं लेना चाहते हैं, तो आप घर के अंदर पौधे भी रख सकते हैं, इनसे भी हवा की नमी बरकरार रहती है। (और पढ़ें - गले में कुछ अटक जाने पर क्या करें)
  • कुछ दवाओं, शराब और कैफीन युक्त पदार्थों से आपके शरीर में पानी की कमी हो सकती है, जिससे गला सूखने लगता है और खराश होती है। इसीलिए, गले में खराश होने पर चाय, कॉफी, शराब व सोडा जैसे पेय पदार्थों से दूर रहें। (और पढ़ें - शराब की लत छुड़ाने के घरेलू उपाय)
  • आप अपनी रोजाना की चाय या दूध में एक चम्मच शहद डालकर भी पी सकते हैं, इससे गले की खराश में काफी आराम मिलेगा। (और पढ़ें - दूध और शहद पीने के फायदे)
  • गले के दर्द के लिए एस्पिरिन या आइबुप्रोफेन जैसी दवाएं ली जा सकती हैं, हालांकि, कोई भी दवा लेने से पहले अपने डॉक्टर से एक बार सलाह अवश्य लें। सही खुराक के लिए दवा के पैकेट पर दिए निर्देशों का पालन करें। (और पढ़ें - पानी कितना और कैसे पीना चाहिए)
  • सिगरेट पीने से भी आपका गला सूखता है, जिससे खराश और खुजली हो सकती है इसीलिए सिगरेट छोड़ने का प्रयास करें या कम से कम गला ठीक होने तक धूम्रपान न करें। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय)

(और पढ़ें - गले में दर्द के घरेलू उपाय)

गले में खराश या खुजली होना अधिकतर किसी गंभीर समस्या का संकेत नहीं होता है, इससे केवल परेशानी ही होती है। आमतौर पर, कुछ उपाय करने से गले की खराश ठीक हो जाती है और इसके लिए आपको डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता नहीं होती। हालांकि, निम्नलिखित स्थितियों में अपने डॉक्टर के पास अवश्य जाएं अगर -

  1. गले की खराश बहुत दिनों से ठीक नहीं हो रही है। (और पढ़ें - गला बैठने के कारण)
  2. सांस फूल रही है। (और पढ़ें - सांस फूलने के उपाय)
  3. गले की खराश बढ़ रही है। (और पढ़ें - अस्थमा के लक्षण)
  4. सांस लेने में दिक्कत हो रही है। (और पढ़ें - सांस लेने में दिक्कत हो तो क्या करे)
  5. तेज बुखार है। (और पढ़ें - तेज बुखार होने पर क्या करें)
  6. सांस लेने में आवाज आ रही है। (और पढ़ें - सांस लेने में दिक्कत के कारण)
  7. चेहरे पर सूजन आ रही है। (और पढ़ें - चेहरे के गड्ढे मिटाने के उपाय)
  8. तेज सिरदर्द हो रहा है। (और पढ़ें - सिर दर्द होने पर क्या लगाना)
  9. खराश के साथ गले में दर्द हो रहा है। (और पढ़ें - धूल से एलर्जी के लक्षण)
  10. निगलने में कठिनाई हो रही है। (और पढ़ें - गले के कैंसर के लक्षण)
  11. कोई दवा खाने के बाद गले में खराश हो रही है। (और पढ़ें - एंटीबायोटिक लेने से पहले इन बातों का ध्यान रखें)

आपके डॉक्टर गले की खराश के कारण के आधार पर आपको एंटीबायोटिक या अन्य दवाएं दे सकते हैं।
 

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है।

और पढ़ें ...