myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

दूध के फायदे और शहद के फायदे से हर कोई वाकिफ है, लेकिन अगर इनका साथ में सेवन किया जाए तो इनसे आश्चर्यजनक स्वास्थ्य लाभ मिल सकते हैं। शहद और दूध के स्वास्थ्य लाभों में त्वचा की देखभाल से लेकर स्टैमिना बढ़ाने तक शामिल हैं।

शहद पारंपरिक रूप से स्वास्थ्य बेहतर बनाने के लिए प्रयोग किया जाता है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट, जीवाणुरोधी और एंटी-फंगल गुण होते हैं। इसके अलावा इसमें शारीरिक आराम और श्वसन संबंधी समस्याओं को कम करने वाले गुण भी होते हैं।

दूसरी ओर दूध विटामिन ए, विटामिन बी और विटामिन डी जैसे विटामिन के साथ-साथ कैल्शियम, पशु प्रोटीन और लैक्टिक एसिड जैसे खनिज से भरपूर होता है।

(और पढ़ें - एंटीऑक्सीडेंट भोजन)

लेकिन ये सारे गुण कई गुणा बढ़ जाते हैं जब दूध और शहद को एक साथ लिया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप कुछ अद्वितीय और वांछनीय लाभ मिलते हैं। तो आइये जानते हैं दूध और शहद पीने के लाभ के बारे में -

  1. दूध और शहद के फायदे त्वचा के लिए - Dudh aur shahad ke fayde skin ke liye
  2. दूध और शहद के लाभ रखें पाचन तंत्र को स्वस्थ - Dudh aur shahad ke labh rakhe paachan tantra ko swasth
  3. दूध और शहद के गुण बढ़ाएं स्टेमिना - Dudh aur shahad ke gun badhaye stamina
  4. शहद दूध के फायदे हड्डियों के लिए - Honey aur Milk ke fayde for bones ke liye
  5. दूध और शहद पीने के फायदे दिलाएं अच्छी नींद - Dudh aur Shahad peene ke fayde dilaye achi neend
  6. दूध में शहद पीने के फायदे रोकें बढ़ती उम्र के लक्षणों को - Dudh mein shahad peene ke fayde roke badhti umar ke lakshan
  7. हनी मिल्क बेनिफिट्स फॉर हेयर - Milk and Honey Benefits for Hair in Hindi
  8. दूध और शहद के लाभ श्वसन समस्याओं में - Doodh aur shahad ke labh breathing problems me
  9. शहद और दूध का उपयोग करे चिंता को दूर - Shahad aur dudh ka upyog kare chinta ko dur

शहद और दूध दोनों में रोगाणुरोधी और स्किन को साफ करने वाले गुण होते हैं। जब शहद और दूध को एक साथ लिया जाता है तो ये गुण कई गुणा बढ़ जाते हैं। कई ऐसे क्लींजिंग प्रोडक्ट्स हैं जो दूध और शहद से तैयार किए जाते हैं क्योंकि दूध और शहद का मिश्रण त्वचा को चमक देता है।

(और पढ़ें - क्लींजर क्या है)

चमकदार त्वचा पाने के लिए आप पानी में दूध और शहद को मिलाकर स्नान भी कर सकते हैं। यह नुस्खा दुनिया भर की स्पा में प्रयोग किया जाता है।

(और पढ़ें - चेहरे पर चमक कैसे लाये

शहद प्रीबायोटिक्स (prebiotic: आँतों के लिए लाभदायक तत्व) का एक अच्छा स्रोत है। ये वो पोषक तत्व हैं जो प्रोबायोटिक्स के विकास को बढ़ाते हैं। प्रोबायोटिक्स आंतों और पाचन तंत्र में लाभकारी बैक्टीरिया को बढ़ाते हैं।

(और पढ़ें - पाचन तंत्र मजबूत करने के उपाय)

शहद में मौजूद कार्बोहाइड्रेट और ऑलिगोसेकेराइड्स (oligosaccharides) इन लाभकारी बैक्टीरिया के स्वस्थ और उचित कार्यों को बढ़ाते हैं जो गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल ट्रैक्ट (जठरांत्र पथ) के स्वस्थ रखरखाव और कार्य के लिए आवश्यक होते हैं। जब पाचन तंत्र में बैक्टीरिया का संतुलन अच्छा होता है, तो यह कब्ज, पेट में मरोड़ और पेट फूलने सहित कई परेशानियों को समाप्त कर सकता है।

(और पढ़ें - पेट फूलने के कारण)

हर सुबह एक गिलास दूध और शहद पीना स्टैमिना में सुधार लाता है। दूध में प्रोटीन होता है जबकि शहद में मेटाबॉलिज्म को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी कार्बोहाइड्रेट होते हैं। दूध और शहद के सेवन से बच्चों और बुजुर्गों सहित हर किसी को ताकत मिलती है। प्रोटीन संतुलित आहार का एक अनिवार्य हिस्सा है और शहद आपके मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - स्टेमिना बढ़ाने के उपाय)

शहद भोजन से प्राप्त सभी पोषक तत्वों को पूरे शरीर में ले जाता है। शहद और दूध का सेवन हड्डियों के लिए आवश्यक पोषक तत्व (कैल्शियम) प्रदान करता है। कैल्शियम ऑस्टियोपोरोसिस और जोड़ों की सूजन जैसी समस्या को रोक सकता है। इसलिए आज से ही दूध और शहद का सेवन शुरू कर दें। 

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

दूध और शहद दोनों को अनिद्रा के उपचार के लिए इस्तेमाल किया जाता है। अलग-अलग उपयोग करने पर भी ये दोनों लाभकारी होते हैं, लेकिन एक साथ उपयोग करने पर इनके गुण और अधिक बढ़ जाते हैं। शहद प्राकृतिक शर्करा वाले खाद्य पदार्थों में से एक है जो इंसुलिन की मात्रा को नियंत्रित कर सकता है जिससे मस्तिष्क में से ट्रिप्टोफैन (tryptophan) को रिलीज़ होता है।

ट्रिप्टोफैन आमतौर पर सेरोटोनिन में बदल जाता है जिससे तनाव से मुक्ति मिलती है जिससे अच्छी तरह से नींद आने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - नींद आने के उपाय)

दूध और शहद का मिश्रण आपको युवा बनाने में मदद कर सकते हैं। यूनान, रोम, मिस्र और भारतीय लोगों समेत कई प्राचीन सभ्यताओं में लोग अपने आप को युवा बनाने के लिए दूध और शहद का सेवन किया करते थे। दूध और शहद का सेवन लंबे जीवन के लिए बहुत ही लाभकारी होता है, इसलिए इस मिश्रण को "जीवन अमृत" भी कहा जाता है।

(और पढ़ें - बढ़ती उम्र के लक्षण कम करने के आयुर्वेदिक उपाय)

दूध और शहद के मिश्रण में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं क्योंकि एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कण (कुछ हानिकारक तत्व जो कोशिकाओं को नुकसान पहुँचाते हैं) ख़त्म करते हैं। ये मुक्त कण त्वचा के ढीले पड़ने, झुर्रियों और दाग धब्बे के मुख्य कारणों में से एक होते हैं।

(और पढ़ें - आंखों के नीचे की झुर्रियों के उपाय)

क्या आप रूखे बाल या दोमुंहे बाल से परेशान हो गए हैं? अगर ऐसा है तो आपको बालों को चमकदार और मजबूत बनाने के लिए, दूध और शहद से धोना चाहिए। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है -

(और पढ़ें - बाल मजबूत करने के उपाय)

सामग्री -

  • 2 चम्मच शहद 
  • फुल फैट एक कप दूध 

शहद और दूध का इस्तेमाल बालों की समस्याओं को रोकने के लिए कैसे करें -

  • दूध और शहद को अच्छे से मिक्स कर लें। 
  • अब इस मिश्रण को अपने बालों पर लगाएं और 15 मिनट के बाद धो लें।
  • इसके बाद अपने नियमित शैम्पू का उपयोग कर बालों को अच्छे से धोएं। 

ये उपाय कितनी बार करें - 

यदि आप इस प्रक्रिया को सप्ताह में कम से कम दो बार दोहराते हैं तो आपके बाल रेशमी और मजबूत रहेंगे। 

(और पढ़ें - बालों को चमकदार बनाने के लिए घरेलू उपाय)

शहद और दूध का मिश्रण श्वसन समस्याओं को रोकने के लिए एक बहुत ही अच्छा घरेलू उपाय है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है -

सामग्री -

  • 2 चम्मच शहद  
  • एक गिलास दूध 
  • चीनी, स्वादानुसार (और पढ़ें - चीनी के फायदे)

शहद और दूध का इस्तेमाल श्वसन समस्याओं को रोकने के लिए कैसे करें -

  • दूध को अच्छे से उबाल लें। 
  • दूध उबल जाने के बाद, इसमें शहद मिक्स करें। 
  • इसके अलावा आप इसमें स्वादानुसार चीनी का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।   
  • और गुनगुने दूध का आनद लें।

ये उपाय कितनी बार करें - 

रात को सोने से पहले इसका सेवन करें। आप रोज़ इसे पी सकते हैं।

यदि आप रोज रोज के तनाव, चिंता और थकावट के कारण अच्छे से नींद नहीं ले पा रहे है तो इसके लिए आपको गर्म दूध के साथ शहद को मिक्स करके पीना चाहिए। साथ ही इसे पीने से नींद भी अच्छी आती है। और इसके अलावा यह तनाव और चिंता को दूर करने में मदद करता है। 

(और पढ़ें - चिंता दूर करने के उपाय)

और पढ़ें ...