myUpchar Call

महिलाओं में कामेच्छा की कमी को हाइपोएक्टिव सेक्शुअल डिजायर डिसऑर्डर यानी एचएसडीडी कहा जाता है. यह समस्या किसी भी महिला को हो सकती है. इसके पीछे मुख्य कारण जीवनशैली में बदलाव, हार्मोंस का असंतुलित होना या फिर मानसिक थकाव व तनाव हो सकता है. मूड विकारों के लिए उपयोग की जाने वाली कुछ दवाएं भी महिलाओं में कम सेक्स ड्राइव का कारण बन सकती हैं. ऐसे में यदि किसी महिला को कम सेक्स ड्राइव की परेशानी है, तो जीवनशैली में सुधार लाकर व कुछ दवाओं की मदद से इसे ठीक किया जा सकता है.

कामेच्छा की कमी का इलाज जानने के लिए कृपया यहां दिए लिंक पर क्लिक करें.

आज इस लेख में हम महिलाओं में कामेच्छा की कमी के कारण, लक्षण व इलाज के बारे में चर्चा करेंगे -

(और पढ़ें - कामेच्छा बढ़ाने के लिए डाइट)

  1. महिलाओं में कामेच्छा की कमी के कारण
  2. महिलाओं में कामेच्छा की कमी के लक्षण
  3. महिलाओं में कामेच्छा की कमी कैसे दूर करे
  4. सारांश
महिलाओं में कामेच्छा की कमी के कारण और लक्षण के डॉक्टर

सेक्स की इच्छा में कमी शारीरिक समस्या व मनोवैज्ञानिक स्तर में बदलाव आने से हो सकती है. कुछ ऐसी ही समस्याओं के बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है -

शारीरिक कारण

सबसे पहले इसके शारीरिक कारण जानते हैं, जो इस प्रकार हैं -

  • यौन समस्याएं- अगर किसी महिला को सेक्स के दौरान दर्द होता है या ऑर्गेज्म तक पहुंचने में मुश्किल होती है, तो इस कारण से उनकी सेक्स की इच्छा में कम आ सकती है.
  • मेडिकल स्थिति- गठियाकैंसरमधुमेहउच्च रक्तचापकोरोनरी आर्टरी डिजीज और तंत्रिका संबंधी रोग आदि के चलते भी यौन इच्छा में कमी आ सकती है.
  • कुछ खास दवाएं- एंटीडिप्रेसेंट जिन्हें सेरोटोनिन रीपटेक इनहिबिटर कहा जाता है, इनका सेवन करने से भी सेक्स ड्राइव में कमी आ सकती है.
  • खराब जीवनशैली- गलत खानपान, शराब का सेवन व धूम्रपान करने से भी सेक्स करने की इच्छा में कमी आ सकती है. इन चीजों की लत लगाने से महिला की यौन उत्तेजना में कमी आ सकती है.
  • सर्जरी- महिला के स्तनों या जननांग पथ से संबंधित कोई भी सर्जरी महिला के शरीर की छवि, यौन क्रिया और सेक्स की इच्छा को प्रभावित कर सकती है.
  • थकान- दिनभर घर का काम करने और साथ में ऑफिस का काम करने से थकावट के कारण सेक्स ड्राइव प्रभावित हो सकती है. बीमारी या सर्जरी के बाद होने वाली थकान भी सेक्स ड्राइव को कम करने में भूमिका निभा सकती है.

(और पढ़ें - यौन शक्ति कम होने का उपचार)

Women Health Supplements
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

हार्मोन परिवर्तन

महिला के हार्मोन स्तर में परिवर्तन होने से भी सेक्स की इच्छा प्रभावित हो है, जो इस प्रकार है -

  • रजोनिवृत्ति- रजोनिवृत्ति के दौरान महिला के सेक्स हार्मोन यानी एस्ट्रोजन में कमी आ सकती है. इससे सेक्स में दिलचस्पी कम हो सकती है और योनि के टिश्यू में सूखापन आ सकता है, जिस कारण महिला को सेक्स के दौरान दर्द या असहज महसूस हो सकता है.
  • गर्भावस्था व स्तनपान- गर्भावस्था के समय भी हार्मोंस में बदलाव होता है. साथ ही डिलीवरी के बाद स्तनपान के दौरान भी सेक्स ड्राइव प्रभावित हो सकती है. इस दौरान महिला का पूरा ध्यान नन्हे शिशु पर होता है, जिस कारण वो उसकी देखभाल करने में पूरी तरह से थक जाती है और परिणामस्वरूप यौन इच्छा में कमी आ सकती है.

(और पढ़ें - कामेच्छा बढ़ाने के लिए होम्योपैथिक दवा)

मनोवैज्ञानिक कारण

महिला की मानसिक स्थिति भी उसकी यौन इच्छा को प्रभावित कर सकती है. कम सेक्स ड्राइव होने के पीछे कई मनोवैज्ञानिक कारण हैं, जिनके बारे में नीचे बताया गया है -

  • मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं, जैसे चिंता या अवसाद.
  • तनाव, जैसे आर्थिक तनाव या काम का तनाव.
  • आत्मसम्मान में कमी.
  • पहली कभी किसी तरह का शारीरिक या यौन शोषण हुआ हो.
  • पिछले नकारात्मक यौन अनुभव.
  • पार्टनर के साथ रिश्ते में आई दरार या फिर झगड़े के चलते भी महिला की सेक्स ड्राइव पर नकारात्मक असर पड़ सकता है.

(और पढ़ें - कामेच्छा बढ़ाने वाले योगासन)

महिलाओं में कामेच्छा की कमी के लक्षण कुछ इस प्रकार हैं -

  • यौन गतिविधि में कम या बिल्कुल भी दिलचस्पी न दिखाना.
  • सेक्स करते समय असहज महसूस करना.
  • सेक्स के दौरान ऑर्गेज्म तक पहुंचने में परेशानी होना.

(और पढ़ें - सेक्स के प्रति अरुचि)

आमतौर पर महिलाओं में कामेच्छा के कमी को काउंसलिंग व सेक्स एजुकेशन के जरिए कुछ हद तक ठीक किया जा सकता है. वहीं, गंभीर मामलों में डॉक्टर हार्मोन थेरेपी व कुछ खास दवाएं लेने के लिए कह सकते हैं. इन तमाम उपचारों के बारे में नीचे बताया गया है -

हार्मोन थेरेपी

रजोनिवृत्ति के दौरान योनि में सूखापन आ जाता है. ऐसे में महिला के लिए सेक्स करना दर्दनाक अहसास हो सकता है, जिससे कामेच्छा में कमी आने लगती है. ऐसे में कुछ हार्मोन दवाएं इस समस्या से राहत दिलाकर सेक्स को आरामदायक बना सकती हैं. सेक्स के दौरान किसी भी तरह का असहजपन महसूस न होने के बाद धीरे-धीरे सेक्स ड्राइव बढ़ने लगती है. इस थेरेपी के तहत डॉक्टर एस्ट्रोजेन, टेस्टोस्टेरोन व ओस्पेमीफीन नामक दवाएं दे सकते हैं, जिससे हार्मोंस को संतुलित करने में मदद मिल सकती है.

(और पढ़ें - महिला कामोत्तेजना को बढ़ाने के तरीके)

Chandraprabha Vati
₹310  ₹400  22% छूट
खरीदें

जीवनशैली में बदलाव

आज के इस व्यस्त वक्त में इस तरह की समस्या सामान्य है. इसलिए जीवनशैली में बदलाव करके इस समस्या को कुछ हद तक कम किया जा सकता है. सही डाइट लेना, वक्त पर सोना और उठना, तनाव व चिंता की समस्या से दूर रहना आदि. नियमित रूप से योगमेडिटेशन व व्यायाम करने से भी फायदा हो सकता है.

(और पढ़ें - संभोग न करने के नुकसान)

दवाइयां

अगर महिला पहले से कोई दवा ले रही है, तो इस बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं, क्योंकि इसी आधार पर डॉक्टर अंदाजा लगाते हैं कि कहीं उस दवा के कारण तो यौन इच्छा में कमी तो नहीं आ रही. उदाहरण के लिए एंटीडिप्रेसेंट जैसे पैरॉक्सिटाइन (पक्सिल) और फ्लुओक्सेटीन जैसी दवाएं सेक्स ड्राइव को कम कर सकती हैं. ऐसे में डॉक्टर इन दवाओं की जगह बुप्रोपियन लेने की सलाह दे सकते हैं. ये भी एक प्रकार की एंटीडिप्रेसेंट दवा है, जो सेक्स ड्राइव में सुधार भी ला सकती है. इसके अलावा, डॉक्टर महिला की अवस्था के अनुसार फिलिबेनसरीन व ब्रेमेलानोटाइड गोली लेने के लिए भी कह सकते हैं.

(और पढ़ें - सेक्स लाइफ में बाधा बनने वाली बीमारियां)

काउंसलिंग

कम यौन इच्छा का सामना कर रही महिला को सेक्स थेरेपिस्ट से मिलकर बात करने से फायदा हो सकता है. काउंसलिंग के दौरान दोनों पार्टनर अपने रिश्ते से संबंधित समस्याओं के बारे में थेरेपिस्ट को बता सकते हैं. इसके अलावा, थेरेपिस्ट यौन प्रतिक्रिया व तकनीकों के बारे में भी समझा सकता है. साथ ही आपसी रिश्तों को मजबूत करने के लिए कुछ सुझाव दे सकता है.

(और पढ़ें - पुरुषों में रजोनिवृत्ति)

अन्य स्वास्थ्य समस्याओं की तरह कामेच्छा की कमी पर भी वक्त रहते ध्यान देने की आवश्यकता है. हमारा सुझाव है कि अगर किसी महिला को इस तरह की समस्या है, तो दोनों पार्टनर को मिलकर इस विषय पर खुलकर बात करनी चाहिए. साथ ही अगर जरूरत महसूस हो, तो बेझिझक डॉक्टर से मिलकर सही इलाज करवाना चाहिए.

(और पढ़ें - सेक्स करना क्यों जरूरी है)

Dr. Hemant Sharma

Dr. Hemant Sharma

सेक्सोलोजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Zeeshan Khan

Dr. Zeeshan Khan

सेक्सोलोजी
9 वर्षों का अनुभव

Dr. Nizamuddin

Dr. Nizamuddin

सेक्सोलोजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Tahir

Dr. Tahir

सेक्सोलोजी
20 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें