myUpchar Call

लिबिडो का संबंध कामेच्‍छा या यौन इच्‍छा से होता है। ये सेक्‍स हार्मोन और मस्तिष्‍क में सेक्‍स से संबंधित केंद्र से प्रभावित होता है। लिबिडो पर आहार और किसी के प्रति आकर्षण जैसे कारकों का भी असर पड़ता है। रिश्‍ते में कड़वाहट का असर आपकी यौन इच्‍छा पर भी पड़ सकता है।

(और पढ़ें - गुप्त रोग और उनके समाधान)

इसके अलावा कुछ परिस्थितियों जैसे कि महिलाओं में योनि में सूखापन या सेक्‍स के दौरान दर्द महसूस होने का असर भी लिबिडो पर पड़ता है। डिप्रेशन, आत्‍मविश्‍वास में कमी, नींद खराब होना और कुछ दवाओं का असर भी लिबिडो पर पड़ सकता है। कुछ जरूरी बातों का ध्‍यान रखकर उपरोक्‍त परिस्थितियों को नियंत्रित किया जा सकता है। हालांकि, हर व्‍यक्‍ति में यौन इच्‍छा का स्‍तर अलग-अलग होता है। किसी व्‍यक्‍ति में प्राकृतिक रूप से कामेच्‍छा ज्‍यादा होती है तो किसी में कम।

(और पढ़ें - आत्मविश्वास बढ़ाने के उपाय)

आज इस लेख के ज़रिए हम आपको बताने जा रहे हैं कि महिला और पुरुष दोनों ही कैसे घरेलू नुस्‍खों की मदद से लिबिडो के स्‍तर में सुधार ला सकते हैं।

  1. कामेच्छा बढ़ाने के लिए आहार
  2. कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू नुस्खे और उपाय
  3. कामेच्छा बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय
यौन रोग के डॉक्टर

आप निम्नलिखित कुछ खाद्य पदार्थों का सेवन करके भी लाभ प्राप्त कर सकते हैं:-

प्राकृतिक एफ़रोडीसिएक्स

अंजीरकेले और एवोकाडोस प्राकृतिक कामोद्दीपक हैं जो कि विटामिनों और खनिजों से भरे हुए हैं। ये जननांगों में अधिक रक्त प्रवाह को प्रोत्साहित कर सकते हैं और स्वाभाविक रूप से सेक्स ड्राइव को बढ़ा सकते हैं।

विटामिन सी खाद्य पदार्थ

विटामिन सी अंगों के रक्त परिसंचरण में सुधार करता है। इसलिए यह सुनिश्चित करना ज़रूरी है कि आप दैनिक रूप से विटामिन सी में समृद्ध पदार्थों का सेवन करते हैं।

कोलेजन युक्त खाद्य पदार्थ

कोलेजन उत्पादन में उम्र के साथ स्वाभाविक रूप से गिरावट आती है। यह घटना पुरुषों के लिए स्तंभन को बनाए रखना कठिन बना सकती है। अपने कोलेजन के स्तर में वृद्धि करने के लिए, आप अधिक हड्डियों के शोरबा का सेवन कर सकते हैं या कोलेजन सप्लीमेंट पाउडर का विकल्प चुन सकते हैं। विटामिन सी भी कोलेजन उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है।

मीठे आलू

मीठे आलू या याम पोटेशियम और विटामिन ए से भरे हुए हैं। पोटेशियम उच्च रक्तचाप में मदद कर सकता है, उच्च रक्तचाप से स्तंभन दोष होने की अधिक संभावना होती है।

तरबूज

2008 में, टेक्सास ए एंड एम में किए गए शोध से पता चला कि तरबूज का वियाग्रा प्रभाव हो सकता है। तरबूज में लाइकोपीन, बीटा कैरोटीन और सीट्रूलाइन के रूप में जाना जाने वाले फायटोनुट्रिएंट्स रक्त वाहिकाओं के आराम में मदद करते हैं। हालाँकि, तरबूज वियाग्रा की तरह अंग-विशिष्ट नहीं होता है, पर जब आप स्वाभाविक रूप से कामेच्छा में सुधार करना चाहते हैं, तो यह बिना किसी नकारात्मक प्रभाव के सेक्स में सहायक हो सकता है।

जायफल और लौंग जैसे मसाले

मसाले एंटीऑक्सिडेंट्स से भरे होते हैं, जो कामेच्छा सहित समग्र स्वास्थ्य के लिए अच्छे है। बीएमसी पत्रिका में प्रकाशित अनुसंधान में विशेष रूप से पाया गया कि जायफल और लौंग के अर्क ने नर पशु विषयों के यौन व्यवहार को बढ़ाया। खराब सांस में सुधार करने में भी लौंग उपयोगी है।

डार्क चॉकलेट

अनुसंधान ने दिखाया है कि चॉकलेट की खपत फेनोलेथीलमाइन और सेरोटोनिन के स्राव को बढ़ाती है, जिससे कुछ कामोत्तेजक और मूड बढ़ाने वाले प्रभाव होते हैं। सिर्फ यह सुनिश्चित कर लें कि आप कम-चीनी और उच्च-गुणवत्ता वाला डार्क चॉकलेट चुनते हैं

ब्राजील नट्स

ये नट्स सेलेनियम में उच्च हैं, जो स्वस्थ टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बनाए रखने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

बादाम

जस्ता, सेलेनियम और विटामिन ई से भरपूर बादाम में विटामिनखनिज और स्वस्थ वसा होते हैं जो यौन स्वास्थ्य और प्रजनन में सुधार कर सकते हैं।

(और पढ़ें - यौन-शक्ति को बढ़ाने वाले आहार)

पुरुष और महिलाओं दोनों के लिए उपयोगी कुछ घरेलू उपाय जिनमें भोजन और जीवन-शैली संबंधी परिवर्तन शामिल हैं, निम्नलिखित हैं:-

  • धूम्रपान या शराब की लत से बाहर निकलें। (और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के लिए घरेलू उपचार)
  • ताजा फल और सब्जियों सहित अच्छा भोजन लें।
  • पूरे दिन पर्याप्त पानी पियें।
  • चॉकलेट, ब्लैक बेरी, रास्प बेरी, क्रेन बेरी, नट, ब्रोकलीलौंगअंजीरतरबूजअंडेजीन्सेंगकेसरसलादअदरक, कस्तूरी आदि जैसे खाद्य पदार्थों को भोजन में शामिल करें। ये खाद्य पदार्थ कामेच्छा में सुधार लाने में मदद करते हैं।
  • पर्याप्त नींद लें क्योंकि यह भी एक अच्छे कामेच्छा प्रवाह के लिए आवश्यक है। (और पढ़ें - कम सोने के नुक्सान
  • तनाव प्रबंधन का ध्यान रखें। इसके लिए योग, मालिश और शिरोधारा बहुत उपयोगी हैं। शिरोधारा तनाव प्रबंधन के लिए इस्तेमाल की जाने वाली एक आयुर्वेदिक पंचकर्म चिकित्सा है। तनाव, अवसाद और सामाजिक संघर्ष के कारण कामेच्छा की कमी हो सकती है। शिरोधारा आपको तनाव, चिंता और अवसाद से राहत देती है।

आयुर्वेद के अनुसार, कामेच्छा की कमी संभोग करने में बाधा उत्पन्न करती है। यह वात दोष की अधिकता के कारण होता है। अन्य दोष इसमें शामिल हो सकते हैं और कामेच्छा की कमी के लक्षणों को बढ़ा सकते हैं। मानसिक स्वास्थ भी कामेच्छा की कमी के साथ जुड़ा हुआ है आमतौर पर, अवसाद और तनाव को कामेच्छा में कमी से जोड़ा जाता है।

दोषों और शारीरिक प्रकारों के अनुसार आपको सही हर्बल संयोजन के लिए आयुर्वेदिक डॉक्टर से अवश्य परामर्श करना चाहिए। निम्नलिखित जड़ी बूटियां कामेच्छा की कमी में फायदेमंद हैं।

पुरुषों में कामेच्छा बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

गोखरू (ट्रायबुलस टेररिस्ट्रीस) - गोखरू पुरुषों में जीवन शक्ति और धीरज बढ़ाने में बहुत उपयोगी है। इससे ताकत और प्रदर्शन की क्षमता बढ़ती है। यह मूड बनाने में और कामेच्छा की कमी से उभरने में मदद कर सकती है।

अश्वगंधा (विथानिआ सोम्निफ़ेरा) - पुरुषों के लिए अश्वगंधा मुख्य रूप से टेस्टोस्टेरोन के स्तर को बढ़ाने के लिए आवश्यक है, जो कि कामेच्छा के स्तर की वृद्धि का कारण होता है। यह नपुंसकता, बांझपन, यौन कमजोरी, स्तंभन दोष और पुरुष प्रजनन प्रणाली से संबंधित अन्य समस्याओं में भी फायदेमंद है।

मुकुना प्रुरिएंस या कोंच बीज - मुकुना प्रुरिएंस (कपिकच्छु) लिंग के स्तंभन को मजबूत करने में काफी उपयोगी हैं। यह पुरुष हार्मोन को उत्तेजित करता है और कामेच्छा प्रवाह में मदद करता है। कम शुक्राणुओं की संख्या, नपुंसकताबांझपन और शुरुआती स्खलन में भी यह सहायक है। (और पढ़ें – बांझपन के घरेलू उपचार)

अकरकरा - अकरकरा जड़ी बूटी शीघ्र स्खलन और पुरुष बांझपन को नियंत्रित करने में सहायता करती है। यह पुरुष हार्मोन को उत्तेजित करती है और यौन इच्छा को बढ़ाती है। इसलिए, इसका कामेच्छा की कमी के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है। (और पढ़ें – शीघ्र स्खलन के कारण)

कामेच्छा बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाएं -

  • अस्वगंधारिष्टम (Aswagandharishtam)
  • सरस्वथारिष्टम (Saraswatharishtam)
  • चन्द्रप्रभा वाटिका (Chandraprabha vatika)
  • ब्राह्मी ग्रिथम (Brahmi gritham)
  • सरस्वथा ग्रिथम (Saraswatha gritham)
  • अस्वगंधादि लेह्यं (Aswagandhadi lehyam)

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय

शतावरी (एस्परैगस) - शतावरी महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए सर्वोत्तम जड़ी बूटियों में से एक है। यह महिला शरीर में यौन हार्मोन को संतुलित करता है और प्रजनन स्वास्थ्य को बढ़ाता है। गर्भाशय के रक्तस्राव, मासिक धर्म की समस्याओं, कमजोरी, बांझपन और अक्सर गर्भपात जैसे विकारों में भी यह फायदेमंद है।

अश्वगंधा (विथानिआ सोम्निफ़ेरा) - अश्वगंधा कामेच्छा बढ़ाने और यौन इच्छाओं को उत्तेजित करने के लिए महिलाओं में भी सहायक है। यह गर्भाशय की कमजोरी, अक्सर गर्भपात और महिलाओं में बांझपन के लिए एक प्रभावी उपाय है।

अशोक वृक्ष की छाल - अशोक वृक्ष की छाल योनि स्राव और गर्भाशय के रक्तस्राव को नियंत्रित कर सकती है। यह हार्मोनिक स्राव को ठीक करती है और संतुलन बनाए रखती है। यह भी कामेच्छा की कमी में सिफारिश की जाती है।

जिन्कगो (गिंकगो) बिलोबा - महिलाओं में कामेच्छा की कमी का एक सामान्य कारण तनाव है। जिन्कगो (गिंकगो) बिलोबा तनाव से राहत देता है और मानसिक विकारों में बहुत मददगार है। यह कामेच्छा को बेहतर बनाने में मदद करता है और यौन प्रदर्शन बढ़ा सकता है। जननांग अंगों के आसपास रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में भी यह काफी सहायक है।

महिलाओं में कामेच्छा बढ़ाने के लिए कुछ आयुर्वेदिक दवाएं -

  • अशोकारिष्टम (Asokarishtam)
  • कुमार्यासवम (Kumaryasavam)
  • सरस्वथारिष्टम (Saraswatharishtam)
  • सुकुमारम कश्यम (Sukumaram Kashayam)
  • चन्द्रप्रभा वाटिका (Chandraprabha vatika)
  • सरस्वथा ग्रिथम (Saraswatha gritham)
  • अस्वगंधादि लेह्यं (Aswagandhadi lehyam)
  • सौभाग्य सुंडी (Sowbhagya sundi)
Dr. Abdul Haseeb Sheikh

Dr. Abdul Haseeb Sheikh

सेक्सोलोजी
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Srikanth Varma

Dr. Srikanth Varma

सेक्सोलोजी
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Pranay Gandhi

Dr. Pranay Gandhi

सेक्सोलोजी
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Tarun

Dr. Tarun

सेक्सोलोजी
8 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ