myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अरबी वैश्विक व्यंजनों और भोजन का एक अत्यंत महत्वपूर्ण हिस्सा है। एक उष्णकटिबन्धीय पेड़ है जिसे इसकी जड़ में लगी अरबी नामक सब्जी के लिए मुख्य रूप से उगाया जाता है। यह बहुत प्राचीन काल से उगाए जाने वाला पेड़ है। इसका वैज्ञानिक नाम कोलोकैसिया एस्क्युलेन्टा (Colocasia Esculenta) है। यह माना जाता है कि वह दक्षिणपूर्व एशिया और दक्षिण भारत में सबसे पहले उगाया गया था, लेकिन इसे अब पूरी दुनिया में कई जगहों पर उगाया और उपयोग किया जाता है। यह अफ्रीकी, भारतीय और समुद्री व्यंजनों में एक प्रमुख भोजन है, लेकिन यह जापान, मिस्र और सूरीनाम से लेकर अमेरिका, फिजी और स्पेन में हर जगह पाया जा सकता है।

पत्तियों और जड़ें आहार सामग्री के रूप में इस्तेमाल किए जा सकते हैं। इसमें मौजूद कैल्शियम ऑक्ज़ेलेट के कारण यह कच्चे रूप में जहरीला हो सकता है। हालांकि ये तत्व पकने पर नष्ट हो जाते हैं। या इनको रात भर ठंडे पानी में रखने पर भी ये तत्व नष्ट हो जाते हैं।

अरबी में मानव स्वास्थ्य के लिए जरूरी कार्बनिक यौगिक, खनिज और विटामिन्स का धन होता है और जिनसे कई अलग-अलग तरीकों से हमारे समग्र स्वास्थ्य को फायदा हो सकता है। अरबी में आहार फाइबर और कार्बोहाइड्रेट की एक बहुत महत्वपूर्ण मात्रा होती है, साथ ही इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन बी 6 और फोलेट का उच्च स्तर पाया जाता है। इसके अलावा इसमें मैग्नीशियम, लोहा, जस्ता, फॉस्फोरस, पोटेशियम, मैंगनीज और तांबा मौजूद होता है।

  1. अरबी के फायदे - Arbi ke Fayde in Hindi
  2. अरबी के नुकसान - Arbi ke Nuksan in Hindi

अरबी के फायदे हैं पाचन तंत्र के लिए - Taro Root for Digestion in Hindi

आहार में अरबी का सेवन पाचन के लिए बहुत ही अच्छा होता है। अरबी में पाए जाने वाले आहार फाइबर का उच्च स्तर हमारे जठरांत्र संबंधी स्वास्थ्य का समर्थन करने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। फाइबर हमारे आँतो के कार्यों के लिए बल्क जोड़ने में मदद करता है, जिससे पाचन तंत्र के माध्यम से भोजन को आगे बढ़ने में मदद मिलती है। इससे अधिक गैस, ब्लोटिंग, ऐंठन, कब्ज और यहां तक कि दस्त को रोकने में मदद मिल सकती है। एक स्वस्थ, विनियमित गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (gastrointestinal) सिस्टम आपके समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकता है और विभिन्न प्रकार के कैंसर की संभावना को कम कर सकता है।

(और पढ़ें – शलगम के लाभ रखें पाचन समस्या को ठीक)

अरबी के गुण बचाएँ कैंसर से - Taro Root for Cancer in Hindi

अरबी भी हमारे शरीर में एंटीऑक्सीडेंट गतिविधि के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। अरबी में पाए जाने वाले विटामिन ए, विटामिन सी और विभिन्न अन्य फीनोलॉलिक एंटीऑक्सिडेंट हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ावा देते हैं और हमारे सिस्टम से खतरनाक मुक्त कणों को खत्म करने में सहायता करते हैं। मुक्त कण सेलुलर चयापचय के खतरनाक उप-उत्पाद हैं जो स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में बदल सकते हैं। अरबी में पाए जाने वाला करिपटोकसानथिन (Cryptoxanthin) सीधे रूप से फेफड़े और मौखिक कैंसर के विकास की संभावना को कम करने के साथ जुड़ा हुआ है। 

(और पढ़ें – कटहल के औषधीय गुण करें कैंसर के जोखिम को कम)

अरबी के लाभ करें मधुमेह को कम - Taro Root Good for Diabetes in Hindi

आहार फाइबर भी मधुमेह के विकास की संभावना कम करने में मदद कर सकता है क्योंकि यह शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज की रिहाई को नियंत्रित करता है। आप इसके सेवन से अपने ग्लाइसेमिक स्तर का प्रबंधन कर सकते हैं और मधुमेह के विकास की संभावना कम कर सकते हैं। यदि आपको मधुमेह है तो अरबी जैसे फाइबर से समृद्ध खाद्य पदार्थ रक्त में शक्कर को बढ़ने से रोकने में मददगार हो सकते हैं।

अरबी खाने के फायदे हैं हृदय के लिए उपयोगी - Arbi ke Fayde for Heart in Hindi

अरबी में पोटेशियम का महत्वपूर्ण स्तर होता है, जो आवश्यक खनिजों में से एक है जो हमारे लिए स्वस्थ और कार्यात्मक रहने की जरूरत है। पोटेशियम न केवल पूरे शरीर में झिल्ली और ऊतकों के बीच स्वस्थ तरल पदार्थ की सुविधा देता है बल्कि रक्त वाहिकाओं और धमनियों पर तनाव और दबाव को दूर करने में भी मदद करता है। नसों और रक्त वाहिकाओं को आराम देकर रक्तचाप को कम किया जा सकता है और समग्र कार्डियोवस्कुलर सिस्टम पर तनाव कम हो सकता है। पोटेशियम को भी संज्ञानात्मक कार्य में वृद्धि से जोड़ा गया है क्योंकि रक्तचाप कम हो जाने पर तंत्रिका कनेक्शन को बढ़ाया जा सकता है! 

(और पढ़ें - किडनी बीन्स बेनिफिट्स करें हृदय की रक्षा)

अरबी का उपयोग करे आँखों की दृष्टि को बेहतर - Taro Root Benefits for Eyes in Hindi

जैसा कि ऊपर बताया गया है, अरबी में बीटा-कैरोटीन और करिपटोकसानथिन सहित कई एंटीऑक्सीडेंट हैं। ये एंटीऑक्सिडेंट आंखों की कोशिकाओं पर हमला करने वाले मुक्त कणों को रोकने के साथ-साथ मोतियाबिंद से लेकर दृष्टि को बेहतर बनाने में भी मदद कर सकते हैं! 

(और पढ़ें - ब्रोकली के लाभ हैं आँखों के लिए)

अरबी की सब्जी के फायदे है त्वचा के लिए - Taro Root for Skin in Hindi

विटामिन ई और विटामिन ए के साथ हमारी त्वचा अच्छी तरह से सुरक्षित होती है जब हम अपने आहार में अरबी को मिलते हैं। इन दोनों आवश्यक विटामिन त्वचा की खराब स्थिति को खत्म करने और समग्र सेलुलर स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए काम करते हैं, जिसका अर्थ है कि हमारे घाव और दाग़ तेजी से ठीक हो जाते हैं। इसके सेवन से झुर्रियों को कम किया जा सकता है। यह एक बहुत पौष्टिक भोजन है जिसमें कई विटामिन, तांबा, मैंगनीज, जस्ता, मैग्नीशियम, कैल्शियम, लोहा, सेलेनियम, पोटेशियम, बीटा-कैरोटीन और क्रिप्टोक्सैंथिन जैसी खनिज शामिल हैं। ये सभी अच्छे एंटीऑक्सिडेंट हैं जो रोगों से बचाने और बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा करने के लिए उपयोगी है। 

(और पढ़ें – अपनी त्वचा से उम्र के प्रभाव को दूर करने के तरीके)

अरबी का सेवन बढ़ाए प्रतिरक्षा को - Arbi Benefits for Immune System in Hindi

शायद स्वास्थ्य के लिए अरबी का सबसे महत्वपूर्ण तत्व प्रतिरक्षा प्रणाली में इसकी भूमिका है। इसकी प्रत्येक सर्विंग में विटामिन सी का एक बहुत उच्च स्तर होता है, जो प्रतिरक्षा प्रणाली को और अधिक सफेद रक्त कोशिकाओं को बनाने में उत्तेजित करता है, जो बाहरी रोगजनकों (foreign pathogens) और एजेंटों से शरीर की रक्षा करते हैं। इसके अलावा विटामिन सी एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करता है, जो हृदय रोग और कैंसर जैसी स्थितियों के विकास को आंशिक रूप से रोकता है। 

(और पढ़ें – शहद दालचीनी की चाय बढ़ाए प्रतिरक्षा प्रणाली)

अरबी खाने के लाभ हैं वजन कम करने के लिए - Taro Root for Weight Loss in Hindi

जो वजन कम करना चाहते हैं, उनके लिए अरबी बहुत फायदेमंद साबित हो सकती है, क्योंकि इसमें बहुत कम कैलोरी सामग्री होती है। एक कप पकी हुई अरबी में आपको 187 कैलोरी मिलती है। 

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए क्या खाएं)

अरबी की सब्जी के फायदे करें मांसपेशियों को मजबूत - Taro Root for Muscle in Hindi

अरबी में विटामिन ई और मैग्नीशियम होता है जो आपको कैंसर और हृदय रोग से बचा सकता है। यह आपके रक्तचाप को बनाए रखने में भी मदद करता है और तरल पदार्थ के विनियमन के लिए उपयोगी है। अरबी में मैग्नीशियम होता है जो मांसपेशियों, हड्डियों और तंत्रिका स्वास्थ्य के लिए महत्वपूर्ण है।

(और पढ़ें - मसल्स (बॉडी) बनाने के लिए क्या खाना चाहिए)

कच्चे रूप में अरबी के सेवन से गले में जलन हो सकती है और इसका पौधा जहरीला हो सकता है।

अरबी का सेवन वात विकारों से पीड़ित लोगों के लिए नुक़सानदायक होता है, इसलिए ऐसे रोगियों को अरबी का सेवन नहीं करना चाहिए।

अस्थमा से पीडित लोगों को अरबी के पत्तों की सब्जी नहीं खानी चाहिए।

इसके अलावा जिन लोगों को घुटनों में दर्द और खांसी हैं उन्हें भी अरबी का सेवन नहीं करना चाहिए।

प्रसव के बाद महिलाओं को अरबी के सेवन से वात विकार होने की अधिक सम्भावना रहती है।

गैस से पीडित लोगों को भी अरबी का सेवन नुकसान पहुंचाता है। (और पढ़ें – पेट में गैस के घरेलू उपचार)


अरबी के ज़बरदस्त फ़ायदे सम्बंधित चित्र

और पढ़ें ...

References

  1. DR Rashmi. et al. Taro (Colocasia esculenta): An overview. Journal of Medicinal Plants Studies 2018; 6(4): 156-161.
  2. Plant Guide. Natural Resources Conservation Service. United States Department of Agriculture. Washington D.C. USA; TARO Colocasia esculenta (L.) Schott
  3. FoodData Central. United States Department of Agriculture. Washington D.C. USA; Taro, cooked, without salt
  4. FoodData Central. United States Department of Agriculture. Washington D.C. USA; Taro leaves, raw
  5. Kundu N. et al. Antimetastatic activity isolated from Colocasia esculenta (taro).. Anticancer Drugs. 2012 Feb;23(2):200-11. PMID: 21934603
  6. Marickar YM. Calcium oxalate stone and gout.. Urol Res. 2009 Dec;37(6):345-7. PMID: 19779706
  7. Brown, Amy C. and Valiere, Anna. The Medicinal Uses of Poi. Nutr Clin Care. 2004; 7(2): 69–74. PMID: 15481740
ऐप पर पढ़ें