शरीर के साथ-साथ स्किन की देखभाल भी बहुत ही जरूरी होती है. लेकिन कामकाज में व्यस्तता की वजह से बहुत से लोग स्किन की देखभाल करना भूल जाते हैं. ऐसे में स्किन की समस्याओं को दूर करने के लिए आसान तरीका अपनाने की कोशिश करते हैं.

इन तरीकों में केमिकल्स युक्त क्रीम, फेसवॉश और कई तरह के प्रोडक्ट शामिल हैं. इससे आपकी स्किन इंस्टेंट ग्लो करने लगती है, लेकिन धीरे-धीरे यह केमिकल युक्त चीजें आपकी स्किन को नुकसान पहुंचाने लगती हैं. इस वजह से कई लोगों का चेहरा समय से पहले बुढ़ा नजर आने लगता है. इसलिए इन उपायों के बजाय हेल्दी तरीकों से स्किन केयर करने की आवश्यकता होती है.

(और पढ़ें - एंटी एजिंग क्रीम)

अगर आप स्किन पर बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करना चाहते हैं, तो एंटी एजिंग फूड्स अपने डाइट में शामिल करें. पपीता, ब्लूबेरी, पालक, नट्स इत्यादि ऐसे खाद्य पदार्थ हैं, जो एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर होते हैं. इन फूड्स के सेवन से आप बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम कर सकते हैं.

आज हम इस लेख में एंटी-एजिंग फूड्स के बारे में जानेंगे.

  1. एंटी एजिंग फूड - Anti-aging foods in Hindi
  2. बुढ़ापा रोकने के लिए कुछ अन्य आहार - Other anti-aging foods in Hindi
  3. सारांश - Summary
बुढ़ापा रोकने के लिए क्या खाएं के डॉक्टर

बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने के लिए आप एंटी-एजिंग फूड्स का सेवन कर सकते हैं. अनार, पालक, एवोकाडो, पपीता, ब्लूबेरी इत्यादि ऐसे फूड्स हैं, जो एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर हैं.

आइए विस्तार से जानते हैं एंटी-एजिंग फूड के बारे में -

पालक

आप एंटी-एजिंग फूड के रूप में पालक का सेवन कर सकते हैं. पालक विटामिन सी, सेलेनियम, कैरोटीनॉयड, ओमेगा-3 फैटी एसिड और फ्लेवोनोइड गुणों से भरपूर होता है. यह सभी पोषक तत्व फ्री-रेडिकल्स से लड़ने में मददगार साबित होते हैं. साथ ही इससे स्किन को सूर्य की रोशनी से होने वाली समस्या से बचाव किया जा सकता है. बढ़ती उम्र की परेशानी को दूर करने के लिए आप रोजाना पालक की सब्जी, पालक का जूस या फिर अन्य डिशेज का सेवन कर सकते हैं. इससे आपको काफी लाभ होगा.

(और पढ़ें - एजिंग के लक्षण कम करने के आयुर्वेदिक उपाय)

एवोकाडो

एवोकाडो फैटी एसिड भरपूर रूप से होता है, जो सूजन को कम करने में असरदार है. इसके सेवन से स्किन पर बढ़ती उम्र के लक्षण कम हो सकते हैं. यह विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व जैसे- विटामिन K, सी, बी, ई, ए, पोटैशियम से भरपूर होता है. एवोकाडो में मौजूद विटामिन ए स्किन से मृत कोशिकाओं को हटाने में मददगार होती है. वहीं, इसमें कैरोटीनॉयड (carotenoid) मौजूद होता है, जो सूर्य की हानिकारक किरणों से आपकी सुरक्षा करता है. इसका सेवन आप एंटी-एजिंग फूड के रूप में कर सकते हैं. यह स्किन की सूजन, लालिमा और झुर्रियों को कम करने में असरदार हो सकता है.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए क्रीम)

ब्लूबेरी

ब्लूबेरी विटामिन ए और सी से भरपूर होते हैं. इसके अलावा इसमें एंथोसायनिन नामक (anthocyanin) एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होता है, जो बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम करने में सहायक है. यह शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट सूजन प्रतिक्रिया को नियंत्रित करके और कोलेजन हानि को रोकने में आपकी मदद करता है. ब्लूबेरी के सेवन से स्किन को सूरज की रोशनी से होने वाले से बचाया जा सकता है. इसके अलावा यह स्ट्रेस और प्रदूषण से स्किन की सुरक्षा करता है. ब्लूबेरी का सेवन आप स्मूदी या फिर सीधे तौर पर भी कर सकते हैं.

(और पढ़ें - एंटी एजिंग के उपाय)

नट्स

कई तरह के नट्स खासतौर पर बादाम विटामिन ई का काफी अच्छा स्रोत होता है. जो आपकी स्किन टिश्यूज को रिपेयर करने में मददगार होता है. साथ ही विटामिन ई स्किन को मॉइस्चराइज करता है. इतना ही नहीं, नट्स का सेवन करने से यूवी किरणों से डैमेज स्किन को रिपेयर करने में आपकी मदद करता है. अखरोट एंटी-इंफ्लेमेटरी और ओमेगा-3 फैटी एसिड से भरपूर होता है, जो स्किन की कई तरह की समस्याओं को दूर करने में मददगार है. एंटी-एजिंग फूड के रूप में आप नट्स का सेवन कर सकते हैं. यह आपके लिए काफी फायदेमंद है.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए फेस पैक)

शकरकंद

शकरकंद का सेवन आप एंटी-एजिंग फूड के रूप में कर सकते हैं. रिसर्च के मुताबिक, शकरकंद में जैन्थोफिल (xanthophyll) नामक यौगिक होता है, जो सूर्य की हानिकारक किरणों से स्किन की सुरक्षा करने में आपकी मदद करता है. इतना ही नहीं, स्वीट पोटैटो में विटामिन-सी भी समृद्ध रूप से होता है, जो बढ़ती उम्र के लक्षणों को दूर करने में मददगार होता है. वहीं, शकरकंद बीटा-कैरोटीन से भरपूर होता है, जिससे आपकी स्किन सॉफ्ट हो सकती है.

अनार के बीज

अनार स्वास्थ्य के लिए बहुत ही गुणकारी माना जाता है. एंटी-एजिंग फूड के तौर पर आप अनार के बीजों का सेवन कर सकते हैं. यह विटामिन सी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होता है, जो स्किन को फ्री-रेडिकल्स से मुक्त करता है. इससे स्किन की सूजन भी कम होती है. इसके अलावा अनार में प्यूनिकलगिन्स (punicalagins) नामक एक यौगिक होता है, जो स्किन में कोलेजन के स्तर को बढ़ाने में आपकी मदद करता है. इससे बढ़ती उम्र के लक्षण कम होते हैं.

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियां हटाने के उपाय)

पपीता

स्वास्थ्य की दृष्टि से पपीता काफी फायदेमंद होता है. आप इसका सेवन एंटी-एजिंग फूड के रूप में भी कर सकते हैं. यह विभिन्न प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट, विटामिन और खनिज तत्वों से भरपूर होता है, जो स्किन की झुर्रियों और फाइन-लाइंस को कम करने में आपकी मदद करता है.  यह कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस, विटामिन ए, सी, के, और ई जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है. यह सभी पोषक तत्व बढ़ती उम्र के लक्षणों को दूर करने में आपकी मदद करता है. पपीता का सेवन आप स्मूदी या फिर सीधे तौर पर करें. इससे आपको काफी फायदा होगा.

डार्क चॉकलेट

डार्क चॉकलेट एंटी-एजिंग गुणों से भरपूर होता है. डार्क चॉकलेट का मुख्य घटक कोको बीन्स, एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है, जो यूवी किरणों के जोखिमों को कम करने में आपकी मदद करता है. इसके सेवन से आपकी स्किन हाइड्रेट रहती है. साथ ही चेहरे पर  चमक आती है. इसके अलावा डार्क चॉकलेट मैग्नीशियम से भरपूर होती है, जो सूजन से लड़ने में आपकी मदद करता है. एंटी एजिंग युक्त खाद्य पदार्थों के रूप में डार्क चॉकलेट का सेवन करना आपके लिए फायदे हो सकता है.

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए क्या खाएं)

बुढ़ापा रोकने के लिए कुछ अन्य आहार इस  - 

एंटी-एजिंग फूड के रूप में आप पालक, केल, अंगूर, अनाज, डार्क चॉकलेट जैसे आहार का सेवन कर सकते हैं. इन फूड से बढ़ती उम्र के लक्षणों को कम किया जा सकता है. लेकिन ध्यान रखें कि अगर आपकी स्किन ज्यादा खराब हो रही है, तो किसी स्किन स्पेशलिस्ट से अपनी जांच कराएं. वहीं, अगर आपको किसी तरह की गंभीर परेशानी है, तो डॉक्टर और डायटीशियन की सलाह पर ही अपने आहार में किसी तरह का बदलाव करें.

Dr. Priti Kulkarni

Dr. Priti Kulkarni

डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Puneet Agarwal

Dr. Puneet Agarwal

डर्माटोलॉजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Neha Baig

Dr. Neha Baig

डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Avinash Jhariya

Dr. Avinash Jhariya

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ