आज के समय में पथरी एक आम स्वास्थ्य समस्या बन गई है. पथरी मिनरल्स और साल्ट से बना एक तरह का कठोर सब्सटेंस है, जिसके कारण तेज दर्द, घबराहट, अधिक पसीना आना और मूत्र करने में दर्द जैसी समस्याएं महसूस होती हैं. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, शरीर के किसी भी हिस्से में पथरी की समस्या हो सकती है, जैसे गुर्दे, पित्त की थैली, गले, मूत्राशय, अग्नाशय, नाक और पेट आदि. हालांकि सबसे ज्यादा लोग किडनी यानी गुर्दे की पथरी की समस्या से पीड़ित रहते हैं.

(और पढ़ें - पथरी का दर्द कहाँ होता है)

पथरी की समस्या में लोगों को खानपान के प्रति अधिक सावधानी बरतने की आवश्यकता होती हैं क्योंकि कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं, जिनके सेवन से पथरी की समस्या गंभीर हो सकती है. इस लेख हम आपको बताएंगे की पथरी से पीड़ित मरीजों को कौन-सी सब्जियों के सेवन से परहेज करना चाहिए. साथ ही वह कौन-सी सब्जियों का सेवन कर सकते हैं और क्यों?

(और पढ़ें - पथरी के घरेलू उपाय)

इन सब्जियों से करें परहेज

पथरी से पीड़ित लोगों को टमाटर, बैंगन, भिंडी और पालक जैसी सब्जियों को खाने से परहेज करना चाहिए क्योंकि इनमें ऑक्सलेट की अधिक मात्रा होती है, जिसके कारण गंभीर स्थिति पैदा हो सकती है.

(और पढ़ें - किडनी स्टोन का आयुर्वेदिक इलाज)

इन सब्जियों का कर सकते हैं सेवन

  • फूलगोभी: भारतीय फूलगोभी का इस्तेमा कई तरह का खाना और व्यंजन बनाने के लिए किया जाता है. हालांकि यह पथरी की समस्या में भी फायदेमंद साबित हो सकती है. पोषक तत्वों से भरपूर फूलगोभी में पोटैशियम, प्रोटीन और कैल्शियम की कम मात्रा होती है, लेकिन इसमें फाइबर की प्रचुर मात्रा पाई जाती है, जो किडनी को डिटॉक्सिफाई कर विषाक्त पदार्थों को शरीर से बाहर निकालने में मदद करता है. साथ ही फूलगोभी में मौजूद विटामिन सी एंटीऑक्सीडेंट की तरह काम करता है, जो शरीर में सूजन को कम करता है. ऐसे में फूलगोभी पथरी के मरीजों के लिए फायदेमंद साबित हो सकती है.
     
  • खीरा: खीरा भी पथरी में लाभदायक साबित हो सकता है. खीरे में विटामिन एविटामिन बी1विटामिन बी6, विटामिन सी, विटामिन डी और आयरन की काफी मात्रा होती है. खीरे में 95 प्रतिशत तक पानी मौजूद होता है, जो खून में मौजूद टॉक्सिन पदार्थों को बाहर निकालने में किडनी की मदद करते हैं. हेल्थ एक्सपर्ट्स मानते हैं कि नियमित तौर पर खीरे का सेवन करने से गुर्दे में मौजूद छोटी पथरी भी घुल सकती है. ऐसे में पथरी के मरीज अपनी डाइट में खीरे को शामिल कर सकते हैं.
     
  • करेला: करेले के जरिए भी पथरी की समस्या से छुटकारा पाने में मदद मिल सकती है. करेले में कई तरह के विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं. इसमें विटामिन ए, कैल्शियम, आयरन, राइबोफ्लेविन, नियासिन, फोलिक एसिड और पोटेशियम की प्रचुर मात्रा होती है. करेला नेचुरल तरीके से पथरी के टुकड़े करने और शरीर से बाहर निकालने में मदद करते हैं, साथ ही यह शरीर में हाई यूरिक एसिड की मात्रा को भी कम करता है, जिसके कारण पथरी की समस्या होती है. (और पढ़ें - लिथोट्रिप्सी तकनीक क्या है)
     
  • कद्दू: थाईलैंड में हुई एक रिसर्च के मुताबिक, कद्दू के बीज किडनी में होने वाली पथरी की संभावना को कम कर सकते हैं. जिन लोगों के यूरिन सैंपल में कैल्शियम ऑक्सलेट के कण पाए जाते हैं, उन्हें अपने खाने में कद्दू को शामिल करना चाहिए. कद्दू में कैलोरी, प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, फाइबर, सोडियम और फोलेट जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होते हैं. (और पढ़ें - किडनी स्टोन एनालिसिस)
     
  • सहजन: सहजन को मोरिंगा और ड्रमस्टिक ट्री के नाम से भी जाना जाता है. यह कैल्शियम, पोटेशियम, जिंक, आयरन और कॉपर समेत कई तरह के मिनरल्स से समृद्ध होने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदेमंद होता है. पथरी की समस्या में सहजन लाभदायक साबित हो सकता है. एक्सपर्ट्स की मानें तो गुर्दे और मूत्राशय की पथरी में सहजन की सब्जी खाने से फायदा मिल सकता है. (और पढ़ें - पथरी का होम्योपैथिक इलाज)

इसके अलावा पथरी के मरीज हरी मटर, शलगम, ककड़ी, चुकंदर और धनिया का भी सेवन कर सकते हैं. हालांकि पथरी के मरीज इन सब्जियों के सेवन से पहले एक बार अपने डॉक्टर से संपर्क जरूर कर लें, क्योंकि कई लोगों को डायबिटीज, हाई यूरिक एसिड या दिल से जुड़ी बीमारियां होती हैं, जिनमें खानपान का अधिक ध्यान रखने की आवश्यकता होती है.

(और पढ़ें - पथरी में क्या खाना चाहिए)

पथरी में कौन-कौन सी सब्जी खाएं? के डॉक्टर
Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
8 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ