पैर सुन्न होना - Leg numbness in Hindi in Hindi

Dr. Nadheer K M (AIIMS)MBBS

May 14, 2021

July 14, 2021

कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!
पैर सुन्न होना
पैर सुन्न होना
कई बार आवाज़ आने में कुछ क्षण का विलम्ब हो सकता है!

बहुत लंबे समय तक बैठे रहने के बाद आपने अक्सर पैरों का सुन्न हो जाना, झुनझुनाना या कुछ महसूस ना होने जैसी समस्या अनुभव की होगी। पैर सुन्न हो जाने की समस्या एक या दोनों पैरों को प्रभावित कर सकती है। यह समस्या पैर की उंगलियों तक भी बढ़ सकती है। बता दें, यह कई गंभीर चिकित्सा स्थितियों की चेतावनी का संकेत हो सकता है इसलिए यह जानना जरूरी है कि किन स्थितियों में डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए।

अक्सर ऐसा किसी एक हिस्से तक खून की आपूर्ति सही से न होने या तंत्रिका को नुकसान होने की वजह से होता है। हालांकि, यह संक्रमण, सूजन, चोट व अन्य किसी असामान्य प्रक्रियाओं की वजह से भी हो सकता है। यह जानलेवा विकारों की वजह से नहीं होता है, लेकिन यह स्ट्रोक और ट्यूमर से जुड़ा हो सकता है।

पैर सुन्न होने पर पिन या सुईयों की चुभन या त्वचा में जलन महसूस हो सकती है। जबकि कई बार कुछ एहसास न होना, लकवा जैसे उस हिस्से को हिलाने-डुलाने में असमर्थता भी हो सकती है।

यह सुन्नता अचानक हो सकती है या धीरे-धीरे भी विकसित हो सकती है। यदि लंबे समय से यह समस्या है, तो हो सकता है कि तंत्रिकाओं को नुकसान हुआ हो। यह समस्या रात में बदतर हो सकती है, जो पैरेस्थेसिया में आम है।

पैर या किसी अन्य अंग का सुन्न होना किसी अंतर्निहित बीमारी, विकार या स्थिति की वजह से हो सकता है, इसलिए यदि आप कुछ मिनट या इससे भी ज्यादा समय के लिए ऐसा महसूस करते हैं तो आपको डॉक्टर से परामर्श करने की जरूरत है।

इसके अलावा यदि आपके पैर सुन्न हो जाने के साथ-साथ मूत्राशय या आंतों पर नियंत्रण की कमी, लकवा, भ्रम, पैरों में कमजोरी या बोलने में कठिनाई जैसी स्थितियों का अनुभव करते हैं तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

(और पढ़ें - नसों की कमजोरी का इलाज)

पैर सुन्न होने के लक्षण - Leg numbness symptoms in Hindi

सुन्न हो जाना टेम्परेरी (अस्थायी) और क्रोनिक नंबनेस (लंबे समय से सुन्न होने की समस्या) के साथ जुड़े कई लक्षणों में से एक है।

कई लोगों को पैर में सुन्न होने की समस्या के साथ कुछ अतिरिक्त लक्षण (लगातार या रुक-रुक कर) भी दिखाई दे सकते हैं जैसे :

  • झुनझुनाहट
  • जलन
  • गुदगुदी
  • खुजली
  • त्वचा के अंदर कुछ रेंगने जैसा एहसास

(और पढ़ें - नसों में सूजन का कारण)

कुछ मामलों में, पैर सुन्न होने के साथ ऐसे लक्षण देखे जा सकते हैं जो जानलेवा या गंभीर स्थिति का संकेत हो सकते हैं। ऐसे में तुरंत आपातकालीन चिकित्सा प्राप्त करनी चाहिए। यदि आपको सुन्नता के साथ निम्नलिखित लक्षण दिखाई देते हैं तो आपको डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए :

(और पढ़ें - कमजोरी का घरेलू उपचार)

पैर सुन्न होने का कारण - Leg numbness causes in Hindi

यदि आप लंबे समय तक एक ही पोजिशन में बैठे रहते हैं, तो ऐसे में निचले टांग या पैर का सुन्न होना बेहद आम है। ऐसे में शरीर के उस हिस्से की नसों में सिकुड़न आ जाती है, जिससे खून का प्रवाह सही से नहीं हो पाता है और यही सुन्नता का कारण बनता है। यह एक अस्थायी स्थिति है, जो आमतौर पर तब ठीक हो जाती है जब आप खड़े होते हैं और रक्त का प्रवाह वापस से होने लगता है।

(और पढ़ें - नस दबने का इलाज)

व्यायाम
उच्च तीव्रता वाले कुछ व्यायामों की वजह से पैरों में रक्त प्रवाह बाधित हो सकता है, जिससे सुन्न होने जैसी समस्या हो सकती है। इन व्यायामों में दौड़ना शामिल है, जिससे नसें संकुचित हो सकती हैं। बता दें, दौड़ते या एक्सरसाइज करते समय पैरों का सुन्न होना काफी आम है। हालांकि, यह अपने आप ठीक हो जाता है।

अधिक गंभीर कारणों में शामिल है :

पैर सहित कहीं भी सुन्न होने की समस्या होना किसी गंभीर चिकित्सा स्थिति का दुष्प्रभाव हो सकता है। नीचे कुछ सामान्य स्थितियां बताई गई हैं, जो आपके पैर में झुनझुनी या कुछ महसूस करने की क्षमता में कमी का कारण बन सकती हैं :

  • मल्टीपल स्क्लेरोसिस : मल्टीपल स्केलेरोसिस एक ऑटोइम्यून रोग है जो आपके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करता है। इसके कई लक्षण हैं, जिनमें मांसपेशियों में ऐंठन और चक्कर आना शामिल हैं। इसके अलावा निचली टांगों में झुनझुनी होना अक्सर इसके शुरुआती लक्षणों में से एक होता है।
  • डायबिटिक न्यूरोपैथी : ये नसों का वह हिस्सा है जो डायबिटीज की वजह से क्षतिग्रस्त हो चुका है। सुन्न हो जाना और झुनझुनी होने के साथ डायबिटिक न्यूरोपैथी में ऐंठन और शरीर के संतुलन का नुकसान हो सकता है।
  • टार्सल टनल सिंड्रोम : टार्सल टनल सिंड्रोम में आपकी एड़ी की टिबिअल तंत्रिका संकुचित हो जाती है। ऐसे में तेज दर्द होता है और आपके पूरे पैरों में सुन्नता के साथ जलन हो सकती है।

(और पढ़ें -  नस चढ़ने की दवा)

पैर सुन्न होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए - When to see a doctor for leg numbness in Hindi

यदि आपको पूरे शरीर में कहीं भी लगातार सुन्न होने की समस्या बनी रहती है तो ऐसे में डॉक्टर को दिखाने की जरूरत है।

यदि सुन्नता अपने आप दूर नहीं होती है या बार-बार होती है, तो हो सकता है कि यह किसी गंभीर बीमारी का संकेत हो।

डॉक्टर को दिखाएं यदि आप पैर सुन्न होने के साथ अन्य निम्नलिखित लक्षणों को महससू करते हैं : 

(और पढ़ें -  नस पर नस चढ़ने के घरेलू उपाय)

पैर सुन्न होने का इलाज - Leg numbness treatment in Hindi

पैर सुन्न होने का इलाज पूरी तरह से इसके कारणों पर निर्भर करता है। तब भी इसके सामान्य इलाज में शामिल है :

दवाई

पैरों और निचली टांगों में लंबे समय तक सुन्नता के लिए कुछ दवाइयां मदद कर सकती हैं जैसे :

  • एंटीडिप्रेसेंट : कुछ एंटीडिप्रेसेंट्स जैसे ड्यूलोक्सिटाइन और मिल्नासीप्रैन फाइब्रोमायल्जिया के उपचार में फायदेमेंद है।
  • कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स : एमएस नामक कुछ कॉर्टिकोस्टेरॉइड्स क्रोनिक सूजन और सुन्नता को कम करने में मदद कर सकते हैं।
  • गैबापेंटिन और प्रीगाबैलिन : यह दवाएं नसों में दर्द के साथ-साथ सुन्न होने की समस्या में राहत दिला सकती हैं।

थेरेपी

कुछ निम्नलिखित वैकल्पिक थेरेपी की मदद से उन स्थितियों को नियंत्रित किया जा सकता है जो पैरों और निचली टांगों में सुन्न होने का कारण बनती हैं :

  • मालिश
  • रिफ्लेक्सोलॉजी
  • एक्यूपंक्चर
  • बायोफीडबैक
  • हाइड्रोफीडबैक
  • माइंडफुलनेस मेडिटेशन
  • गाइडेड इमेजरी
  • विटामिन बी सप्लीमेंटेशन (विशेष रूप से बी3, बी6 और बी-12)

(और पढ़ें - नस चढ़ जाने पर क्या करें)

पैर सुन्न होना से जुड़े टिप्स - Pair sunn hone se jude tips in Hindi

बहुत अधिक देर तक एक ही पोजीशन में बैठने से आपके पैर या निचली टांगों में अस्थायी सुन्नता होना सामान्य है, इसमें चिंता या घबराने की कोई बात नहीं है। लेकिन उसी हिस्से में बार-बार या लगातार सुन्न होने की समस्या किसी गंभीर चिकित्सा स्थिति का संकेत हो सकता है, ऐसे में तुरंत डॉक्टर से बात करें।

हाथ या पैर के सुन्न होने के कई संभावित कारण हैं, इसलिए आपको घर पर निदान करने या केवल ओवर-द-काउंटर दवाओं के साथ इलाज करने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।

हालांकि, जब तक कि आप उपचार न पाएं तब तक आप अस्थायी उपायों की मदद से बेचैनी को कम कर सकते हैं।

(और पढ़ें - नस दबने का घरेलू उपाय)



पैर सुन्न होना के डॉक्टर

Dr. Nikhil Bhalerao Dr. Nikhil Bhalerao सामान्य चिकित्सा
5 वर्षों का अनुभव
Dr. Anshul Jain Dr. Anshul Jain सामान्य चिकित्सा
8 वर्षों का अनुभव
Dr. Subhanshu Goyal Dr. Subhanshu Goyal सामान्य चिकित्सा
1 वर्षों का अनुभव
Dr. Silsila Leishangthem Dr. Silsila Leishangthem सामान्य चिकित्सा
7 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ