गले के अंदर जलन, लालिमा या संक्रमण की स्थिति को 'फैरिन्जाइटिस' या गले में सूजन कहा जाता है। गले में सूजन का मुख्य कारण बैक्टीरिया और वायरस होते हैं। इसके अलावा यह एलर्जी, चोट लगना और गले में विषाक्त पदार्थ जाना आदि की वजह से भी प्रभावित हो सकता है। गले में सूजन के लक्षणों में मुख्य रूप से गले में होने वाली तकलीफ शामिल हैं जैसे, गले में दर्द, गला बैठना  और खांसी आदि। इसके अलावा कुछ अन्य लक्षण भी देखे जा सकते हैं जैसे नाक बहना और सिर दर्द आदि। ये सभी लक्षण आमतौर पर 3 से 5 दिन के भीतर कम होने लगते हैं, लेकिन अगर ऐसा न हो तो यह किसी गंभीर रोग का संकेत हो सकता है। 

अगर इसके लिए उचित उपाय किए जाएं, तो घर पर ही गले की सूजन का उपचार किया जा सकता है, नीचे कुछ इसी प्रकार के घरेलू उपायों के बारे में  बताया गया है:

  1. सेब का सिरका है गले में सूजन का घरेलू उपाय - Seb ka sirka hai gale mein sujan ka gharelu upay
  2. नमक के गरारे से करें गले की सूजन का इलाज - Salt water rinse se karein gale ki sujan ka ilaj
  3. गले में सूजन का देसी नुस्खा है पुदीना - Gale mein sujan ka desi nuskha hai pudina
  4. बेकिंग सोडा से करें गले की सूजन को दूर - Baking soda se karein gale ki sujan ko dur
  5. गले की सूजन का रामबाण इलाज है मेथी - Gale ki sujan ka rambaan ilaj hai methi
  6. गले में सूजन की देसी दवा है अदरक - Gale mein sujan ki desi dawa hai adarak
  7. गले में सूजन से छुटकारा दिलाता है नारियल तेल - Gale mein sujan se chuthkara dilata hai nariyal tel
  8. गले की सूजन को कम करती है दालचीनी - Gale ki sujan ko kam karti hai dalchini
  9. गले में सूजन का देसी उपाय है शहद - Gale mein sujan ka desi upay hai shahad
  10. गले की सूजन को कम करने की दवा है नींबू - Gale ki sujan ko kam karne ki dawa hai neembu

सेब का सिरका एक प्राकृतिक औषधि है, जो कई वर्षों से आयुर्वेद में इस्तेमाल की जा रही है। इसका मुख्य पदार्थ एसिटिक एसिड होता है, जो बैक्टीरिया से लड़ने में मदद करता है। इसके साथ ही इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो गले की सूजन से आराम दिलाते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1/2 चम्मच सेब का सिरका
  • 1 कप पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • 1 कप गर्म पानी में आधा चम्मच सेब का सिरका मिला कर अच्छे से मिक्स करें और पील लें
  • चाहें तो स्वाद के लिए इसमें शहद भी मिला सकते हैं

कब इस्तेमाल करें 

इस प्रक्रिया को दिन में एक बार से अधिक इस्तेमाल ना करें

नमक के गरारे गले की सूजन के लिए एक लोकप्रिय घरेलू नुस्खा है। नमक गले के उत्तकों मे मौजूद पानी को बाहर निकाल कर सूजन को कम करने में मदद करता है। यह साथ ही गले में मौजूद अनचाहे कीटाणुओं को भी नष्ट करता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 कप गर्म पानी
  • 1 चम्मच नमक

इस्तेमाल का तरीका

  • 1 कप गर्म पानी में 1 चम्मच नमक मिलाएं
  • अब इस मिश्रण से 30 सेकेंड तक गरारे करें और उसके बाद इसे थूक दें

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को हर घंटे में एक बार करने की सलाह दी जाती है। गले की सूजन और खराश दोनों से प्रभावी रूप से राहत पाने के लिए इस प्रक्रिया को लगातार 30 मिनट तक करें।

पुदीने को पानी के साथ लेने से गले में खराश और सूजन कम होती है, पुदीने में मेंथोल होता है, जो बलगम को पतला करने में मदद करता है। इसके साथ ही पुदीने में एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण होते हैं, जो गले को जल्दी ठीक होने में मदद करते हैं।

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • पुदीने के पत्तों को एक कप पानी में उबाल लें
  • इस मिश्रण को 5 मिनट तक उबलने दें और उसके बाद इसे छान कर साफ गिलास में डाल लें
  • ठंडा होने के बाद अब इससे 30 सेकेंड तक गरारे करें 

कब इस्तेमाल करें

पुदीने के गुणों का लाभ प्राप्त करने के लिए इस उपाय को हर घंटे में एक बार और लगातार 30 सेंकेंड तक गरारें करें।

नमक के पानी से गरारे करना बेहद आम नुस्खा है लेकिन अगर इसमें बेकिंग सोडा भी मिला दिया जाए तो गले की सूजन को ठीक करने की प्रक्रिया को और भी तेज किया जा सकता है। इस मिश्रण के गरारों से बैक्टीरिया नष्ट होते हैं और खमीर व कवक विकसित होने भी बंद हो जाते हैं।

आवश्यक सामग्री

  • 1 कप गर्म पानी
  • ⅛ चम्मच नमक
  • ¼ बेकिंग सोडा

इस्तेमाल का तरीका

  • नमक और बेकिंग सोडा को पानी में डालकर अच्छे से मिला लें
  • अब इस मिश्रण से थोड़ी देर तक गरारे करें और फिर इसे थूक दें
  • ध्यान रखें कि आप इसे निगलने नहीं

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय का इस्तेमाल दिन में किसी भी समय किया जा सकता है, लेकिन इसको दिन में दो से अधिक बार इस्तेमाल ना करें।

मेथी में कई स्वास्थ्य गुण पाए जाते हैं और इसको कई रूपों में इस्तेमाल किया जा सकता है जैसे कि मेथी के बीज, मेथी का तेल और मेथी की चाय। मेथी की चाय गले में सूजन का प्राकृतिक व अनोखा नुस्खा है। मेथी सूजन व जलन को ठीक करने के साथ-साथ बैक्टीरिया को भी खत्म करता है। साथ ही मेंथी में प्रभावशाली एंटीफंगल गुण भी पाये जाते हैं, जो गले में इन्फेक्शन से होने वाली समस्याओं के लिए एक घरेलू उपाय के रूप में काम करती है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच मेथी के बीज
  • 1 कप गर्म पानी
  • ½ चम्मच शहद

इस्तेमाल का तरीका

  • पानी में मेथी के बीज उबाल लें
  • स्वाद के लिए चाहें तो शहद भी मिला सकते हैं
  • अब चाय को हल्का गर्म होने पर पिएं

कब इस्तेमाल करें

इस प्रक्रिया को रोजाना सुबह और शाम अपनाएं जब तक गले की सूजन ठीक न हो जाए।

अदरक को आमतौर पर रसोई में एक मसाले के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो गले की खराश और उससे हुई सूजन को ठीक करने में मदद करते हैं। एक अध्ययन में देखा गया कि गले में संक्रमण होने पर अदरक का रस लगाने से लक्षण काफी हद तक कम हो जाते हैं। 

आवश्यक सामग्री

इस्तेमाल का तरीका

  • अदरक को काटकर या घिसकर एक छोटी कटोरी में डाल लें
  • सॉसपैन पर पानी गर्म करके उसे चूल्हे से हटा लें
  • अब इसमें 1 चम्मच अदरक डालें और ढक्कन से ढक दें
  • 10 मिनट तक पानी को अदरक के गुणों को सोखने के लिए छोड़ दें
  • अब इसमें नींबू का रस मिलाए और पी लें

कब इस्तेमाल करें

अदरक की चाय की तरह इसको भी रोजाना सुबह और शाम पिए जब तक गले में सूजन ठीक न हो जाए।

अध्ययनों के अनुसार नारियल तेल इन्फेक्शन से लड़ने, सूजन को कम करने और दर्द से आराम दिलाता है। नारियल तेल बेहद आरामदायक भी होता है क्योंकि यह गले में चिकनाई पैदा करता है जिससे सूजन और दर्द कम होने लगते हैं। 

आवश्यक सामग्री

  • 1 चम्मच नारियल तेल

इस्तेमाल का तरीका

  • एक चम्मच नारियल तेल को अपने मुंह में रखें और थोड़ा-थोड़ा करके उसे निगलते रहें।

इस्तेमाल के अन्य तरीके

  • नारियल तेल को चाय, हॉट कोकोआ या सूप में मिलाकर पीने से भी गले की सूजन कम होती है।

कब इस्तेमाल करें

रोजाना दिन में नारियल तेल के 2 चम्मच का सेवन जरूर करें।

दालचीनी मसालों में इस्तेमाल किया जाने वाला एक सुगंधित व स्वादिष्ट पदार्थ है, जो एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होता है और एंटीबैक्टीरियल गुण रखता है। यह सर्दी और फ्लू दूर करने का लोकप्रिय देसी नुस्खा है। चीन में गले की खराश और सूजन ठीक करने की दवाओं में इसका इस्तेमाल किया जाता है। 

आवश्यक सामग्री

  • 1 कप दूध
  • ½ चम्मच दालचीनी
  • ⅛ चम्मच बेकिंग सोडा
  • 1 चम्मच शहद

इस्तेमाल का तरीका

  • एक सॉसपैन लें और उसमें दूध डालें
  • दालचीनी और बेकिंग सोडा को दूध में अच्छे से मिलाएं
  • इस मिश्रण को तब तक गर्म करें जब तक यह उबलने न लगे
  • इसके बाद इसे पीने लायक गुनगुना होने पर इसमें शहद मिलाकर पी लें

कब इस्तेमाल करें

इस मिश्रण का उपयोग दिन में एक बार से अधिक न करें।

शहद गले में सूजन का एक बेहतरीन घरेलू उपचार है क्योंकि इसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो घाव भरने और जल्दी आराम पहुंचाने में मदद करते हैं। शहद बैक्टीरिया को नष्ट करने के साथ सूजन के कारण हुए वायरल इन्फेक्शन से भी लड़ने में मदद करता है। अगर आप गले की खराश या सूजन से परेशान हैं तो शहद आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प हो सकता है। 

आवश्यक सामग्री

  • 2  चम्मच शहद 
  • 1 कप गर्म पानी 

इस्तेमाल का तरीका 

  • गर्म पानी में शहद डालें, इसे अच्छे से मिक्स करके पी लें
  • इसके अलावा आप चाहें तो शहद को अन्य रूप से भी इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि हर्बल चाय, दूध या इसका सीधा सेवन भी फायदेमंद रहता है।

कब इस्तेमाल करें 

शहद की तासीर बेहद गर्म होती है इसलिए इसे दिन में 2 चम्मच से अधिक नहीं लेना चाहिए। हालांकि कोशिश करें इसे गर्मियों में एक ही बार लें।

नमक के पानी और शहद की ही तरह नींबू भी गले की सूजन को कम करने का लिए बेहतर विकल्प है क्योंकि यह बलगम को नष्ट कर के गले में आराम पहुंचाता है। नींबू में विटामिन सी होता है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत बनता है और इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करता है।

आवश्यक सामग्री

  • 1 नींबू का रस
  • 1 गिलास गर्म पानी

इस्तेमाल का तरीका

  • नींबू के रस को एक गिलास गुनगुने पानी में मिलाएं
  • अच्छे से मिक्स कर के पील लें

कब इस्तेमाल करें

इस उपाय को दिन में 2 बार इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है।

सही तरीके से अपनाने पर गले में सूजन को वैसे तो घरेलू उपायों से ही ठीक किया जा सकता है लेकिन अगर इसके लक्षण 2 हफ्तों में नहीं जाते तो डॉक्टर से सलाह ले लेनी चाहिए।

घरेलू उपायों को उचित विधि के साथ किया जाए, तो ज्यादातर मामलों में गले में सूजन की समस्या को कम किया जा सकता है। यदि 3 से 4 दिनों के भीतर लक्षण कम ना हो पाएं या लक्षण और बदतर हो जाएं, तो ऐसे में डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए।

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ