कैमोमाइल चाय से तो हर कोई परिचित है, लेकिन कैमोमाइल का इस्तेमाल तेल के रूप में भी होता है. यह एक प्रकार का एसेंशियल ऑयल होता है. इसका इस्तेमाल कई तरह की शारीरिक व मानसिक समस्याओं को दूर करने के लिए किया जा सकता है. यह तेल पाचन तंत्र में गड़बड़ी, डिप्रेशन, घाव व स्किन संबंधी समस्याओं को दूर करने में प्रभावी हो सकता है. वहीं, अधिक मात्रा में या फिर कुछ स्थितियों में कैमोमाइल तेल के नुकसान भी हो सकते हैं.

आज हम इस लेख में कैमोमाइल तेल के फायदे, नुकसान और इस्तेमाल करने के तरीके के बारे में जानेंगे -

(और पढ़ें - सरसों के तेल के फायदे)

  1. कैमोमाइल तेल के फायदे
  2. कैमोमाइल तेल का उपयोग कैसे करें?
  3. कैमोमाइल तेल के नुकसान
  4. सारांश
कैमोमाइल तेल के फायदे व नुकसान के डॉक्टर

कैमोमाइल तेल के इस्तेमाल से एंग्जाइटी डिसऑर्डर, स्ट्रेस, डिप्रेशन व स्किन की परेशानी को दूर किया जा सकता है. इसके अलावा, कैमोमाइल तेल के कई अन्य फायदे हो सकते हैं. आइए, इस बारे में जानते हैं -

पाचन तंत्र के लिए असरदार

रिसर्च में देखा गया है कि कैमोमाइल तेल के इस्तेमाल से पाचन तंत्र को सुरक्षित रखा जा सकता है. इसके इस्तेमाल से दस्तअपच व भूख न लगने की परेशानियों को दूर किया जा सकता है. एक अध्ययन में देखा गया है कि जिन लोगों के पेट पर कैमोमाइल तेल को लगाया गया, उनकी भूख में सुधार हुआ. साथ ही इससे गैस की परेशानियों को भी कंट्रोल किया गया. इतना ही नहीं, कैमोमाइल का तेल पेट में होने वाली ऐंठन जैसी स्थितियों को भी ठीक करने में कारगर है.

(और पढ़ें - क्षार तेल के फायदे)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को सेक्स समस्याओं के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Long Time Capsule
₹719  ₹799  10% छूट
खरीदें

घाव भरने में प्रभावी

कैमोमाइल ऑयल में मौजूद गुण घाव को भरने में प्रभावी हो सकते हैं. इस तेल में एंटीमाइक्रोबियल गुण पाया जाता है, जो घाव को जल्दी भर सकता है. रिसर्च में देखा गया है कि टेट्रासाइक्लिन (Tetracycline) ऑइंटमेंट और प्लेसिबो (Placebo) की तुलना में कैमोमाइल ऑयल तेजी से घाव को भर सकता है.

(और पढ़ें - वनस्पति तेल के फायदे)

जनरलाइज्ड एंग्जाइटी डिसऑर्डर

रिसर्च में देखा गया है कि कैमोमाइल तेल के इस्तेमाल से जनरलाइज्ड एंग्जाइटी डिसऑर्डर को कम किया जा सकता है. दअरसल, कैमोमाइल ऑयल थेरेपी लेने से सुबह के समय कोर्टिसोल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है. दरअसल, सुबह के समय कोर्टिसोल का स्तर नियंत्रित रहने से एंग्जाइटी का स्तर कम हो सकता है. ऐसे में यह तेल जनरलाइज्ड एंग्जाइटी डिसऑर्डर को कम करने में मददगार हो सकता है.

(और पढ़ें - जिरेनियम तेल के फायदे)

अवसाद करे कम

कैमोमाइल ऑयल को उपयोग करने से अवसाद को कम किया जा सकता है. अध्ययन में भी देखा गया है कि डिप्रेशन से ग्रसित लोगों को मौखिक रूप से जर्मन कैमोमाइल का अर्क दिया गया. इसके इस्तेमाल से स्ट्रेस और डिप्रेशन में कमी आई. ध्यान रखें कि कैमोमाइल अर्क का इस्तेमाल मौखिक रूप से किया जा सकता है, लेकिन कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल अरोमा थेरेपी के रूप में ही करना चाहिए.

(और पढ़ें - बिल्व तेल के फायदे)

त्वचा के लिए फायदेमंद

स्किन संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए कैमोमाइल तेल का इस्तेमाल ज्यादा किया जाता है. यह स्किन की सूजनरैशेज व खुजली इत्यादि को कम करने में प्रभावी हो सकता है. खासतौर पर एलर्जी से जुड़ी परेशानी होने पर इसका प्रयोग करना फायदेमंद हो सकता है.

(और पढ़ें - गेहूं के तेल के फायदे)

दर्द निवारक गुणों से भरपूर

क्रोनिक ऑस्टियोआर्थराइटिस के इलाज के लिए कैमोमाइल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं. रिसर्च में देखा गया है कि कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल में दर्द निवारक गुण होता है, जो दर्द और सूजन को कम करने में प्रभावी हो सकता है.

(और पढ़ें - महुआ के तेल के फायदे)

घर में कैमोमाइल तेल का इस्तेमाल कई तरीकों से किया जा सकता है, लेकिन इसका इस्तेमाल करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें. ऐसा करने से इससे होने वाली किसी भी तरह की परेशानियों को रोका जा सकता है -

  • डिफ्यूजर - इस तेल का इस्तेमाल डिफ्यूजर में डालकर किया जा सकता है. इस तेल की खुशबू आपके मस्तिष्क को शांत कर सकती है. साथ ही इससे चिंता व तनाव का स्तर कम हो सकता है.
  • स्प्रे के रूप में - कैमोमाइल तेल का इस्तेमाल स्प्रे के तौर पर भी कर सकते हैं. इसके लिए कैमोमाइल तेल में थोड़ा-सा पानी मिक्स करके स्प्रे बोतल में भरकर रख लें. अब जरूरत पड़ने पर इस तेल का इस्तेमाल करें. इससे आपको काफी लाभ होगा.

इसके अलावा, लोशन, क्रीम व ऑयल बाथ इत्यादि रूप में भी इस तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है.

(और पढ़ें - सांडा के तेल के फायदे)

कैमोमाइल तेल का इस्तेमाल किसी एक्सपर्ट की सलाह पर ही करें. ध्यान रखें कि इस तेल का इस्तेमाल मौखिक रूप से नहीं किया जा सकता है. इसमें कुछ टॉक्सिक एजेंट भी हो सकते हैं, जिससे शरीर को नुकसान हो सकता है. आइए जानते हैं कि कैमोमाइल तेल से क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं -

त्वचा पर जलन

कैमोमाइल एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करने से स्किन पर जलन की परेशानी हो सकती है. खासतौर पर सेंसिटिव स्किन वाले लोगों को इस तरह की समस्या होने की आशंका अधिक होती है. इसलिए, चेहरे पर इस तेल का इस्तेमाल करने से पहले पैच टेस्ट जरूर करें. अगर पैच टेस्ट के दौरान किसी तरह की खुजली, रैशेज व जलन इत्यादि महसूस हो, तो इसे इस्तेमाल न करें.

(और पढ़ें - कुसुम तेल के फायदे)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Kesh Art Hair Oil बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने 1 लाख से अधिक लोगों को बालों से जुड़ी कई समस्याओं (बालों का झड़ना, सफेद बाल और डैंड्रफ) के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।
Bhringraj Hair Oil
₹599  ₹850  29% छूट
खरीदें

एलर्जी होने की आशंका

कुछ लोगों को कैमोमाइल तेल के इस्तेमाल से एलर्जी हो सकती है. इसकी वजह से सांस लेने में परेशानीगले में सूजनखांसी या घरघराहटसीने में जकड़नदस्त व उल्टी जैसी परेशानी हो सकती है.

(और पढ़ें - मकई के तेल के फायदे)

दवाओं के साथ रिएक्शन

साइक्लोस्पोरिन और वार्फरिन जैसी दवाओं के साथ कैमोमाइल को लेने से गलत असर हो सकता है. इसलिए, अगर कोई ये दवाएं ले रहा है, तो उसे डॉक्टर से पूछकर ही कैमोमाइल को इस्तेमाल करना चाहिए.

ध्यान रखें कि गर्भवती या स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इस तेल का इस्तेमाल करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह लेनी चाहिए, ताकि इससे होने वाली किसी भी तरह की समस्या से बचा जा सके.

(और पढ़ें - मोरिंगा के तेल के फायदे)

कैमोमाइल तेल स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है. यह स्किन से लेकर मानसिक समस्याओं को दूर करने में प्रभावी है. बस ध्यान रखें कि कुछ लोगों को इससे एलर्जी की समस्या हो सकती है. ऐसे में एक्सपर्ट की सलाह पर ही इसका इस्तेमाल करें. वहीं, गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए.

(और पढ़ें - अदरक के तेल के फायदे)

Dr Prashant Kumar

Dr Prashant Kumar

आयुर्वेद
2 वर्षों का अनुभव

Dr Rudra Gosai

Dr Rudra Gosai

आयुर्वेद
1 वर्षों का अनुभव

Dr Bhawna

Dr Bhawna

आयुर्वेद
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Padam Dixit

Dr. Padam Dixit

आयुर्वेद
10 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ