myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मोरिंगा का तेल भारत, बांग्लादेश और अफगानिस्तान में मुख्य रूप से उपयोग किया जाता है, जिसे आम तौर पर ड्रमस्टिक पेड़ के नाम से जाना जाता है। इसका वैज्ञानिक नाम मोरिंगा ओलीफेरा (Moringa oleifera) है। यह पेड़ दुनिया भर में सांस्कृतिक और औषधीय रूप से उपयोग किया जाता है।

मोरिंगा के पेड़ में छाल, पत्तियां, फल और बीज होते हैं जिनका उपयोग नेचुरल हेल्थ प्रैक्टिस के लिए किया जा सकता है। लेकिन इसकी जड़ का अर्क जहरीला हो सकता हैं। मोरिंगा का तेल आमतौर पर कोल्ड प्रेस प्रक्रिया के माध्यम से तैयार किया जाता है।

  1. मोरिंगा के तेल के फायदे - Moringa ke oil ke fayde
  2. सहजन के तेल के नुकसान - Moringa ke oil ke nuksan

मोरिंगा तेल में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने, सूजन को खत्म करने, त्वचा को मॉइस्चराइज करने, प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करने और ब्लड प्रेशर को कम करने के गुण होते हैं। यह शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है। इसके अलावा यह तेल बढ़ती उम्र को धीमा करने, जल्दी इलाज करने, डैंड्रफ से लड़ने और अच्छी नींद में मदद करता है।

(और पढ़ें - अच्छी नींद लाने के उपाय)

जो लोग हाई ब्लड प्रेशर, नींद की समस्या, विषाक्तता, ड्राई स्किन, छालरोग, एक्जिमा, डैंड्रफ, घाव, कट्स, स्क्रैप, गठिया, समय से पहले बढ़ती उम्र, झुर्रियां और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से पीड़ित हैं, उन्हें पर्याप्त मात्रा में इस तेल का इस्तेमाल करना चाहिए।

मोरिंगा तेल में अद्भुत पोषक तत्व पाए जाते हैं। इसमें विटामिन सी और विटामिन बी की भरपूर मात्रा पाई जाती है। साथ ही साथ इसमें मोनोअनसैचुरेटेड फैट और कुछ सैचुरेटेड फैट की भी काफी अच्छी मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा इसमें ओलेइक एसिड (ओमेगा-9), बीनिक एसिड और डोकोसैनिक एसिड भी पाए जाते हैं।  तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में:

  1. मोरिंगा आयल बेनिफिट्स फॉर स्किन इन हिंदी - Moringa oil benefits for skin in hindi
  2. सहजन के तेल के फायदे एंटी एजिंग के लिए - Moringa ke oil ke fayde antiaging ke liye
  3. सहजन के तेल के लाभ हैं घाव भरने में उपयोगी - Sahajan ke oil ke labh hain ghav bharne mein upyogi
  4. सहजन के तेल के गुण रखें इम्युनिटी को मजबूत - Moringa ke oil ke gun rakhe immunity ko majboot
  5. सहजन के तेल के फायदे बनाएं पाचन को स्वस्थ - Sahajan ke tel ke fayde banayen paachan ko swasth
  6. मोरिंगा के तेल के लाभ रखें ब्लड प्रेशर को नियंत्रित - Moringa ke oil ke labh rakhe blood pressure ko niyntrit
  7. सहजन के तेल का सेवन बचाएं सूजन से - Moringa ke oil ka sewan bachayen sujan se
  8. सहजन के तेल का सेवन बनाएं बालों को मजबूत - Sahajan ke oil ka sewan banayen baalon ko majboot
  9. सहजन के तेल का उपयोग करें नींद के लिए - Sahjan ke oil ka upyog kare nind ke liye
  10. मोरिंगा के तेल का इस्तेमाल बनाएं हड्डियों को मजबूत - Moring ke oil ka istemal banayen haddiyon ko majboot

मोरिंगा आयल बेनिफिट्स फॉर स्किन इन हिंदी - Moringa oil benefits for skin in hindi

मोरिंगा के तेल में त्वचा को शांत और मॉइस्चराइज करने वाले गुण होते हैं। इसलिए त्वचा पर मोरिंगा का तेल लगाने से, त्वचा को मॉइस्चराइज करने में मदद मिलती है। यह त्वचा की नमी को बरकरार रखने में मदद कर सकता है। यह तेल एक शुद्ध पदार्थ है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो पर्यावरण और एलर्जी से जुड़े पदार्थों के साथ-साथ बाहरी तत्वों के खिलाफ त्वचा की रक्षा करने में मदद करते हैं। इस तेल में मौजूद बीनेनिक एसिड त्वचा को क्षति से बचाने में मदद करता है।

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल कैसे करें)

सहजन के तेल के फायदे एंटी एजिंग के लिए - Moringa ke oil ke fayde antiaging ke liye

यह तेल एंटी एजिंग गुणों से भरपूर होने के कारण बढ़ती उम्र के लक्षणों को दूर करने में भी मदद करता है। यह झुर्रियों को हटाने के साथ साथ चेहरे की त्वचा को लटकने से भी रोकने में मदद करता है। यह एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होने के कारण, बुढ़ापे की प्रक्रिया को धीमा करता है और मुक्त कणों को ख़त्म करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - एजिंग के लक्षण कम करने के उपाय)

सहजन के तेल के लाभ हैं घाव भरने में उपयोगी - Sahajan ke oil ke labh hain ghav bharne mein upyogi

किसी भी प्रकार की खरोंच, घाव या चोट का इलाज करने के लिए आप मोरिंगा तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उस जगह पर रक्त प्रवाह को प्रभावित करता है, साथ ही घाव को संक्रमण से बचाने में मदद करता है। यह तेल फंगल संक्रमण या मुंहासे के घावों को ठीक करने में भी मदद कर सकता है, जो धूल और तेल से संक्रमित या बढ़ सकते हैं.

मोरिंगा के तेल में एंटीसेप्टिक और सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं। यह स्किन रशेस और यहां तक कि जलने (burn) का इलाज करने में भी मदद करता है।

(और पढ़ें - घाव भरने के घरेलू उपाय)

सहजन के तेल के गुण रखें इम्युनिटी को मजबूत - Moringa ke oil ke gun rakhe immunity ko majboot

मोरिंगा के तेल में ओमेगा-9 फैटी एसिड, विटामिन सी और विटामिन ई जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं, जो मुक्त कणों को खोज कर ख़त्म करने में मदद करते हैं। यह अंगों की अतिरिक्त सूजन और तनाव से बचाने में मदद करता है। ये पोषक तत्व हृदय स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होते हैं तथा इनमें में सूजन को कम करने और एंटीऑक्सीडेंट वाले गुण होते हैं। इसलिए यह इम्युनिटी को मजबूत करने में बहुत ही लाभकारी है। इसमें मौजूद विटामिन सी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत और विटामिन ई त्वचा की रक्षा करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय)

सहजन के तेल के फायदे बनाएं पाचन को स्वस्थ - Sahajan ke tel ke fayde banayen paachan ko swasth

सहजन का तेल पेट दर्द और अल्सर के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। यह पाचन को स्वस्थ रखने में बहुत ही लाभकारी है। इस तेल में पाए जाने वाले सक्रिय यौगिक और एंटीऑक्सीडेंट, पेट की सूजन को कम करने, बैक्टीरिया के स्तर को संतुलित करने और पाचन को बेहतर रखने में मदद कर सकते हैं। इस तेल के सेवन से एसिडिटी और उससे जुड़ी समस्याओं को दूर करने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें - पाचन शक्ति बढ़ाने के उपाय

मोरिंगा के तेल के लाभ रखें ब्लड प्रेशर को नियंत्रित - Moringa ke oil ke labh rakhe blood pressure ko niyntrit

ओमेगा-9 फैटी एसिड में भरपूर होने के कारण, यह तेल ब्लड प्रेशर को कम करने मदद कर सकता है. यह तेल परिसंचरण को बढ़ाने और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में लाभकारी है। मोरिंगा का तेल एथेरोस्क्लेरोसिस, हार्ट अटैक और स्ट्रोक के जोखिम को कम करके ह्रदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है। मोरिंगा के तेल में बीरेनिक एसिड भी पाया जाता है। यह एक सैचुरेटेड फैट है, जो कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम को नुकसान पहुंचा सकता है। इसलिए इस तेल को सीमित मात्रा में उपयोग करें।

(और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)

सहजन के तेल का सेवन बचाएं सूजन से - Moringa ke oil ka sewan bachayen sujan se

यदि आप नियमित रूप से गठिया, सिरदर्द, मांसपेशियों के दर्द, थकान या जोड़ों के किसी भी प्रकार के विकार से पीड़ित हैं, तो आपको मोरिंगा तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। इस तेल में सूजन को कम करने वाले गुण होते हैं। यह तेल ऊतकों की सूजन को कम और दर्द को खत्म कर सकता है, जिससे खतरनाक और गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को रोकने में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें - गठिया में क्या खाना चाहिए)

सहजन के तेल का सेवन बनाएं बालों को मजबूत - Sahajan ke oil ka sewan banayen baalon ko majboot

मोरिंगा तेल बालों के झड़ने को कम करने में मदद कर सकता है। इस तेल में शांत करने वाले, एंटीऑक्सीडेंट और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं, जो खोपड़ी की रक्षा करने में लाभकारी होते हैं। इसके अलावा ये गुण स्कैल्प को मॉइस्चराइज करते हैं जिससे डैंड्रफ़ को कम या ख़त्म किया जा सकें।

(और पढ़ें - बालों के झड़ने का कारण)

यदि आप नियमित रूप से बालों पर मोरिंगा तेल का उपयोग करते हैं, तो यह तेल बालों को मजबूत करने में मदद कर सकता है। यह बालों के रोम को महत्वपूर्ण खनिज और विटामिन प्रदान करके, बालों को मजबूत करता है।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के तरीके)

सहजन के तेल का उपयोग करें नींद के लिए - Sahjan ke oil ka upyog kare nind ke liye

जिन लोगों को अक्सर सोने की समस्या होती है, तो उन्हें अच्छी नींद के लिए मोरिंगा तेल का उपयोग करना चाहिए। इस तेल में मौजूद बीनेनिक एसिड शरीर को आराम पहुंचाने में मदद करता है, जबकि अन्य सक्रिय यौगिक मांसपेशियों को आराम देने और शांत करने में मदद कर सकते हैं। इस तेल का उपयोग अरोमाथेरेपी में किया जा सकता है। इसके अलावा दर्द को दूर करने वाले गुणों के कारण, इसे छाती या माथे पर भी लगाया जा सकता है।

इसलिए मोरिंगा तेल अनिद्रा वाले लोगों के लिए एक बहुत ही अच्छा इलाज है। यह अच्छी नींद के साथ साथ ब्लड प्रेशर को नियंत्रित रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - रात को जल्दी सोने के लाभ)

मोरिंगा के तेल का इस्तेमाल बनाएं हड्डियों को मजबूत - Moring ke oil ka istemal banayen haddiyon ko majboot

इन सब लाभों के अलावा, मोरिंगा के तेल में हड्डियों को पोषण देने और मजबूत करने वाले गुण भी होते हैं। यह तंत्रिका तंत्र को शांत करता है और साथ ही शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बनाने में मदद करता है। इसलिए यदि आप अपनी हड्डियों को मजबूत रखना चाहते हैं, तो आज से ही सीमित मात्रा में इस तेल का सेवन शुरू कर दें।

(और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के उपाय)

मोरिंगा तेल के उपयोग से कुछ प्रकार के नुकसान हो सकते हैं जैसे त्वचा की जलन, हृदय से जुड़ी परेशानी और पेट की समस्याएं। गर्भवती महिलाओं को इस तेल के उपयोग से बचना चाहिए या उपयोग से पहले अपने डॉक्टर से सलाह लें।

(और पढ़ें - हृदय रोग का उपचार)

ओमेगा-9 फैटी एसिड ब्लड प्रेशर को कम कर सकता है। लेकिन यदि आप पहले से ही ब्लड प्रेशर कम करने वाली दवा नहीं ले रहे हैं, तो आपको इसके सेवन से बचना चाहिए।

मोरिंगा तेल का सेवन सीमित मात्रा में ही सुरक्षित माना जाता है। इसके अधिक उपयोग से पेट फूलना, सूजन, क्रैम्पिंग या दस्त जैसी आंत या पेट की परेशानी हो सकती है।

(और पढ़ें - सूजन कम करने का तरीका)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Himalaya Rumalaya TabletsHimalaya Rumalaya Tablets96
और पढ़ें ...