myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मजबूत दांत से न सिर्फ आपकी हंसी सुंदर लगती है, बल्कि यह मुँह के स्वस्थ होने का भी प्रतीक है। मुँह को स्वच्छ रहने से कैविटी से बचाव होता है और दांत पीले भी नहीं होते व मुंह की बदबू भी नहीं आती।

कुछ शोध से पता चला है कि मुँह से संबंधित समस्याओं के कारण कई अन्य स्वास्थ्य समस्याएं भी होती हैं जैसे हृदय रोग, स्ट्रोक, मल त्याग में परेशानी, किडनी रोग, शुगर और मुंह का कैंसर। दांतों को मजबूत बनाने के लिए पूरे दिन में दो बार ब्रश जरूर करें। इसके अलावा इस लेख में हमने आपको दांत मजबूत करने के लिए कुछ घरेलू उपाय भी बताये हैं, जिनकी मदद से आप अपने दांत आसानी से मजबूत कर पाएंगे।

(और पढ़ें - दांत के मैल के लक्षण)

तो चलिए आपको बताते हैं दांतों को मजबूत बनाने के लिए कुछ घरेलू उपाय –

  1. दांतों को मजबूत करने के उपाय - Danto ko majboot karne ke upay
  2. दांत मजबूत करने के तरीके - Dant majboot karne ke tarike
  3. दांतों को मजबूत कैसे करे - Danto ko majboot kaise kare
  4. दांत मजबूत करने के लिए टिप्स - Dant majboot karne ke liye tips

दांतों को मजबूत बनाने के लिए आयल पुल्लिंग करें - Danto ko majboot banane ke liye oil pulling kare

आयल पुल्लिंग को आयल स्वीशिंग (Oil swishing) भी कहते हैं और यह बहुत ही पुराना आयुर्वेदिक उपाय है जो दांतों और मसूड़ों को मजबूत करने में मदद करता है। इस उपाय से दांतों में सड़न नहीं होती। आयल पुल्लिंग की प्रक्रिया न सिर्फ मुँह की अशुद्धियों को साफ करती है, बल्कि मुँह के बैक्टीरिया और हानिकारक कीटाणु को भी मारती है।

आयल पुल्लिंग कैसे करें -

सामग्री –

  1. दो बड़ी चम्मच तिल का तेल। (और पढ़ें - तिल के तेल)

बनाने व उपयोग करने का तरीका –

  1. सबसे पहले दो बड़ी चम्मच तिल का तेल मुँह में रखें।
  2. रखने के बाद 20 मिनट तक तेल को मुँह में घुमाते रहें।
  3. अब तेल को थूक दें।
  4. थूकने के बाद मुँह में गुनगुना पानी लें और फिर कुल्ला करें।
  5. मुँह के बैक्टीरिया को मारने के लिए आप पानी में नमक को भी मिला सकते हैं।
  6. अब दांतों को ब्रश करें।
  7. इस उपाय को रोजाना सुबह खाली पेट जरूर दोहराएं।
  8. आप आयल पुल्लिंग के लिए नारियल के तेल का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

नोट - तिल के तेल से न ही गरारे करें और न ही तेल को निगलने की कोशिश करें।

(और पढ़ें - दांतों का पीलापन दूर करने के उपाय)

दांतों को मजबूत करने का तरीका है कैल्शियम और विटामिन डी - Danto ko majboot karne ka tarika hai calcium aur vitamin D

कैल्शियम और विटामिन डी शरीर की हड्डियों और दांत को मजबूत रखने में मदद करते हैं। इनकी कमी से दांतों के स्वास्थ्य पर असर पड़ता है, इससे दांत कमजोर और आसानी से हिलने भी लगते हैं। कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर डाइट खाने से शरीर में इनकी कमी नहीं होती और दांत व हड्डियां को भी नुकसान नहीं पहुँचता। यह शोध में भी साबित हो चूका है कि कैल्शियम और विटामिन डी के सप्लीमेंट्स लेने से मुँह का स्वास्थ्य अच्छा होता है और दांत भी मजबूत होते हैं। आप इनके सप्लीमेंट्स अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ले सकते हैं।

(और पढ़ें - दांतों में झनझनाहट के लक्षण)

दांतों को मजबूत करने का उपाय है सरसों का तेल और नमक - Danto ko majboot karne ka upay hai sarso ka tel aur namak

नमक और सरसों का तेल दांतों को मजबूत करने में मदद करते हैं। रोजाना इस उपाय का उपयोग करने से कमजोर मसूड़ों का स्वास्थ्य अच्छा होगा और इससे आपके दांतों को भी मजबूती मिलेगी। नमक में एंटीसेप्टिक और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो मुँह के बैक्टीरिया को बढ़ने से रोकते हैं।

नमक और सरसों के तेल का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री –

  1. दो छोटे चम्मच नमक।
  2. तीन छोटे चम्मच सरसों का तेल। (और पढ़ें - सरसों के तेल के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका –

  1. सबसे पहले नमक और सरसों के तेल को एक साथ मिला लें।
  2. पेस्ट तैयार होने के बाद इसे उंगली पर लें और प्रभावित क्षेत्र पर लगाकर कुछ मिनट तक मसाज करना शुरू करें। 
  3. मसाज करने के बाद अपने मुँह में गर्म पानी रखें और एक मिनट तक उससे कुल्ला करें।
  4. इस उपाय को रोजाना पूरे दिन में एक से दो बार जरूर दोहराएं।

(और पढ़ें - दांतों का संक्रमण के लक्षण

दांत मजबूत करने का घरेलू उपाय है मुलेठी - Dant majboot karne ka gharelu upay hai mulethi

एक शोध के अनुसार मुलेठी की जड़ आपके दांतों और मसूड़ों को स्वस्थ रखने में मदद करती है। वैज्ञानिकों का कहना है कि मुलेठी में मौजूद दो घटक लिकोरीसीडिन (licoricidin) और लिकोरीसोफ्लैवन ए (licorisoflavan A) दांतों को खराब करने वाले बैक्टीरिया और मसूड़ों की बीमारी से लड़ने में मदद करते हैं। दांतों को ब्रश करने के लिए रोजाना मुलेठी के पाउडर का इस्तेमाल करें। इसके अलावा आप दांतों को ब्रश करने के लिए मुलेठी की लकड़ी का भी उपयोग कर सकते हैं।

(और पढ़ें - दांत दर्द के घरेलू उपाय)

तुलसी है दांतों को मजबूत करने का उपाय - Tulsi hai danto ko majboot karne ka upay

तुलसी आपके मुँह को स्वस्थ रखने में मदद करती है। यह मुँह को ताजा रखती है और मुँह के संक्रमण से बचाती है। इससे मुँह के कीटाणु और बैक्टीरिया कम होते हैं। यह बैक्टीरिया दांतों में कैविटी, प्लाक, मुँह में बदबू को बढाने काम करते हैं। साथ ही, इसके एस्ट्रिजेंट के गुण मसूड़ों को मजबूत बनाते हैं और इस तरह दांत कमजोर नहीं पड़ते।

तुलसी का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. मुट्ठीभर तुलसी की पत्तियां। (और पढ़ें - तुलसी के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले तुलसी की पत्तियों को धूप कुछ दिनों तक सुखाने के लिए रख दें।
  2. अब पत्तियों को मिक्सर में पीस लें।
  3. तुलसी की पत्तियों का पाउडर तैयार होने के बाद इसे दांतों को ब्रश करने के लिए इस्तेमाल करें।
  4. इसके अलावा आप रोजाना चार से पांच तुलसी की पत्तियों को भी चबा सकते हैं। साथ ही, तुलसी की चाय से भी कुल्ला कर सकते हैं।

(और पढ़ें - दांत में तार क्या है)

पुदीने से दांत मजबूत करें - Pudine se dant majboot kare

पुदीने में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक के गुण दांत व मसूड़ों को स्वस्थ बनाये रखने में मदद करते हैं  हैं। साथ ही, 2013 में किये गए एक शोध में पाया गया कि पुदीने का माउथवाश मुँह की बदबू की समस्या को कम करता है।  

पुदीने का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. मुट्ठीभर पुदीने की पत्तियां। (और पढ़ें - पुदीने के फायदे )
  2. एक ग्लास पानी।

बनाने व उपयोग करने का तरीका - 

  1. सबसे पहले मुट्ठीभर पुदीने की पत्तियों को पानी में डालें।
  2. अब मिश्रण को आधे घंटे के लिए गर्म कर लें।
  3. फिर मिश्रण को छान लें।
  4. अब इस पानी को मुँह में रखें और फिर कुछ मिनट तक कुल्ला करें।
  5. इस उपाय को रोजाना इसी तरह दोहराएं।
  6. इसके अलावा पुदीने के तेल की कुछ बूंदों को एक ग्लास पानी में डालकर भी कुल्ला कर सकते हैं।

(और पढ़ें - नकली दांत कैसे लगाये

दांत मजबूत करने के लिए आंवले का इस्तेमाल करें - Dant majboot karne ke liye anwle ka istemal kare

आंवला को आमला भी कहा जाता है, जो कि दांतों को स्वस्थ रखता है। आंवले में विटामिन सी और अन्य पोषक तत्व दांतों और कनेक्टिव टिशू (एक हड्डी को दूसरी हड्डी से या किसी मांसपेशी से जोड़ने वाले उत्तक) को मजबूत करते हैं, मुँह के बैक्टीरिया से लड़ते हैं और दांतों में सड़न बढने से बचाते हैं।

आंवला का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. दो छोटा चम्मच आंवला पाउडर। (और पढ़ें - आंवला के फायदे)
  2. आधा कप पानी।

बनाने व लगाने का तरीका - 

  1. सबसे पहले पाउडर को पानी में मिला लें और फिर इस मिश्रण से कुल्ला करें।
  2. इस प्रक्रिया को रोजाना पूरे दिन में एक बार जरूर दोहराएं।
  3. इसके अलावा आप रोजाना आंवला का फल भी खा सकते हैं।

 (और पढ़ें - मसूड़ों की सूजन)

दांत मजबूत करने में फ्लॉस करे मदद - Dant majboot karne me floss kare madad

लोग सोचते हैं सिर्फ दांतों को ब्रश करना ही काफी है और इस वजह से वो फ्लॉसिंग करना भूल जाते हैं। हालांकि यह धारणा गलत है जिसे बदलना बेहद जरूरी है। ब्रश दांतों के बीच में नहीं पहुँच पाता, इस वजह से आपके दांतों में मैल और खाने के कण फंसे रह जाते हैं। फ्लॉसिंग की प्रक्रिया बहुत ही अच्छे तरीके से आपके दांतों के बीच के मैल को साफ करने में मदद करती है। रोजाना सुबह और रात को सोने से पहले फ्लॉसिंग जरूर करें।

(और पढ़ें - मसूड़ों में सूजन के घरेलू उपाय)

दांत मजबूत करने के लिए डाइट में बदलाव लायें और ज्यादा से ज्यादा पानी पियें - Dant majboot karne ke liye diet me badlav laye aur jyada se jyada pani piye

पानी की मदद से मुँह में मौजूद खाने के कण और बैक्टीरिया साफ हो जाते हैं। पानी एसिडिटी को कम करता है। एसिडिटी के कारण दांतों की ऊपरी परत हट सकती है और दांत कमजोर पड़ सकते हैं। इसे अपनी एक आदत बना लें कि जब भी आप खाना खाएं तो मुँह को पानी से साफ जरूर करें, इससे दांतों में फंसा हुआ खाने का टुकड़ा पानी की मदद से आसानी से निकल जाएगा।

(और पढ़ें - पानी कब और कैसे पीना चाहिए)

इसके अलावा दांतों को मजबूत करने के लिए पोषण से भरपूर आहार खाएं। रोजाना संतुलित आहार लें जिसमें फल, सब्जियां और डेयरी प्रोडक्ट शामिल हो। दांतों को मजबूत करने के लिए कैल्शियम, विटामिन डी और फास्फोरस से समृद्ध आहार खाएं। 

(और पढ़ें - संतुलित आहार)

दांत मजबूत करने का तरीका है ग्रीन टी - Dant majboot karne ka tarika hai green tea

एक शोध में पाया गया कि ग्रीन टी मुँह के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही बेहतरीन उपाय है। इसमें फ्लोराइड, पॉलीफेनाल्स और केटेकिंस होते हैं जो बैक्टीरिया को मारते हैं। इन बैक्टीरिया के कारण दांतों में सड़न, कैविटी और मसूड़ों की बीमारी होने लगती है। इसको पीने से मुँह में बदबू भी नहीं आती। रोजाना पूरे दिन में दो से तीन बार ग्रीन टी जरूर पियें। मुँह के स्वास्थ्य और दांतों को मजबूत बनाने के लिए आप चीनी या शहद को बिना मिलाये भी ग्रीन टी पी सकते हैं।

 

दांत मजबूत करने के लिए टिप्स इस प्रकार हैं -

  1. हर दो से तीन महीने में अपना टूथब्रश जरूर बदलें।
  2. बैक्टीरिया को साफ करने के लिए ऐसे माउथवाश का इस्तेमाल करें, जिसमें अल्कोहल की मात्रा न हो।
  3. अपनी जीभ को पूरे दिन में एक बार टंग स्क्रेपर (tongue scraper - जीभ को साफ करने के लिए उपकरण) से साफ करें। इससे जीभ में मौजूद बैक्टीरिया और विषाक्त पदार्थ आसानी से साफ हो जाएंगे और मुँह की बदबू से भी छुटकारा मिलेगा।
  4. मुँह को स्वस्थ बनाये रखने के लिए चीनी से समृद्ध आहार न खाएं।
  5. कोई भी बोतल या किसी भी चीज को खोलने के लिए दांतों का इस्तेमाल न करें।
  6. खाना खाने के बाद गुनगुने पानी से कुल्ला करें।
  7. धूम्रपान या तम्बाकू का सेवन न करें।
  8. खाना खाने के बाद क्रंची फल और सब्जियां खाएं जैसे अमरूद, सेब, गाजर या खीरा
  9. दांतों को मजबूत करने के लिए हर छः महीने में चेकअप जरूर कराएं।
  10. डॉक्टर से सलाह लेने के बाद विटामिन डी के सप्लीमेंट्स लें।  
और पढ़ें ...