myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

हम में से सभी लोग प्राकृतिक रूप से अपनी रंगत निखारने के बारे में सोचते हैं। खास तौर से सोशल मीडिया के युग में अपीयरेंस बहुत अधिक मायने रखने लगी है। ऐसे में हर कोई अच्छा दिखना चाहता है। एकदम सही दिखने की यह दौड़ न केवल महिलाओं में है बल्कि पुरुष भी इसके शिकार हैं। ऐसे में हर साल सौंदर्य प्रसाधनों पर लाखों रुपए खर्च किए जाते हैं और साथ ही तरह-तरह का स्कीन ट्रीटमेंट लिया जाता है, ताकि सुंदर और स्वच्छ त्वचा बरकरार रखी जा सके। आपको बता दें कि यह सौंदर्य उत्पाद काफी सारे साइड इफेक्ट भी करते हैं। 

(और पढ़े - दमकती त्वचा के लिए फेस पैक)

ऐसे में घरेलू उपायों और प्राकृतिक चीजों को उपयोग करना ही बेहतर होता है। भले ही इनका प्रभाव आपको तुरंत देखने को न मिलें लेकिन लगातार प्रयोग किए जाने पर ये आपकी त्वचा को एक चमक देते हैं और उसे भांति भांति की झाइयों या दागों से मुक्त करते हैं। साथ ही कोई साइड इफेक्ट भी नहीं छोड़ते।

(और पढ़े - झाइयों और काले दाग धब्बों के प्रकार)

इस लेख में हम कुछ बहुउपयोगी घरेलू उपायों के बारे में बात करेंगे जो कि बिना त्वचा को नुकसान पहुंचाएं आपकी रंगत निखारते हैं। हालांकि इससे पहले हम यह जानेंगे कि सांवलेपन और पिगमेंटेशन को कम करके त्वचा की देखभाल कैसे की जाएं।

(और पढ़े - दाग से छुटकारे का घरेलू नुस्खा)

  1. कैसे करें त्वचा की देखभाल - How to take care of skin
  2. त्वचा का रंग हल्का करने के लिए घरेलू उपाय - Home remedies for skin tone lightening
  3. अपनी त्वचा साफ करने के लिए कच्चा आलू - Potato for skin whitening
  4. त्वचा का रंग हल्का करने के लिए एलोवेरा जैल - Aloe vera gel for skin whitening
  5. त्वचा का रंग हल्का करने के लिए पपीता - Papaya for skin tone lightening
  6. चेहरे की रंगत निखारने के लिए हल्दी - Turmeric for skin tone whitening
  7. त्वचा का रंग हल्का करने के लिए करें नींबू का इस्तेमाल - Use lemon for skin tone lightening
  8. स्किन का रंग बेहतर करने के लिए उपयोगी टिप - Tips for whitening your skin shed

हर एक का अपना त्वचा का रंग होता है जो गर्मी, प्रदूषण आदि के चलते काला पड़ जाता है। इसके लिए आपको त्वचा की क्लिनिंग, टोनिंग और मोइश्चराइजिंग करनी चाहिए। इसके लिए आपको नियमित तौर पर डेड स्कीन हटानी चाहिए ताकि नई और फ्रेश त्वचा ही ऊपर आएं। हम आपको बताते हैं कि प्रतिदिन आप क्या प्रक्रिया करके अपनी त्वचा को साफ –सुथरी और सुंदर बनाए रख सकते हैं।

क्लिंजिंग:

त्वचा को सेहतमंद रखने का पहला और सबसे महत्वपूर्ण कदम है कि नियमित तौर पर त्वचा की साफ सफाई की जाए। क्लिंजिंग से चेहरे पर जमी धूल और तेल हट जाता है। यह गंदगी और तेल त्वचा के रोमछिद्रो को बंद कर देते हैं। जिससे कि पिंपल जैसी कई दिक्कतें हो जाती है। ये दिक्कतें आगे चलकर  त्वचा पर निशान छोड़ देती हैं।  (और पढ़े - मुंहासे हटाने के घरेलू उपाय)

ऐसे में प्रतिदिन अपनी त्वचा को दिन में दो बार साफ करना न भूलें। एक बार सुबह और एक बार अपने प्रतिदिन के काम खत्म करके शाम के समय त्वचा को साफ करें। ध्यान दें कि त्वचा कोमल होती है ऐसे में बिना केमिकल्स वाले साबुन चुनें और धीमें-धीमें इसे अपनी त्वचा पर अप्लाई करें।

बाद में अपना चेहरा ठीक से धो लें। चेहरा ठीक से कैसे धोया जाए उसका तरीका हम आपको यहां समझा रहे हैं।

  • अपने चेहरे पर ताजा पानी उलीचे।
  • अपनी उंगलियों पर थोड़ा सा फेसवॉश लें।
  • अपने चेहरे पर सर्कल बनाते हुए अपनी उंगलियों के पोरों को चेहरे पर घुमाएं।
  • हर जगह रगड़े ताकि मिट्टी और तेल निकल जाए।
  • इस प्रक्रिया को तीन से पांच मिनट तक दोहराएं।
  • अब अपने चेहरे को धो लें और सूती नरम टॉवेल से पोंछ लें।

नोट:

आप किसी भी मेकअप को साफ करने के लिए फेशियल क्लींजर का इस्तेमाल कर सकते हैं। चूंकि मेकअप साधारण फेस वॉश या साबुन से साफ नहीं होता। हालांकि क्लींजिग करते हुए अपनी त्वचा को बहुत अधिक न रगड़े। साबुन या फेसवॉश से धीमे मालिश करना भी पर्याप्त होता है।

एक्स्फोलीऐशन:

रेगुलर क्लींजिंग न केवल गंदगी को हटाता है बल्कि प्रदूषण को भी हटाता है लेकिन यदि आपको डेड स्कीन सल्ल यानि मृत त्वचा अवशेषों को हटाना है तो एक्स्फोलीऐशन काम आता है। इसका तात्पर्य त्वचा की खाल हटाने से है। आप बाजार से कोई भी अच्छा एक्स्फोलीअंट ले लें या इसका ब्रश ले लें। अब धीरे –धीरे अपनी त्वचा पर रगड़े। याद रखें कि अधिक तेज रगड़ने पर त्वचा रूखी हो सकती है। यदि फिर भी आपको समझ नहीं आता है तो किसी अच्छे ब्यूटी सैलून में जाएं। इस क्रिया को सप्ताह में एक दो बार दोहराएं।

एक्स्फोलीअंट काफी सस्ते आते हैं और आप इन्हें आसानी से बाजार से खरीद सकते हैं। इसके अलावा आप घर पर ही स्क्रब बना सकते हैं जिससे त्वचा की घर ही पर मालिश कर ली जाए।

आवश्यक सामग्री:

कैसे करें:

  • साफ कटोरे में थोड़ा कॉफी पाउडर लें।
  • इसमें ग्लिसरीन की कुछ बूंदे मिलाएं।
  • इन्हें अच्छे से मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर लें।
  • अब आप इस पेस्ट को बतौर एक्स्फोलीअंट इस्तेमाल कर सकते हैं और इससे अपना चेहरा साफ कर सकते हैं।

टिप:

  • अगर आपकी ड्राइ स्किन है तो आप ग्लिसरीन की जगह नारियल तेल का भी प्रयोग कर सकते हैं।

टोनिंग:

त्वचा को फिर से युवा बनाने के लिए टोनिंग एक महत्वपूर्ण कदम है। यह त्वचा पर शीतल असर करता है। साथ ही त्वचा की कोशिकाओं को पोषण प्रदान करता है। इससे त्वचा की रंगत बेहतर होती है। अगर आप त्वचा का रंग हल्का करने के लिए टोनर में कोई विकल्प तलाश रहे हैं तो विटामिन सी आधारित टोनर बेहतर विकल्प हो सकता है। यह विटामिन त्वचा का रंग हल्का करता है और उसकी लोचता बढ़ाता है।

अगली बार बाजार जाने पर यदि आपको टोनर खरीदना हो तो उसमें मोजूद अवयवों पर गौर करें। इसके अलावा आप अपना टोनर घर ही पर बना सकते हैं। यह बाजार के उत्पादों की तरह हानिकारक नहीं होता। यहां हम आपको घर ही पर देशी ढंग से टोनर बनाने की विधी बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री:

कैसे बनाएं:

  • ताजे नींबू को एक स्प्रे की बोतल में निचोड़ कर रख लें।
  • इसे पतला करने के लिए इसमें कुछ पानी मिलाएं।
  • अब इसमें एक चम्मच एलोवेरा जेल मिलाएं।
  • अच्छे से इन सभी सामग्रियों को आपस में मिला लें।
  • तैयार होने के बाद इसे समान रूप से फैलाते हुए अपने पूरे चेहरे पर लगा लें।
  • यह लगाने के बाद आपको चेहरा धोने की कोई आवश्यकता नहीं है।
  • इस घोल को आप एक सप्ताह के लिए संरक्षित करके रख सकते हैं।

टिप:

इसे लगाने से पहले अपना चेहरा अच्छी तरह धोना न भूलें।

मोइश्चराइजर:

पोषण के साथ आपकी त्वचा को नमी और पानी की भी आवश्यकता होती है। ऐसे में त्वचा को नियमित रूप से मोइश्चराइज किया जाना जरूरी है खास तौर से यदि आपकी स्किन ड्राई है। किसी मुलायम मोइश्चराइजर से मालिश करें या फिर हम यहां आपको घर ही पर मोइश्चराइजर तैयार करने के साधन बता रहे हैं। इस विधी से तैयार मोइश्चराइजर से आप अपनी मालिश करके त्वचा को पोषण दे सकते हैं। तो आईए जानते हैं किन किन विकल्पों को हम बतौर मोइश्चराइजर काम ले सकते हैं।

अगर आपकी त्वचा बहुत ही रुखी है तो नारियल के तेल का इस्तेमाल करना सबसे बेहतर है। यह आपकी त्वचा को अंदर से पोषण देकर मुलायम बनाता है। अगर आपकी त्वचा ऑयली है तो शहद या एलोवेरा जेल अच्छे विकल्प हैं। अन्य विकल्प आपकी त्वचा को बहुत अधिक चिकना बना देते हैं।  इन सब विकल्पों का प्रयोग करते हुए अपनी त्वचा की बेहतर मालिश करें। इससे त्वचा में रक्त प्रवाह बढ़ेगा और स्किन की हेल्थ बेहतर होगी।

आपकी त्वचा का रंग आपके अनुवांशिक गुणों पर आधारित है। अगर आपने एकदम सफेद त्वचा के साथ जन्म नहीं लिया है तो आप उपायों से इसे कतई हासिल नहीं कर सकते। हालांकि इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपनी त्वचा के विकार ठीक कर ही नहीं सकते। सही उपायों से न केवल आपकी त्वचा का रंग हल्का ही होता है बल्कि पिगमेंटेशन भी ठीक बनता है। सही उपचारों का उपयोग करके आप न केवल त्वचा की सफाई कर सकते हैं, बल्कि इसे गोरी भी कर सकते हैं।

त्वचा के लिए आलू एक चमत्कारी चीज है। यह त्वचा को न केवल साफ करता है बल्कि चेहरे पर जमी गंदगी भी हटाता है। कच्चे आलू में जिंक और लेक्टीक एसिड होते हैं। जो अगर नियमित तौर पर इस्तेमाल किए जाएं तो त्वचा का रंग हल्का करने में काम आते हैं। ऐसे में आपको आलू अपने नियमित स्किन केयर प्रोग्राम में शामिल करना चाहिए। आलू का उपयोग स्किन केयर में कैसे किया जाएं, यह हम आपको यहां बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • एक आलू
  • छिलने वाला चाकू
  • चाकू
  • ब्लेंडर
  • साफ कटोरा
  • शहद

कैसे करें:

  • एक आलू ले लें।
  • इसे छिल लें।
  • इस पर जमी गंदगी साफ करने के लिए इसे धो लें।
  • चाकू का इस्तेमाल करके इसे छोटे –छोटे टुकड़ों में काट लें
  • इसे एक साफ कटोरे में ड़ाले और शहद का कुछ बुंदे मिला लें।
  • इस मिश्रण को अपने चेहरे पर लगाएं और अच्छे से सूखने दें।
  • साफ पानी से अपना चेहरा धो लें।
  • दो से तीन महीनों तक इसे सप्ताह में एक बार जरूर करें।

नोट:

  • ताजा आलू ही लें।
  • यह पेस्ट लगाने से पहले चेहरे को भली भांति साफ कर लें।

त्वचा की समस्याएं कम करने में एलोवेरा जैल का महत्वपूर्ण योगदान है। यह आपकी त्वचा को स्मूथ बनाता है और इसमें पानी की आपूर्ति करता है। जिससे दाग और निशान मिटाने में मदद मिलती है। इसमें कई सारे पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा के विकास में, उसे स्वस्थ रखने में बड़ी भूमिका निभाते हैं। हम सभी जानते हैं कि स्वस्थ त्वचा का मतलब साफ और ताजी त्वचा से है। (और पढ़े - चेहरे पर एलोवेरा लगाने के फायदे)

एलोवेरा में कई सारे एंटीऑक्सीडेंट्स भी होते हैं, जो बढ़ती उम्र के निशानों और पिगमेंटेशन पर अंकुश लगाने का काम करते हैं। इससे आपकी त्वचा चमकती हुई प्रतीत होती है। एलोवेरा में एलोइन होता है जो मेलेनिन के संग्रह पर उचित क्रिया करता है। मेलनिन त्वचा में मौजूद एक ऐसा तत्व होता है, जो त्वचा के रंग को सांवला कर देता है। ऐसे में इसे हटाकर एलोवेरा त्वचा का रंग गोरा करने में अपना योगदान देता है। (और पढ़े -मेलेनिन की कमी के लक्षण)

एलोवेरा जैल आसानी से बाजार में उपलब्ध है लेकिन यदि आपके पास इसका पौधा है तो उसके लाभ असीमित होते हैं। इससे आप घर ही में एलोवेरा जैल बना सकते हैं। यहां हम आपको एलोवेरा जैल बनाने की विधी बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • एलोवेरा की पत्तियां
  • ब्लेंडर
  • साफ पानी
  • कंटेनर
  • छिलने वाला चाकू
  • चाकू

कैसे करें:

  • एक एलोवेरा की पत्ती लें।
  • इसमें एक छोटा सा कट लगाएं, और खींचे। फिर नीचे की और खींचे और इसी दिशा में काटे। इससे इसका पीला रस निकलने लगेगा। उसे एक कटोरे में ले लें।
  • जब इसकी ब्लीडिंग बंद हो जाएं, पत्ते को अच्छे से साफ कर लें।
  • अब पारदर्शी सफेद जैल को प्राप्त करने के लिए छिलने वाले चाकू की सहायता से इसका छिलका उतारें।
  • इस जैल को कटोरे में ले लें।
  • इसे ब्लेंडर में अच्छी तरह पीस लें।
  • हवाबंद कंटेनर ले लें और उसमें इस जैल को भर लें।
  • यह फ्रीज में रखे जाने पर एक सप्ताह के लिए सुरक्षित रह सकता है।

इसे अपनी त्वचा पर नियमित रूप से लगाएं। आप इसे बतौर मोइश्चराइजर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आपकी त्वचा बहुत रुखी है तो इसमें कुछ बूंदे बादाम का तेल भी मिला लें। इससे त्वचा को पोषण मिलेगा और आपका रंग भी निखरेगा।

नोट:

इस घोल को नियमित रूप से अपने चेहरे पर लगाएं। आप इसे बतौर मोइश्चराइजर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे लंबे समय तक रखने के लिए इसमें विटामिन ई का एक कैप्सूल तोड़कर उसकी कुछ बूंदे मिला दें। हां, इसे लगाने के बाद सीधे धूप में न जाएं। इससे त्वचा पर सन डैमेज या टैनिंग हो सकती है। (और पढ़े -विटामिन ई की कमी के लक्षण)

यह पीला फल आपकी त्वचा को पर्याप्त पोषण देता है जिससे उसका रंग सुधारने में मदद मिलती है। पपीता जहां एक ओर त्वचा को ब्लीच कर सकता है वहीं यह मृत कोशिकाओं को भी हटाने में सहायता देता है। हम यहां आपको पपीते से फेस पैक बनाना बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • एक ताजा पपीता
  • चाकू
  • छिलने वाला चाकू
  • मिक्सर
  • साफ कटोरा
  • शहद
  • दही

कैसे करें:

  • एक ताजा पपीता लें।
  • इसे चाकू की सहायता से छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें।
  • इसका छिलका उतार लें।
  • अब इसे मिक्सर में चला कर पीस लें।
  • इसमें एक चम्मच दही और कुछ बूंदे शहद ड़ाल लें।
  • इन्हें अच्छे से मिला लें।
  • फिर इसे चेहरे पर लगा लें।
  • बीस मिनट चेहरा ऐसे ही छोड़ दें।
  • फिर ठंड़े पानी से धो लें।
  • शहद और दही में एंटी इंफ्लेमेटरी तत्व होते हैं, यह त्वचा को नरम बनाती है।

टिप:

  • यह पेस्ट लगाने से पहले चेहरे को अच्छी तरह साफ जरूर कर लें।

हल्दी प्राचीन समय से त्वचा का रंग हल्का करने और गोरा बनाने के काम आती रही है। इसी के चलते इसे दवाओं और ब्यूटी क्रीम में प्रचुर मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है। शोध से पता लगा है कि हल्दी मेलनिन के बहुतायत में उत्पादन पर अंकुश लगाती है। इसमें एंटी इंफ्लेमेटरी और एंटी ऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं। इससे न केवल त्वचा के दाग हल्के होते हैं बल्कि डार्क स्पॉट जैसे बढ़ती उम्र के निशान भी कम होते हैं। यहां हम आपको हल्दी से एक आसान फेस पैक बनाने का तरीका बता रहे हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • हल्दी पाउडर
  • चना पाउडर
  • शहद
  • पानी
  • साफ बर्तन

कैसे करें:

  • एक साफ कटोरा लें और उसमें एक चम्मच चना पाउडर मिला लें।
  • इसमें एक चुटकी हल्दी ड़ाले और अच्छे से मिक्स कर लें।
  • अब इसमें आधा चम्मच शहद मिला लें।
  • थोड़ा पानी मिलाकर इसका पेस्ट बना लें।
  • अच्छे से चेहरे को साफ करने के बाद इस पेस्ट को लगा लें। इसे सूखने दें और सूख जाने पर सादे ठंडे पानी से इसे साफ कर लें।

इस पेस्ट में चना पाउडर बहुत उपयोगी साबित होता है। खास तौर से यदि आपकी त्वचा ऑइली हो तो। इसके अलावा शहद की वजह से इसमें पोषण और नमी के पर्याप्त गुण मौजूद रहते हैं।

टिप:

अधिक हल्दी न लगाएं अन्यथा आपका स्कीन टोन ही पीला हो जाता है।

अधिकांश क्रीम और लोशन भी नींबू को बतौर अपने प्रोडक्ट का हिस्सा पेश करते हैं। इसकी बड़ी वजह यह है कि इसमें पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी पाया जाता है जो कि त्वचा का रंग हल्का करने में एक बड़ी भूमिका निभाता है। नींबू को आप बतौर क्लींजर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह रंग को भी साफ करता है। इसकी एक बड़ी विशेषता यह है कि यह बाजार में सहजता से उपलब्ध है। इसके उपयोग में न तो विशेष समय लगता है और न ही किसी तरह कि विधा की आवश्यकता है। हम आपको बता रहे हैं कि अपनी त्वचा उजली करने में आप नींबू का किस तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं।

आवश्यक सामग्री:

  • एक ताजा नींबू
  • पानी
  • साफ कटोरा
  • रुई का फाया

कैसे करें:

  • ताजा नींबू निचोड़ कर कटोरे में इसका रस ले लें।
  • नींबू के बीजों को बाहर निकाल कर फेंक दें।
  • इसमें कुछ पानी मिला लें।
  • अब इसमें रुई का फाया ड़ालें।
  • फाया की सहायता से इसे पूरे चेहरे पर लगा लें।
  • पंद्रह मिनट के लिए ऐसे ही छोड़ दें।
  • कोल्ड वाटर से अपना चेहरा धो लें।

टिप:

नींबू के रस को अच्छी तरह मिला लें। अगर नींबू का रस बेहतर तरीके से घुल नहीं पाया तो इसे ऐसे ही लगाने से त्वचा में खुजली और ललाई आ सकती है।

स्किन केयर रुटीन और फेस पैक आपकी त्वचा की रंगत को समान बनाते हैं और उसे हल्का करते हैं। हालांकि आपको इन प्रयोगों के प्रति समर्पित होना होगा और नियमित रूप से इन्हें फॉलो करना होगा। हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिससे आपकी कड़ी मेहनत व्यर्थ नहीं जाएगी और इन उपायों को आजमा कर आप उनका लाभ भी उठा पाएंगे।

  • धूम्रपान छोड़ दें, यह न केवल आपके फेंफडो के लिए बल्कि शरीर के अन्य अंगो जैसे त्वचा के लिए भी घातक है। इससे पिगमेंटेशन हो सकते हैं और त्वचा की रंगत परफेक्ट नहीं रहती। (और पढ़े - सिगरेट पीने के 10 नुकसान)
  • सनस्क्रीन लगाएं बिना बाहर न जाएं। सनस्क्रीन लगाने से आपकी त्वचा की सुरक्षा होती है। ऐसे में कम से कम 30 एसपीएफ की सनस्क्रीन जरूर लगाएं। (और पढ़े - एक अच्छी सनस्क्रीन कैसे चुनें)
  • कैमिकल ब्लीच का इस्तेमाल न करें यह त्वचा को नुकसान पहुंचा सकता है।
  • बिना भूले दिन में दो बार अपना चेहरा जरूर धोएं।
  • पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। (और पढ़े - पानी कब कितना और कैसे पीना चाहिए)
और पढ़ें ...

References

  1. Health Harvard Publishing. Harvard Medical School [Internet]. Daily skin care in 3 simple steps. Harvard University, Cambridge, Massachusetts.
  2. Pumori Saokar Telang. Vitamin C in dermatology. Indian Dermatol Online J. 2013 Apr-Jun; 4(2): 143–146. PMID: 23741676
  3. Nico Smit, Jana Vicanova, Stan Pavel. The Hunt for Natural Skin Whitening Agents. Int J Mol Sci. 2009 Dec; 10(12): 5326–5349. PMID: 20054473
  4. Oregon State University. [Internet] Corvallis, Oregon; Vitamin C and Skin Health
  5. Mrinal Gupta, Vikram K. Mahajan, Karaninder S. Mehta, Pushpinder S. Chauhan. Zinc Therapy in Dermatology: A Review. Dermatol Res Pract. 2014; 2014: 709152. PMID: 25120566
  6. Smith WP. The effects of topical l(+) lactic Acid and ascorbic Acid on skin whitening.. Int J Cosmet Sci. 1999 Feb;21(1):33-40. PMID: 18505528
  7. Amar Surjushe, Resham Vasani, D G Saple. ALOE VERA: A SHORT REVIEW. Indian J Dermatol. 2008; 53(4): 163–166. PMID: 19882025
  8. Rashmi Sarkar, Pooja Arora, K Vijay Garg. Cosmeceuticals for Hyperpigmentation: What is Available?. J Cutan Aesthet Surg. 2013 Jan-Mar; 6(1): 4–11. PMID: 23723597
  9. Aravind. G, Debjit Bhowmik, Duraivel. S, Harish. G. Traditional and Medicinal Uses of Carica papaya. Journal of Medicinal Plants Studies, Year : 2013, Volume : 1, Issue : 1
  10. Tu CX, Lin M, Lu SS, Qi XY, Zhang RX, Zhang YY. Curcumin inhibits melanogenesis in human melanocytes.. Phytother Res. 2012 Feb;26(2):174-9. PMID: 21584871
ऐप पर पढ़ें