myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हर महिला में माहवारी की प्रक्रिया अलग होती है। कुछ महिलाओं को माहवारी के दौरान कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। अगर आपको भी मासिक धर्म के दौरान बहुत ज्‍यादा दिक्‍कतें होती हैं तो आपको इससे राहत पाने के लिए इसके कारण के बारे में जानना बहुत जरूरी है। कई बार किसी बीमारी की वजह से भी मासिक धर्म के दौरान महिलाओं को परेशानियां उठानी पड़ती हैं।

माहवारी के दिनों को कम करना “एमेनोरिया” कहलाता है। कुछ समय पहले में महिलाओं में मासिक धर्म के लक्षणों की गंभीरता को कम करने के लिए इसका शब्‍द का इस्‍तेमाल किया जाता था लेकिन अब गंभीर लक्षणों के बावजूद महिलाएं अपने जीवन स्‍तर में सुधार लाने के लिए भी इसका इस्‍तेमाल करने लगी हैं। उन्‍हें लगता है कि माहवारी के दिनों को कम करके वो इसके दौरान होने वाली असहजता और दर्द एवं अन्‍य लक्षणों से बच सकती हैं।

कई महिलाएं माहवारी को बंद करने के लिए दवाओं का इस्‍तेमाल करती हैं। हालांकि, कुछ प्राकृतिक खाद्य पदार्थों और विटामिन सप्‍लीमेंट्स की मदद से भी ऐसा किया जा सकता है और सबसे खास बात तो ये है कि इनके शरीर पर कोई दुष्‍प्रभाव भी नहीं होते हैं।

  1. पीरियड रोकने का तरीका है हीट थेरेपी - Applying Heat to Stop Period in Hindi
  2. मासिक धर्म रोकने का उपाय है मालिश - Massage to Stop Period in Hindi
  3. मासिक धर्म बंद करने का उपाय है विटामिन सी - Vitamin C to End Period Faster in Hindi
  4. माहवारी रोकने का उपाय है संभोग - Intercourse to Stop Period in Hindi
  5. पीरियड्स रोकने की मेडिसिन (दवा) है नॉनस्टेरायडल ड्रग्स - NSAIDs are medicine to end period in Hindi
  6. पीरियड को रोकने का उपाय है एक्सरसाइज - Exercises to End Period Early in Hindi
  7. मासिक धर्म को जल्दी रोकने में अदरक है लाभकारी - Ginger to Stop Menstruation in Hindi
  8. मासिक धर्म रोकने की दवा है रास्पबेरी - Raspberry Leaf Tea to Stop Periods in Hindi
  9. बिरथ कंट्रोल पिल्स टू स्टॉप पीरियड्स - Birth Control Pills to Stop Menses in Hindi
  10. माहवारी बंद करने का उपाय है पानी पीना - Drinking Water to End Period in Hindi

पेट क्षेत्र पर हीटिंग पैड या गर्म पानी की बोतल रखने से मेंस्ट्रुअल फ्लूइड (Menstrual fluid) तेजी से आपके शरीर से निकलता है, इस प्रकार आपके मासिक धर्म जल्दी समाप्त हो जाते हैं। यह दर्दनाक ऐंठन कम करने में मदद करने के साथ साथ संकुचित गर्भाशय की मांसपेशियों को भी आराम देता है।

  1. एक बार में 5 से 10 मिनट के लिए अपने निचले पेट पर हीटिंग पैड या गर्म पानी की बोतल रखें। इसे दिन में 3 या 4 बार प्रयोग करें।
  2. गर्म पानी में एक तौलिया भिगोएँ, अतिरिक्त पानी बाहर निचोड़ दें और अपने निचले पेट पर रखें। उस जगह में तब तक तौलिया रखें जब तक कि यह ठंडा न हो जाएँ। आवश्यकतानुसार दोहराएं।
  3. अपने पीरियड्स के दौरान दिन में 2 या 3 बार हॉट शावर या स्नान लेना भी प्रभावी है। (और पढ़ें - क्या आपका नहाने का तरीका सही है ?)

पेट की मांसपेशियों की मालिश करने से गर्भाशय के संकुचन को कम किया जाता है और इससे गर्भाशय से खून दूर हो जाता है जिससे आपके पीरियड्स को जल्दी रोकने में मदद मिलती है। यह आपके मासिक चक्र से जुड़ी असुविधाओं को कम करने में सहायता करता है, जैसे कि ऐंठन और सूजन।

  1. 3 चम्मच गर्म बादाम के तेल में 6 बूँद क्लैरी और लैवेंडर के तेल की मिक्स करें।
  2. उदर और पैल्विक क्षेत्रों को धीरे-धीरे इस तेल के मिश्रण से मालिश करें जब तक कि तेल त्वचा में अवशोषित नहीं हो जाता है।
  3. अपने पीरियड्स समाप्त होने तक रोज़ दो बार दोहराएं। (और पढ़ें - गर्भावस्था के समय मालिश है लाभदायक और गर्भावस्था में पेट दर्द)

विटामिन सी में समृद्ध आहार आपके शरीर में प्रोजेस्टेरोन हार्मोन के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। यह गर्भाशय की परत को तेजी से टूटने में मदद करती है, जिससे मासिक धर्म चक्र कम हो जाता है। यह मासिक धर्म असुविधाओं को कम करने में भी मदद कर करती है।

इसके अलावा विटामिन सी आपके शरीर को लोहे को अवशोषित करने और रक्त वाहिकाओं को मजबूत करने में मदद करती है।

  1. अपने आहार में विटामिन सी में समृद्ध और अधिक खाद्य पदार्थ शामिल करें। विटामिन सी के कुछ अच्छे स्रोत नींबूसंतरेशिमला मिर्च, हरी पत्तेदार साग, कीवीब्रोकोलीजामुनअंगूरटमाटरमटर और पपीता आदि है।
  2. आप विटामिन सी सप्लीमेंट्स भी ले सकते हैं, लेकिन अपने चिकित्सक से सलाह लेने के बाद। विटामिन सी की खुराक की अत्यधिक मात्रा लेने से दुष्प्रभाव पैदा हो सकता है, जिसमें पेट में परेशानी, दस्त और अनिद्रा शामिल है। (और पढ़ें - अनिद्रा के घरेलू उपचार)

अपने पीरियड्स को जल्दी समाप्त करने के लिए संभोग या हस्तमैथुन एक और आसान तरीका है। यह ऐंठन और अन्य असुविधाओं को भी कम कर सकता है। जब आप संभोग करते हैं तो यह गर्भाशय की मांसपेशियों में संकुचन उत्पन्न करता है और ये मांसपेशियां गर्भाशय से मेंस्ट्रुअल ब्लड (Menstrual Blood) को स्थानांतरित (Move) करने में मदद करती है। इससे आपका मासिक चक्र कम हो जाएगा। ध्यान रखें कि पीरियड्स के दौरान संभोग करना गन्दा हो सकता है, इसलिए इसके लिए मानसिक रूप से तैयार रहें। 

(और पढ़ें – यौन-शक्ति को बढ़ाने वाले आहार)

एस्पिरिन, नेप्रोक्सेन और आइबूप्रोफेन जैसी नॉनस्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स (NSAIDs) गर्भाशय की दीवारों की सूजन को कम करने में मदद कर सकती है जिससे यह मासिक धर्म प्रवाह और उसके साथ जुड़े दर्द को कम कर देती है।

ये ओवर-द-काउंटर दवाएं प्रोस्टाग्लैंडीन नामक हार्मोन जैसी लिपिड यौगिकों के समूह के अधिक उत्पादन को कम करने में मदद करती हैं जो गर्भाशय की मांसपेशियों के संकुचन को बढ़ावा देते हैं।

आप दिन में 2 या 3 बार नॉनस्टेरायडल एंटी-इंफ्लेमेटरी ड्रग्स ले सकते हैं। NSAIDs लेने या समय की एक विस्तारित अवधि के लिए इनका उपयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें, क्योंकि इन ड्रग्स के दुष्प्रभाव हो सकते हैं। वास्तव में, इनके फर्टिलिटी पर भी हानिकारक प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा, ये अन्य दवाओं के साथ हस्तक्षेप कर सकती है।

आपके मासिक धर्म चक्र की लंबाई और रक्त प्रवाह की मात्रा निर्धारित करने में शरीर का वजन एक प्रमुख भूमिका निभाता है।

जो महिलाएं शारीरिक रूप से फिट और जिनके शरीर par कम फैट होता है, वे स्वाभाविक रूप से कम और लाइट पीरियड्स का अनुभव करती है। दूसरी ओर, अधिक वजन या मोटापे से ग्रस्त महिलाओं के लिए मासिक धर्म लम्बे और भारी रहते हैं।

इसलिए, यदि आपका वजन कुछ अधिक हैं और कम या दर्द मुक्त मासिक धर्म चक्र चाहते हैं, तो एक नियमित व्यायाम दिनचर्या बहुत फायदेमंद हो सकती है। मासिक धर्म चक्र के दौरान भी व्यायाम करने से शरीर में रक्त परिसंचरण को बढ़ाया जा सकता है, जो बदले में दर्दनाक ऐंठन को कम करने और आपके पीरियड्स को कम करने में मदद करेगा। इसके अलावा, व्यायाम गर्भाशय की मांसपेशियों को आराम देते हैं और पीरियड्स को जल्दी रोकने या रक्त के प्रवाह को कम करने में मदद करते हैं।

इसके अलावा, एक व्यायाम की नियमितता बनाए रखना समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा देगा। 25 से 30 मिनट के लिए ब्रिस्क वाक, योग स्ट्रेच, वजन प्रशिक्षण, साइकिल या तैराकी महिलाओं के लिए अच्छी एक्सरसाइज है। 

(और पढ़ें - पीरियड्स के समय भी कर सकते हैं आप ये पाँच एक्सरसाइज)

अदरक के सूजन को काम करने वाले गुण प्रोस्टाग्लैंडीन के उत्पादन को कम कर सकते हैं, जो एक हॉर्मोन है जो मासिक धर्म के दौरान रिलीज़ होता है। अदरक आपके पीरियड्स की अवधि को छोटा करने में सहायता करता है।

  1. कुछ मिनट के लिए 1 कप गर्म पानी में पिसी हुई अदरक के 2 बड़े चम्मच डुबोएं।
  2. इसे छाने और अदरक-पानी में 1 बड़ा चमच्च शहद मिलाएं।
  3. इस अदरक काढ़े को पियें जब यह गर्म हो।
  4. इसे पीरियड्स के दौरान दिन में 2 या 3 बार पिएं।

रास्पबेरी कसैले गुणों में समृद्ध है, जो गर्भाशय उत्तेजक के रूप में काम करती है और गर्भाशय के संकुचन को उत्तेजित करती है जो गर्भाशय से मासिक धर्म प्रवाह को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह दर्दनाक मासिक धर्म ऐंठन में भी राहत देती है।

इसके अलावा, इस जड़ी बूटी में कई खनिज और विटामिन्स होते हैं जो महिला शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं।

  1. ताजा रास्पबेरी के पत्तों को 2 कप पानी में उबाल लें। इसे 10 से 15 मिनट तक कम आंच पर उबाल लें।
  2. काढ़ा ठंडा होने दें, फिर छान लें और पिएँ।
  3. पीरियड्स के पहले दिन इस का एक कप 2 या 3 बार पिएँ।

अपने मासिक धर्म चक्रों को नियमित और छोटा करने में मदद के लिए आप मौखिक गर्भनिरोधक गोलियां ले सकते हैं। ये गोलियां ऐंठन को कम करने में सहायक होती हैं और पीरियड्स के साथ अन्य असुविधाओं से जुडी हुई है।

ध्यान रखें कि हार्मोनल गर्भ निरोधकों का लंबे समय तक सेवन शरीर में सिरदर्द और हार्मोनल असंतुलन पैदा कर सकता है, साथ ही साथ हृदय रोग और कैंसर के खतरे में डाल सकता है।

(और पढ़ें – कैंसर का इलाज)

इसलिए, इससे पहले कि आप गर्भनिरोधक गोलियां या अन्य गर्भनिरोधक लेना शुरू करें तो उससे पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करना अच्छा होगा।

पानी और अन्य स्वस्थ तरल पदार्थों को पीने से मासिक धर्म और असुविधाएं को कम करने में मदद मिलेगी जैसे सूजन और ऐंठन। पानी का सेवन आपके शरीर के माध्यम से तरल पदार्थ को तेजी से चलाता है।

इसके अलावा, पर्याप्त पानी पीने से शरीर की चयापचय में सुधार होता है और इससे आप हाइड्रेटेड भी रहते हैं। हरी चाय, ताजे फल और सब्जी का रस और नारियल का पानी पीना आपके द्रव का सेवन बढ़ाने के लिए भी अच्छे विकल्प होते हैं। कैफीन, अल्कोहल और कार्बोनेटेड पेय से दूर रहें, जो आपको निर्जलित कर सकते हैं और मासिक धर्म संबंधी समस्याएं पैदा कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - खाली पेट पानी पीने के फायदे)

और पढ़ें ...

References

  1. Paula Adams Hillard. Menstrual suppression: current perspectives. Int J Womens Health. 2014; 6: 631–637. PMID: 25018654
  2. Anna B. Livdans-Forret, DC, Phyllis J. Harvey, M.Ln, Susan M. Larkin-Thier. Menorrhagia: A synopsis of management focusing on herbal and nutritional supplements, and chiropractic. J Can Chiropr Assoc. 2007 Dec; 51(4): 235–246. PMID: 18060009
  3. Powell-Dunford NC et al. Menstrual suppression for combat operations: advantages of oral contraceptive pills. Womens Health Issues. 2011 Jan-Feb;21(1):86-91. PMID: 21185993
  4. Office on Women's Health [Internet] U.S. Department of Health and Human Services; Menstrual Cycle.
  5. National Women's Health Network. Using Birth Control to Regulate or Skip Your Period. [Internet]