myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आजकल के खानपान और जीवनशैली की वजह से हर कोई बालों की समस्या से परेशान है। बालों की समस्याओं को खत्म करने के लिए आप केमिकल युक्त उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन ऐसे उत्पाद आपकी समस्याओं को खत्म नहीं करते बल्कि और बढ़ा देते हैं। अगर आप इन केमिकल युक्त उत्पादों के इस्तेमाल से बचना चाहते हैं तो इस लेख में हमने आपको ऐसी कुछ बेहतरीन जड़ी बूटियां बताई हैं जिनके इस्तेमाल के बाद यकीन मानिए आपके बालों की 5 बड़ी समस्याएं खत्म हो जाएंगी।

(और पढ़ें - बाल झड़ने के कारण)

तो चलिए इस लेख में हम आपको बताते हैं उन प्रभावी जड़ी बूटियों के बारें में:

1. तैलीय बालों के लिए करें टी ट्री तेल का इस्तेमाल:

टी ट्री ऑयल में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो सिर की त्वचा में सीबम के अधिक उत्पादन को नियंत्रित करते हैं और सिर की त्वचा में फोड़े फुंसी को भी रोकते हैं।

टी ट्री तेल का इस्तेमाल करने के लिए:

सामग्री:

  1. 15 बूंद टी ट्री तेल।
  2. 30 मिलीलीटर कोई भी आवश्यक तेल (नारियल तेल या जोजोबा तेल)।

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. पहले दोनों सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को सिर की त्वचा से लगाते हुए बालों की छोर पर अच्छे से लगाएं।
  3. लगाने के बाद कम से कम एक घंटे के लिए बालों में मिश्रण को लगा हुआ छोड़ दें।
  4. अगर सिर की त्वचा में टी ट्री तेल लगाने से किसी भी तरह की समस्या नहीं होती है तो आप केवल इस तेल को भी लगा सकते हैं।
  5. अब बालों को शैम्पू से धो दें।
  6. इस उपाय को हफ्ते में दो से तीन बार दोहराएं।

(और पढ़ें - तैलीय बालों के लिए घरेलू उपाय)

2. सफेद बालों के लिए करें हिना का इस्तेमाल:

सफेद बालों को काला करने के लिए आप हिना का इस्तेमाल कर सकते हैं। हिना बालों को लाल और भूरा करती है और आप इसे कॉफी, इंडिगो, लौंग जैसी जड़ी बूटियों के साथ भी मिला सकते हैं। इससे आपको आपके बालों के लिए और अन्य रंग मिल जाएंगे। हिना बालों के लिए कंडीशनर की तरह कार्य करती है। यह बालों को चमकदार और मुलायम बनाती है साथ ही सफेद बालों से छुटकारा दिलाती है।

हिना का इस्तेमाल करने के लिए:

सामग्री:

  1. तीन से चार बड़े चम्मच हिना पाउडर या बालों के अनुसार मात्रा लें।
  2. आधा कप काली चाय या ब्लैक कॉफ़ी।
  3. एक से दो बड़े चम्मच जैतून का तेल

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. पहले एक बड़ा बर्तन लें और फिर उसमें हिना पाउडर, आधा कप काली चाय या ब्लैक कोफ़ी डाल दें, यह दही की तरह घाड़ा होना चाहिए।
  2. मिश्रण को तैयार करने के लिए इसमें थोड़ा पानी भी डाल दें और फिर तीन से छः घंटे के लिए इसे ऐसे ही छोड़ दें। बर्तन को ढक दें।
  3. अब इस मिश्रण को लगाने से पहले इस मिश्रण में जैतून का तेल मिला लें।
  4. फिर हिना को बालों में अच्छे से लगा लें और 1 से 3 घंटे के लिए बालों में ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  5.  बालों को पानी से धो दें।

(और पढ़ें - सफेद बालों को काला करने के उपाय)

3. डैंड्रफ के लिए कैमोमाइल का इस्तेमाल करें:

कैमोमाइल का इस्तेमाल रूसी को दूर करने के लिए किया जाता है। डैंड्रफ से छुटकारा पाने के लिए आप कैमोमाइल चाय का इस्तेमाल किसी भी उम्र में कर सकते हैं। बालों को कैमोमाइल चाय से धोएं और फिर शैम्पू से बालों को धो लें। आप कैमोमाइल चाय को बालों में लगा हुआ भी छोड़ सकते हैं।

(और पढ़ें - बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

4. हेयर फॉल के लिए अदरक का इस्तेमाल करें:

अदरक का तेल डैंड्रफ दूर करता है साथ ही इसका उपयोग जब आप बालों में करते हैं तो ब्लड सर्कुलेशन तेज हो जाता है जिससे बाल बढ़ने लगते हैं।

अदरक का इस्तेमाल करने के लिए:

सामग्री:

  1. एक घिसा हुआ अदरक।
  2. चार बड़े चम्मच तिल का तेल

बनाने व लगाने का तरीका:

  1. पहले अदरक को घिस लें और फिर घिसे हुए अदरक को एक मलमल के कपड़े में रख दें। अब कपड़े को निचोड़े जिससे उसका जूस निकल सके।
  2. अब इस जूस को तिल के तेल के साथ मिला दें।
  3. फिर इस मिश्रण को सिर की त्वचा पर लगाएं और लगाने के बाद आधे घंटे के लिए मिश्रण को ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. अब बालों को पानी से धोएं और फिर बाद में शैम्पू से धो दें।
  5. इस उपाय को हफ्ते में तीन बार दोहराएं।

(और पढ़ें - बाल झड़ने से रोकने के लिए तेल)

5. रूखे बालों के लिए अजमोद का इस्तेमाल करें:

अजमोद में विटामिन ए, विटामिन सीविटामिन K, आयरन, कैल्शियम, फ्लवोनोइड्स आदि पोषक तत्व होते हैं। बालों को रूखा होने से बचाने के लिए अजमोद गहराई तक बालों को मॉइस्चराइज करता है। अजमोद खाने से आपके बाल रूखे नहीं होते और इसे आप बालों में भी लगा सकते हैं।

(और पढ़ें - रूखे बालों की देखभाल)

और पढ़ें ...