त्वचा की खूबसूरती को बनाए रखने के लिए इसमें लोच का होना जरूरी होता है. जब त्वचा अपनी लोच खोने लगती है, तो झुर्रियों व फाइन लाइंस आदि की समस्याएं होने लगती हैं. साथ ही त्वचा ढीली पड़ने लगती है. युवावस्था में त्वचा की लोच सबसे अधिक होती है. फिर उम्र बढ़ने के साथ त्वचा की लोच भी कम होने लगती है. वैसे तो बढ़ती उम्र में त्वचा की लोच का कम होना और झुर्रियां पड़ना आम है, लेकिन स्किन में इलास्टिसिटी को बढ़ाकर इस प्रक्रिया को धीमा किया जा सकता है. इसलिए, अगर आपकी उम्र भी बढ़ रही है और त्वचा पर झुर्रियां पड़ रही हैं, तो आप स्किन इलास्टिसिटी को बढ़ाने के लिए उपाय आजमा सकते हैं.

आज इस लेख में आप स्किन इलास्टिसिटी में आने वाली कमी और इसे ठीक करने के उपायों के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - चेहरे पर चमक लाने के उपाय)

  1. स्किन इलास्टिसिटी क्या है?
  2. स्किन इलास्टिसिटी में कमी के कारण
  3. स्किन इलास्टिसिटी को कैसे ठीक करें?
  4. सारांश
स्किन इलास्टिसिटी क्या है व कैसे ठीक करें? के डॉक्टर

त्वचा तीन परतों से बनी होती है. इसमें एपिडर्मिस सबसे ऊपरी परत होती है. वहीं, डर्मिस बीच की और सबक्यूटिस सबसे आखिरी परत होती है. डर्मिस यानी बीच की परत में कोलेजन नामक प्रोटीन होता है. यह प्रोटीन त्वचा के कनेक्टिव टिश्यू में पाया जाता है. कोलेजन त्वचा की लोच को बनाए रखने में मदद करते हैं, लेकिन जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, त्वचा में कोलेजन का उत्पादन कम होने लगता है. ऐसे में त्वचा की लोच में कमी आने लगती है, इसे इलास्टोसिस के रूप में जाना जाता है. इस स्थिति में त्वचा ढीली व झुर्रीदार नजर आने लगती है. इसलिए, अच्छी स्किन के लिए इलास्टिसिटी को बनाए रखना जरूरी होता है.

(और पढ़ें - त्वचा को मुलायम बनाने के तरीके)

त्वचा से मुहासों और खुजली को दूर करने के लिए माई उपचार द्वारा निर्मित निम्बादी चूर्ण का प्रयोग जरूर करें

Face Serum
₹499  ₹599  16% छूट
खरीदें

उम्र के साथ त्वचा की लोच कम होना सामान्य है. इसके अलावा, त्वचा की लोच खोने के कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं -

उम्र बढ़ना

उम्र बढ़ना त्वचा की लोच में आने वाली कमी का एक मुख्य कारण होता है. दरअसल, जैसे-जैसे उम्र बढ़ती जाती है, त्वचा स्वाभाविक रूप से अपनी लोच खोने लगती है. इस स्थिति में उम्र बढ़ने के लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं. कोई व्यक्ति 20 वर्ष की उम्र के बाद से कोलेजन खोना शुरू कर सकता है. वहीं, मेनोपॉज आने तक त्वचा से लगभग 30 प्रतिशत कोलेजन खो सकता है. जब कोलेजन कम होने लगता है, त्वचा की लोच में भी कमी आने लगती है. ऐसे में त्वचा पर झुर्रियां और फाइन लाइंस नजर आने लगते हैं. बढ़ती उम्र के साथ त्वचा कोलेजन के साथ ही प्रोटीन और हयालूरोनिक एसिड भी खोने लगती है.

(और पढ़ें - कौन सा फल खाने से चेहरा चमकता है)

खराब जीवनशैली

खराब जीवनशैली या पर्यावरणीय कारक भी त्वचा की लोच को कम करने का कारण हो सकते हैं. दरअसल, कोलेजन डर्मिस में स्थिति होता है, ऐसे में यह सूरज की पराबैंगनी किरणों और प्रदूषण से सीधे तौर पर प्रभावित हो सकता है. इसके अलावा, जो लोग धूम्रपान करते हैं, वे भी अपनी त्वचा की लोच को जल्दी खो सकते हैं. इस स्थिति में त्वचा डैमेज हो सकती है और झुर्रिदार बन सकती है. साथ ही त्वचा ढीली भी पड़ने लगती है.

(और पढ़ें - त्वचा की देखभाल के लिए स्किन केयर टिप्स)

खराब स्किन केयर रूटीन

खराब स्किन केयर रूटीन भी त्वचा की लोच को कम करने के लिए जिम्मेदार हो सकता है. दरअसल, जब कोई व्यक्ति अपने त्वचा की सफाई नहीं करता है या त्वचा को मॉइश्चराइज नहीं करता है, तो इस स्थिति में स्किन डैमेज हो सकती है और झुर्रियां पड़ सकती हैं. इसलिए, त्वचा की लोच को बनाए रखने के लिए एक अच्छा स्किन केयर रूटीन फॉल करना जरूरी होता है.

(और पढ़ें - स्किन टोन को हल्का करने के घरेलू उपाय)

 

समय के साथ त्वचा की लोच खोना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है, इसे रोका नहीं जा सकता है, लेकिन इस प्रक्रिया को धीमा जरूर किया जा सकता है. स्किन इलास्टिसिटी को ठीक करने और त्वचा की लोच में सुधार करने के लिए इन उपायों को आजमाया जा सकता है -

हेल्दी डाइट लें

हेल्दी स्किन के लिए अच्छी डाइट लेना जरूरी होता है. त्वचा की लोच में सुधार करने के लिए सबसे पहले आपको अपनी डाइट से शुरुआत करनी चाहिए. आप कोलेजन, प्रोटीन और अमीनो एसिड युक्त आहार ले सकते हैं. प्रोटीन के लिए आप चिकनमछलीडेयरी उत्पादअंडे और बीन्स आदि का सेवन कर सकते हैं. कोलेजन उत्पादन के लिए खट्टे फल, लाल शिमला मिर्चटमाटरपालक और ब्रोकली जैसे खाद्य पदार्थ ले सकते हैं. इसके अलावा, एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर फल और सब्जियां खाना भी फायदेमंद हो सकता है.

(और पढ़ें - चेहरे पर कसाव लाने के उपाय)

Skin Infection Tablet
₹499  ₹799  37% छूट
खरीदें

रेगुलर एक्सरसाइज करें

एक्सरसाइज शरीर के लिए जरूरी है. एक्सरसाइज करने से शारीरिक और मानसिक लाभ मिलता है. इतना ही नहीं यह त्वचा के लिए भी फायदेमंद हो सकता है. एक्सरसाइज करने से त्वचा की लोच को बढ़ाने में मदद मिल सकती है. रेगुलर एक्सरसाइज करने से बढ़ती उम्र के प्रभाव को धीमा किया जा सकता है. एक्सरसाइज करने से त्वचा की मोटाई या लोच को बनाए रखने में भी मदद मिलती है.

(और पढ़ें - सांवली त्वचा की रंगत कैसे निखारें)

अच्छी नींद लें

त्वचा की लोच को बनाए रखने के लिए अच्छी नींद लेना भी जरूरी होता है. दरअसल, जब नींद पूरी नहीं हो पाती है, तो शरीर से कोर्टिसोल नामक स्ट्रेस हार्मोन रिलीज होता है. यह हार्मोन शरीर में सूजन पैदा कर सकता है. सूजन की वजह से कोलेजन और इलास्टिन ठीक से काम नहीं कर पाते हैं. ऐसे में त्वचा पर रेडनेस, जलन और झुर्रियां पड़ सकती हैं. इसलिए, स्किन की इलास्टिसिटी को बढ़ाने के लिए अच्छी नींद भी जरूर लेनी चाहिए.

(और पढ़ें - बेदाग त्वचा के उपाय)

पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं

हाइड्रेटेड रहने से त्वचा की लोच में सुधार हो सकता है. साथ ही त्वचा चमकदार भी बन सकती है. दरअसल, स्किन सेल्स पानी से बनी होती हैं. ऐसे में जब त्वचा डिहाइड्रेट होती है, तो त्वचा रूखी और परतदार दिखाई देने लगती है. इस स्थिति में त्वचा का लचीलापन भी कम हो जाता है और झुर्रियां पड़ने लगती हैं. ऐसे में आपको त्वचा की लोच बढ़ाने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना जरूरी होता है. इसके लिए आप दिनभर में 8 से 10 गिलास पानी जरूर पिएं. साथ ही फलों का भी अधिक मात्रा में सेवन करें. 

(और पढ़ें - स्किन एलर्जी के घरेलू उपाय)

सनस्क्रीन जरूर लगाएं

धूप या सूरज की किरणें त्वचा की लोच खोने का एक कारण हो सकती हैं. ऐसे में सनस्क्रीन का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए. सनस्क्रीन त्वचा की लोच को हानिकारक किरणों से बचाता है और लोच को बनाए रखने में मदद करता है. त्वचा की लोच को बढ़ाने के लिए आपको दिन में 2-3 बार सनस्क्रीन जरूर अप्लाई करनी चाहिए. इसके लिए आपको कम से कम एसपीएफ 30 या उससे अधिक की सनस्क्रीन लगानी चाहिए.

(और पढ़ें - चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय)

कोलेजन सप्लीमेंट

उम्र बढ़ने पर त्वचा में कोलेजन का उत्पादन कम होने लगता है. इसकी वजह से त्वचा अपनी लोच खोने लगती है. ऐसे में आप कोलेजन सप्लीमेंट्स ले सकते हैं. ये कोलेजन के उत्पादन को बढ़ाकर त्वचा की लोच में सुधार कर सकता है.

(और पढ़ें - चमकदार त्वचा के लिए क्या खाएं)

हेल्दी स्किन केयर रूटीन

स्किन को हेल्दी बनाए रखने के लिए अच्छे स्किन केयर रूटीन को फॉलो करना भी जरूरी होता है. इसके लिए आपको अपनी त्वचा की नियमित रूप से क्लीनिंग करनी चाहिए. साथ ही त्वचा में नैचुरल नमी और ऑयल को भी बनाए रखना चाहिए. त्वचा की लोच को बनाए रखने के लिए त्वचा को मॉइश्चराइज करना जरूरी होता है.

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्या खाएं)

जिस तरह उम्र बढ़ने के साथ सेहत पहले जैसी नहीं रह जाती है, उसी तरह उम्र बढ़ने पर त्वचा पर भी बदलाव देखने को मिलते हैं. उम्र बढ़ने पर त्वचा में कोलेजन कम होने लगता है, जिसकी वजह से त्वचा अपनी लोच खोने लगती है. इसकी वजह से त्वचा पर झुर्रियां और फाइन लाइंस पड़ने लगते हैं. ऐसे में हेल्दी डाइट लेकर, अच्छी स्किन केयर रूटीन फॉलो करके और नियमित रूप से एक्सरसाइज करके त्वचा की लोच खोने की प्रक्रिया को धीमा करने में मदद मिल सकती है. इससे त्वचा में कसाव आएगा, त्वचा टाइट होगी और खूबसूरत बनी रहेगी.

(और पढ़ें - सांवलापन दूर करने की क्रीम)

Dr Shishpal Singh

Dr Shishpal Singh

डर्माटोलॉजी
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Sarish Kaur Walia

Dr. Sarish Kaur Walia

डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Rashmi Aderao

Dr. Rashmi Aderao

डर्माटोलॉजी
13 वर्षों का अनुभव

Dr. Moin Ahmad Siddiqui

Dr. Moin Ahmad Siddiqui

डर्माटोलॉजी
4 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें