मुंह का कैंसर मुंह के किसी भी हिस्से में जैसे होंठ, जीभ व मसूड़े आदि में हो सकता है. जो कैंसर मुंह के अंदर होता है, उसे ओरल कैंसर या ओरल कैविटी कैंसर कहा जाता है. इस गंभीर बीमारी में थेरेपी और मेडिकेशन के साथ-साथ डाइट का भी ख्याल रखना चाहिए. खान-पान के बगैर शरीर काफी कमजोर पड़ सकता है और इम्यूनिटी भी कमजोर हो सकती है. इसके कारण शरीर की कैंसर से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. इसलिए, फल और सब्जियां जैसे- गाजर व स्प्राउट आदि और होल ग्रेन जैसी चीजों का सेवन करना चाहिए, जबकि अल्कोहल व स्मोकिंग आदि से बचना चाहिए.

आज इस लेख में मुंह के कैंसर में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं के बारे में जानेंगे-

  1. मुंह के कैंसर में इनका करें सेवन
  2. मुंह के कैंसर में किन चीजों से करें परहेज
  3. मुंह कैंसर के दौरान अन्य सावधानियां
  4. सारांश
मुंह के कैंसर में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं के डॉक्टर

पोषक तत्वों से भरपूर डाइट आपके शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाती है. इसलिए, ताजे फल-सब्जी के साथ-साथ होल ग्रेन, दालें व लीन मीट आदि का सेवन इस दौरान करना फायदेमंद है. आइए विस्तार से जानें, मुंह के कैंसर के दौरान क्या खाना चाहिए-

फल और सब्जियां

अगर शरीर में पोषण की कमी होगी, तो मुंह का कैंसर और अधिक फैल सकता है, क्योंकि शरीर में इससे लड़ने की क्षमता कम हो जाती है. इसलिए, शरीर को अंदर से मजबूत बनाने के लिए काफी अधिक फल और सब्जियों का सेवन करना शुरू कर दें. फलों और सब्जियों में एंटी-ऑक्सीडेंट्स, काफी सारे विटामिन और मिनरल होते हैं, जिनका सेवन इस दौरान शरीर के लिए फायदेमंद रहता है. गाजर, स्प्राउट व स्क्वैश आदि अच्छे विकल्प हैं. दिन में कम से कम 5 फल और सब्जियां जरूर खाएं.

होल ग्रेन

होल ग्रेन से बनने वाली ब्रेड और ब्राउन चावल फाइबर से भरपूर होते हैं. यही नहीं पाचन के लिए भी फाइबर का सेवन उचित है, क्योंकि कैंसर के इलाज की वजह से शरीर में पाचन समस्याएं देखने को मिल सकती हैं. इसलिए, फाइबर से भरपूर चीजें खाएं, जिनमें से मुख्य प्राथमिकता पर होल ग्रेन फूड को रखें.

प्रोटीन से युक्त चीजें

कैंसर के दौरान शरीर को मजबूत बनाए रखने के लिए प्रोटीन की आवश्यकता होती है. इसलिए, प्रोटीन के स्रोत को डाइट में एड करना बिल्कुल भी न भूलें. चिकन, व मछली आदि प्रोटीन के अच्छे स्रोत हैं. इन्हें बनाते समय यह ध्यान रखें कि चिकन अच्छे से पक चुका हो. लो फैट डेयरी उत्पादों का ही सेवन करें. चाहें तो डॉक्टर की सलाह पर प्रोटीन के सप्लीमेंट भी ले सकते हैं.

ओरल कैंसर यानी मुंह के कैंसर के दौरान आपको जो चीजें नहीं खानी चाहिएं, उनमें सबसे पहले नमक, अल्कोहल व शुगर आदि आते हैं. दरअसल, यह फूड कोई भी ऐसा पोषण नहीं देते जो आपके शरीर को कोई फायदा पहुंचा सके. इसलिए, इस तरह का फूड आपको कैंसर से लड़ने की एनर्जी या सेल्स ग्रोथ में भी सहायक नहीं है. आइए, विस्तार से जानिए कि मुंह के कैंसर के दौरान क्या-क्या चीजें नहीं खानी चाहिए-

शराब से दूरी

शराब का सेवन करने से मुंह के कैंसर की सेल्स और अधिक फैल सकते हैं. इसलिए, इसका सेवन बिलकुल ही बंद कर दें. यह मुंह के कैंसर का कारण भी बन सकते हैं. इसलिए, अगर कैंसर के मरीज नहीं भी हैं, तो भी इसका सेवन काफी कम करना चाहिए. शराब पीने से शरीर में दूसरे प्रकार के कैंसर होने का रिस्क भी बढ़ सकता है.

तंबाकू का सेवन करें बंद

तंबाकू जैसे सिगरेट, सिगार, पाइप, हुक्का आदि का सेवन करने से भी मुंह का कैंसर का रिस्क बढ़ता है. इसलिए, इनका सेवन बिलकुल भी न करें. तंबाकू का प्रयोग करने से उपचार का भी ज्यादा फर्क नहीं पड़ता. तंबाकू का सेवन करने से शरीर को हील होने में कठिनाई होती है. तंबाकू का सेवन जारी रखने से शरीर में भविष्य में दूसरे कैंसर होने का या इसी कैंसर के फिर से लौटने का खतरा बना रहता है.

सुपारी न खाएं

भारत के कई इलाकों में सुपारी, पान या गुटके का सेवन बहुत अधिक किया जाता है.  इनमें तंबाकू मौजूद होता है और इन सब चीजों से मुंह का कैंसर बढ़ सकता है. अगर पहले से ही कैंसर है, तो इलाज भी अप्रभावी सिद्ध हो सकता है. इसलिए, इन चीजों का सेवन बिलकुल बंद कर दें.

मुंह के कैंसर के दौरान खानपान के अलावा कुछ अन्य बातों का ध्यान भी रखना चाहिए, जैसे कि सूर्य की रोशनी से बचाव या रेगुलर चेकअप आदि.

सूर्य के संपर्क से होंठों को बचाएं

जितना संभव हो सीधी तौर पर सूरज की रोशनी के संपर्क से होंठों को बचाना चाहिए. सिर पर इस तरह की कैप पहनें जो चेहरे को सूरज की रोशनी से बचा सके. होंठों को बचाने वाली सनस्क्रीन लोशन का प्रयोग डेली रूटीन में करना चाहिए.

डेंटिस्ट से रेगुलर चेकअप

मुंह के रेगुलर चेकअप के लिए डेंटिस्ट के पास जाना उचित है, ताकि चेकअप के दौरान कोई भी बदलाव दिखने पर डॉक्टर उसकी सही तरह से जांच कर सके.

ओरल सेक्स से बचें

इस दौरान ओरल सेक्स से बचना चाहिए, क्योंकि सेक्सुअल ट्रांसमिटेड वायरस, जिसे ह्यूमन पेपिलोमा वायरस (HPV) कहा जाता है, से इंफेक्शन हो सकता है.

अगर मुंह के कैंसर से बचना चाहते हैं, तो अपने मुंह के स्वास्थ्य पर खास ध्यान दें. साल में एक बार डेंटल चेक-अप, जरूर करवा लें. कैंसर को ठीक करने के लिए डाइट अहम भूमिका निभाती है. इसलिए, शरीर के लिए फायदेमंद चीजें, जैसे - प्रोटीन युक्त डाइट, फल-सब्जियां आदि खाएं. डाइट संतुलित हो तो ठीक होने में कम समय लगता है. अल्कोहल व तंबाकू आदि के सेवन से बचें. उचित डाइट के लिए डॉक्टर से सलाह लें.

Dr. Anoop Mantri

Dr. Anoop Mantri

ऑन्कोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव

David K Simson

David K Simson

ऑन्कोलॉजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Nilesh Ranjan

Dr. Nilesh Ranjan

ऑन्कोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव

Dr. Ashok Vaid

Dr. Ashok Vaid

ऑन्कोलॉजी
31 वर्षों का अनुभव

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ