myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

सेमल एक औषधीय पेड़ है और इसे साइलेंट डॉक्टर भी कहा जाता है। इस पौधे की सबसे अधिक खेती भारत, मलेशिया, श्रीलंका, हांगकांग, ऑस्ट्रेलिया और अफ्रीका में की जाती है। इस पेड़ के हर हिस्से को विभिन्न प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। इसका उपयोग अस्थमा, दस्त, घाव, ल्‍यूकोरिया, एनीमिया और त्वचा की समस्याओं के इलाज में किया जाता है।

तो आइये जानते हैं इसके लाभों के बारे में:

  1. सेमल के फायदे स्वप्नदोष के लिए - Semal ke fayde swpan dosh ke liye
  2. सेमल के लाभ करें रक्त को साफ करने में मदद - Semal ke labh karen rakt ko saf karne mein madad
  3. सेमल की जड़ के फायदे हैं ल्यूकोरिया में लाभकारी - Semal ki jad ke fayde hai leucorrhoea mein labhkari
  4. सेमल खाने के फायदे दिलाएं हैवी पीरियड्स से राहत - Semal khane ke fayde dilayen heavy periods se raahat
  5. सेमल के गुण करें मुहांसों की समस्या को दूर - Semal ke gun karen muhanson ki samasya ko dur
  6. सेमल की छाल के फायदे भरें घाव को जल्दी - Semal ki chhal ke fayde bhare ghav ko jaldi
  7. सेमल फूल के फायदे करें कमजोरी को दूर - Semal phool ke fayde karen kamjori ko dur
  8. सेमल करें यूरिनरी डिसऑर्डर से बचाव - Semal karen urinary disorder se bachaav
  9. सेमल की जड़ के लाभ बढ़ाएं ब्रेस्ट मिल्क - Semal ki jad ke labh badhayen breast milk
  10. सेमल के औषधीय गुण बचाएं जुकाम से - Semal keaushdhiya gun bachayen jukam se

स्वप्नदोष का इलाज करने के लिए भी आप इस जड़ी बूटी का इस्तेमाल कर सकते हैं। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

सामग्री:

सेमल का इस्तेमाल स्वप्नदोष का इलाज करने के लिए कैसे करें:

  • सेमल की जड़ का पाउडर, विदारी की जड़ का पाउडर, शतावर और मिश्री को मिक्स कर लें।
  • इसके बाद दिन में दो बार दूध के साथ इस मिश्रण का सेवन करें।

(और पढ़ें - धातु रोग का उपचार)

यह जड़ी बूटी खून को साफ करने में भी लाभकारी पाई गई है। यदि इसका पर्याप्त मात्रा में सेवन किया जाए तो यह जड़ी बूटी खून को अंदर से साफ करने में मदद करती है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

(और पढ़ें - खून को साफ करने वाले आहार)

सामग्री:

  • सेमल के पत्ते 
  • पानी

सेमल का इस्तेमाल ब्लड पूरीफिकेशन के लिए कैसे करें:

  • सबसे पहले सेमल के पत्तों को अच्छे से धोएं।
  • अब इन पत्तों को पानी में अच्छे से ग्राइंड कर लें।
  • इसके बाद इस मिश्रण को छान कर, इसका सेवन करें।

(और पढ़ें - खून साफ करने के उपाय)

ल्यूकोरिया से राहत पाने के लिए भी आप, सेमल का सेवन कर सकते हैं। यह जड़ी बूटी इस समस्या को ठीक करने में मदद करती है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

(और पढ़ें - गर्भावस्था में योनि से सफेद पानी आने का इलाज)

सामग्री:

  • सेमल की जड़ का पाउडर
  • पानी या दूध

सेमल का इस्तेमाल ल्यूकोरिया का इलाज करने के लिए कैसे करें:

  • सबसे पहले सेमल की जड़ को अच्छे से धो लें।
  • अच्छे से सुखाने के बाद, पाउडर तैयार करें।
  • आप दिन में दो बार पानी या दूध के साथ इस पाउडर का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़ें - योनि से सफेद पानी के उपाय)

सेमल के सेवन से आपको हैवी पीरियड्स से राहत मिल सकती है। निम्नलिखित तरीके से इसका प्रयोग करें:

सामग्री:

  • सेमल की जड़ का पाउडर - 100 ग्राम
  • मुलेठी पाउडर - 50 ग्राम
  • स्वर्ण गेरू - 25 ग्राम
  • पानी या दूध

सेमल का इस्तेमाल हैवी पीरियड्स के लिए कैसे करें:

  • सेमल की जड़ के पाउडर, मुलेठी पाउडर और स्वर्ण गेरू को अच्छे से मिक्स करें।
  • इसके बाद दिन में दो बार पानी के साथ इन मिश्रण का सेवन करें।

(और पढ़ें - पीरियड कम करने के घरेलू उपाय)

सेमल का उपयोग मुहांसेफोड़ेत्वचा के निशान और जलने के निशान को कम करने के लिए किया जा सकता है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

सामग्री:

  • सेमल के तने का कांटेदार हिस्सा
  • दूध या पानी

सेमल का इस्तेमाल मुहांसों को ठीक करने के लिए कैसे करें:

  • सेमल के तने के कांटेदार हिस्से को पानी और दूध में मिक्स करके पेस्ट तैयार करें।
  • अब इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगाएं।

(और पढ़ें - मुँहासे हटाने के घरेलू उपाय

सेमल घाव को जल्दी से ठीक करने में मदद करता है। सेमल की छाल का पेस्ट घाव को भरने में मदद करता है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

सामग्री:
सेमल की छाल

सेमल का इस्तेमाल घाव के लिए कैसे करें:

  • सेमल की छाल को अच्छे से साफ कर लें।
  • इसके बाद इस छाल से एक पेस्ट तैयार करें।
  • इस पेस्ट को अपने घावों पर लगाएं।
  • यह पेस्ट दिन में कम से कम चार से पांच बार लगाएं।

(और पढ़ें - घाव ठीक करने के उपाय)

सेमल के उपयोग से शरीर की कमजोरी को दूर करने में मदद मिल सकती है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

सामग्री:

सेमल का इस्तेमाल कमजोरी दूर करने के लिए कैसे करें:

  • सेमल के फूल के हरे भाग को अच्छे से साफ करें।
  • इसके बाद इसे छाया में सूखाएं और पाउडर तैयार करें।
  • अब दूध में सेमल के फूलों का पाउडर, शहद और देसी घी को अच्छे से मिक्स करें।
  • और दिन में एक बार इसका सेवन करें।

(और पढ़ें - कमजोरी दूर करने के उपाय)

किसी भी प्रकार की मूत्र समस्याओं से राहत पाने के लिए, आप सेमल की छाल का उपयोग कर सकते हैं। यह जड़ी बूटी मूत्र विकारों में बहुत ही लाभकारी है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

(और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन का इलाज)

सामग्री:

  • सेमल की छाल - 20 ग्राम
  • पलाश के फूल - 10 ग्राम

सेमल का इस्तेमाल मूत्र समस्याओं के लिए कैसे करें:

  • सेमल की छाल और पलाश के फूलों को मिक्स करके एक काढ़ा तैयार करें।
  • अब 10ml की खुराक में इसका सेवन करें।
  • यह उपाय मूत्र समस्याओं के लिए बहुत ही लाभकारी होता है।

(और पढ़ें - यूरिन इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए, पर्याप्त मात्रा में दूध का उत्पादन होना बहुत ही जरूरी होता है। ऐसे में आप सेमल का सेवन कर सकते हैं। यह जड़ी बूटी स्तन दूध को बढ़ाने में लाभकारी मानी गई है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

(और पढ़ें - माँ का दूध कम होने के कारण)

सामग्री:
सेमल की जड़ की छाल

सेमल का इस्तेमाल स्तन दूध बढ़ाने के लिए कैसे करें:

  • सेमल की जड़ की छाल को अच्छे से साफ करें।
  • इसके बाद जड़ को अच्छे से सूखाकर, पाउडर बना लें।
  • अब स्तन में दूध बढ़ाने के लिए इस पाउडर का दिन में दो बार सेवन करें।

(और पढ़ें - ब्रेस्ट मिल्क बढ़ाने के लिए क्या खाएं)

जुकाम और खांसी को ठीक करने के लिए, यदि सेमल का सेवन किया जाएं तो यह बहुत ही लाभकारी साबित हो सकता है। नीचे इसके बारे में बताया जा रहा है:

सामग्री:

सेमल का इस्तेमाल जुकाम और खांसी के लिए कैसे करें:

  • जुकाम और खांसी का इलाज करने के लिए, आप सेमल की जड़ के पाउडर, अदरक और काली मिर्च पाउडर को अच्छे से मिक्स करें।
  • जुकाम और खांसी को ठीक करने के लिए, एक छोटी मात्रा में इसका सेवन करें।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...