myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गर्भावस्था के दौरान महिलाओं के शरीर में कई तरह के बदलाव होते हैं। इस समय हार्मोन के बढ़ने से उनके शरीर में ये परिवर्तन होना शुरू हो जाते हैं। इन परिवर्तनों व बदलाव को देखकर कई महिलाएं घबरा जाती हैं। प्रेगनेंसी के समय महिलाओं के शरीर में होने वाले आम बदलावों में से एक है योनि से सफेद पानी आना। महिलाओं में यह अवस्था गर्भकाल के शुरूआती समय से प्रारंभ होती है और बच्चे के जन्म तक रहती है। योनि से डिस्चार्ज कई प्रकार का होता है, जैसे – गंधहीन, हल्की गंध वाला, सफेद, भूरा, हल्का गुलाबी आदि। यह इस बात की ओर संकेत करता है कि आपके शरीर में एस्ट्रोजन व योनि के क्षेत्र में रक्त का बहाव अधिक हो गया है। यह स्त्राव गर्भाशय ग्रीवा, योनि की पुरानी कोशिकाओं व बैक्टीरिया से बनता है। स्वस्थ डिस्चार्ज मुख्यतः होता है-

  • सफेद रंग
  • हल्का व गाढ़ा चिपचिपा
  • हल्की गंधयुक्त व गंधहीन

प्रसव से पूर्व योनि से सफेद पानी के स्त्राव (डिस्चार्ज) की अधिकता हो जाती है और यह आपके सामान्य डिस्चार्ज से थोड़ा अलग होता है।

(और पढ़ें - प्रेग्नेंसी की जानकारी और नॉर्मल डिलीवरी कैसे होती है)

  1. प्रेग्नेंसी में योनि से डिस्चार्ज होना समस्या कब बनता है? - When is vaginal discharge in pregnancy a warning sign in Hindi
  2. गर्भावस्था के दौरान योनि से सफेद पानी आने पर क्या उपाय करें? - What can you do about vaginal discharge during pregnancy in Hindi

प्रेग्नेंसी के दौरान जब आपको हरे रंग का डिस्चार्ज हो रहा हो, डिस्चार्ज के समय दर्द हो और इससे अलग तरह की गंध आ रही हो तो समझ जाएं कि यह आपके लिए समस्या बन चुका है। यह सीधे तौर पर किसी संक्रमण की ओर इशारा करता है। ऐसे में आपको किसी डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

(और पढ़ें - योनि के बारे में जानकारी)

इन परिस्थितियों में डॉक्टर से मिलना जरूरी है -

  • जब आपकी गर्भावस्था के 37 हफ्ते न हुए हों और अधिक सफेद पानी का स्त्राव (डिस्चार्ज) हो रहा हो या डिस्चार्ज में बदलाव हो गया हो। उदाहण के लिए अगर आपको साफ व पानी की तरह चिपचिपा तरल पदार्थ निकल रहा हो तो यह आपके बच्चे के बनने से पूर्व ही आपकी झिल्ली के टूटने की ओर संकेत करता है।
  • आपकी योनि में सूजन, गंधहीन सफेद डिस्चार्ज होना, संभोग के समय दर्द व मूत्रत्याग के समय परेशानी होना। इसके साथ ही साथ योनि में खुजली, योनि में जलनयोनि में दर्द होना योनि के संक्रमण (योनि में यीस्ट संक्रमण) का संकेत है।
  • महिलाओं को सेक्स के बाद पतला सफेद व भूरे रंग का मछली की गंध की तरह डिस्चार्ज होने से योनि का संक्रमण, बैक्टीरियल वैजिनोसिस हो सकता है। (और पढ़ें - बैक्टीरियल वेजिनोसिस का उपचार)
  • यदि आपका डिस्चार्ज पीला व हरे रंग का हो और बदबूदार हो तो यह सामान्य तरह के यौन संचारित संक्रमण ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis) होने का संकेत होता है। ट्राइकोमोनिएसिस होने के अन्य लक्षण हैं, संभोग व मूत्र त्याग के समय मुश्किल होना और आपकी योनि में लालिमा आना, जलन होना व खुचली होना शामिल है।
  • आपकी योनि से निकलने वाले सफेद पानी के रंग का बदलना, उसका कम या ज्यादा होना व सामान्य डिस्चार्च में परिर्वतन होना इस बात का संकेत है कि आपको जल्द ही डॉक्टर से मिलकर इसका इलाज कराना होगा। 

इस समस्या में होने वाले लक्षण, जैसे जलन व खुचली से आपको यह पता नहीं चल पाता है कि आपको योनि का संक्रमण या यौन संचारित संक्रमण हुआ है। साथ ही साथ आपको इस समस्या के लक्षण दिखाई दें तो आप खुद ही इसके लिए दवा न लें। इसके लिए आप पहले अपने डॉक्टर की सलाह लें।

(और पढ़ें - योनि में जलन के कारण, इलाज)

योनि से निम्न तरह का तरल आना कई बार सामान्य तो कई बार समस्या की ओर संकेत करता है।

  1. सफेद या दूधिया रंग का – हल्की गंध के साथ इसकी मात्रा में बदलाव न हो तो यह सामान्य समझा जाता है, जबकि यह पानी की तरह दर्द, जलन और खुचली के साथ लगातार निकल रहा हो तो यह असामान्य माना जाता है। (और पढ़ें - योनि से सफेद पानी आना)
  2. गुलाबी – यदि आपकी योनि से हल्के गुलाबी रंग के पानी का स्त्राव (डिस्चार्ज) हो रहा है तो आपको इस समस्या के लिए आपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  3. भूरा – अगर लगातार भूरे रंग का डिस्चार्ज हो रहा है तो आपको किसी डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  4. लाल – यदि किसी महिला को लगातार खून की तरह लाल रंग का डिस्चार्ज हो रहा हो, तो इस अवस्था में आपको तुरंत किसी डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। (और पढ़ें - योनि से रक्तस्त्राव के कारण)

गर्भावस्था में योनि से पानी आने के कुछ ऐसे उदाहरण जो असामान्य होते हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में पेट दर्द और लड़का होने के लिए उपाय से जुड़े मिथक)

  1. पीला – आपका डिस्चार्ज पीलापन लिए हो और लगातार हो रहा हो, तो समझ जाए कि यह आपके लिए समस्या का कारण है। ऐसा होने पर आप डॉक्टर से मिलकर इस परेशानी का सही इलाज कराएं।
  2. हरा – अगर आपको हरे रंग का डिस्चार्ज हो रहा है और इससे बदूबदार गंध आ रही है, तो आपकी यह स्तिथि सामान्य नहीं समझी जाती है।
  3. हल्का स्लेटी (Grey) – यह डिस्चार्ज पानी के जैसे व मछली की तरह गंध लिए होता है। इसको भी असामान्य की श्रेणी में रखा जाता है।

(और पढ़ें - गर्भावस्था में कमर दर्द)

अगर आपको संक्रमण के कारण डिस्चार्ज हो रहा है तो आप संक्रमण का इलाज करके ही इसको ठीक कर सकती हैं। प्रेग्नेंसी के दौरान यदि काफी जरूरत हो तो आप इस तरह के अंतवस्त्र का उपयोग करें, जो इस डिस्चार्ज को अवशोषित कर लें। लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान आपको टैम्पोन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

(और पढ़ें - योनि की दुर्गंध)

योनि के आसपास के हिस्से को साफ रखने के लिए आप निम्न उपायों को आजमाएं।

  • योनि को ऊपर से नीचे की ओर साफ करें।
  • कॉटन के अंतरवस्त्र (अंडरगारमेंट) पहनें।
  • ज्यादा टाइट पैंट या जिंस ना पहनें।
  • सुंगधित पैड, टॉयलेट पेपर, महिलाओं के निजी अंगों की स्वच्छता के लिए स्प्रे व अधिक खुशबूदार साबुन का योनि में इस्तेमाल न करें।

(और पढ़ें - योनि को साफ और स्वस्थ कैसे रखें)

वैजाइनल वॉश (Vaginal wash, Douching) के द्वारा महिलाएं अपनी योनि को बैक्टीरिया मुक्त रख सकती हैं। इस प्रक्रिया में पानी और सिरके को मिलाकर मिश्रण तैयार किया जाता है और इस मिश्रण से आप समय-समय पर योनि को साफ कर सकती। लेकिन कई डॉक्टर इसको सही नहीं मानते हैं, क्योंकि इससे प्रेग्नेंसी के समय कई तरह की समस्याएं होने का खतरा बना रहता है। इस उपाय का इस्तेमाल करने से पहले कृप्या अपने डॉक्टर से इसके बारे में बात करें।

(और पढ़ें - पीरियड के कितने दिन बाद प्रेगनेंसी टेस्ट करे और टेस्ट ट्यूब बेबी का खर्च)

और पढ़ें ...