myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कंडोम के बिना सेक्स करने के विकल्प का चुनाव करना एक बड़ा मुद्दा है। इस निर्णय से आप बहुत अच्छा भी महसूस कर सकती है, लेकिन अगले ही पल यह निर्णय आपको चिंताजनक स्थिति में भी ला सकता है। कंडोम के बिना यौन संबंध बनाने के जोखिमों के बारे में जितना अधिक आप जानती हैं या जानते हैं, उतना ही आप अपने और अपने साथी के लिए सही विकल्प चुनने में अधिक सक्षम होंगे।

(और पढ़े - महिला कंडोम कैसे उपयोग करते हैं)

वास्तव में, कोई भी निर्णय लेने से पहले ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिन्हें आपको जानना चाहिए। इस लेख के साथ शुरू करते हैं। याद रखे कि अनचाही गर्भावस्था और यौन संपर्क से होने वाले संक्रमण को रोकने के लिए सुरक्षित यौन संबंध ही एकमात्र तरीका है। ओरल गर्भ निरोधक और जन्म नियंत्रण के अन्य रूप यानी, गर्भनिरोधक इंजेक्शन या इंट्रायूटेरिन डिवाइस, केवल गर्भावस्था के खिलाफ सुरक्षा करते हैं। लेकिन एचपीवी, क्लैमिडिया, हर्पीस, एचआईवी, सिफलिस या ऐसे ही अन्य यौन संक्रमण से केवल कंडोम ही आपको अधिक सुरक्षित करते हैं।

(और पढ़े - प्रेगनेंसी रोकने के उपाय)

यदि आप भी उन कुछ पुरुषों में से हैं जो कंडोम के बिना सेक्स करना पसंद करते हैं तो इस लेख को पड़ना आपके लिए उतना ही महत्वपूर्ण हैं जितना कि एक महिला का यह जानना कि कंडोम के बिना सेक्स क्यों पसंद करते हैं पुरुष? इस लेख में कंडोम के बिना सेक्स करने के जोखिम या नुकसान के बारे में विस्तार से बताया गया है। उन महिलाओं के लिए भी यहाँ विशेष टिप्स दिए गए हैं जिनके साथी उन पर बिना कंडोम के सेक्स करने का दबाव डालते हैं।

  1. कंडोम के बिना सेक्स क्यों पसंद करते हैं पुरुष? - Why sex without protection in hindi
  2. बिना कंडोम सेक्स के जोखिम - Sex without condom risks in hindi
  3. कंडोम के बिना सेक्स करने के बहाने - Excuses to not use a condom in hindi
  4. कंडोम के बिना सुरक्षित सेक्स कैसे करें - Tips for safe sex without condom in hindi
  5. बिना कंडोम सेक्स के जोखिम के डॉक्टर

सबसे पहला सवाल जो ज्यादातर महिलाओं के मन में आता होगा वह यह है कि आखिर “वो बिना कंडोम के सेक्स करना क्यों पसंद करता है” ऐसा करने के पीछे पुरुषों की कुछ धारणाएं सबसे बड़ा कारण है।  जैसे - कुछ पुरुषों को लगता है कि कंडोम के बिना सेक्स करना कंडोम के साथ सेक्स करने से बेहतर लगता है, इसलिए कई पुरुष इसका उपयोग करने से बचते हैं।

(और पढ़े - सेक्स से जुड़े भ्रम और तथ्य)

कुछ लोगों के लिए तो यह केवल एक बाधा से अधिक कुछ नहीं है। उनको कंडोम के बिना यौन संबंध रखने से रिश्तों में अधिक भावनात्मक अंतरंगता महसूस होती है, शायद इसलिए बिना कंडोम के सेक्स आमतौर पर दीर्घकालिक संबंधों वाले गंभीर जोड़ों में अधिक किया जाता है।

(और पढ़े - सेक्स लाइफ मजेदार बनाने के टिप्स)

केवल किसी एक ही व्यक्ति से संबंध रखने वाले कई जोड़ों को अपने संबंधों में पहली बार कोई कंडोम नहीं होने पर भी यौन संबंध रखने की स्वतंत्रता मिल जाती है। कंडोम को उपयोग न करना, कुछ लोगों के लिए, विश्वास बढ़ाने वाला कार्य भी हो सकता है और यह अक्सर कंडोम खरीदने से भी सस्ता है।

(और पढ़े - सेक्स के दौरान की जाने वाली गलतियां)

विचार करने की एक अन्य बात वीर्य का संभावित लाभ है। कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि एंड्रॉफिन, एस्ट्रोन, प्रोलैक्टिन, ऑक्सीटोसिन, थायरोट्रोपिन-रिलीजिंग हार्मोन और सेरोटोनिन समेत आपके पुरुष साथी के वीर्य में पाए जाने वाले ये यौगिक आपके मूड को बढ़ावा दे सकते हैं। तो यदि आप कंडोम का उपयोग नहीं करते हैं, तो आपके योनि के ऊतक उन यौगिकों को अवशोषित कर सकते हैं, जिससे आप बेहतर मनोदशा में आ सकती हैं।

(और पढ़े - प्रोलैक्टिन परीक्षण क्या है)

अंत में, कुछ पुरुष तर्क दे सकते हैं कि वे कंडोम पहनते समय लिंग में उत्तेजना बनाए नहीं रख सकते हैं। यह बात पुरुषों की एक छोटी संख्या के लिए सच हो सकती है, लेकिन कंडोम का उपयोग करते समय अधिकांश पुरुष अपने हथियार को चट्टान की तरह कठोर बना कर रख सकते हैं।

(और पढ़े - कामेच्छा बढ़ाने के उपाय)

इसलिए ऐसे लोगों से सावधान रहें जो बिना कंडोम के यौन संबंध रखने का प्रयास करते हैं यदि वे नकारात्मक एसटीआई (कि उन्हें किसी तरह का यौन संक्रमण नहीं है) का सबुत नहीं प्रदान नहीं कर सकते हैं या यदि आप उन पर भरोसा नहीं करती हैं या उन्हें भरोसा करने के लिए पर्याप्त रूप से नहीं जानती हैं।

(और पढ़े - यौन संबंध में सहमति का महत्त्व)

कंडोम का इतना अधिक महत्त्व होने के कुछ अच्छे कारण हैं। वे एसटीआई यानी यौन संपर्क से होने वाले संक्रमण से हमारी सबसे बेहतर सुरक्षा करते हैं। वे किसी भी पल उपयोग करने के लिए तैयार रहते हैं और आपको डॉक्टर के पास जाने की जरुरत भी नहीं है। लेकिन कुछ समय तक डेटिंग के बाद, कई जोड़े एक ऐसे बिंदु तक पहुंचते हैं जब कंडोम के लिए उनका प्यार खत्म हो जाता है।

क्या आप और आपके साथी भी कंडोम का उपयोग छोड़ने पर विचार कर रहे हैं? अपने "रेनकोट" के बिना तूफान में प्रवेश करने से पहले कुछ चीजों पर विचार करना आपके लिए बेहतर होगा। यहां कुछ बातें दी गई हैं, जो एक सही निर्णय लेने में आपकी मदद कर सकती हैं।

इस बात को अच्छे से समझें कि अधिकांश एसटीआई के बारे में आप किसी व्यक्ति को केवल देख कर पता नहीं कर सकती हैं। एसटीआई बेहद आम हैं - आधे वयस्कों को 25 साल की उम्र में कम से कम एक एसटीआई हो जाती है और कई विशेषज्ञों का मानना ​​है कि लगभग हर कोई जो यौन रूप से सक्रिय है वह ह्यूमन पेपिलोमावायरस (एचपीवी) प्राप्त कर लेता है। परीक्षण ही इसे जानने का निश्चित रूप से एकमात्र तरीका है।

प्रेग्नेंसी - यदि आप गर्भवती होने का खतरा मोल नहीं लेना चाहती हैं तो सही ढंग से उपयोग किए जाने पर इससे सुरक्षा प्रदान करने में कंडोम 98% तक प्रभावी होते हैं। जब तक, एक या दोनों साथी बांझ नहीं हो, चाहे वासेक्टोमी से, चाहे अंडाणु की कमी से तब तक कंडोम का उपयोग करना न छोड़े।

(और पढ़े - गर्भवती होने का तरीका)

अन्य संक्रमण - जो महिलाएं अपने साथी के साथ कंडोम का उपयोग नहीं करती हैं, उनको योनि में बैक्टीरियल संक्रमण होने की आशंका अधिक होती हैं, जिन्हें बैक्टीरियल वेजिनोसिस (बीवी) भी कहा जाता है। यहां तक ​​कि हल्के बीवी भी योनि में खुजली, स्पॉटिंग और असहज डिस्चार्ज का कारण बन सकते हैं जबकि गंभीर मामले में एंटीबायोटिक्स की आवश्यकता हो सकती है। एक बार आपको बीवी यानी बैक्टीरियल वेजिनोसिस हो जाने के बाद, भविष्य में इस प्रकार के संक्रमण होने की आशंका अधिक हो जाती है।

(और पढ़े - योनि में खुजली के उपाय)

आप जानती हैं कि कंडोम के बिना यौन संबंध रखने का निर्णय एक बड़ा निर्णय है - इसलिए आप यह सुनिश्चित जरूर करें कि आप ऐसा इसलिए कर रही हैं क्योंकि आप स्वयं करना चाहती हैं। लेकिन अगर आप अपने रिश्ते की ज़रूरतों और स्वास्थ्य की चिंता नहीं करती हैं और बस अपने साथी को खुश करने की कोशिश कर रही हैं तो यह स्थिति आपको परेशान, शक्तिहीन और आम तौर पर नाखुश महसूस करवा सकती हैं।

याद रखें, जो व्यक्ति आपके बारे में परवाह करता है वह आप पर ऐसा कुछ करने के लिए दबाव नहीं डालेगा जिसमें आप सहज नहीं हैं। केवल अपने साथी के आग्रह पर कंडोम का उपयोग करना आपके साथी को आपके साथ पहले से कहीं अधिक जुड़ा हुआ महसूस करवाने वाला नहीं है। कंडोम के बिना यौन संबंध रखना मतलब एक बहुत बड़ा जोखिम लेना है।

जब आप यौन संबंध बनाते हैं, तो कंडोम का उपयोग करके आप स्वयं को और अपने साथी को यौन संपर्क से होने वाले संक्रमण (एसटीआई) और गर्भावस्था से भी बचाते हैं। यदि आपका साथी कंडोम का उपयोग नहीं करना चाहता है तो उसके लिए वो निम्नलिखित कुछ बहाने बना सकता है इसलिए हम आपके लिए यह बता रहे हैं कि ऐसे सभी आम बहानों का जवाब आप कैसे दे सकती हैं।

"मुझे कंडोम की जरूरत नहीं है - मैं स्वस्थ हूं"
आप किसी को देखकर यह नहीं बता सकते कि उन्हें संक्रमण हो रहा है - एसटीआई वाले कई लोगों को कोई दिखने योग्य लक्षण नहीं होते हैं। सिर्फ इसलिए कि आप कोई स्पष्ट लक्षण नहीं देख सकती हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि कोई एसटीआई से मुक्त है। इसलिए स्वयं और साथी की जाँच करा लें।

"मुझे कंडोम का उपयोग करना पसंद नहीं है - में नैचुरल तरीका पसंद करता हूँ"
कंडोम के साथ भी सेक्स करना नैचुरल महसूस हो सकता है। सुपरफाइन कंडोम का प्रयास करें या दोनों कंडोम पहनने की प्रक्रिया में शामिल हो जाएं ताकि यह यौन संबंध बनाने का हिस्सा बन जाए। कंडोम सेक्स में आनंद बड़ा भी सकता है। ऐसे कंडोम हैं जो आपको और आपके साथी को सनसनी या गर्म महसूस करा सकते हैं, ये लंबे समय तक टिकने में आपकी सहायता कर सकते हैं। अलग-अलग बनावट, स्वाद और रंगीन कंडोम भी उपलब्ध हैं।

"मैं कंडोम पहनना नहीं चाहता - मैं संवेदनशीलता खो देता हूं"
अगर कंडोम से आप या आपके साथी ने अतीत में संवेदनशीलता खो दी है, तो पतले कंडोम बेचने वाले ब्रांड की तलाश करें। कुछ बहुत पतले होते हैं और आप ऐसा महसूस करते हैं जैसे कि आपने कुछ नहीं पहना हैं।

"मैं कंडोम पहनना नहीं चाहता - यह मेरे प्रदर्शन को प्रभावित करता है"
कुछ लोगों को कंडोम पहने हुए उत्तेजना लाना मुश्किल लगता है। ऐसा अक्सर होता है क्योंकि पहली बार जब वे कंडोम का उपयोग करने की कोशिश करते हैं तो वे सेक्स करने वाले होते हैं। उनका इरेक्शन कम हो सकता है, वे इसके बारे में चिंतित हो जाते हैं, अपना इरेक्शन खो देते हैं और फिर इसे कंडोम से जोड़ते हैं।

(और पढ़े - पुरुषों के गुप्त रोग के प्रकार)

कुछ लोग इस बात की भी चिंता कर सकते हैं कि उनके यौन साथी क्या सोचेंगे। यदि आप इसको लेकर चिंतित हैं तो कंडोम डालने का अभ्यास करें। कंडोम पहने हुए सेक्स का आनंद लेना सीखें। संभोग करने में मदद करने के लिए कंडोम के साथ हस्तमैथुन करने का प्रयास करें। इस तरह, अगली बार सेक्स के दौरान अधिक आत्मविश्वास महसूस करेंगे।

"मैं एक कंडोम पहनना नहीं चाहता - यह पल खराब करता है"
लोग सेक्स टॉय से को एक बाधा नहीं समझते हैं ऐसा शायद इसलिए है क्योंकि वे इसे सेक्सी पाते हैं। जब आप कंडोम पहन रहे हों तो सेक्स के बारे में सोचें - आपकी साथी इसे आपके लिए पहना सकती है या आप कंडोम पहनते हुए अपनी साथी को कपडे उतारते हुए देख सकते हैं। इस तरह, आप उत्तेजित रहेंगे और कंडोम पहनना भी सेक्स का हिस्सा बन जाएगा बाधा नहीं।

"मैं कंडोम नहीं पहन सकता - वे चोट पहुंचाते हैं या वे बहुत छोटे होते हैं"
जो कंडोम बहुत तंग होता है, वह असहज महसूस करा सकता है, लेकिन कंडोम कई आकारों में आते हैं ताकि उसको फिट आ सकें। यदि आप जिन कंडोम का उपयोग कर रहे हैं वे बहुत छोटे हैं, तो बड़े आकार में आने वाले ब्रांड के कंडोम लें। यौन संबंध बनाने से पहले आजमाएं कि यह कैसा महसूस करता है। आपका गर्भनिरोधक क्लिनिक या फार्मासिस्ट आपको उपयुक्त ब्रांड खोजने में मदद कर सकता है।

"मुझे कंडोम की ज़रूरत नहीं है - मैं बांझ हूं या मैने वेसेक्टॉमी करवा ली थी"
30 साल से कम उम्र के पुरुषों की केवल थोड़ी सी संख्या बांझ होती है, इसलिए यदि कोई आपको बताता है कि वे बांझ हैं, तो वे झूठ भी कह सकते हैं और भले ही कोई आदमी बांझ है या नहीं, वह अभी भी असुरक्षित यौन संबंध रखने से एसटीआई फैला सकता है और उसकी उम्र चाहे जो हो।

(और पढ़े - सुरक्षित सेक्स कैसे करें)

"मुझे कंडोम नहीं मिला"
घर पर कंडोम रखें और जब आप बाहर जाते हैं तो हमेशा उन्हें अपने साथ ले जाएं ताकि आप हमेशा तैयार रहें। इस तरह, अगर आपके साथी का कहना है कि उन्हें खरीदने के लिए उन्हें पैसा नहीं मिला है, तो आपके पास कुछ आपके साथ होंगे।

"मुझे कंडोम की जरूरत नहीं है - हम काफी समय से एक दूसरे के साथ रहे हैं"
कई एसटीआई, जैसे कि क्लैमिडिया, में कोई ध्यान देने योग्य लक्षण नहीं होते हैं और लंबे समय तक पता नहीं लगते हैं। भले ही आप काफी समय से अपने साथी के साथ रहे हों, फिर भी आप जोखिम मुक्त नहीं हैं।

"मैं कंडोम नहीं पहन सकता - मुझे एलर्जी है"
केवल बहुत कम संख्या में लोगों को कंडोम से एलर्जी होती हैं, इसलिए किसी ऐसे व्यक्ति पर भरोसा न करें जो आपको बताता है कि उसे एलर्जी हैं। असुरक्षित यौन संबंध रखने के लिए एलर्जी एक अच्छा बहाना नहीं है, क्योंकि ऐसे कंडोम भी उपलब्ध हैं जो एलर्जी का कारण नहीं बनते हैं।

(और पढ़े - एलर्जी के घरेलू उपाय)

लिंग के प्रवेश के मामले में, कंडोम का उपयोग, यह मानते हुए कि यह सही ढंग से उपयोग किया जाता है और फटता नहीं है, लिंग और योनि के बीच किसी भी पदार्थ के आदान-प्रदान को रोकता है। विशेष रूप से, यह गर्भाधान और एसटीडी के आदान-प्रदान को रोकता है।

आदर्श रूप से तो आपको स्वस्थ साथी के साथ ही यौन संबंध रखना चाहिए चाहे आप कंडोम का उपयोग करें या नहीं, इस पर विचार करते हुए कि यह संभोग के दौरान फट भी सकता है। नियमित जाँच करना भी एक अच्छा विचार है। यौन संक्रमित बीमारियों के बारे में अपने साथी से पूछने से कभी भी डरे नहीं। अपने स्वास्थ्य के लिए आप ही अपनी सबसे अच्छी वकील हैं।

बहुत से लोग पूछते हैं कि कंडोम के बिना हम कैसे सुरक्षित सेक्स कर सकते हैं? तो, उनके लिए, इसका केवल एक ही तरीका है कि आप अपने हाथों का उपयोग करके अपने साथी के जननांगों को स्पर्श करके उसे यौन संतुष्टि दे सकते हैं। महिलाओं की योनि में क्लाइटोरिस और जी स्पॉट की मदद से आप उनको बिना लिंग प्रवेश के भी ऑर्गास्म का सुख दे सकते हैं। महिला साथी भी अपने हाथों से आपके जननांगों को छूकर आपको संतुष्टि दे सकती हैं। यदि आप एसटीआई से सुरक्षित रहना चाहती हैं या रहना चाहते हैं तो अपने साथी के साथ सुरक्षित यौन संबंध रखने का यही एकमात्र तरीका है।

सौ बात की एक बात यह है कि कंडोम के बिना सेक्स करने से हमेशा जोखिम होगा। सभी यौन गतिविधियों से कोई न कोई जोखिम जुड़ा होता है। आप किस स्तर के जोखिम में सहज महसूस करते हैं, उसे समझने के लिए अपने साथी के साथ सहयोग करना आप पर निर्भर है और हमेशा याद रखें - अपने प्रजनन स्वास्थ्य का ध्यान रखने के लिए उचित निर्णय अंत में आपको स्वयं लेना हैं।

(और पढ़े - महिलाएं सेक्स में पुरुषों से क्या चाहती हैं)

Dr. Pranay Gandhi

Dr. Pranay Gandhi

सेक्सोलोजी

Dr. Tarun

Dr. Tarun

सेक्सोलोजी

Dr. Ghanshyam Digrawal

Dr. Ghanshyam Digrawal

सेक्सोलोजी

और पढ़ें ...