हाइमनोप्लास्टी एक सर्जिकल प्रोसीजर है, जिसकी मदद से हाइमन को फिर से उसके मूल रूप में लाया जाता है। हाइमन योनिद्वार में मौजूद पतली व लचीली झिल्ली है, जो पहली बार योनि सेक्स करने पर फट सकती है। हालांकि, कुछ महिलाओं में यह झिल्ली सेक्स क्रिया शुरू करने से पहले ही फट जाती है, जो आमतौर पर साइकिल चलाना, घुड़सवारी करना या फिर टैम्पोन का इस्तेमाल करना आदि गतिविधियों में होती है।

दुनिया के कुछ हिस्सों में मौजूद सांस्कृतिक और सामाजिक मानदंडों में महिलाओं को उनकी शादी तक हाइमन झिल्ली को बचाकर रखने उम्मीद की जाती है। इसके कारण व अन्य निजी कारणों से कुछ महिलाएं हाइमनोप्लास्टी सर्जरी करवाने पर विचार करती हैं।

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी करने से पहले डॉक्टर आपका पेल्विक परीक्षण करेंगे और आपसे स्वास्थ्य संबंधी पिछली सभी जानकारियां लेंगे। आपको सर्जरी से कुछ दिन पहले और बाद तक धूम्रपान छोड़ने के लिए कहा जा सकता है, ताकि सर्जरी के घाव जल्दी ठीक हो सकें। हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी में आपको एक से अधिक दिन तक अस्पताल में रहने की आवश्यकता नहीं पड़ती है। हालांकि, डॉक्टर आपको सर्जरी से अगले दिन और फिर कुछ समय बाद बुला सकते हैं, ताकि यह पता लगाया जा सके कि सर्जरी ठीक हुई है या नहीं।

(और पढ़ें - योनि के बारे में जानकारी)

  1. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी क्या है - What is Hymen reconstruction surgery in Hindi
  2. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी किसलिए की जाती है - Why is Hymen reconstruction surgery done in Hindi
  3. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी से पहले - Before Hymen reconstruction surgery in Hindi
  4. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी के दौरान - During Hymen reconstruction surgery in Hindi
  5. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी के बाद - After Hymen reconstruction surgery in Hindi
  6. हाइमनोप्लास्टी (वर्जिनिटी) सर्जरी की जटिलताएं - Complications of Hymen reconstruction surgery in Hindi

हाइमनोप्लास्टी किसे कहते हैं?

हाइमनोप्लास्टी को हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी या हाइमनोरैफी के नाम से भी जाना जाता है। इस सर्जरी की मदद से हाइमन को वापस उसके मूल रूप में लाया जाता है। हाइमन योनिद्वार पर मौजूद एक पतली व लचीली झिल्ली होती है, जिसका कुछ हिस्सा योनि के अंदर होता है। आमतौर पर जब तक महिला वेजाइनल सेक्स नहीं करती है, तब तक यह झिल्ली अपनी मूल आकृति में ही रहती है। पहली बार योनि सेक्स के दौरान लिंग के प्रवेश के कारण यह झिल्ली फट जाती है और थोड़ा रक्तस्राव भी होता है। हाइमनोरैफी को अधिकतर मामलों में सामाजिक मान्यताओं के कारण किया जाता है।

हाइमन फटने की स्थिति को सामाजिक रूप से कौमार्य भंग हो जाना या वर्जिनिटी खत्म हो जाना आदि के नाम से जाना जाता है। हालांकि, वर्जिनिटी या कौमार्य एक सामाजिक शब्द या रचना है, जिसका चिकित्सा क्षेत्र से कोई संबंध नहीं है। कौमार्य या वर्जिनिटी की परिभाषा अलग-अलग दृष्टिकोणों के अनुसार भिन्न हो सकती है। कुछ लोगों या समुदायों के अनुसार जब तक महिला योनि सेक्स नहीं करती है, उसका कौमार्य भंग नहीं होता। जबकि कुछ के अनुसार किसी भी प्रकार की यौन गतिविधियों में शामिल होने से महिला या पुरुष का कौमार्य भंग हो जाता है।

इसके अलावा यदि हाइमन की बात की जाए तो वह बिना योनि सेक्स किए भी फट जाता है, जो आमतौर पर साइकिल चलाने, घुड़सवारी करने और टैम्पोन का उपयोग करने के कारण होता है।

(और पढ़ें - यौन स्वास्थ्य के बारे में जानकारी)

हाइमनोरैफी क्यों की जाती है?

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी में हाइमन के फटने के बाद उसे फिर से टांके लगाकर जोड़ दिया जाता है। कई बार फटे हुए हाइमन के अवशेषों को अलग तरीके से जोड़ कर नया हाइमन भी बना दिया जाता है। महिलाओं में आमतौर पर निम्न कारणों से ही हाइमनोप्लास्टी सर्जरी की जाती है -

  • सांस्कृतिक कारण
  • यौन उत्पीड़न
  • किसी चोट या दुर्घटना के कारण हाइमन क्षतिग्रस्त होना
  • पहले योनि सेक्स की भावना को फिर से अनुभव करने के लिए

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी किसे नहीं करवानी चाहिए?

कुछ स्थितियों में सर्जन हाइमनोप्लास्टी सर्जरी करने से मना कर सकते हैं, जैसे -

  • पेडू (पेल्विस) में संक्रमण (जांघों और पेट के बीच के हिस्से को पेडू कहा जाता है)
  • रक्त संबंधी विकार
  • कैंसर
  • वल्वोडायनिया (योनिद्वार में लंबे समय से दर्द या तकलीफ रहना)
  • सर्जरी के लाभ संबंधी दावों की उम्मीद न होना

(और पढ़ें - योनि में दर्द का कारण)

हाइमनोप्लास्टी सर्जरी से पहले क्या तैयारी की जाती है?

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी से पहले निम्न कार्य किए जाते हैं -

  • सबसे पहले आपके पेल्विक भाग की करीब से जांच की जाएगी और साथ ही आपसे स्वास्थ्य संबंधी कुछ प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • यदि आप किसी भी प्रकार की दवा, हर्बल उत्पाद, विटामिन, मिनरल या अन्य कोई सप्लीमेंट ले रही हैं, तो उसके बारे में डॉक्टर को बता दें। डॉक्टर इनमें से कुछ दवाओं को एक निश्चित समय के लिए बंद कर सकते हैं, जैसे एस्पिरिन, वारफेरिन या आइबुप्रोफेन जो रक्त को पतला करती हैं।
  • यदि आप धूम्रपान या शराब का सेवन करती हैं, तो उन्हें भी सर्जरी से कुछ समय पहले और बाद तक बंद करवाया जा सकता है, ताकि आप सर्जरी के बाद जल्दी स्वस्थ हो सकें।
  • अगर आपको वर्तमान में या कुछ समय पहले कोई बीमारी हुई है, तो इस बारे में डॉक्टर को बता दें। यदि आपको किसी दवा, भोजन या विशेष पदार्थ से एलर्जी है, तो भी इस बारे में डॉक्टर को बता दें। (और पढ़ें - खाने से एलर्जी के लक्षण)
  • डॉक्टर आपको सर्जरी के लिए घर से खाली पेट आने की सलाह देते हैं। ऐसे में आपको सर्जरी वाले दिन से पहली आधी रात के बाद कुछ भी न खाने की सलाह दी जाती है, ताकि सर्जरी के समय तक आपका पेट खाली हो जाए।
  • सर्जरी के लिए अस्पताल जाने से पहले अपने साथ किसी करीबी रिश्तेदार या मित्र को ले जाएं और अपने साथ में सैनेटरी पैड्स या नैपकिन भी रख लें।
  • डॉक्टर आपको सहमति पत्र देंगे जिस पर हस्ताक्षर करके आप सर्जन को सर्जरी करने की अनुमति दे देती हैं। हालांकि, हस्ताक्षर करने से पहले सहमति पत्र को अच्छे से पढ़ व समझ लेना चाहिए।

(और पढ़ें - शराब की लत छुड़ाने के तरीके)

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी कैसे की जाती है?

जब आप सर्जरी के लिए अस्पताल पहुंचकर सभी दस्तावेजी कार्य पूरे कर लेते हैं, तो आपको विशेष ड्रेस पहनने के लिए दी जाती है, जिसे हॉस्पिटल गाउन कहा जाता है। इसके बाद आपको स्पाइनल एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाया जाता है, जिससे शरीर का निचला हिस्सा सुन्न हो जाता है। कई बार डॉक्टर जनरल एनेस्थीसिया भी दे सकते हैं, जिससे आप सर्जरी के दौरान गहरी नींद में सोते रहते हैं और आपको कुछ महसूस नहीं होता है।

हाइमनोरैफी को निम्न तरीके से किया जाता है -

  • सर्जरी शुरू करने से ठीक पहले आपको एंटीबायोटिक दवा दी जाएगी और आपको एक टेबल पर पीठ के बल लेटने के लिए कहा जाएगा। टेबल के पास पैर रखने की विशेष जगह होती है, जिन्हें स्टीरप्स कहा जाता है। इसके बाद योनि के आसपास के हिस्से को एंटीसेप्टिक दवाओं से साफ किया जाता है।
  • योनि में मौजूद हाइमन के अवशेषों की पहचान की जाती है। ये अवशेष योनिद्वार पर छल्ले जैसी आकृति में चारों ओर लटके हुए ऊतकों की समान दिखाई देते हैं। सर्जन इन अवशेषों की लंबाई, चौड़ाई और आकृति की जांच करते हैं।
  • इसके बाद सर्जन हाइमन के ऊतकों में एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगा देंगे, जिससे योनिद्वार व उसके आसपास के हिस्से पूरी तरह से सुन्न हो जाते हैं।
  • हाइमन के अवशेषों के सिरों को बरकरार रखते हुए ऊतकों के अतिरिक्त हिस्सों को कैंची व अन्य मेडिकल उपकरणों की सहायता से काट देते हैं।
  • सर्जन हाइमन के टुकड़ों को आपस में जोड़कर टांके लगा देते हैं। टांके पहले अवशेषों से सिरे पर लगाए जाते हैं और फिर नीचे आते हुए हाइमन के ऊतकों के अंदरूनी व बाहरी दोनों हिस्सों को टांकों की मदद से जोड़ दिया जाता है। हालांकि, मूत्रमार्ग के आसपास के अवशेषों को छोड़ दिया जाता है, ताकि मूत्रमार्ग बंद न हो पाए।
  • जब हाइमन के सभी अवशेष क्रमबद्ध तरीके से जुड़ जाते हैं, तो योनिद्वार का आकार भी छोटा हो जाता है।

सर्जरी वाले दिन ही आपको घर भेज दिया जाता है। हालांकि, यदि डॉक्टर को लगता है कि आपका स्वास्थ्य ठीक नहीं है तो वे आपको एक दिन अस्पताल में रुकने के लिए भी कह सकते हैं।

आपको सर्जरी के बाद कुछ समय के लिए सेनेटरी पैड पहनने की सलाह दी जाती है, ताकि रक्त के स्राव से आपके कपड़े गंदे न हो पाएं।

(और पढ़ें - सेक्स करने के बाद योनि से ब्लीडिंग)

हाइमनोप्लास्टी सर्जरी के बाद की देखभाल

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी होने के बाद जब आप घर आ जाती हैं, तो आपको खुद की देखभाल करने से संबंधी निम्न सलाह दी जाएंगी -

  • दवाएं
    • आपको कम से कम पांच दिनों के लिए एंटीबायोटिक दवाएं दी जाएंगी। इन दवाओं को डॉक्टर के द्वारा बताए गए समय व खुराक के अनुसार ही लेना चाहिए। (और पढ़ें - एंटीबायोटिक प्रतिरोध क्या है)
    • दर्दनिवारक दवाएं भी दी जाती हैं, जिन्हें दर्द होने पर लिया जाता है। इन दवाओं को कैसे और कितनी खुराक में लेना है आदि के बारे में भी डॉक्टर से एक बार पूछ लें। (और पढ़ें - पेन किलर खाने के नुकसान)
       
  • घाव की देखभाल
    • सर्जरी में लगाए गए टांके आमतौर पर 25 से 30 दिन में अपने आप त्वचा में अवशोषित हो जाते हैं।
    • आपको दिन में कम से कम चार बार अपनी योनि को धोना है।
    • हर बार पेशाब करने के बाद भी अपनी योनि को स्वच्छ पानी से धो लें। (और पढ़ें - योनि को साफ कैसे रखें)
       
  • शारीरिक गतिविधियां
    • सर्जरी के बाद डॉक्टर आपको लगभग एक हफ्ते तक बेडरेस्ट की सलाह देते हैं। हालांकि, इस दौरान आप सामान्य रूप से चल फिर सकती हैं।
    • जब तक आप हाइमन को बनाकर रखना चाहती हैं, तब तक साइकिल चलाने व घुड़सवारी करने जैसी गतिविधियां न करें और टैम्पोन की जगह पैड्स का इस्तेमाल करें। (और पढ़ें - साइकिल चलाने के फायदे)
    • कम से कम दो महीने तक पेट पर वजन न रखें और न ही कोई भारी वजन उठाएं
       
  • आहार
    • स्वस्थ व संतुलित आहार लें, ताकि आपको कब्ज आदि की शिकायत न रहे। ऐसा इसलिए क्योंकि कब्ज में  मल ल्यागने के दौरान लगने वाले जोर से भी हाइमन क्षतिग्रस्त हो सकता है।
    • स्वस्थ व संतुलित आहार लेने से सर्जरी के घावों को जल्दी ठीक होने में मदद मिलती है। (और पढ़ें - घाव को भरने का उपाय)

डॉक्टर को कब दिखाएं?

यदि आपको हाइमनोरैफी के बाद निम्न में से कोई भी लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से इस बारे में संपर्क करें -

(और पढ़ें - योनि से डिस्चार्ज के कारण)

हाइमनोरैफी से क्या जोखिम हो सकते हैं?

हाइमन रिकंस्ट्रक्शन सर्जरी से निम्न जोखिम व जटिलताएं देखी जा सकती हैं -

  • संक्रमण (और पढ़ें - योनि में यीस्ट संक्रमण का इलाज)
  • सर्जरी के टांके अपने आप खुल जाना
  • सर्जरी वाले स्थान पर स्थायी निशान पड़ जाना (स्कार)
  • यौन संबंध बनाते समय दर्द होना (सेक्स के दौरान दर्द)
  • योनि के अंदर रक्त जमा होना (हेमाटोकोल्पॉस)
  • योनि का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो जाना

(और पढ़ें - योनि में इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Saraiya HA. Surgical revirgination: Four vaginal mucosal flaps for reconstruction of a hymen. Indian J Plast Surg. 2015 May-Aug; 48(2):192–195. PMID: 26424986.
  2. Wei SY, Li Q, Li SK, Zhou CD, Li FY, Zhou Y. A new surgical technique of hymenoplasty. Int J Gynaecol Obstet. 2015 Jul;130(1):14-8. PMID: 25754141.
  3. National Health Service [Internet]. UK; Does a woman always bleed when she has sex for the first time?
  4. Vojvodic M, Lista F, Vastis PG, Ahmad J. Luminal Reduction Hymenoplasty: A Canadian Experience With Hymen Restoration. Aesthet Surg J. 2018 Jun 13;38(7):802-806. PMID: 29901714.
  5. Townsend Courtney, Beauchamp R. Daniel, Evers B. Mark, Mattox Kenneth. Sabiston Textbook of Surgery: The Biological Basis of Modern Surgical Practice. 20th ed. Philadelphia, PA: Elsevier; 2017
  6. Smith Sandra F., Duell Donna J., Martin Barbara C., Gonzalez Laura, Aebersold Michelle. Clinical nursing skills: basic to advanced skills. 9th ed. New York, NY: Pearson; 2016
  7. Subrahmanyam M, Venugopal M. Perioperative fasting: A time to relook. Indian J Anaesth. 2010;54(5):374–375. PMID: 21189872.
  8. The Royal Marsden [Internet]. NHS Foundation Trust. National Health Service. UK; Consent for surgery
  9. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; Preparing for Surgery: The Operating Room
  10. Nationwide Children's [internet]. Nationwide Children's Hospital. Ohio. US; hymenectomy
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ