myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

ये तो हम सभी जानते हैं और इसमें कोई शक भी नहीं है कि सेब सबसे हेल्दी फलों में से एक है। अमेरिका के हार्वर्ड टी एच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की मानें तो सेब उन टॉप 3 फलों की लिस्ट में शामिल है जिनका उत्पादन दुनियाभर में किया जाता है। सेब खाना कितना फायदेमंद है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हम सभी को बचपन से यही बताया जाता है कि रोजाना एक सेब खाने से डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं होती यानी अगर आप रोजाना एक सेब खाएं तो आप हमेशा फिट और हेल्दी रहेंगे। 

(और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे और ऩुकसान)

लेकिन अगर आप भी उन लोगों में से हैं जो सेब के छिलके को हटाकर यानी सेब को छीलकर खाते हैं तो आज हम आपको सेब के छिलकों के फायदे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बाद आप सेब को हमेशा छिलके समेत ही खाना चाहेंगे। ऐसा इसलिए क्योंकि सेब का छिलका भी उसके फल जितना ही फायदेमंद होता है। ज्यादातर फल और सब्जियों की ही तरह सेब का छिलका भी बेहद पौष्टिक होता है और अगर सेब को छील दिया जाए तो उसके छिलके में मौजूद फाइबर, विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सिडेंट्स की मात्रा भी कम हो जाती है। ऐसे में हम आपको इस आर्टिकल में बता रहे हैं सेब के छिलके के फायदों और नुकसान के बारे में।

  1. सेब के छिलके में मौजूद पोषक तत्व - Nutrients in apple peel in hindi
  2. सेब के छिलके के फायदे - Benefits of apple peel in hindi
  3. सेब के छिलके के नुकसान - Side effects of apple peel in hindi
  4. सेब के छिलके के फायदे और नुकसान के डॉक्टर

सेब के छिलके को पोषक तत्वों के पावरहाउस के रूप में जाना जाता है। अगर कोई व्यक्ति सेब खाते वक्त उसके छिलकों को हटा देता है तो वह इस फल के वास्तविक पोषण मूल्यों का फायदा उठाने में विफल रहता है। यहां जानें छिलके वाले 1 बड़े सेब में कौन से पोषक तत्व होते हैं:

इसके अलावा छिलके वाले सेब में छीले हुए सेब की तुलना में 332 प्रतिशत अधिक विटामिन के, 142 प्रतिशत अधिक विटामिन ए, 115 प्रतिशत अधिक विटामिन सी, 20 प्रतिशत अधिक कैल्शियम और 19 प्रतिशत तक अधिक पोटैशियम पाया जाता है। अमेरिका के एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट की मानें तो सेब का छिलका हटा देने के बाद उसमें मौजूद विटामिन और मिनरल्स घट जाते हैं और बिना छिलके वाले 1 बड़े सेब में निम्नलिखित पोषक तत्व होते हैं:

  • कैलोरी- 104
  • कार्बोहाइड्रेट- 27 ग्राम
  • फैट- 0.28 ग्राम
  • प्रोटीन- 0.58 ग्राम

वैसे तो छिलका हटाने के बाद भी सेब में पर्याप्त मात्रा में विटामिन और मिनरल्स होते हैं लेकिन उसकी मात्रा कम हो जाती है खासकर फाइबर की मात्रा। 

(और पढ़ें- कब, कैसे, क्या खाएं, स्वस्थ भोजन के टिप्स

प्रोस्टेट कैंसर से बचाता है सेब का छिलका - Apple peel reduces cancer risk in hindi

एनपीजे प्रिसिशन ऑन्कोलॉजी नाम की पत्रिका में जून 2017 में प्रकाशित एक स्टडी की मानें तो सेब के छिलके में उरसॉलिक एसिड (ursolic acid) होता है जो प्रोस्टेट कैंसर कोशिकाओं के विकास को रोक सकता है। अपनी इस स्टडी में शोधकर्ताओं ने पाया कि सेब के छिलके में पाया जाने वाला मोम जैसा तत्व उरसॉलिक एसिड में एंटीकैंसर प्रॉपर्टीज होती है। इसके अलावा सेब के छिलके में ट्रिटरपेनॉयड नाम का कम्पाउंड भी पाया जाता है जो कैंसर पैदा करने वाले हानिकारक सेल्स से लड़ने में मदद करता है। लिहाजा सेब का छिलका ब्रेस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर और लिवर कैंसर जैसी समस्याओं को भी दूर रखने में मदद करता है।

(और पढ़ें - प्रोस्टेट कैंसर के इलाज में अब सर्जरी की जरूरत नहीं)

सेब का छिलका वजन घटाने में मददगार - Apple peel helps in weight loss in hindi

सेब को अगर छिलके के साथ खाया जाए तो चूंकि छिलकों में फाइबर की मात्रा अधिक होती है इसलिए छिलके के साथ सेब खाने के बाद लंबे समय तक आपका पेट भरा हुआ महसूस होता है और आपको भूख नहीं लगती। सेब के छिलके में एक तिहाई अधिक फाइबर होता है। बहुत सी स्टडीज में यह बात साबित हो चुकी है कि फाइबर का सेवन करने से लंबे समय तक आपको भूख नहीं लगती है। खासकर सेब के छिलके में विस्शस (viscous) फाइबर पाया जाता है जो भूख को कम करने में मदद करता है। जब आपको भूख कम लगेगी और आप कम खाएंगे तो जाहिर सी बात है कि आपका वजन घटाने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें- जल्दी वजन कम करें इन 10 भारतीय फूड्स से)

विटामिन ए और सी का बेहतरीन सोर्स है सेब का छिलका - Apple peel is full of vitamin a and c in hindi

सेब के छिलके में विटामिन ए और विटामिन सी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ इलिनोए की एक स्टडी में यह बात सामने आयी कि सेब में मौजूद कुल विटामिन सी का आधे से ज्यादा हिस्सा उसके छिलके में ही पाया जाता है। विटामिन ए जहां आंखों की रोशनी और आपकी स्किन के लिए फायदेमंद है वहीं, विटामिन सी आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है जिससे आप बीमारियों से बचे रहते हैं। साथ ही विटामिन सी घाव को भी जल्दी भरने में मदद करता है।

(और पढ़ें- इम्यूनिटी कमजोर होना, कारण, लक्षण, इलाज)

सेब का छिलका हृदय रोग के खतरे को कम करता है - Reduces risk of heart disease in hindi

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि सेब के छिलके में विभिन्न एंटीऑक्सिडेंट्स पाए जाते हैं जो शरीर में पॉलिअनसैचुरेटेड फैट के ऑक्सिकरण की प्रक्रिया को रोकते हैं। इन फैट्स के ऑक्सिकरण की वजह से ही हृदय रोग का खतरा हो सकता है। लिहाजा सेब को अगर छिलके के साथ खाया जाए तो आपका हार्ट हेल्दी रहता है और हृदय रोग होने के जोखिम को भी कम किया जा सकता है।

(और पढ़ें- हृदय रोग से बचने के उपाय)

सेब का छिलका कोशिकाओं को नुकसान से बचाता है - Reduces cell damage risk in hindi

कॉर्नेल यूनिवर्सिटी की मानें तो सेब के छिलके में फ्लैवनॉयड्स और फेनोलिक एसिड जैसे कई फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं जो आफकी कोशिकाओं को फ्री रैडिकल्स से मुक्त रखने में मदद करते हैं। यही वो फ्री रैडिकल्स हैं जो आपकी कोशिकाओं पर हमला कर कई तरह की बीमारियों का कारण बनते हैं। ऐसे में अगर आपके भोजन में फाइटोकेमिकल्स युक्त खाद्य पदार्थ होंगे तो आपको डायबिटीज और हृदय रोग समेत कई खतरनाक बीमारियां होने का खतरा बेहद कम होगा।

सेब का छिलका टाइप 2 डायबिटीज के खतरे से बचाता है - Reduces risk of type 2 diabetes in hindi

सेब और इसके छिलकों में पाया जाने वाला फ्लैवनॉयड्स टाइप 2 डायबिटीज की बीमारी से भी बचाने में मदद करता है। अमेरिका के हार्वर्ड टी एच चैन स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की मानें तो जो महिलाएं रोजाना एक सेब, छिलका हटाने बिना खाती हैं उनमें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा काफी कम हो जाता है।

(और पढ़ें- ये हो सकता है टाइप 2 डायबिटीज का इलाज)

एनीमिया में भी फायदेमंद है सेब का छिलका - Apple peel beneficial in anemia in hindi

सेब के छिलके में आयरन भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इस वजह से एनीमिया के मरीजों के लिए काफी हेल्दी विकल्प हो सकता है। आयरन के अलावा सेब के छिलके में फोलिक एसिड या फोलेट भी पाया जाता है और इस वजह से गर्भवती महिलाओं को भी रोजाना सेब खाने की सलाह दी जाती है और वह छिलके के साथ। सेब में पाया जाने वाला आयरन और कैल्शियम हड्डियों को भी मजबूत बनाने में मदद करता है।

(और पढ़ें- एनीमिया के घरेलू उपाय)

हमने आपको सेब के छिलके के विभिन्न फायदों के बारे में तो बता दिया। लेकिन क्या इसके कोई नुकसान भी हैं यहां जानें:

  • इन दिनों मार्केट में मिलने वाले ज्यादातर सेब पर वैक्स या मोम की कोटिंग की जाती है और बहुत से फल विक्रेता तो सेब पर पेस्टिसाइड्स का छिड़काव भी करते हैं। ऐसे में आपका परेशान होना लाजिमी है और इसलिए बहुत से लोग सेब को छीलकर खाना पसंद करते हैं ताकि उसके छिलके पर मौजूद हानिकारक केमिकल्स को दूर किया जा सके।
  • 2018 में, एक गैर-लाभकारी और मानव स्वास्थ्य संगठन, एन्वायरनमेंटल वर्किंग ग्रुप ने यह निष्कर्ष निकाला कि 98 प्रतिशत पारंपरिक सेब में उनके छिलके पर कीटनाशक के अवशेष थे जो आपकी सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकते हैं। हालांकि अगर सेब को अच्छी तरह से धोया जाए खासकर उसके छिलके को रगड़कर साफ किया जाए तो कीटनाशक से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • पेस्टिसाइड्स या कीटनाशकों का हमारी सेहत पर दो तरह से असर हो सकता है- कुछ समय तक रहने वाला शॉर्ट टर्म बुरा प्रभाव और लंबे समय तक सेहत पर दिखने वाला बुरा प्रभाव। त्वचा पर चकत्ते, फोड़े-फुंसी, जी मिचलाना और उल्टी आना, चक्कर आना, डायरिया आदि कीटनाशक के शॉर्ट टर्म प्रभाव हैं।

(और पढ़ें - विशेषज्ञों की चेतावनी, न करें सेब के सिरके का सीधा सेवन)

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें