myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गले में इन्फेक्शन की समस्या बहुत आम है। यह इन्फेक्शन आमतौर पर सर्दी जुकाम या कफ के साथ होता है। कई बार, गले में इन्फेक्शन या गले में दर्द किसी बैक्टीरियल संक्रमण के कारण भी हो जाता है। इस इन्फेक्शन के कारण कुछ भी निगलते समय बेहद परेशानी हो सकती है।

गले में इन्फेक्शन होने पर तुरंत इलाज करवाएं, और घबराएं नहीं। ऐसे कुछ घरेलू उपाय भी हैं जिनके इस्तेमाल से आप अपने गले के इन्फेक्शन को दूर कर सकते हैं। इन उपायों से आपको कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा और रोजाना इस्तेमाल करने से आपको गले के संक्रमण से बहुत जल्द आराम मिलेगा।

(और पढ़ें - गले में इन्फेक्शन के लक्षण)

तो चलिए आपको इस लेख में गले में इन्फेक्शन के घरेलू नुस्खों के बारें में बताते हैं –

  1. गले के इन्फेक्शन का घरेलू उपाय है नमक और गर्म पानी - Gale ke infection ka gharelu upay hai namak aur garam pani
  2. गले के इन्फेक्शन का उपाय है अदरक - Gale ke infection ka upay hai adrak
  3. गले के इन्फेक्शन से छुटकारा पाने के लिए भाप लें - Gale ke infection se chutkara pane ke liye bhaap le
  4. गले में इन्फेक्शन को दूर करने के लिए ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ पियें - Gale me infection ko door karne ke liye jyada se liquids piye
  5. गले में इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए लहसुन खाएं - Gale me infection ko theek karne ke liye lehsun khaye
  6. गले के इन्फेक्शन को कम करने के लिए सूप पियें - Gale ke infection ko kam karne ke liye soup piye
  7. गले में इन्फेक्शन का उपाय है काली मिर्च और नमक - Gale me infection ka upay hai kali mirch aur namak
  8. हल्दी का दूध रखें गले को इन्फेक्शन से दूर - Haldi ka doodh rakhe gale ko infection se door
  9. गले में इन्फेक्शन के लिए सेब के सिरके का उपयोग करें - Gale me infection ke liye seb ke sirke ka upyog kare
  10. गले का इन्फेक्शन कम करने के लिए आराम करें - Gale ka infection kam karne ke liye aaram kare

नमक व पानी से गरारे करने का उपाय बहुत पुराना है और यह उपाय गले के इन्फेक्शन व कफ को आसानी से कम करने में मदद करता है। गरारे करने से गले के बैक्टीरिया मर जाते हैं, जिनकी वजह से इन्फेक्शन बढ़ता है।

(और पढ़ें - नमक के पानी के फायदे)

नमक व गर्म पानी का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एक छोटा चम्मच नमक।
  2. एक कप गुनगुना पानी। (और पढ़ें - गुनगुना पानी पीने के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले गर्म पानी लें।
  2. अब उसमें नमक मिला लें।
  3. पूरे मिश्रण को अच्छे से मिलाने के बाद मुँह में पानी लें और फिर कुछ सेकेंड तक उस पानी से गरारे करना शुरू करें।
  4. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

(और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फायदे)

नोट - इस बात का ध्यान रखें कि आपको एकदम गर्म पानी नहीं लेना, इससे आपकी जीभ जल सकती है। साथ ही गरारे करने के बाद पानी आपको निगलना नहीं है और हर नयी प्रक्रिया में ताजा मिश्रण का ही इस्तेमाल करें।

(और पढ़ें - गले में खराश के लक्षण)

यह तो आप सभी जानते हैं कि गले के दर्द और गले के इन्फेक्शन के लिए अदरक बेहद फायदेमंद उपाय है। अदरक को शहद और नींबू के साथ मिलाने से गले में इन्फेक्शन जैसे सर्दी, कफ और गले में दर्द से बहुत जल्द छुटकारा मिलता है।

अदरक का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. दो छोटी चम्मच अदरक का पाउडर। (और पढ़ें - अदरक के फायदे)
  2. दो छोटे चम्मच शहद। (और पढ़ें - शहद के फायदे)
  3. एक कप गर्म पानी।
  4. आधा नींबू का जूस। (और पढ़ें - नींबू के फायदे)

बनाने व उपयोग करें का तरीका -  

  1. सबसे पहले सभी सामग्रियों को एक साथ मिला लें।
  2. अच्छे से मिश्रण को मिलाने के बाद अब इसे मुँह में लेकर गरारे करना शुरू करें।
  3. कुछ सेकेंड तक गरारे करें और फिर मिश्रण को थूक दें।
  4. इस उपाय को पूरे दिन में दो से तीन से बार दोहराएं।

(और पढ़ें - गले में दर्द के घरेलू उपाय

गले के इन्फेक्शन के लिए भाप लेना भी एक और अच्छा विकल्प है। भाप लेने से गले और ऊपरी श्वसन तंत्र में नमी आ जाती है। भाप की मदद से बलगम निकलता है और बलगम निकलने से बैक्टीरिया साफ हो जाते हैं। इससे दर्द और तकलीफ भी कम होती है।

भाप का इस्तेमाल कैसे करें -

  1. सबसे पहले एक बड़ा कटोरा लें और फिर उसे पानी से भर लें।
  2. अब पानी को गर्म करने के लिए बर्तन को गैस पर रख दें।
  3. पानी गर्म होने के बाद गैस को बंद कर दें।
  4. अब बर्तन को टेबल पर रखें और आप किसी आरामदायक कुर्सी पर बैठ जाएं।
  5. फिर अपने सिर को बर्तन के थोड़ा ऊपर रखें, ज्यादा नजदीक भी न लेकर जाएं, क्योंकि इससे आपका चेहरा जल सकता है।
  6. अब अपने सिर को तौलिये से ढक लें। सिर को ढकने के साथ-साथ बर्तन को भी तौलिये से ढकें। इससे भाप बाहर नहीं निकलेगी।
  7. अब नाक से तेज-तेज सांस लेना शुरू करें। आप मुँह से भी सांस ले सकते हैं।
  8. इस प्रक्रिया को पांच से दस मिनट तक दोहराएं।
  9. अब तौलिये को हटाएं और फिर चेहरे को पानी से धो लें।
  10. गले के इन्फेक्शन को कम करने के लिए पूरे दिन में चार से पांच बार भाप लें।

(और पढ़ें - भाप लेने का तरीका

आप में से ज्यादातर लोग अपनी जरूरत के हिसाब से तरल पदार्थ नहीं लेते, लेकिन शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए और रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए पेय पदार्थ पीना बेहद जरूरी है। शरीर हाइड्रेटेड रहने से किसी भी तरह के संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है और कई मामलों में इन्फेक्शन पूरी तरह से खत्म भी हो जाता है। रोजाना पूरे दिन में आठ से दस ग्लास पानी जरूर पियें। पानी पीने के अलावा आप फलों और सब्जियों का जूस भी पी सकते हैं। कार्बोनेटेड पेय पदार्थ और शराब आपके गले के इन्फेक्शन को कम करने की बजाए और बढ़ा सकते हैं, इसलिए इस प्रकार के पेय पदार्थों को न पियें।

(और पढ़ें - पानी कब कितना और कैसे पीना चाहिए)

लहसुन में एलिसिन (Allicin) घटक होता है, जिसमें एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो गले के इंफेक्शन का इलाज करने में मदद करते हैं। लहसुन की गंध बहुत तेज होती है, जिसको खाने से आपके मुँह से बदबू आने लगती है। इसलिए आप लहसुन को खाने में मिलाकर भी खा सकते हैं, पर अच्छा होगा अगर आप इसे कच्चा ही खाएं।

सामग्री -

  1. लहसुन की एक फांक। (और पढ़ें - लहसुन के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले लहसुन की एक फांक को छील लें।
  2. फिर फांक को चाकू से दो हिस्सों में काट लें।
  3. अब लहसुन के काटे हुए दोनों टुकड़ों को अपने मुँह में रखें और फिर चबाना शुरू करें।
  4. लहसुन को तब तक चबाएं जब तक उसका रस न निकल जाए।
  5. लहसुन को चबाने के बाद आप लहसुन को थूक भी सकते हैं।

 (और पढ़ें - गले की खराश दूर करने के उपाय)

गले के इन्फेक्शन को ठीक करने के लिए आप गर्म-गर्म सूप भी पी सकते हैं। गले में इन्फेक्शन के लिए के लिए यह उपाय बहुत ही बेहतरीन है। गर्म-गर्म सूप पीने से गले की इन्फेक्शन की वजह से होने वाला दर्द और सूजन से छुटकारा मिलता है। सूप में सूजनरोधी गुण होते हैं जो आपको सर्दी लगने से बचाते हैं। अगर आप शाकाहारी हैं तो टमाटर या गाजर का सूप पी सकते हैं। माँसाहारी हैं तो चिकन सूप पी सकते हैं।

(और पढ़ें - गले के कैंसर के लक्षण)

गले के इन्फेक्शन के लिए काली मिर्च बेहद प्रभावी है, खासकर यह तब अच्छी होती है जब आपको सूखी खांसी होती है या गले में दर्द होता है। जब काली मिर्च को सेंधा नमक के साथ मिलाया जाता है तो बैक्टीरियल इन्फेक्शन कम हो जाते हैं और गले में दर्द नहीं होता।

सामग्री -

  1. दो छोटी चम्मच काली मिर्च पाउडर। (और पढ़ें - काली मिर्च के फायदे)
  2. आधा छोटी चम्मच सेंधा नमक। (और पढ़ें - सेंधा नमक के फायदे)
  3. एक ग्लास गुनगुना पानी।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले काली मिर्च पाउडर को गुनगुने पानी में मिला लें।
  2. मिलाने के बाद सेंधा नमक भी उसमें मिलाएं और तब तक मिलाएं जब तक सेंधा नमक पानी में अच्छे से न घुल जाए।
  3. अब इस मिश्रण को मुँह में लें और फिर गरारे करना शुरू करें।
  4. कम से कम 30 सेकेंड तक गरारे करें।
  5. इस प्रक्रिया को पूरे दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

(और पढ़ें - खांसी के लिए घरेलू उपाय

हल्दी और दूध किसी भी पुरानी बीमारी का इलाज करने के लिए बेहद बेहतरीन सामग्रियां है। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट और एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो पुराने संक्रमण जैसे सर्दी, कफ और गले में दर्द से लड़ने में मदद करते हैं।

सामग्री -

  1. एक छोटा चम्मच हल्दी पाउडर। (और पढ़ें - हल्दी के फायदे)
  2. एक कप गर्म दूध। (और पढ़ें - दूध के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले गर्म दूध में हल्दी को मिला लें।
  2. हल्दी मिलाने के बाद आप इसमें आधा पिसा हुआ अदरक और एक छोटा चम्मच शहद भी मिला सकते हैं। (और पढ़ें - हल्दी दूध पीने के फायदे)
  3. रात को सोने से पहले इस मिश्रण को जरूर पियें।

(और पढ़ें - कफ निकालने के उपाय

सेब के सिरके में एंटीमाइक्रोबियल गुण होते हैं जो इन्फेक्शन से लड़ने में मदद करते हैं, जबकि इसके एसिडिक गुण गले में बलगम को कम करते हैं और इन्फेक्शन को बढ़ने से रोकते हैं। गले में इन्फेक्शन से राहत पाने के लिए आप सेब के सिरके को कई तरीके से इस्तेमाल कर सकते हैं।

सामग्री -

  1. एक ग्लास पानी।
  2. एक छोटा चम्मच सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले पानी में सेब के सिरके को मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को मुँह में लें और फिर कुछ सेकेंड तक गरारे करें।
  3. इस प्रक्रिया को हर दो घंटे में दोहराएं और हर प्रक्रिया को पूरा करने के बाद खूब सारा पानी जरूर पियें।
  4. इसके अलावा आप एक कप पानी में एक छोटा चम्मच सेब के सिरके और एक छोटा चम्मच शहद को एक साथ मिलाकर भी पी सकते हैं। इस प्रक्रिया को पूरे दिन में तीन से चार बार दोहराएं।

(और पढ़ें - सर्दी जुकाम के घरेलू उपाय

भागदौड़ वाली जीवनशैली की वजह से आप सही तरह से आराम नहीं कर पाते। आराम न कर पाने की वजह से आपको थकान महसूस होती है और प्रतिरोधक क्षमता भी कम हो जाती है। यदि संक्रमण अभी शुरुआती स्टेज में है तो पर्याप्त आराम करके उसका इलाज किया जा सकता है। लेकिन आप में से ज्यादातर लोग पर्याप्त आराम नहीं करते हैं, जिसकी वजह से संक्रमण फैलने लगता है। जैसे ही आपको गले में इन्फेक्शन से संबंधित लक्षण महसूस होने लगे तो अच्छे से आराम करें और इन्फेक्शन बढ़ने का जोखिम कम करें। कम से कम पूरे दिन सात से आठ घंटे की नींद जरूर लें।

(और पढ़ें - अच्छी नींद आने के घरेलू उपाय)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
1014 भारत
1पुडुचेरी
1मणिपुर
3हिमाचल प्रदेश
1मिजोरम
38पंजाब
3ओडिशा
30मध्य प्रदेश
13लद्दाख
49दिल्ली
8चंडीगढ़
76कर्नाटक
7उत्तराखंड
182केरल
18पश्चिम बंगाल
66तेलंगाना
49तमिलनाडु
186महाराष्ट्र
31जम्मू-कश्मीर
58गुजरात
9अंडमान निकोबार
33हरियाणा
9आंध्र प्रदेश
11बिहार
7छत्तीसगढ़
5गोवा
55राजस्थान
65उत्तर प्रदेश

मैप देखें