myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

गेंहू के आटे से बनी रोटियां तो आपने बहुत खाई होंगी लेकिन अब वक्त है इस गेंहू को एक और तरीके से अपनी डाइट में शामिल करने का और वह है जूस के फॉर्म में। जी हां, हम गेंहू के जूस की नहीं बल्कि गेंहू की दूब या गेंहू के जवारे जिसे व्हीटग्रास कहते हैं उसके जूस की बात कर रहे हैं। जूस बार से लेकर हेल्थ फूड स्टोर्स तक व्हीटग्रास प्राकृतिक स्वास्थ्य की दुनिया में तेजी से पॉप्युलर हो रहा है। 

ट्रिटिकम ऐस्टिवम नाम के कॉमन गेंहू के पौधे की ताजी पत्तियों से व्हीटग्रास तैयार की जाती है। इसे घर पर भी आसानी से उगाया और तैयार किया जा सकता है, या फिर आप चाहें तो व्हीटग्रास का जूस, पाउडर या सप्लिमेंट भी मार्केट से खरीद सकते हैं। आश्चर्यजनक लाभों से भरपूर व्हीटग्रास बेहद शक्तिशाली हेल्थ फूड है। फ्रेश व्हीटग्रास जूस को लिविंग फूड या जीवित भोजन के रूप में माना जाता है।

(और पढ़ें - आंवला जूस के फायदे, नुकसान और बनाने का तरीका)

हेल्थ एक्सपर्ट्स लंबे समय से व्हीटग्रास के अनगिनत लाभ के बारे में बताते आ रहे हैं। व्हीटग्रास जूस को आप रोजाना हेल्थ टॉनिक के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं जिससे कई तरह की बीमारियों को दूर करने में मदद मिल सकती है। व्हीटग्रास वास्तव में कितना प्रभावशाली है इसे निर्धारित करने के लिए तो और अधिक शोध की आवश्यकता है, लेकिन व्हीटग्रास क्षमता से भरपूर और फायदेमंद है इसमें कोई शक नहीं है।

कुछ एक्सपर्ट्स का दावा है कि व्हीटग्रास का जूस इम्यून फंक्शन को बेहतर बनाने के साथ ही लिवर की सफाई करने में भी मददगार साबित हो सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको व्हीटग्रास जूस पीने के फायदों के बारे में और क्या इसके कुछ नुकसान या साइड इफेक्टस भी हो सकते हैं, इस बारे में बता रहे हैं।

(और पढ़ें - लौकी का जूस पीने के फायदे नुकसान)

  1. व्हीटग्रास जूस के फायदे - Wheatgrass juice ke fayde
  2. व्हीटग्रास जूस के नुकसान - Wheatgrass juice ke nuksan
  3. व्हीटग्रास जूस पीने का सही समय - Wheatgrass juice peene ka sahi samay
  4. व्हीटग्रास जूस के फायदे और नुकसान के डॉक्टर

एंटीऑक्सिडेंट, एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-इन्फ्लेमेटरी प्रॉपर्टीज से भरपूर व्हीटग्रास विटामिन्स और पोषक तत्वों के साथ ही औषधीय गुणों से भरपूर होता है। रोजाना व्हीटग्रास जूस पीने के क्या फायदे हैं इस बारे में हम आपको बता रहे हैं:

  1. व्हीटग्रास जूस के फायदे कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए - Wheatgrass juice ke fayde cholesterol kam karne ke liye
  2. व्हीटग्रास जूस के फायदे कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए - Wheatgrass juice ke fayde cancer ke liye
  3. व्हीटग्रास जूस के फायदे ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए - Wheatgrass juice blood sugar control ke liye
  4. व्हीटग्रास जूस के फायदे इन्फ्लेमेशन कम करने के लिए - Wheatgrass juice inflammation ke liye
  5. वजन कम करने के लिए व्हीटग्रास जूस के फायदे - Weight loss ke liye wheatgrass juice
  6. व्हीटग्रास जूस के फायदे ब्लड प्रेशर कम करने के लिए - Blood pressure kam karne ke liye wheatgrass juice
  7. व्हीटग्रास जूस के फायदे शरीर को डीटॉक्स करने के लिए - Body detox ke liye wheatgrass juice

व्हीटग्रास जूस के फायदे कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए - Wheatgrass juice ke fayde cholesterol kam karne ke liye

शरीर में कई प्रकार के हार्मोन का निर्माण करने और पित्त का उत्पादन करने के लिए हमें कुछ मात्रा में कोलेस्ट्रॉल की आवश्यकता होती है लेकिन अगर आपके खून में हाई कोलेस्ट्रॉल जमा हो जाए तो यह खून के प्रवाह को अवरुद्ध कर सकता है और आपको हृदय रोग होने के खतरे को बढ़ा सकता है। इस बारे में चूहों पर हुए एक अध्ययन में पाया गया है कि व्हीटग्रास जूस न केवल टोटल कोलेस्ट्रॉल के लेवल को कम करता है बल्कि एलडीएल या बैड कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स को भी कम करने में मदद करता है। व्हीटग्रास जूस का प्रभाव शरीर में एटोरवास्टेटिन के समान था, यह एक प्रिस्क्रिप्शन दवा है जिसे आमतौर पर हाई ब्लड कोलेस्ट्रॉल के इलाज में इस्तेमाल किया जाता है।

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय)

व्हीटग्रास जूस के फायदे कैंसर सेल्स को खत्म करने के लिए - Wheatgrass juice ke fayde cancer ke liye

व्हीटग्रास जूस में एंटीऑक्सिडेंट्स भरपूर मात्रा में पाया जाता है और इसलिए कुछ टेस्ट-ट्यूब अध्ययनों में पाया गया है कि व्हीटग्रास कैंसर कोशिकाओं को मारने में मदद कर सकता है। एक टेस्ट-ट्यूब अध्ययन के अनुसार, व्हीटग्रास का जूस मुंह के कैंसर कोशिकाओं के प्रसार में 41% की कमी कर सकता है। इसके अलावा कुछ रिसर्च में यह बात भी सामने आयी है कि व्हीटग्रास जूस को जब पारंपरिक कैंसर ट्रीटमेंट के साथ मिलाकर इस्तेमाल किया जाता है तो इलाज के प्रतिकूल प्रभाव को कम करने में मदद मिलती है। हालांकि, अभी भी मनुष्यों में व्हीटग्रास जूस के कैंसर-रोधी प्रभाव के कोई प्रमाण मौजूद नहीं है। लोगों में कैंसर के विकास को व्हीटग्रास का जूस कैसे प्रभावित करता है इसे समझने के लिए अधिक अध्ययन की आवश्यकता है।

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाना चाहिए)

व्हीटग्रास जूस के फायदे ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए - Wheatgrass juice blood sugar control ke liye

अगर शरीर में लंबे समय तक हाई ब्लड शुगर की समस्या बनी रहे तो इससे तंत्रिका या नर्व्स को नुकसान पहुंच सकता है, स्किन इंफेक्शन हो सकता है और दृष्टि संबंधी गंभीर समस्याएं भी देखने को मिल सकती हैं। कुछ जानवरों पर किए गए अध्ययन में यह पाया गया है कि व्हीटग्रास का जूस ब्लड शुगर के लेवल को नियंत्रित रखने में मदद कर सकता है। एक दूसरे अध्ययन में, डायबिटीज से पीड़ित चूहों को व्हीटग्रास का जूस देने से कुछ एंजाइमों का लेवल संशोधित हो गया जिससे ब्लड शुगर के लेवल को कम करने में मदद मिली।

(और पढ़ें - ब्लड शुगर बहुत ज्यादा कम हो जाए तो क्या करें)

व्हीटग्रास जूस के फायदे इन्फ्लेमेशन कम करने के लिए - Wheatgrass juice inflammation ke liye

किसी तरह की चोट या संक्रमण के खिलाफ शरीर की सुरक्षा करने के लिए इम्यून सिस्टम के द्वारा जो सामान्य प्रतिक्रिया दी जाती है वह आंतरिक सूजन या इन्फ्लेमेशन के रूप में जाना जाता है। हालांकि, अगर इन्फ्लेमेशन की यह समस्या लंबे समय तक बनी रहे तो कैंसर, हृदय रोग और ऑटोइम्यून बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है। इस बारे में हुए कई शोध से पता चलता है कि व्हीटग्रास का जूस और इसमें मौजूद घटक इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद कर सकते हैं। 23 लोगों पर की गई एक छोटी स्टडी में यह बात सामने आयी कि रोजाना करीब 100 एमएल व्हीटग्रास जूस करीब 1 महीने तक लगातार पीने से अल्सरेटिव कोलाइटिस के मरीजों में बीमारी की गंभीरता में भी कमी आयी और गुदा से रक्तस्त्राव की समस्या भी कम हो गई।

(और पढ़ें - मल में खून आने के लक्षण, कारण, इलाज)

वजन कम करने के लिए व्हीटग्रास जूस के फायदे - Weight loss ke liye wheatgrass juice

बड़ी संख्या में लोगों ने अपना वजन घटाने की प्रक्रिया को बढ़ावा देने के लिए एक त्वरित और सुविधाजनक तरीके के रूप में व्हीटग्रास जूस को अपनी डाइट में शामिल करना शुरू कर दिया है। दरअसल, व्हीटग्रास में थाइलाकॉयड्स पाया जाता है और कई अध्ययनों में यह बात सामने आयी है कि अगर थाइलाकॉयड्स को सप्लिमेंट्स के साथ लिया जाए तो इससे न सिर्फ व्यक्ति की भूख में संतुष्टि मिलती है बल्कि वजन घटाने में भी मदद मिलती है।

एक अध्ययन में पाया गया कि उच्च वसा वाले आहार पर चूहों को थायलाकॉयड्स देने से भोजन की मात्रा और शरीर का वजन कम करने में मदद मिली, नियंत्रित समूह की तुलना में। व्हीटग्रास जूस में कैलोरीज की मात्रा बेहद कम होती है और इसमें फैट भी नहीं होता है इसलिए यह मेटाबॉलिज्म को बढ़ाता है जिससे वजन घटाना आसान होता है। लिहाजा अगर आप भी वेट लॉस करना चाहते हैं तो व्हीटग्रास जूस पीना शुरू कर दें।

(और पढ़ें - वजन घटाने के लिए अपनाएं ये मजेदार लाइफस्टाइल टिप्स)

व्हीटग्रास जूस के फायदे ब्लड प्रेशर कम करने के लिए - Blood pressure kam karne ke liye wheatgrass juice

आप रोजाना व्हीटग्रास जूस का सेवन करके अपने ब्लड प्रेशर को कम कर सकते हैं। व्हीटग्रास में पाया जाने वाला क्लोरोफिल मॉलिक्यूल (अणु) खून में पाए जाने वाले हीमोग्लोबिन के समान होता है और ब्लड सेल काउंट को बढ़ाता है। यह ब्लड प्रेशर को सामान्य करने में मदद कर सकता है। इतना ही नहीं, व्हीटग्रास का जूस खून को साफ करने और ब्लड सर्कुलेशन में सुधार करने के लिए भी जाना जाता है।

(और पढ़ें - ब्लड प्रेशर कम करने के घरेलू उपाय)

व्हीटग्रास जूस के फायदे शरीर को डीटॉक्स करने के लिए - Body detox ke liye wheatgrass juice

जैसा की हमने आपको पहले ही बताया कि व्हीटग्रास जूस में क्लोरोफिल पाया जाता है जो हमारे शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थों या टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है। लिक्विड क्लोरोफिल में ऊत्तकों के अंदर जाने की क्षमता अधिक होती है, जहां यह वास्तव में उन्हें साफ करने के साथ ही नवीनीकृत भी कर सकता है। क्लोरोफिल लिवर की सफाई करने और उसे शुद्ध करने में भी मदद करता है। आप अपने लिवर की सेहत में सुधार के लिए व्हीटग्रास जूस का सेवन कर सकते हैं।

(और पढ़ें - बॉडी को अंदर से साफ (डीटॉक्स) कैसे करें)

वैसे तो व्हीटग्रास औषधीय गुणों से भरपूर है और इसका जूस सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है, बावजूद इसके जूस का सेवन करने से पहले आपको कुछ बातें पता होनी चाहिए वरना आपको साइड इफेक्ट्स का सामना करना पड़ सकता है:

  • व्हीटग्रास को आमतौर पर सीलिएक रोग या ग्लूटेन की संवेदनशीलता से पीड़ित लोगों के लिए भी सुरक्षित माना जाता है क्योंकि गेहूं के दाने के सिर्फ बीज में ग्लूटेन होता है, गेंहू की घास यानी व्हीटग्रास में नहीं। हालांकि, अगर आपको ग्लूटेन के प्रति संवेदनशीलता की समस्या है, तो व्हीटग्रास का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श कर लें। (और पढ़ें- ग्लूटेन फ्री डाइट के फायदे नुकसान)
  • व्हीटग्रास में कीड़े या फफूंदी लगने का भी खतरा बहुत अधिक होता है। इसलिए यदि आप घर में ही व्हीटग्रास को उगा रहे हैं तो पौधे में मोल्ड्स या फफूंद की मौजूदगी का ध्यान रखें। अगर व्हीटग्रास जूस का स्वाद कड़वा लगे या इसमें किसी तरह की खराबी के संकेत नजर आएं तो इसे तुरंत फेंक दें।
  • व्हीटग्रास जूस पीने के बाद कुछ लोगों में जी मिचलाना और उल्टी आना, सिरदर्द या डायरिया जैसे लक्षण नजर आते हैं। अगर आपको भी इस तरह के लक्षणों का या फिर किसी और तरह का नकारात्मक असर दिखे तो आपको व्हीटग्रास जूस का सेवन करना बंद कर देना चाहिए या फिर जूस पीने से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।
  • अगर आप गर्भवती हैं या बच्चे को अपना दूध पिलाती हैं तब भी आपको व्हीटग्रास जूस का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि कुछ लोगों में ऐलर्जिक रिऐक्शन्स देखने को मिल सकते हैं।

व्हीटग्रास जूस एक लोकप्रिय हेल्थ ड्रिंक है जो सेहत के लिए बेहद लाभकारी माना जाता है लेकिन सिर्फ तब जब आप व्हीटग्रास का फ्रेश जूस पिएं और वह भी सुबह खाली पेट। इस जूस का सेवन करने के 20 मिनट बाद आप अपना ब्रेकफास्ट कर सकते हैं। इसके अलावा व्हीटग्रास एक्स्ट्रैक्ट या अर्क को खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों में, स्वादिष्ट बनाने वाले घटक के रूप में भी उपयोग किया जाता है।

जब आप पहली बार व्हीटग्रास जूस पीना शुरू करें तो छोटी डोज या खुराक के साथ शुरुआत करें और फिर धीरे-धीरे अनुशंसित खुराक को पूरा करने के लिए जूस के सेवन को बढ़ाएं। ऐसा करने से शरीर को व्हीटग्रास जूस को पचाने में मदद मिलेगी। व्हीटग्रास जूस की उपयुक्त खुराक कई कारकों पर निर्भर करती है जैसे कि इसे पीने वाले की आयु, स्वास्थ्य और कई अन्य स्थितियां।

Dt. Akanksha Mishra

Dt. Akanksha Mishra

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

Surbhi Singh

Surbhi Singh

पोषणविद्‍
22 वर्षों का अनुभव

Dr. Avtar Singh Kochar

Dr. Avtar Singh Kochar

पोषणविद्‍
20 वर्षों का अनुभव

Dr. priyamwada

Dr. priyamwada

पोषणविद्‍
7 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें