myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एलर्जी या एलर्जिक रिएक्शन एक आम समस्या है जो किसी खाने के पदार्थ, पराग, कीड़ों के काटने या दवाओं जैसे किसी भी कारण से हो सकती है।

(और पढ़ें - मधुमक्खी के काटने पर क्या करें)

आमतौर पर एलर्जी को घर पर प्राथमिक उपचार करने से ठीक किया जा सकता है, लेकिन कुछ दुर्लभ मामलों में गंभीर एलर्जी होने पर डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता भी हो सकती है।

(और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट क्या होता है)

इस लेख में एलर्जी क्या होती है, एलर्जी का पता कैसे चलता है, स्किन या अन्य प्रकार की एलर्जी होने पर क्या करें और डॉक्टर के पास कब जाएं के बारे में बताया गया है।

  1. एलर्जी क्या है - Allergy ka matlab kya hota hai
  2. एलर्जी का पता कैसे चलता है - Allergy hone ka pta kaise chalta hai
  3. एलर्जी के लिए क्या करें - Allergy hone par kya kare
  4. एलर्जी होने पर डॉक्टर के पास कब जाएं - Allergy hone par doctor ke pas kab jana chahiye

कभी-कभी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली वातावरण में मौजूद किसी पदार्थ को हानिकारक समझ लेती है, जबकि वह पदार्थ हानिकारक नहीं होता है, और इसपर अत्यधिक प्रतिक्रिया करने लगती है। इस प्रतिक्रिया में प्रतिरक्षा प्रणाली हिस्टामीन नामक एक केमिकल बनाती है, जिससे छींक, खांसी आना और आंख से पानी आना जैसे लक्षण होने लगते हैं, जिसे एलर्जी कहा जाता है।

(और पढ़ें - खांसी के लिए घरेलू उपाय)

ये पदार्थ वातावरण में मौजूद पराग से ले कर कोई दवा तक कुछ भी हो सकते हैं। हर व्यक्ति को अलग-अलग पदार्थों से एलर्जी होती है। हल्की एलर्जी को घर पर कुछ उपाय करके ठीक किया जा सकता है, लेकिन एलर्जी गंभीर होने पर डॉक्टर के पास जाना अनिवार्य होता है।

(और पढ़ें - रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के घरेलू उपाय)

गंभीर एलर्जी के कारण लो ब्लड प्रेशर, सांस लेने में कठिनाई और शॉक जैसी समस्याओं के साथ सांस न ले पाना और कार्डियक अरेस्ट भी हो सकता है। अगर आपके आस-पास किसी को ये लक्षण अनुभव हो रहे हैं, तो उसे तुरंत डॉक्टर के पास ले जाएं।

(और पढ़ें - लो बीपी के घरेलू उपाय)

एलर्जी होने पर निम्नलिखित समस्याएं होती हैं -

(और पढ़ें - दूध से एलर्जी का उपचार)

गंभीर मामलों में एलर्जी से निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं -

(और पढ़ें - धूल से एलर्जी के लक्षण)

स्किन एलर्जी होने पर क्या करें - Skin allergy hone par kya karna chahiye

स्किन एलर्जी के लक्षण आमतौर पर कुछ समय में अपने आप ठीक हो जाते हैं, लेकिन लक्षणों से राहत के लिए आप निम्नलिखित प्राथमिक उपचार कर सकते हैं -

  • अगर आपको पता है कि आपको किस पदार्थ से एलर्जी हुई है, तो उस पदर्थ के संपर्क में बिलकुल न आएं।
  • सूजन और खुजली से राहत के लिए मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली कॉर्टिकोस्टेरॉइड (Corticosteroid) दवाएं लें।
  • प्रभावित क्षेत्र पर या तो 10 से 15 मिनट में ठंडी सिकाई करें या नहा लें।
  • अगर आपको दाने या चकत्ते हो गए हैं, तो ढ़ीले कपड़े पहनें। टाइट कपडे पहनने से आपकी समस्या और बढ़ सकती है।
  • प्रभावित क्षेत्र पर कैलामाइन लोशन जैसी मॉइस्चराइसिंग क्रीम लगाएं जो जलन या खुजली से राहत दे।
  • कीड़ों के काटने पर होने वाली एलर्जी के लिए बाजार में मिलने वाली दवाओं का उपयोग किया जा सकता है जो अन्य एलर्जी वाली दवाओं की तरह ही काम करती हैं। (और पढ़ें - मकड़ी के काटने पर क्या लगाएं)
  • अगर आपको अधिक समस्या हो रही है, तो एक कॉटन का मुलायम कपड़ा लें और उसे पानी में भिगोकर निचोड़ लें। अब इस कपड़े को प्रभावित क्षेत्र पर रखें।
  • अगर किसी केमिकल के संपर्क के कारण एलर्जी हुई है, तो प्रभावित क्षेत्र को पानी से धोएं।

अगर ऊपर दिए गए उपायों से आपकी समस्या ठीक नहीं होती है और लक्षण बढ़ने लगते हैं, तो हमेशा अपने डॉक्टर के पास जाएं क्योंकि गंभीर एलर्जी जानलेवा भी हो सकती है।

अन्य एलर्जी के लिए क्या करें - Anya prakar ki allergy ke liye kya kare

अगर आपके आस-पास या आपको एलर्जी हुई है, तो निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें -

  • आराम करने से एलर्जी के लक्षणों में राहत मिल सकती है, इसीलिए एलर्जी होने पर पर्याप्त आराम करें।
  • बंद नाक होने पर व्यक्ति को एक डिकंजेसटेंट (Decongestant) दवा दें। (और पढ़ें - बंद नाक खोलने के उपाय)
  • हल्का बुखार या पित्ती होने पर मेडिकल स्टोर पर मिलने वाली एंटीहिस्टामाइन दवा लें। (और पढ़ें - बुखार भगाने के घरेलू उपाय)
  • अगर व्यक्ति को पहले भी एलर्जी हुई है और डॉक्टर ने उन्हें दवा दी है, तो व्यक्ति से पूछकर उसे वह दवा दें।
  • अगर आंख में से पानी आने की समस्या हो रही है, तो व्यक्ति को एलर्जी के लिए आंख में डालने वाली ड्रॉप्स दें।
  • अगर व्यक्ति के लक्षण बिगड़ रहे हैं, तो तुरंत एम्बुलेंस बुलाएं।
  • एम्बुलेंस की प्रतीक्षा करते समय पीड़ित व्यक्ति के साथ ही रहें और उसके लक्षणों का ध्यान रखें। अगर वह बेहोश हो जाता है तो उसे आराम से लिटा दें।
  • अगर व्यक्ति सांस लेना बंद कर देता है, तो उसे सीपीआर दें।

(और पढ़ें - पित्ती के घरेलू उपाय)

एलर्जी के लक्षण कुछ ही मिनटों में बिगड़ सकते हैं और जानलेवा हो सकते हैं, इसीलिए अगर एलर्जी के लक्षण बढ़ रहे हैं या उपाय करने के बाद भी ठीक नहीं हो रहे हैं, तो डॉक्टर के पास जाएं या एम्बुलेंस बुलाएं।

निम्नलिखित समस्याएं होने पर तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाएं -

नोट: प्राथमिक चिकित्सा या फर्स्ट ऐड देने से पहले आपको इसकी ट्रेनिंग लेनी चाहिए। अगर आपको या आपके आस-पास किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की आपातकालीन स्वास्थ्य समस्या है, तो डॉक्टर या अस्पताल​ से तुरंत संपर्क करें। यह लेख केवल जानकारी के लिए है। 

और पढ़ें ...