क्या आपने कभी भी उल्टी और जी मचलना की भावना को दूर करने के लिए काले नमक का सेवन किया हैं? क्या आप जानते हैं काले नमक के सेवन से मतली या मॉर्निंग सिकनेस को भी ठीक किया जा सकता है। आप किसी भी प्रकार के सलाद या पास्ता या किसी भी व्यंजन में काले नमक को मिला सकते हैं। क्योंकि इसके सेवन से खाने के स्वाद को बढ़ाया जाता है। (और पढ़ें - नमक के फायदे और नुकसान)

यह सालों से हर भारतीय रसोई में उपयोग किए जाने वाले मसालों में से एक है। काला नमक सोडियम क्लोराइड, सोडियम सल्फेट, सोडियम बाइसफ़ेट, सोडियम बाइस्फाइट, सोडियम सल्फाइड, लोहा सल्फाइड और हाइड्रोजन सल्फाइड से बना होता है। (और पढ़ें - सेंधा नमक के फायदे और नुकसान)

भारतीय काला नमक, भारतीय ज्वालामुखीय पत्थर नमक की एक किस्म है। यह भारत, पाकिस्तान और दुनिया भर में लोकप्रिय है क्योंकि यह स्वाद में बहुत ही अच्छा और आसानी से उपलब्ध हो जाता है। इस नमक की विशेष किस्म हिमालय पर्वतमाला में पाई जाती है और भारतीय व्यंजनों में खाना पकाने और सजावट के लिए इसका उपयोग किया जाता है।  (और पढ़ें - समुद्री नमक के फायदे)

लोहा और अन्य खनिजों की उपस्थिति के कारण, यह नमक भूरे गुलाबी का होता है। इसमें एक अनूठा  सल्फ्यूरस घटक होता है जिसकी अक्सर अंडे के पीले भाग के साथ तुलना की जाती है और हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही अच्छा होता है।

व्यंजनों में एक अलग स्वाद प्रदान करने के अलावा, काला नमक स्वास्थ्य लाभों के लिए भी लोकप्रिय है। इसके स्वास्थ्य लाभ अनगिनत होते हैं। उच्च रक्तचाप वाले व्यक्तियों और कम नमक का सेवन करने वाले लोगों के लिए यह बहुत ही लाभकारी माना जाता है। इसके पीछे का कारण यह है कि यह सोडियम में कम होता है और आपके रक्त में सोडियम स्तर को बढ़ाता नहीं है। तो आइये जानते हैं काले नमक से लाभों के बारे में -

  1. काले नमक के फायदे कब्ज के लिए - Black Salt for Constipation in Hindi
  2. काले नमक के लाभ हैं अस्थमा में उपयोगी - Black Salt for Asthma in Hindi
  3. काला नमक बेनिफिट्स गैस से राहत के लिए - Black Salt for Gastritis in Hindi
  4. काला नमक का उपयोग करे सीने में जलन का इलाज - Black Salt for Heartburn in Hindi
  5. काला नमक का सेवन रखें कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित - Kale Namak ke Fayde for Cholesterol in Hindi
  6. काला नमक खाने के फायदे मजबूत हड्डियों के लिए - Kale Namak ke Labh for Bones in Hindi
  7. ब्लैक साल्ट के फायदे दिलाएं मांसपेशियों की ऐंठन से राहत - Black Salt for Muscle Cramps in Hindi
  8. काले नमक के गुण करें अवसाद का उपचार - Kala Namak ke Fayde for Depression in Hindi
  9. रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करें काले नमक से - Black Salt for Diabetes in Hindi
  10. काला नमक खाने के लाभ रखें बच्चों को बीमारियों से दूर - Black Salt Good for Babies in Hindi
  11. नहाने के पानी में करें काले नमक का उपयोग - Black Salt for Bath in Hindi
  12. काला नमक है त्वचा के लिए लाभकारी - Kala Namak for Skin in Hindi
  13. डैंड्रफ का घरेलू इलाज है काला नमक - Black Salt for Dandruff in Hindi

काले नमक का उपयोग कई प्रकार के चूर्ण और घरेलू पाचन की गोलियां का एक अभिन्न हिस्सा है। काली नमक का यह महत्वपूर्ण उपयोग कब्ज, पेट में जलन और कई पेट की बीमारियों के लिए किया जाता है। (और पढ़ें - कब्ज के घरेलू उपाय)

काला नमक एक शक्तिशाली रेचक है और यह आयुर्वेदिक उपचार में उपयोग किये जाने वाले लोकप्रिय घटकों में से एक है। आप नींबू और अदरक के साथ कुछ काला नमक मिलाकर, अपने लिए एक रेचक बना सकते हैं। इसलिए आज ही पाचन सुधारने के लिए अपने भोजन में काले नमक को शामिल करें। (और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

क्या आपको नाक और गले में खराश की वजह से श्वास लेने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है? इसलिए आपको काले नमक के सेवन की कोशिश करनी चाहिए। काले नमक को श्वसन संबंधी विकारों में लाभकारी पाया गया हैं। साइनस, एलर्जी या अस्थमा वाले लोगों के लिए, यह बहुत ही उपयोगी होता है। बस अपने इनहेलर में कुछ काला नमक डालें और दिन में दो बार इससे साँस लें। (और पढ़ें - अस्थमा के घरेलू उपचार)

काला नमक गैस्ट्रिक परेशानियों, ख़ास तौर से पेट में गैस से राहत दिला सकता है। यह पाचन में सुधार और एसिड रिफ्लक्स को कम करता है। इसके अलावा आँतों की गैस से तत्काल राहत के लिए, काले नमक से बने घरेलू उपचार का उपयोग करें। 1 चम्मच काली नमक और 1 गिलास गर्म पानी को कम लौ पर तांबा के पोत में डाल कर रखें। जब तक पानी के रंग में बदलाव नहीं होता है तब तक गर्म करें। एक चौथाई पानी रह जाने पर आँतों की गैस से छुटकारा पाने के लिए, इसका सेवन करें। (और पढ़ें - पेट में गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

काले नमक की क्षारीय प्रकृति पेट में अम्ल उत्पादन को संतुलित करती है जिससे पेट में जलन का इलाज किया जा सकता है। यह नमक खनिजों से भरपूर होता है जिसे अम्लता का इलाज करने के लिए, यह बहुत ही लाभकारी होता है। (और पढ़ें - सौंफ की चाय के फायदे सीने मे जलन के लिए)

नियमित नमक के बजाय काले नमक का सेवन करने से अस्थिर कोलेस्ट्रॉल का स्तर स्थिर हो सकता है। काला नमक रक्त के पतलेपन में मदद करता है जिससे पूरे शरीर में रक्त उचित संचलन होता है। और इस प्रकार यह हाई कोलेस्ट्रॉल और रक्तचाप को कम करने में मदद करता है। (और पढ़ें - हाई कोलेस्टरॉल कम करने के घरेलू उपाय)

क्या आप जानते हैं कि आपके शरीर में कुल नमक का लगभग एक चौथाई हिस्सा आपकी हड्डियों में जमा हो जाता है? बिल्कुल सही सुना आपने, क्योंकि कैल्शियम के अलावा, आपकी हड्डियों को ताकत देने के लिए नमक बहुत जरूरी होता है। ऑस्टियोपोरोसिस एक विकार है जिसमें हमारी हड्डियों में सोडियम की कमी हो जाती है जिससे हड्डियों की ताकत कम हो जाती है। इस समस्या को काला नमक की एक चुटकी के साथ, बहुत सारे पानी के सेवन से रोका जा सकता है। (और पढ़ें - हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए जूस रेसिपी)

काला नमक मांसपेशियों की दर्दनाक ऐंठन से राहत में मदद करता है। काले नमक में पोटेशियम होता है, जो कि हमारी मांसपेशियों के लिए बहुत आवश्यक होता है। यह शरीर में इस विशेष खनिज के उचित अवशोषण में भी मदद करता है। (और पढ़ें - मांसपेशियों में दर्द से राहत के लिए सबसे बढ़िया आहार)

इस प्रकार, अपने नियमित रूप से उपयोग किये जाने वाले नमक की जगह, आपको मांसपेशियों में दर्द और ऐंठन को ठीक करने के लिए काले नमक का उपयोग करना चाहिए। (और पढ़ें - मांसपेशियों में दर्द के घरेलू उपाय)

काला नमक कई प्रकार के डिप्रेशन के उपचार में लाभकारी हो सकता है। यह दो हार्मोन, मेलेटोनिन और सेरोटोनिन को संरक्षित करने में मदद करता है, जो अच्छी नींद के लिए आवश्यक होते हैं। (और पढ़ें - डिप्रेशन के घरेलू उपाय)

शरीर में रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में काला नमक बहुत ही प्रभावी पाया गया है। इसलिए अपने टेबल नमक की जगह काले नमक का उपयोग करना शुरू कर दें। इसलिए अगर आप शुगर (मधुमेह) से पीड़ित है या मधुमेह के निम्न स्तर पर है तो आज ही काले नमक सेवन करना शुरू कर दें। (और पढ़ें - शुगर का आयुर्वेदिक इलाज)

शायद आपको ये पता नहीं है कि बच्चों के लिए काले नमक का सेवन सबसे अच्छा होता है। यह कई बीमारियों का इलाज करता है, जिसमें अपच और कफ जमा होना भी शामिल है। माताओं को पाचन समस्याओं और गैस्ट्रिक परेशानियों को दूर करने के लिए नियमित रूप से शिशु आहार में काले नमक की एक चुटकी मिलाने की सलाह दी जाती है। खांसी का इलाज करने के लिए अपने शिशु को काले नमक के दाने चबाने को दें। शहद के साथ काले नमक का सेवन भी लाभकारी होता है।

रासायनिक आधारित साबुन, फुट बाथ और स्पा का उपयोग करने के बजाय, अपने नहाने के पानी में काले नमक का उपयोग करने पर विचार करें। हालांकि, सुनिश्चित करें कि पानी बहुत गर्म नहीं हों। यदि आपकी त्वचा संवेदनशील और उत्तेजित होने की संभावना है, तो यह एक उत्कृष्ट उपचार तत्व के रूप में काम करता है। यह बहुत ही अच्छे तरीके से पैर की सूजन यहां तक कि शरीर के मुँहासे के लिए भी लाभकारी साबित हो सकता है। संक्षेप में, जब आप एक शुद्ध और प्राकृतिक नमक से स्नान का आनंद लेंगे तो यह आपके सभी दर्द और चिंता को ठीक कर देगा। (और पढ़ें - क्या आपका नहाने का तरीका सही है?)

अपने क्लीन्ज़र या स्क्रब करने के लिए एक छोटी मात्रा में काला नमक मिलाएं। यह आपकी त्वचा को एक अलग चमक प्रदान करता है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, आपको सोने से पहले हर रात ऐसा चाहिए। यह छिपे हुए रोम छिद्र को खोलता है और आपको चमक से युक्त और तेल मुक्त त्वचा देता है। यह आपकी त्वचा को मुँहासे से मुक्त भी बना देता है। (और पढ़ें - यह घरेलू टिप्स आपकी सुंदरता पर चार चाँद लगा देंगे)

यदि आप रूसी या बालों के गिरने से पीड़ित हैं, तो दिन में कम से कम एक बार टमाटर के रस के साथ काले नमक का सेवन करें। यह क्षारीय-अम्लीय मिश्रण रूसी को समाप्त करेगा और आगे रूसी को बढ़ने से रोक देगा। (और पढ़ें - बालों से रूसी हटाने के घरेलू उपाय)

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Healthvit Good Morning Natural Laxative TabletHealthvit Good Morning Natural Laxative Tablet160.0
Vyas Kabjina ChurnaVyas Kabjina Churna80.0
Baidyanath Gaisantak BatiBaidyanath Gaisantak Bati114.0
Baidyanath Kabja HarBaidyanath Kabja Har152.0
Baidyanath Lavan bhaskar ChurnaBaidyanath Lavan Bhaskar Churna76.0
Baidyanath Panchsakar ChurnaBaidyanath Panchsakar Churna61.75
Dabur Gastrina TabletDabur Gastrina Tablet52.25
Dabur Lavan Bhaskar ChurnaDabur Lavan Bhaskar Churna232.75
Zandu Nityam TabletZandu Nityam Tablet90.0
Zandu Nityam ChurnaZandu Nityam Churna85.0
Planet Ayurveda Madatyahar ChurnaPlanet Ayurveda Madatyahar Churna Pack of 2630.0
Vasu Va U TabletVasu Va U Tablet393.54
Dabur Avipattikar ChurnaDabur Avipattikar Churna108.3
Dabur Agnitundi VatiDabur Agnitundi Vati75.05
Dabur Chandraprabha VatiDabur Chandraprabha Vati110.2
Dabur Vridhivadhika VatiDabur Vridhi Vadhika Vati87.4
Patanjali Divya Dant ManjanPatanjali Divya Dant Manjan45.5
Jiva Digestall Churna Jiva Digestall Churna66.5
Patanjali Divya Gashar ChurnaPatanjali Divya Gashar Churna85.0
Patanjali Divya Lavan Bhaskar ChurnaPatanjali Divya Lavan Bhaskar Churna65.0
Swadeshi Lavanbhaskar ChurnaSwadeshi Lavanbhaskar Churna62.0
Swadeshi Panchsam ChurnaSwadeshi Panchsam Churna77.0
Swadeshi Suprabhatam churnaSwadeshi Suprabhatam churna 96.0
Basic Ayurveda Lavanabhaskara ChuranBasic Ayurveda Lavanabhaskara Churan59.5
Fame Drugs Arq Balam kheeraFame Drugs Arq Balam kheera198.0
Fame Drugs Balam Kheera ChuranFame Drugs Balam Kheera Churan94.5
और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Blood Pressure Association.Why salt is bad. Wolfson Institute of Preventative Medicine, Charterhouse Square, London
  2. International Journal of COPD. A review of halotherapy for chronic obstructive pulmonary disease. Dovepress; 2014:9 239–246
  3. Center for Disease Control and Prevention [internet], Atlanta (GA): US Department of Health and Human Services; Salt Intake Widget
  4. U.S. Department of agriculture. Sodium and Potassium. U.S. federal executive department
  5. US Food and Drug Administration (FDA) [internet]; Guidance for Industry: Colored Sea Salt
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ