लेमन ग्रास एक प्रकार का बारहमासी पौधा है। इसके नाम के अनुसार, लेमन ग्रास में से एक नींबू की तरह सुगंध आती है, लेकिन इसकी स्वाद मीठा होता है आमतौर पर एशियाई व्यंजनों में इस जड़ी-बूटियों का इस्तेमाल विभिन्न व्यंजनों में स्वाद के लिए किया जाता है। यह फोलेट, मैग्नीशियम, जस्ता, विटामिन ए और विटामिन सी, फोलिक एसिड, तांबा, फास्फोरस, लोहा, कैल्शियम, पोटेशियम और मैंगनीज का एक समृद्ध स्रोत है। इसमें कम मात्रा में विटामिन बी 1 भी पाया जाता है। हालांकि यह बच्चों के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता है। यह स्वास्थ्य समस्याओं के इलाज के लिए सप्लीमेंट और वैकल्पिक उपचारों के रूप में उपयोग किया जाता है। तो आइये जानते हैं इससे होने वाले लाभों के बारे में -

(और पढ़ें - लेमन ग्रास के फायदे और नुकसान)

 
  1. लेमन ग्रास टी दिलाएं सूजन से राहत - Lemongrass Tea for Inflammation in Hindi
  2. लेमन ग्रास चाय के फायदे पाचन के लिए - Lemongrass Tea for Digestion in Hindi
  3. लेमन ग्रास चाय के लाभ करें बॉडी डिटॉक्सिफ़िकेशन - Lemongrass Tea ke Fayde for Detoxification in Hindi
  4. लेमन ग्रास चाय के औषधीय गुण करें कैंसर का इलाज - Lemongrass Tea for Cancer in Hindi
  5. लेमन ग्रास चाय का उपयोग दिलाएं मासिक धर्म ऐंठन से छुटकारा - Lemongrass Tea for Menstrual Cramps in Hindi
  6. लेमन ग्रास चाय का सेवन संक्रमण उपचार के लिए - Lemongrass Tea for Infection in Hindi
  7. लेमन ग्रास टी फॉर डिप्रेशन - Lemongrass Tea for Depression in Hindi
  8. लेमन ग्रास चाय के गुण करें अल्जाइमर का घरेलू उपाय - Lemongrass Tea for Alzheimer’s in Hindi
  9. खांसी को दूर करें लेमन ग्रास चाय से - Lemongrass Tea Good for Cough in Hindi

लेमन ग्रास के दर्द से राहत और सूजन को कम करने वाले गुण गठिया, पुराने ऑस्टियोआर्थराइटिस और अन्य जोड़ों दर्द के इलाज में अत्यधिक प्रभावी होते हैं। लेमन ग्रास के सूजन को कम करने वाले गुण एंजाइमेटिक गतिविधियों को सीमित करते हैं, जो विशेष रूप से जोड़ों के लिए दर्द और सूजन का कारण है। आप 2: 1 अनुपात में नारियल तेल और लेमन ग्रास तेल को मिक्स करके, लेमन ग्रास का एक विशेष हर्बल मिश्रण तैयार कर सकते हैं। जोड़ों और अन्य प्रभावित क्षेत्रों के ऊपर इस मिश्रण को रगड़कर दर्द और सूजन को कम करने में मदद मिल सकती है। सर्वोत्तम परिणामों के लिए, आपको लेमन ग्रास चाय को नियमित रूप से पीना चाहिए। 

(और पढ़ें - गठिया का आयुर्वेदिक इलाज)

लेमन ग्रास में एंटीसेप्टिक यौगिक होते हैं जो कि पाचन तंत्र के अंदर पाए जाने वाले परजीवी और बुरे बैक्टीरिया को बहुत ही प्रभावी ढंग से मारते हैं। यह बृहदान्त्र के भीतर अच्छे बैक्टीरिया को पुनर्स्थापित करके पाचन को स्वस्थ रखने में मदद करता है। यह कई पाचन समस्याओं के उपचार में मदद करता है जैसे कि खराब पेट, कब्ज, अपच, दस्त, सूजन, उल्टी, पेट में ऐंठन आदि। इसमें मौजूद एंटीमिक्रोबियल गुणों के कारण, इससे बनी चाय गैस्ट्रोएन्टराइटिस के लक्षणों में तत्काल राहत प्रदान करती है। स्वस्थ पाचन को सुनिश्चित करने के लिए, आपको लेमन ग्रास चाय को नियमित रूप से पीना चाहिए। 

(और पढ़ें - पाचन क्रिया सुधारने के आयुर्वेदिक उपाय)

आपके आंतरिक सिस्टम की सफाई और डिटॉक्सिफ़िकेशन, आपके अंगों के द्वारा अच्छी स्थिति में कार्य करने के लिए आवश्यक है। लेमन ग्रास चाय का नियमित सेवन सुनिश्चित करता है कि आपके आंतरिक प्रणाली शुद्ध और डिटॉक्सिफाइड है। इसके मूत्रवर्धक गुण आपके शरीर से यूरिक एसिड, विषाक्त पदार्थों और खराब कोलेस्ट्रॉल को खत्म करने में मदद करते हैं। इससे पेशाब की मात्रा में वृद्धि और आवृत्ति बढ़ जाती है जिससे आपके गुर्दे साफ और सुचारू रूप से कार्य करते हैं। लेमन ग्रास चाय ब्लैडर, लिवर और अग्न्याशय को शुद्ध करती है और रक्त परिसंचरण को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इस प्रकार, लेमन ग्रास चाय पीने से आपको अपने शरीर से सभी खतरनाक पदार्थों से छुटकारा पाने में मदद मिलती है। 

(और पढ़ें - बॉडी को डिटॉक्स कैसे करें)

इज़राइली अनुसंधान टीम के मुताबिक,लेमन ग्रास में कैंसर से लड़ने की क्षमता हो सकती है। वैकल्पिक उपाय वेबसाइट ने कहा है कि 2006 में बेन गुरियन विश्वविद्यालय ने पाया कि नींबू खुशबू वाले पदार्थों में कुछ ऐसे घटक पाए गए हैं जो कैंसर से लड़ने में मददगार है, जैसे कि लेमन ग्रास को विट्रो में कैंसर पैदा करने वाले कोशिकाओं को मारने के लिए पाया गया है, लेकिन उन्होंने स्वस्थ कोशिकाओं को नुकसान नहीं पहुंचाया। अध्ययन का कहना है कि लेमन ग्रास की खुशबू कैंसर कोशिकाओं को ख़त्म करने के लिए, कोशिका मृत्यु के रूप में जाने वाले तंत्र के माध्यम से उत्तेजित करने के लिए जिम्मेदार थी। 

(और पढ़ें - कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

मासिक धर्म में ऐंठन से लाखों महिलाएं प्रभावित होती है जैसे ही उनके पीरियड्स शुरू होती है। पीरियड्स के समय ऐंठन के अलावा और भी कई समस्याएं उत्पन्न होती है, लेकिन इन समस्याओं का इलाज आप लेमन ग्रास से कर सकते हैं। एक दिन में दो बार गर्म लेमन ग्रास चाय पीने से आपको मासिक धर्म में ऐंठन से मुक्त मिल सकती है। यह एक एंटी-एक्ने टॉनिक भी है जो आमतौर पर हार्मोनल परिवर्तनों के परिणामस्वरूप मासिक धर्म के दौरान बढ़ जाते हैं। 

(और पढ़े - मासिक धर्म में दर्द का उपचार)

लेमन ग्रास में एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते हैं जो शोधकर्ताओं के मुताबिक स्ट्रेप्टोमाइसिन और पेनिसिलिन (एक एंटीबायोटिक है जो संक्रमण के इलाज के लिए उपयोग किये जाते हैं) से भी ज्यादा शक्तिशाली होते हैं। स्टेफ संक्रमणों के उपचार के रूप में लेमन ग्रास चाय का उपयोग बहुत प्रभावी पाया गया था। अमेरिकन हर्ब एसोसिएशन के काथी केविल के विशेषज्ञों ने कहा है कि जब लेमोफोन एक वाश या कंप्रेसर के रूप में उपयोग किया जाता है, तो प्रभावी रूप से संक्रमित घावों और विभिन्न त्वचा संक्रमणों को ठीक करने में मदद करता है। ब्राजील के संक्रामक रोगों के जर्नल में प्रकाशित एक आर्टिकल में कहा गया है कि लेमन ग्रास चाय कुछ प्रकार के संक्रमणों की प्रगति को रोक सकता है। आर्टिकल के अनुसार लेमन ग्रास फंगल संक्रमण के उपचार में सहायक हो सकता है, हालांकि ऐसे दावों की पुष्टि के लिए नैदानिक परीक्षण आवश्यक हैं। 

(और पढ़ें - योनि में इन्फेक्शन के घरेलू उपाय)

लेमन ग्रास चाय का उपयोग सिर दर्द और शरीर में दर्द के साथ साथ डिप्रेशन, तनाव और थकान के लक्षणों को दूर करने और पूरे शरीर को फिर से जीवंत करने के लिए किया जाता है। इसकी सुगन्धित खुशबू आपके मूड में सुधार करती है और जिससे आपको आराम और ख़ुशी महसूस होती है। इसका आपके स्वास्थ्य पर एक सकारात्मक और स्वस्थ प्रभाव पड़ता है। यह एकमात्र या अन्य सुगन्धित चाय के स्वादों जैसे कि चमेली या कैमोमाइल के साथ संयोजन में इस्तेमाल किया जा सकता है। 

(और पढ़ें - डिप्रेशन के घरेलू उपाय)

जब मुक्त कण और प्रोटीन आपस में टकराते हैं, तो आपकी कोशिकाओं के भीतर डीएनए, अल्जाइमर रोग जैसे गंभीर रोगों का कारण हो सकता है। लेमन ग्रास में उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट मुक्त कण और प्रोटीन को मिलने से रोक देते हैं और इस तरह के गंभीर बीमारियों की शुरुआत को रोकते हैं। इसके प्राकृतिक मूत्रवर्धक गुण अग्न्याशय और लिवर को स्वस्थ रखते हैं जिससे कोलेस्ट्रॉल का स्तर नियंत्रित होता है और उन्हें सामान्य रखता है। 

(और पढ़ें - अल्जाइमर रोग के खतरे को रोकना है तो अपने आहार में करें इन 10 चीज़ों को शामिल)

फ्लू और सर्दी सामान्य स्वास्थ्य समस्याएं हैं जो नियमित रूप से हर किसी को प्रभावित करती हैं। हालांकि, यदि आप प्रत्येक दिन लेमन ग्रास चाय का एक कप लेते रहेंगे, तो यह निश्चित रूप से ऐसी समस्याओं को आपसे दूर रखेगा। लेमन ग्रास में एंटिफंगल और जीवाणुरोधी गुण होते हैं जो आपके शरीर को बुखार, खांसी, फ्लू और ठंड के लक्षणों के साथ सामना करने में मदद करते हैं। यह विटामिन सी में समृद्ध है, जो आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए अच्छा होता है और इस तरह आपके शरीर को संक्रमण से लड़ने में मदद करता है।

लेमन ग्रास का उपयोग जोड़ों और मांसपेशियों में दर्द को कम करने और फ्लू और सर्दी के कारण सिरदर्द को ठीक करने के लिए किया जाता है। आप कवक और बलगम के निर्माण को प्रभावी ढंग से तोड़ने के लिए लेमन ग्रास चाय का उपयोग कर सकते हैं और श्वसन समस्या के किसी भी प्रकार को कम कर सकते हैं। यह विशेष रूप से अस्थमा ब्रांकाइटिस के रोगियों को मदद करता है।

एक कप दूध में 3 लौंग, छोटे दालचीनी, 1 चम्मच हल्दी पाउडर और लेमन ग्रास फल को उबालकर ठंडा कर लें। दिन में कम से कम एक बार इसका सेवन करें जब तक आपको राहत नहीं मिलती।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ