myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गाजर का हलवा एक पारंपरिक भारतीय मिठाई है जिसे पूरे देश में शौक से खाया जाता है, खासकर उत्तरी भारत में। इसमें गाजर, दूध और चीनी का उपयोग करके उनका हलवा बनाया जाता है। सर्दियों में गरम-गरम गाजर का हलवा खाना किसे नहीं पसंद, ये एक ऐसी डिश है जो हर आयु के व्यक्ति और बच्चों को पसंद आती है। वैसे तो गाजर का हलवा बनाने के कई तरीके हैं, लेकिन सबसे लोकप्रिय तरीका है गाजर और दूध को मिलाकर ये रेसिपी बनाना। इस लेख में हमने आपको गाजर का हलवा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री और इसे बनाने के तरीके के बारे में बताया है।

संक्षेप में  
तैयारी करने का समय 15 मिनट
बनाने का समय एक घंटा
कुल समय एक घंटा पंद्रह मिनट
कितने लोगों के लिए है ये रेसिपी 6 लोग
कहां की है ये डिश भारतीय
टाइप वेज (शाकाहारी)
एक कप गाजर के हलवे में कैलोरी 275Kcal

(और पढ़ें - रसमलाई रेसिपी)

  1. गाजर का हलवा बनाने की सामग्री - Ingredients for making gajar ka halwa in hindi
  2. गाजर का हलवा बनाने का तरीका - How to make gajar ka halwa in hindi
  3. गाजर का हलवा परोसने का तरीका - How to serve gajar ka halwa in hindi
  4. गाजर का हलवा परोसने का तरीका - How to serve gajar ka halwa in hindi
  5. गाजर का हलवा बनाने के लिए कुछ टिप्स - Tips for making gajar ka halwa in hindi
  6. गाजर का हलवा को हैल्दी बनाने का तरीका - Tips for making gajar ka halwa healthy in hindi
  7. गाजर का हलवा बनाने की वीडियो - Gajar ka halwa recipe video in hindi

गाजर का हलवा बनाने के लिए आवश्यक सामग्री नीचे दी गई है:

इस सामग्री से आप पांच से छः लोगों के लिए हलवा बना सकते हैं।

(और पढ़ें - बेसन का हलवा बनाने की रेसिपी)

गाजर का हलवा बनाने का तरीका नीचे दिया गया है:

  1. सबसे पहले गाजर को अच्छे से धो लें और उनका छिलका उतार लें।
  2. छिलका उतारने के बाद सारी गाजर को कद्दूकस कर लें। (और पढ़ें - गाजर के जूस के फायदे)
  3. इसके बाद एक कड़ाही लें और उसमें थोड़ा सा घी डालकर अपने ड्राई फ्रूट्स को भून लें। इन्हें केवल एक मिनट तक ही भूनें।
  4. अब इसी कड़ाही में कद्दूकस की हुई गाजर डालें और उन्हें थोड़ा मुलायम होने तक करीब पांच मिनट तक पका लें।
  5. गाजर मुलायम हो जाने के बाद कड़ाही में दूध डाल दें। (और पढ़ें - गर्म दूध पीने के फायदे)
  6. अब कड़ाही की सामग्री को अच्छे से आपस में मिला लें और दूध में उबाल आने दें।
  7. बीच-बीच में कड़ाही को करछी की मादद से चलाते रहें ताकि दूध कड़ाही में चिपके नहीं।
  8. अब गाजर और दूध को करीब आधे घंटे के लिए धीमी आंच पर पकने दें।
  9. सारा दूध सूख जाना चाहिए और अंत में कड़ाही में गाजर के साथ गाढ़ा खोया बचना चाहिए। (और पढ़ें - खोया बनाने की विधि और तरीका)
  10. जब आधे से ज्यादा दूध सूख जाए, तो कड़ाही में चीनी डालें और दूध में अच्छे से मिला लें।
  11. इसके बाद गाजर को आधे घंटे के लिए धीमी आंच पर पकने दें। सारा दूध सूख जाने के बाद आपका गाजर का हलवा परोसने के लिए बिलकुल तैयार हो जाएगा।

(और पढ़ें - मूंग दाल हलवा बनाने की विधि)

गाजर अच्छे से पकने और दूध सूख जाने के बाद इसके ऊपर अपनी पसंद के ड्राई फ्रूट्स काटकर डालें, जैसे अखरोट, पिस्ता आदि। वैसे तो इसे गरम-गरम खाने का ही ज्यादा स्वाद आता है, लेकिन आप गाजर के हलवे को ठंडा करके भी खा सकते हैं।

(और पढ़ें - बेसन के लड्डू बनाने का तरीका)

गाजर के हलवे में मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी नीचे दी गई है। ये पोषक एक कप हलवे के आधार पर हैं:

पोषक तत्व मात्रा
कैलोरी 275Kcal
फैट 13 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल 30 मिलीग्राम
सोडियम 103 मिलीग्राम
कार्बोहायड्रेट 35 ग्राम
प्रोटीन 5.6 ग्राम
नेचुरल शुगर 30 ग्राम

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय)

गाजर का हलवा बनाने में नीचे दी गई टिप्स आपके काम आ सकती हैं:

  1. गाजर का हलवा बनाने के लिए हमेशा ताज़ी, रसदार और मुलायम गाजरों का इस्तेमाल करें, जिनमें कम रेशे हो। आप हलवा बनाने से पहले गाजरों को चखकर भी देख सकते हैं। (और पढ़ें - गाजर के बीज के तेल के फायदे)
  2. हलवा बनाने के लिए आपको अपने हाथों की ताकत का अधिक इस्तेमाल करना पड़ता है क्योंकि पहले गाजर को कद्दूकस करना पड़ता है और फिर कढ़ाई को बार-बार चलाना पड़ता है, इसीलिए अपने आपको पहले से ही इसके लिए तैयार रखें।
  3. गाजर का हलवा बनाने के लिए सर्दियों में मिलने वाली लाल गाजरों का ही इस्तेमाल करें। इनसे हलवे का स्वाद तो बेहतर होता ही है, साथ ही उसका रंग भी अच्छा आता है।
  4. वैसे तो फुल क्रीम दूध की जगह आप किसी दूसरे दूध से भी हलवा बना सकते हैं, लेकिन फुल क्रीम दूध से इसका बेहतर स्वाद आता है। (और पढ़ें - हल्दी दूध बनाने की विधि)
  5. अगर आपको हात से सारी गाजर कद्दूकस करना मुश्किल लग रहा है, तो आप इसे फ़ूड प्रोसेसर से भी कद्दूकस कर सकते हैं।
  6. गाजर को ज्यादा पतला या ज्यादा मोटा कद्दूकस न करें। अगर आप इसे बहुत पतला कद्दूकस करते हैं, तो आपका हलवा ज्यादा घुटा हुआ बनेगा। इसी तरह अगर आप गाजर को ज्यादा मोटा कद्दूकस करते हैं, तो आपके हलवे में गाजर के टुकड़े अलग दिखने लगेंगे।
  7. ध्यान रखें कि हलवे को कड़ाही में थोड़ी-थोड़ी देर बाद चलाना बहुत जरुरी है, नहीं तो दूध कड़ाही में चिपकने लगेगा और जल जाएगा। इससे गाजर के हलवे का स्वाद खराब होगा।  (और पढ़ें - कटलेट रेसिपी)
  8. गाजर का हलवा बनाने के लिए आपको मोटे तले वाली कड़ाही का उपयोग करना चाहिए क्योंकि इसे बनाते समय धीमी आंच पर दूध को पकाने की आवश्यकता होती है, जिसमें दूध जलने का ख़तरा होता है। अगर कड़ाही का तला मोटा होगा, तो दूध के जलने की संभावना कम हो जाएगी। आप चाहें तो इसके लिए नॉन-स्टिक कड़ाही का उपयोग भी कर सकते हैं।
  9. अगर आप एक बार में ज्यादा हलवा नहीं बना पा रहे हैं, तो आप इसे दो बार में भी बना सकते हैं।  (और पढ़ें - समोसा बनाने की विधि)
  10. अगर आप चाहें तो बिना दूध के भी हलवा बना सकते हैं। इसके लिए बाजार से खोया ले आएं और उसे हलवे में डालकर पका लें।
  11. गाजर के हलवे को एक से दो महीनों तक स्टोर करके रखा जा सकता है। इसके लिए इसे एयर टाइट डब्बे में डालकर फ्रिज में रख दें। खाने से पहले इसे निकालकर गरम कर लें।

(और पढ़ें - खीर बनाने की विधि)

गाजर के हलवे को हैल्दी बनाने के लिए नीचे दिए गए तरीकों का इस्तेमाल किया जा सकता है:

  • अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं, तो आपको कम से कम मीठा खाना चाहिए। आप चाहें तो हलवे में चीनी की जगह शुगर फ्री या गुड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं। (और पढ़ें - चीनी की लत दूर करने के उपाय)
  • हलवे को ज्यादा पौष्टिक बनाने के लिए आप इसमें गाजर के साथ चुकंदर को कद्दूकस करके भी डाल सकते हैं। इससे हलवा ज्यादा हैल्दी भी बनेगा और उसका रंग भी ज्यादा गहरा लाल आएगा। और पढ़ें - गाजर के बीज के तेल के फायदे)
  • गाजर के हलवे को पौष्टिक बनाने का एक अच्छा तरीका है इसमें ज्यादा से ज्यादा ड्राई फ्रूट्स का इस्तेमाल करें। (और पढ़ें - पौष्टिक आहार के गुण)
  • अगर आपको हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, तो आप हलवा बनाने के लिए फुल क्रीम दूध की जगह लो फैट दूध का इस्तेमाल कर सकते हैं। (और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर क्या नहीं खाना चाहिए)
  • हलवे को हैल्दी बनाने के लिए सामान्य घी की जगह देसी घी का उपयोग करें।

(और पढ़ें - घी या मक्खन: क्या खाना है बेहतर?)

गाजर का हलवा बनाने का के लिए इस वीडियो को ध्यान से देखें।

और पढ़ें ...