लो ब्लड प्रेशर को हाइपोटेंशन भी कहा जाता है. यह तब होता है, जब ब्लड प्रेशर का स्तर सामान्य से कम हो जाता है. लो ब्लड प्रेशर के होने से चक्कर आना, उल्टी आना, धुंधला दिखनाकमजोरी महसूस हो सकती है. यह जरूरी नहीं है कि लो ब्लड प्रेशर को ठीक करने के लिए दवा की मदद ली जाए. लो ब्लड प्रेशर को सामान्य करने के लिए डाइट की मदद भी ली जा सकती है. इसके लिए विटामिन-बी, फोलेट, नमक व कैफीन की मात्रा बढ़ाने से समस्या से कुछ राहत मिल सकती है.

आज इस लेख में आप जानेंगे कि लो ब्लड प्रेशर होने पर किस प्रकार की डाइट को फॉलो करना चाहिए -

(और पढ़ें - लो बीपी में क्या खाएं)

  1. लो ब्लड प्रेशर में क्या खाएं
  2. लो ब्लड प्रेशर के लिए डाइट चार्ट
  3. सारांश
लो ब्लड प्रेशर डाइट चार्ट के डॉक्टर

यदि शरीर में आयरन, फोलिक एसिड व विटामिन-बी12 जैसे पोषक तत्वों की कमी होती है, तो इससे एनीमिया और लो ब्लड प्रेशर होने की आशंका रहती है. इस स्थिति में कॉफी, हरी पत्तेदार सब्जियां व दालें जैसी चीजों को डाइट में शामिल करने से लो ब्लड प्रेशर को नॉर्मल किया जा सकता है. इस बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है -

नमक

ब्लड प्रेशर के कम होते ही, सबसे पहले अधिक मात्रा में नमक खाने की सलाह दी जाती है. नमक में सोडियम होता है, जो शरीर में पानी का स्तर सामान्य बनाए रखने के लिए हार्मोन को प्रभावित करता है. इस प्रकार नमक युक्त खाद्य पदार्थ खाने से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है.

(और पढ़ें - लो बीपी का होम्योपैथिक इलाज)

myUpchar के डॉक्टरों ने अपने कई वर्षों की शोध के बाद आयुर्वेद की 100% असली और शुद्ध जड़ी-बूटियों का उपयोग करके myUpchar Ayurveda Urjas Capsule बनाया है। इस आयुर्वेदिक दवा को हमारे डॉक्टरों ने कई लाख लोगों को सेक्स समस्याओं के लिए सुझाया है, जिससे उनको अच्छे प्रभाव देखने को मिले हैं।

विटामिन-बी12

शरीर में विटामिन-बी12 की मात्रा कम होने से एनीमिया की समस्या हो सकती है और उस कारण से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है. इसलिए, अगर किसी को विटामिन-बी12 की कमी है, तो अंडेमीट व अनाज आदि का सेवन अधिक करना चाहिए.

(और पढ़ें - लो बीपी के घरेलू उपाय)

कैफीन

शोध बताते हैं कि कॉफी या कैफीन युक्त अन्य तरल पदार्थ तुरंत ब्लड प्रेशर लेवल को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं. ऐसा इसलिए, क्योंकि कैफीन लो ब्लड प्रेशर को नार्मल कर सकता है. दरअसल, कैफीन कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम को स्टिमूलेट करता है और इससे हार्ट रेट बेहतर हो सकता है.

(और पढ़ें - बीपी लो होने पर क्या करें)

फोलेट

डाइट में फोलेट युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करने से भी ब्लड प्रेशर में आई कमी ठीक हो सकती है. बीन्स, दालोंसिट्रस फलों व हरी पत्तेदार सब्जियों में फोलेट की मात्रा अधिक होती है.

(और पढ़ें - लो बीपी का आयुर्वेदिक इलाज)

तरल पदार्थ

शरीर में पानी की कमी होने से ब्लड प्रेशर कम हो जाता है. इसलिए, दिनभर पर्याप्त पानी पीते रहना चाहिए. पानी के अलावा अन्य तरल पदार्थ भी लिए जा सकते हैं, जैसे - सूप, फलों का जूस, छाछ व दूध आदि.

(और पढ़ें - प्रेगनेंसी में बीपी लो)

यहां हम लो ब्लड प्रेशर के मरीज के लिए सैंपल डाइट चार्ट दे रहे हैं, जिसमें आप अपनी जरूरत के अनुसार डॉक्टर से पूछकर बदलाव कर सकते हैं -

समय

क्या खाएं
सुबह 6 बजे रात को भिगोए गए 8-10 किशमिश + 5 बादाम
सुबह 8 बजे एक बड़ा बाउल दलिया / उपमा / नमकीन सेवइयां / पोहा / बेसन का चीला / सूजी का चीला / भरवां परांठा / 1 अंडे का सफेद भाग / दो चपाती + 1 कटोरी सब्जी या दाल
सुबह 11 बजे 1 बाउल मौसमी फल / नारियल पानी / हर्बल चाय / ग्रीन टी / 1 बाउल सलाद
दोपहर 1 बजे 3 सादी चपाती / मिक्स चपाती / 1 बाउल उबले हुए चावल + 1 कटोरी सब्जी + 1 कटोरी दाल + 1 कटोरी दही
शाम 4 बजे हर्बल चाय / ग्रीन टी / भूने चने + चिवड़ा / स्प्राउट / मौसमी फलों का जूस
शाम 6 बजे घर में बना सूप
रात 8 बजे 2 सादी चपाती / मिक्स चपाती / वेज खिचड़ी / वेज दलिया / उबले हुए चावल 1 कटोरी सब्जी + 1 कटोरी दाल

 

(और पढ़ें - नॉर्मल बीपी रेंज)

लो ब्लड प्रेशर होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें मेडिकल कंडीशन, बढ़ती उम्र और दवाइयां शामिल हैं. हालांकि अंडे, कॉफी, नमक व दाल जैसे खाद्य पदार्थों को डाइट में शामिल करने से मदद मिल सकती है. लेकिन बेहतर तो यह होगा कि लो ब्लड प्रेशर की स्थिति होने पर डॉक्टर से सलाह लेकर ही डाइट चार्ट में बदलाव लाया जाए. डॉक्टर या डाइटिशियन ही सही तरह से बता सकते हैं कि आपको किस तरह के पोषक तत्व की अधिक जरूरत है.

(और पढ़ें - ब्लड प्रेशर नापने का सही तरीका)

Dr. Amit Singh

Dr. Amit Singh

कार्डियोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Shekar M G

Dr. Shekar M G

कार्डियोलॉजी
18 वर्षों का अनुभव

Dr. Janardhana Reddy D

Dr. Janardhana Reddy D

कार्डियोलॉजी
20 वर्षों का अनुभव

Dr. Abhishek Sharma

Dr. Abhishek Sharma

कार्डियोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ