myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

चीला एक ऐसी रेसिपी है जो बहुत ही स्वादिष्ट और बनाने में आसान होती है। इसे वेज ऑमलेट या पूड़ा भी कहा जाता है। नाश्ते में खाने के लिए ये एक अच्छा विकल्प है क्योंकि चीला बनाने के लिए आपको जिस सामग्री की आवश्यकता होती है, वह आसानी से हर घर में मिल जाती है। वैसे तो चीला सूजी व चावल से भी बनाया जा सकता है, लेकिन आमतौर पर इसे बेसन से ही बनाया जाता है। इस लेख में हमने आपको बेसन का चीला बनाने के लिए आवश्यक सामग्री और बनाने के तरीके के बारे में बताया है।

संक्षेप में  
तैयारी करने का समय 5 मिनट
बनाने का समय 10 मिनट
कुल समय 15 मिनट
कितने चीलों के लिए है ये रेसिपी तीन-चार चीले
कहां की है ये डिश भारत
कब खाएं नाश्ते में
टाइप वेज (शाकाहारी)
एक चीले में कैलोरी 143Kcal

(और पढ़ें - पकोड़े की रेसिपी)

  1. चीला बनाने की सामग्री - Ingredients for making chilla in hindi
  2. चीला बनाने का तरीका - How to make chilla in hindi
  3. चीला में मौजूद पोषक तत्वों की जानकारी - Nuritional information of chilla in hindi
  4. चीला बनाने के लिए कुछ टिप्स - Tips for making chilla in hindi
  5. चीले को हैल्दी बनाने का तरीका - How to make chilla healthy in hindi
  6. चीले के प्रकार - Types of chilla in hindi
  7. चीला बनाने की वीडियो - Chilla recipe video in hindi

बेसन का चीला बनाने के लिए आपको निम्नलिखित सामग्री की आवश्यकता होगी। इस सामग्री से आप तीन-चार चीले बना सकते हैं:

(और पढ़ें - पकोड़े बनाने की विधि)

बेसन का चीला बनाने का तरीका निम्नलिखित है:

  1. चीला बनाने के लिए सबसे पहले एक बाउल में बेसन लें और उसमें नमक, काली मिर्च का पाउडर, प्याज, टमाटर, हरी मिर्च, अजवाइन और धनिये के पत्ते डालकर मिला लें। (और पढ़ें - बेसन का हलवा बनाने का तरीका)
  2. अब इसमें पानी डालकर पेस्ट बना लें और सब कुछ अच्छे से मिला लें।
  3. पेस्ट को पतला करने के लिए इसमें और पानी डालें। (और पढ़ें - पानी कब पीना चाहिए)
  4. अब एक नॉन-स्टिक तवा लें और उस पर थोड़ा तेल डालें। (और पढ़ें - तिल के तेल के फायदे)
  5. तेल गरम होने के बाद उसमें करछी से फैलाते हुए बेसन डालकर तलें।
  6. नीचे से कुरकुरा और सुनहरा-ब्राउन हो जाने के बाद इसे पलट दें और दूसरी तरफ से भी तलने दें।
  7. दोनों तरफ से तल जाने के बाद चीले को तवे से उतार लें और गरम-गरम परोसें।
  8. इसे हरी व लाल चटनी के साथ खाया जाता है।

(और पढ़ें - पुदीने की चटनी बनाने का तरीका)

चीले में मौजूद पोषक तत्व की जानकारी नीचे दी गई है। ये पोषक तत्व 1 बेसन के चीले के आधार पर हैं:

पोषक तत्व मात्रा
कैलोरी 143Kcal
फैट 2 ग्राम
कोलेस्ट्रॉल 0 मिलीग्राम
सोडियम 219 मिलीग्राम
कार्बोहायड्रेट 36 ग्राम
प्रोटीन 18 ग्राम
नेचुरल शुगर 5 ग्राम

(और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल कम करने के उपाय)

बेसन का चीला बनाने के लिए नीचे दी गई टिप्स आपके काम आ सकती हैं:

  • आपको जितना मोटा चीला चाहिए, बैटर को उसके अनुसार गाढ़ा कर लें।
  • अगर आप बच्चों के लिए चीला बना रहे हैं, तो इसमें हरी मिर्च न डालें। (और पढ़ें - हेल्दी ब्रेकफास्ट रेसिपी)
  • चीले को हमेशा मध्यम आंच पर ही पकाएं। अगर आप इसे तेज आंच पर पकाएंगे, तो ये जल्दी से काला या ब्राउन तो हो आएगा, लेकिन अंदर से बेसन कच्चा ही रह जाएगा। (और पढ़ें - अवियल बनाने की रेसिपी)
  • बेसन के बैटर को कम से कम आधे घंटे के लिए रख दें, नहीं तो इससे आपको पेट की समस्याएं हो सकती हैं। (और पढ़ें - पेट में गैस बनने पर क्या खाना चाहिए)
  • आप सब्जियों को कद्दूकस करके भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • अगर आप ज्यादा कुरकुरा चीला खाना चाहते हैं, तो तेल की मात्रा ज्यादा रखें।
  • चीले को दोनों तरफ से कुरकुरा होने तक तलें। (और पढ़ें - कुलचा रेसिपी)
  • आप इसमें अपनी पसंद से मसाले डाल सकते हैं।

(और पढ़ें - पराठा बनाने का तरीका)

बेसन के चीले को हैल्दी बनाने के लिए नीचे दिए गए तरीके आपके काम आ सकते हैं:

  • चीले को हैल्दी बनाने का सबसे अच्छा तरीका है इसमें ढेर सारी सब्जियां डालना। आप इसमें अपनी पसंद के अनुसार कोई भी सब्जियां डाल सकते हैं, जैसे बीन्स, पालक, शिमला मिर्च और कॉर्न आदि।
  • अगर आपको हाई बीपी की समस्या है, तो मसालों का उपयोग कम करें। (और पढ़ें - हाई ब्लड प्रेशर में क्या खाएं)
  • इसे हैल्दी बनाने का एक और तरीका है इसमें पनीर डालना। आप पनीर को चीले के ऊपर से कद्दूकस करके डाल सकते हैं। (और पढ़ें - कड़ाई पनीर रेसिपी)
  • आप चाहें तो पनीर की जगह टोफू का प्रयोग भी कर सकते हैं, इसे पनीर से ज्यादा पौष्टिक माना जाना है। (और पढ़ें - टोफू या पनीर: स्वास्थ्य के लिए क्या बेहतर है?)
  • सामान्य तेल की जगह जैतून के तेल का उपयोग करें।

(और पढ़ें - गाजर का हलवा बनाने की विधि)

चीले कई प्रकार से बनाए जाते हैं, हालांकि इनमें से सबसे आम बेसन के चीले ही हैं। चीलों के अन्य प्रकार के बारे में नीचे बताया गया है:

  • सूजी का चीला: 
    सूजी का चीला बनाने के लिए इसमें बेसन की जगह सूजी का उपयोग किया जाता है। इसके लिए सूजी का बैटर बनाया जाता है और बेसन की ही तरह इसमें मसाले व सब्जियां डालकर चीला बनाया जाता है। (और पढ़ें - रवा इडली बनाने का तरीका)
     
  • चावल का चीला: 
    चावल का चीला बनाने के लिए चावल के आटे का उपयोग किया जाता है। चावल के आटे में कई बार सूजी भी मिलाई जाती है। ये चीले बाकि चीलों से ज्यादा कुरकुरे बनते हैं। इन्हें भी दूसरे चीलों की तरह मसाले व सब्जियां डालकर बनाया जाता। (और पढ़ें - चावल के आटे से चेहरे को गोरा करने का तरीका)
     
  • मूंग दाल का चीला:
    ये चीला बनाने के लिए हरी मूंग दाल का इस्तेमाल किया जाता है। दाल को पीस लिया जाता है और उसमें मसाले व सब्जियां मिलाकर बैटर तैयार किया जाता है। इसे भी बाकि चीलों की तरह ही बनाया जाता है।

(और पढ़ें - मूंग दाल हलवा बनाने की विधि)

बेसन का चीला बनाने के लिए इस वीडियो को देखें।

और पढ़ें ...