myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नाईटमेयर का शाब्दिक अर्थ दुःस्वप्न (डरावने सपने आना) होता है। डरावने सपने आना बहुत आम समस्या हैं। ये सही नींद न आना और दिन भर के खराब अनुभव से जुड़े हो सकते हैं। डरावने सपने आना एक नींद संबंधी विकार है जो किसी भयानक सपने के कारण नींद से जागने का कारण बनता है। इस सपने को जागने के बाद आसानी से याद किया जा सकता है।

डरावने सपने उन सामान्य सपनों की तरह ही होते हैं जो अक्सर एक भावनात्मक अनुभव या स्मृति के कारण नींद के दौरान आते हैं। लेकिन डरावने सपने जागने के बाद वापस याद आने पर परेशान होती है। डरावने सपने आमतौर उस व्यक्ति को कम से कम कुछ हद तक याद रहते हैं, जो उन्हें अनुभव करता है। यह बच्चों के लिए भी सच है, जो अक्सर डरावने विवरण बता सकते हैं।

डरावने सपने आने के विकार का निदान करने के लिए, डॉक्टर आपके मेडिकल इतिहास, नींद के पैटर्न और लक्षणों की समीक्षा करेंगे। डॉक्टर आपके द्वारा ली जाने वाली कोई भी दवाई, साथ ही आपके अन्य नींद संबंधी विकारों के इतिहास की भी जानकारी लेते हैं। 

आमतौर पर इलाज की जरुरत नहीं होती हैं। डरावने सपने आने के विकार का निदान केवल तभी किया जाता है जब ये सपने आपके लिए परेशानी का कारण बनते हैं या दिन के नियमित कामकाज में समस्याएं पैदा करते हैं। कई लोगों के लिए, थेरेपी और परामर्श डरावने सपने से छुटकारे के लिए प्रभावी उपचार हैं। उपचार का उद्देश्य रोगी को रात में अच्छी नींद लेने और सभी ट्रिगरिंग कारकों यानि डरावने सपने आने के कारणों को दूर करने में मदद करना है। डरावने सपने आने से थकान, दिन में नींद आना और यहां तक ​​कि अवसाद जैसी जटिलताएं हो सकती है।

(और पढ़ें - अच्छी गहरी नींद के लिए घरेलू उपचार)

  1. बुरे और डरावने सपने आने के प्रकार - Types of Nightmares in Hindi
  2. बुरे और डरावने सपने आने के लक्षण - Nightmares Symptoms in Hindi
  3. बुरे और डरावने सपने आने के कारण - Nightmares Causes in Hindi
  4. बुरे और डरावने सपने आने से बचाव के उपाय - Prevention of Nightmares in Hindi
  5. बुरे और डरावने सपने आने का निदान - Diagnosis of Nightmares in Hindi
  6. बुरे और डरावने सपने आने का उपचार - Nightmares Treatment in Hindi
  7. बुरे और डरावने सपने आने के जोखिम और जटिलताएं - Nightmares Risks & Complications in Hindi
  8. डरावने सपने आना की दवा - Medicines for Nightmares in Hindi
  9. डरावने सपने आना के डॉक्टर

बुरे और डरावने सपने आने के प्रकार - Types of Nightmares in Hindi

डरावने सपने आने के विकार के कितने प्रकार हैं?
डरावने सपने आने के विकार को गंभीरता के आधार पर वर्गीकृत किया जा सकता है। गंभीरता को कितनी बार डरावने सपने आते हैं उसके आधार पर निर्धारित किया जाता है, इस आधार पर निम्नलिखित तीन प्रकार होते हैं:

  1. हल्का:
    औसतन प्रति सप्ताह एक बार से कम डरावने सपने आते हैं। 
  2. मध्यम:
    प्रति सप्ताह एक या अधिक बार लेकिन डरावने सपने हर रात नहीं आते हैं। 
  3. गंभीर:
    हर रात को डरावने सपने आते हैं। 

(और पढ़ें - ज्यादा नींद आने का इलाज)

बुरे और डरावने सपने आने के लक्षण - Nightmares Symptoms in Hindi

डरावने सपने आने के लक्षण क्या हैं?
एक डरावने सपने में निम्नलिखित विशेषताएं हो सकती हैं:

  • आपका सपना ज्वलंत और वास्तविक लगता है, अक्सर जैसे ही सपना याद आता है तो आप अधिक परेशान हो जाते हैं। (और पढ़ें - जानें अपने सपनों का मतलब)
  • आपके सपने की कहानी आमतौर पर आपकी सुरक्षा या अस्तित्व के लिए खतरे से संबंधित होती है। 
  • आपका सपना आपको नींद से जगा देता है।
  • अपने सपने के परिणामस्वरूप आप भयभीत, चिंतित, क्रोधित, उदास या घृणित महसूस करते हैं। 
  • आप पसीना महसूस करते हैं या दिल की धड़कन तेज महसूस होती है, लेकिन बिस्तर नहीं छोड़ते हैं।
  • आप जागने पर स्पष्ट रूप से सोचकर अपने सपने का विवरण याद कर सकते हैं।
  • आपको सपना अक्सर आपकी नींद पूरी होने वाली होती है तब आता है। 
  • सपने के कारण आसानी से नींद न आना। (और पढ़ें - रूमेटिक हार्ट डिजीज का इलाज)

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?
यदि आपको निम्नलिखित में से कोई लक्षण है तो आपको डॉक्टर के पास जाना चाहिए:

  • नींद के बारे में चिंता
  • नींद आने में परेशानी 
  • नींद से बचना 
  • भयानक सपने बार बार आना 

यदि बच्चे की डरावने सपने बार बार और गंभीर होते जा रहे हैं, तो डॉक्टर या बाल रोग विशेषज्ञ से से परामर्श करना महत्वपूर्ण है। ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि नींद की गड़बड़ी किसी चोट, बीमारी या संक्रमण के कारण है अथवा यह कुछ दवाओं के उपयोग या परिवर्तन के कारण है।

(और पढ़ें - नींद कम आने की बीमारी का इलाज)

बुरे और डरावने सपने आने के कारण - Nightmares Causes in Hindi

डरावने सपने आने के कारण क्या हैं?

  • कुछ लोगों में, कोई बड़ा मनोवैज्ञानिक आघात या अन्य मानसिक बीमारियां डरावने सपने की समस्या पैदा कर सकती हैं, जिससे यह उनकी रोजमर्रा की जिंदगी को प्रभावित करने वाली समस्या बन जाती है। (और पढ़ें - मानसिक रोग दूर करने का घरेलू उपचार)
  • यदि कोई पहले से मौजूद मानसिक विकार नहीं हैं, तो यह नींद का विकार सिर्फ तनाव की वजह से हो सकता है। (और पढ़ें - तनाव दूर करने के घरेलू उपचार)
  • किसी कारण से, कलात्मक और संवेदनशील लोगों को ये विशेष विकार अधिक होता है। 
  • ऐसी घटनाएं या स्थितियां जो आपको परेशान कर सकती हैं, जैसे कि किसी अन्य जगह बसना, नए स्कूल में एडमिशन लेना, दूसरे भाई या बहन का जन्म अथवा पारिवारिक तनाव आदि भी सपनों में दिखाई दे सकते हैं।
  • कभी-कभी डरावने सपने किसी प्राकृतिक आपदा, दुर्घटना या चोट के कारण लगने वाले आघात या ट्रॉमा के प्रति आपके बच्चे की प्रतिक्रिया का हिस्सा होते हैं। 
  • कुछ बच्चों में, विशेष रूप से जिनकी कल्पना शक्ति बहुत अच्छी होती है, उनको सोने से पहले डरावनी किताबें पढ़ने या डरावनी फिल्में या टीवी शो देखने से डरावने सपने आ सकते हैं।
  • कुछ अन्य कारणों में डॉक्टर द्वारा दी जाने वाली दवाएं हो सकती है, जिनके साइड इफेक्ट के रूप में डरावने सपने आते हैं।

डरावने सपने आने के जोखिम कारक क्या हैं?
डरावने सपने कई प्रकार के कारकों से उत्पन्न हो सकते हैं, जैसे:

(और पढ़ें - अस्थमा का घरेलू इलाज)

बुरे और डरावने सपने आने से बचाव के उपाय - Prevention of Nightmares in Hindi

डरावने सपने आने से कैसे बचे?
आराम से सोने में मदद के लिए, आप निम्नलिखित बातों का ध्यान रखें:

  • अपने बिस्तर को आरामदायक और सोने वाले कमरे को शांत रखें। रात की लाइट जलाने से मदद मिल सकती है।
  • सोने से पहले डरावनी फिल्मों, टीवी शो और कहानियों से बचें - खासकर अगर उनके कारण पहले भी डरावने सपने आए हो। 
  • अपने मन को ये समझाने का प्रयास करें कि डरावने सपने हकीकत नहीं हैं, कि वे सिर्फ सपने हैं। 
  • नियमित रूप से सोने और जागने का निश्चित समय निर्धारित करें।

(और पढ़ें - सोने का सही तरीका)

बुरे और डरावने सपने आने का निदान - Diagnosis of Nightmares in Hindi

डरावने सपने आने की समस्या की जांच कैसे की जाती है?
डरावने सपने आने की समस्या का निदान या जांच करने के लिए, आपका डॉक्टर आपके चिकित्सा इतिहास और लक्षणों की समीक्षा करता है। अगर बच्चे को परेशानी है तो माता-पिता सोते हुए उसकी नींद में आने वाले व्यवधान के लक्षणों का सावधानीपूर्वक रिकॉर्ड रखे इससे आमतौर पर किसी पैटर्न का पता चलेगा, जांच के लिए डॉक्टर को इसकी आवश्यकता हो सकता है।

आपकी जांच में निम्नलिखित चरण शामिल हो सकते हैं:

  • शारीरिक परिक्षण: 
    आपके डरावने सपने आने की समस्या में योगदान देने वाली किसी भी स्थिति की पहचान करने के लिए शारीरिक परीक्षण किया जा सकता है। यदि आपके डरावने सपने चिंता विकार का संकेत दे रहे हैं, तो डॉक्टर आपको एक मानसिक स्वास्थ्य के विशेषज्ञ के पास भेज सकते हैं। (और पढ़ें - चिंता दूर करने के लिए योग)
  • लक्षणों पर चर्चा: 
    डरावने सपने आने के विकार का आमतौर पर आपके अनुभवों के विवरण के आधार पर निदान किया जाता है। आपके डॉक्टर नींद की समस्याओं के बारे में आपके परिवार के इतिहास के बारे में पूछ सकते हैं। डॉक्टर आपको या आपके साथी को आपके नींद के व्यवहार के बारे में भी पूछ सकते हैं और अगर संकेत मिलते हैं तो नींद के अन्य विकारों की संभावना पर भी चर्चा कर सकता है। (और पढ़ें - ​मनोचिकित्सा क्या है)
  • नोक्टर्नल स्लीप स्टडी (पोलीसोम्नोग्राफी): 
    यदि आपकी नींद गंभीर रूप से प्रभावित है, तो आपके डॉक्टर यह निर्धारित करने में मदद करने के लिए कि क्या डरावने सपने दूसरे किसी नींद के विकार से जुड़े हैं, रात भर की नींद के अध्ययन की सिफारिश कर सकता है। नोक्टर्नल स्लीप स्टडी (पोलीसोम्नोग्राफी) एक ऐसा परीक्षण है जिसका उपयोग नींद संबंधी विकारों के निदान के लिए किया जाता है और आमतौर पर आपको विशेष प्रयोगशाला में रात बिताने की आवश्यकता होती है। परीक्षण के दौरान, आपके मस्तिष्क की तरंगों, आपके रक्त में ऑक्सीजन का स्तर, हृदय गति और सांस के साथ-साथ आंख और पैरों की गतिविधि को रिकॉर्ड करने के लिए आपके सिर और शरीर पर सेंसर लगाए जाते हैं। कुछ अध्ययनों में, एक वीडियो कैमरा आपकी नींद रिकॉर्ड करता है। आपके डॉक्टर यह निर्धारित करने के लिए कि क्या आपको कोई नींद की बीमारी है, इस परीक्षण से प्राप्त जानकारी की समीक्षा करते हैं।

(और पढ़ें - नींद में चलने के विकार का इलाज)

बुरे और डरावने सपने आने का उपचार - Nightmares Treatment in Hindi

डरावने सपने आने का उपचार क्या है?
आमतौर डरावने सपने आने के लिए उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। हालांकि, यदि डरावने सपनों से आपको परेशानी, नींद में गड़बड़ी और दिन के कामकाज करने में दिक्कत हो रही है तो उपचार आवश्यक हो सकता है। डरावने सपने आने का कारण उपचार निर्धारित करने में मदद करता है।

डरावने सपने आने के विकार का उपचार निम्नलिखित तरीकों से हो सकता है:

  • चिकित्सा उपचार: 
    यदि डरावने सपने व्यक्ति की किसी बीमारी से जुड़े होते हैं, तो उस बीमारी को ठीक करने के उद्देश्य से इलाज होता है।
  • तनाव या चिंता का उपचार: 
    यदि मानसिक स्वास्थ्य की स्थिति, जैसे तनाव या चिंता, डरावने सपने आने की समस्या में योगदान दे रही है, तो आपका डॉक्टर मानसिक स्वास्थ्य के विशेषज्ञ के साथ मिलकर तनाव कम करने की तकनीक, परामर्श या चिकित्सा का सुझाव दे सकता है। मनोचिकित्सा व्यक्ति के जीवन में तनाव की पहचान करके कम करने या समाप्त करने के तरीकों का पता लगाने का एक प्रभावी तरीका हो सकता है। योग, ध्यान या व्यायाम आदि भी सहायक हो सकते हैं। तनाव कम करने से डरावने सपनों के उपचार में मदद मिल सकती है। (और पढ़ें - तनाव दूर करने के लिए योग)
  • इमेजरी रिहर्सल थेरेपी: 
    इमेजरी रिहर्सल थेरेपी अक्सर उन लोगों के लिए उपयोग की जाती है जिनको पीटीएसडी (पोस्ट ट्रॉमेटिक स्ट्रेस डिसऑर्डर) के परिणामस्वरूप डरावने सपने आते हैं। इमेजरी रिहर्सल थेरेपी में जागते समय आपके याद रह गए डरावने सपने के अंत को बदला जाता है ताकि यह डरावना न रहें। फिर आप अपने दिमाग में नए सिरे से इसके अंत का अभ्यास करते हैं। यह प्रक्रिया भी डरावने सपने आना कम कर सकती है। (और पढ़ें - परिवार चिकित्सा क्या है)
  • दवा: 
    दवाओं का उपयोग शायद ही कभी डरावने सपने के इलाज के लिए किया जाता है। हालांकि, पीटीएसडी से जुड़े गंभीर डरावने सपनों का इलाज करने के लिए दवा की सिफारिश की जा सकती है। 
  • जीवनशैली में बदलाव: 
    जीवनशैली में बदलाव डरावने सपने कम करने में मदद कर सकता है। आप निम्नलिखित कुछ प्रयास कर सकते हैं:
    • शराब और कैफीन की मात्रा का कम सेवन करें। (और पढ़ें - शराब छुड़ाने के उपाय)
    • ट्रैंक्विलाइजर (शामक या शांतिदायक दवा) लेने से बचे। 
    • अगर आपको डरावने सपने किसी विशेष दवा के कारण आते हैं, तो आप इस दुष्प्रभाव को खत्म करने के लिए अपनी दवा में बदलाव के लिए डॉक्टर से बात करें।
    • प्रति सप्ताह कम से कम तीन बार व्यायाम जरूर करें। (और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)
    • सोने से पहले योग या ध्यान का अभ्यास करें। 
    • हर रात एक ही समय पर सोने और सुबह एक ही समय पर जागने का प्रयास करें। (और पढ़ें - सुबह जल्दी उठने के तरीके)

बुरे और डरावने सपने आने के जोखिम और जटिलताएं - Nightmares Risks & Complications in Hindi

डरावने सपने आने से क्या जटिलताएं हो सकती हैं?
डरावने सपने आने का विकार निम्नलिखित जटिलताओं का कारण बन सकता है:

  • दिन में अत्यधिक नींद आना, जिससे बच्चों को स्कूल में या व्यस्कों को काम करने में या रोजमर्रा के कार्यों, जैसे कि ड्राइविंग और ध्यान केंद्रित करने में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। (और पढ़ें - क्या दिन में सोना चाहिए)
  • मानसिक मनोदशा में समस्या, जैसे कि सपनों के कारण अवसाद या चिंता होना जिससे आप परेशान रहते हैं। (और पढ़ें - डिप्रेशन से छुटकारा कैसे पाएं)
  • एक और बुरा सपना न आ जाए इस डर से सो नहीं पाना।  
  • आत्मघाती विचार या आत्महत्या का प्रयास करना

(और पढ़ें - बच्चों में अवसाद का इलाज)

Dr. Amar Golder

Dr. Amar Golder

साइकेट्री

Dr. Arvind Gautam

Dr. Arvind Gautam

साइकेट्री

Dr. Ramesh Ammati

Dr. Ramesh Ammati

साइकेट्री

डरावने सपने आना की दवा - Medicines for Nightmares in Hindi

डरावने सपने आना के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
ADEL Adonis Ver Mother Tincture QAdonis Ver Mother Tincture Q200.0
Dr. Reckeweg Adonis Ver. QAdonis Ver Mother Tincture Q200.0
Schwabe AngiotonAngioton Drop130.0
Dr. Reckeweg R58Reckeweg R58 Drop For Against Hydrops Drop200.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...