थकावट या फिर शारीरिक कमजोरी की समस्या किसी को भी हो सकती है. ऐसा अधिक काम करने, पर्याप्त नींद न लेने या फिर खाने में पोषक तत्वों की कमी के कारण हो सकता है. ऐसे में कोई टॉनिक या दवा लेने से बेहतर है कि अपने खान-पान पर ध्यान दिया जाए. ऐसे कई खाद्य पदार्थ हैं, जो न सिर्फ पोषक तत्‍वों से भरपूर हैं, बल्कि कमजोरी को भी दूर करने में मदद करते हैं, इनमें शामिल हैं - केला, ओट्स, तरबूज, अंडे, बादाम व पालक इत्यादि. 

आज इस लेख में आप जानेंगे कि शरीर में कमजोरी होने पर क्या खाना चाहिए और क्या नहीं -

(और पढ़ें - कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय)

  1. शरीर में कमजोरी होने पर क्या खाएं?
  2. शरीर में कमजोरी होने पर क्या न खाएं?
  3. कमजोरी को दूर करने के अन्य टिप्स
  4. सारांश
शारीरिक कमजोरी में क्या खाएं व क्या नहीं के डॉक्टर

ताजे व पोषक तत्वों से भरपूर खाद्य पदार्थ कमजोरी व थकान को दूर कर एनर्जी देने में मदद कर सकते हैं. शरीर को एनर्जी देने के लिए आप अंडे, ओट्स, केला व बादाम जैसी चीजों का सेवन कर सकते हैं. आइए, विस्तार से जानते हैं कि शरीर में कमजोरी होने पर क्या खाना चाहिए -

नट्स व सीड्स

नट्स और सीड्स कमजोरी व थकान को दूर करने में अहम रोल निभा सकते हैं. दरअसल, नट्स और सीड्स में कई हेल्दी न्यूट्रिशंस होते हैं, जो शरीर को एनर्जी देते हैं. नट्स में बादाम सबसे प्रमुख है. इसमें फाइबर, फैट और प्रोटीन जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं. प्रोटीन और फैट दोनों ही एनर्जी लेवल बढ़ाने में कारगर हैं. बादाम में विटामिन-ई और मैग्नीशियम भी पाया जाता है, जो शरीर की कमजोरी को दूर करने का काम कर सकता है. बादाम के अलावा, इनमें ब्राजील नट्सकाजूअखरोटसनफ्लावर सीड्स और कद्दू के बीज शामिल हैं. 

(और पढ़ें - थकान दूर करने के घरेलू उपाय)

Ashwagandha Tablet
₹359  ₹399  10% छूट
खरीदें

लीन मीट

चिकन और फिश प्रोटीन के बेहतरीन सोर्स हैं. इनमें सैचुरेटेड फैट कम होता है. वहीं टूना और साल्मन फिश में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है, जो कि शरीर के लिए हेल्दी है. ऐसे में दिनभर एनर्जी के लिए लीन मीट का सेवन भी किया जा सकता है.

चिया सीड्स

चिया सीड्स कई पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं. लगभग 28 ग्राम चिया सीड्स में 4 ग्राम प्रोटीन, 11 ग्राम फाइबर और 9 ग्राम फैट होता है. मील टाइम के समय ब्लड शुगर को बढ़ने से रोकने के लिए चिया सीड्स में मौजूद फाइबर का सेवन फायदेमंद हो सकता है. दरअसल, अचानक ब्लड शुगर बढ़ने से कमजोरी और थकान होने लगती है.

ओट्स

ओट्स में फाइबर और कार्बोहाइड्रेट अधिक मात्रा में पाया जाता है. कमजोरी होने पर शरीर को तुरंत एनर्जी देने के लिए ओट्स का सेवन किया जा सकता है.

पालक

हरी पत्तेदार सब्जियों में सबसे प्रसिद्ध पालक आयरन का प्रमुख सोर्स है. इसमें विटामिन-के और मैग्नीशियम भी अधिक मात्रा में पाया जाता है. ऐसे में कमजोरी होने पर पालक का सेवन किया जा सकता है.

(और पढ़ें - मानसिक थकान का इलाज)

तरबूज

तरबूज को हाइड्रेशन का सोर्स माना जाता है. एग्रीकल्चर मार्केटिंग रिसोर्स सेंटर के मुताबिक, तरबूज में 92% पानी होता है और साथ ही इसमें विटामिन-सी, विटामिन-ए और कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं. यदि डिहाइड्रेशन के कारण कमजोरी या थकान महसूस होती है, तो तरबूज का सेवन किया जा सकता है.

केले

केले में पोटेशियमफाइबर व कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. कार्बोहाइड्रेट और फाइबर का संयोजन शरीर में लंबे समय तक एनर्जी बरकरार रखने का काम करता है. शोधकर्ताओं का मानना है कि शरीर को लंबे समय तक एनर्जी देने या एक्सरसाइज करने से पहले केला खाने से फायदा होता है.

(और पढ़ें - पुरुषों की कमजोरी दूर करने के घरेलू उपाय)

अंडा

अंडा कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है. यूनाइटेड स्टेट्स डिपार्टमेंट ऑफ एग्रीकल्चर (यूएसडीए) के मुताबिक, एक अंडे में करीब 7 ग्राम प्रोटीन होता है. इसके सेवन से रोजाना निर्धारित कैल्शियम का 4% और विटामिन-ए की 6% की मात्रा को पूरा किया जा सकता है. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑन एजिंग के मुताबिक, अंडे में मौजूद गुड फैट एनर्जी देता है और बॉडी को विटामिन एब्जॉर्व करने में मदद करता है. रोजाना अंडे का सेवन करने शरीर की कमजोरी को आसानी से दूर कर सकते हैं.

कुछ ऐसे फूड्स हैं, जिनके सेवन से कमजोरी व थकान महसूस हो सकती है. साथ ही एनर्जी लेवल भी कम हो सकता है. जैसे शुगर युक्त खाद्य पदार्थ. आइए, ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में विस्तार से जानते हैं -

प्रोसेस्ड व ऑयली फूड

बहुत अधिक प्रोसेस्ड फूड जैसे आलू चिप्स, चीज़ बर्गर या फ्राइस और ऑयली फूड के साथ ही डिब्बाबंद फूड्स रेड मीट इत्यादे को खाने से भी बचना चाहिए.

(और पढ़ें - अधिक थकान का इलाज)

कैफीन ड्रिंक्स

चाय और कॉफी का सेवन करने से बचना चाहिए. बेशक, मॉडरेट रूप में या बिना शुगर के इनका सेवन किया जा सकता है.

ब्रेड

व्हाइट ब्रेड या मैदे से बने खाद्य पदार्थों का सेवन करने से शरीर में एनर्जी आने के बजाय मोटापा बढ़ता है. साथ ही बेक्ड फूड को भी अवॉइड करना चाहिए.

(और पढ़ें - थकान दूर करने के लिए क्या खाएं)

मीठा

ऐसे खाद्य पदार्थ जिनमें चीनी या शुगर की मात्रा अधिक होती है.

डाइट में बदलाव करके बेशक शरीर की कमजोरी को दूर करके एनर्जी को बढ़ाया जा सकता है, लेकिन इसके अलावा नियमित रूप से व्यायाम व तनाव मुक्त रहना भी जरूरी है. आइए, शरीर में कमजोरी को दूर करने के इन टिप्स के बारे में जानते हैं -

स्ट्रेस से दूर

शरीर में कमजोरी और थकान स्ट्रेस के कारण भी बढ़ जाती है. दरअसल, स्ट्रेस शरीर की एनर्जी लेवल को कम कर देता है. ऐसे में आपको स्ट्रेस से बचना चाहिए. तनाव को कम करने के लिए मेडिटेशन व योग किया जा सकता है.

Shilajit Resin
₹845  ₹1299  34% छूट
खरीदें

अच्छी नींद

नेशनल स्लिप फाउंडेशन के मुताबिक, रात में अच्छी और पर्याप्त नींद लेने से शरीर दिनभर एनर्जेटिक रहता है और कमजोरी भी महसूस नहीं होती. अच्छी नींद लेने से शरीर का तापमान कंट्रोल रहता है, इम्यून सिस्टम बेहतर होता है और हार्मोंस का लेवल नियंत्रि‍त रहता है.

(और पढ़ें - सुस्ती का इलाज)

नियमित व्यायाम

जीवनशैली में बदलाव करके एनर्जी लेवल को बढ़ाया जा सकता है. शोध के अनुसार, एक व्यक्ति को सप्ताह में 3-5 दिन व्यायाम करने का टारगेट रखना चाहिए, ऐसा इसीलिए, क्योंकि एक्सरसाइज करने से शारीरिक कमजोरी व थकावट से बचा जा सकता है.

हाइड्रेट रहें

डिहाइड्रेशन कमजोरी के अहम कारणों में से एक है. यदि आप दिनभर में 7 से 8 गिलास पानी पीते हैं या न्यूट्रिशस ड्रिंक्स का सेवन करते हैं, तो खुद को हाइड्रेट रख सकते हैं. इससे आप शरीर में कमजोरी को होने से रोक सकते हैं.

भोजन समय पर करें

आमतौर पर देखा गया है कि लोग ब्रेकफास्ट या दिनभर में किसी एक मील को खाने से बचते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि ब्रेकफास्ट समय पर करने से आप दिनभर एनर्जेटिक रहते हैं. ऐसे में आपको दिनभर में अपना कोई भी मील स्किप नहीं करना चाहिए.

(और पढ़ें - छोटे बच्चों में थकान को ऐसे पहचानें)

शरीर में कमजोरी होने के कई कारण हो सकते हैं, लेकिन अगर समय रहते कमजोरी को कम कर ली जाए, तो अन्य समस्याओं को होने से रोका जा सकता है. शारीरिक कमजोरी को कम करने के लिए डाइट और लाइफस्टाइल में बदलाव करना सबसे पहला स्टेप होता है. इसके लिए डाइट में नट्स, केला, पालक, ओट्स, तरबूज, बादाम, अंडे व लीन मीट इत्यादि को शामिल किया जा सकता है.

(और पढ़ें - आंखों की थकान दूर करने के उपाय)

Dr. Vinkaljit Kaur

Dr. Vinkaljit Kaur

आहार विशेषज्ञ
6 वर्षों का अनुभव

Dr.khushboo fatima

Dr.khushboo fatima

आहार विशेषज्ञ
11 वर्षों का अनुभव

Dt. Priti Kumari

Dt. Priti Kumari

आहार विशेषज्ञ
2 वर्षों का अनुभव

Dt. Sonal jain

Dt. Sonal jain

आहार विशेषज्ञ
5 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें