ब्रेस्ट कैंसर महिलाओं में होने वाला सबसे आम कैंसर है. रिसर्च के मुताबिक, ब्रेस्ट कैंसर हर 8 में से 1 महिला को अपने जीवन काल में प्रभावित करता है. हालांकि, यह कैंसर पुरुषों को भी प्रभावित करता है, लेकिन पुरुषों की तुलना में महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होने का खतरा अधिक रहता है. पुरुषों में स्तन कैंसर के मामले 1 फीसदी से भी कम होते हैं. ऐसे में हम स्वस्थ जीवनशैली अपनाकर ब्रेस्ट कैंसर होने की आशंका को कम कर सकते हैं. साथ ही कुछ ऐसे आहार हैं, जिसका सेवन ब्रेस्ट कैंसर के रोगियों को करना चाहिए. 

आज हम इस लेख में ब्रेस्ट कैंसर में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं के बारे में विस्तार से जानेंगे -

(और पढ़ें - योनि के कैंसर का उपचार)

  1. ब्रेस्ट कैंसर में क्या खाना चाहिए?
  2. ब्रेस्ट कैंसर में क्या नहीं खाना चाहिए
  3. सारांश
ब्रेस्ट कैंसर में क्या खाना चाहिए, क्या नहीं के डॉक्टर

ब्रेस्ट कैंसर में मरीज को सिट्रिक फूड्स, मछली, हरी पत्तेदार सब्जियां, बींस व फल इत्यादि का सेवन करना चाहिए. इस तरह के आहार से जल्द से जल्द कैंसर से रिकवरी होने में मदद मिलती है. आइए, इस फूड्स के बारे में विस्तार से जानते हैं -

हरी पत्तेदार सब्जियां

ब्रेस्ट कैंसर की समस्या होने पर मरीजों को हरी पत्तेदार साग-सब्जियों का सेवन करना चाहिए. केल, पालक, सरसों का साग जैसी हरी पत्तेदार सब्जियों में एंटी कैंसर गुण मौजूद होते हैं, जो कैंसर से लड़ने में मददगार हो सकते हैं. इतना ही नहीं, पत्तेदार सब्जियों में बीटा कैरोटीन, ल्यूटिन और जेक्सैन्थिन सहित कैरोटीनॉयड एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जिससे ब्रेस्ट कैंसर के जोखिमों को कम किया जा सकता है.

कई अध्ययनों में इस बात को साबित किया जा चुका है कि हरे पत्तेदार सब्जियों के सेवन से कैंसर की रोकथाम की जा सकती है. साथ ही यह स्वास्थ्य के लिए काफी बेहतर आहार होते हैं.

(और पढ़ें - कैंसर के लिए होम्योपैथिक दवा)

खट्टे फल

सिट्रस फल ऐसे यौगिकों से भरपूर होते हैं, जो स्तन कैंसर से रक्षा करने में आपकी मदद कर सकते हैं. इसमें मौजूद फोलेट, विटामिन-सी और कैरोटीनॉयड जैसे बीटा क्रिप्टोक्सैन्थिन और बीटा कैरोटीन पाए जाते हैं, जो ब्रेस्ट कैंसर से आपकी सुरक्षा कर सकते हैं. इतना ही नहीं, इसमें फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सीडेंट जैसे- क्वेरसेटिन, हेस्पेरेटिन और नारिंगिनिन पाया जाता है.

ये सभी पोषक तत्व आपके शरीर को एंटीऑक्सीडेंट, एंटीकैंसर और एंटी-इंफ्लेमेटरी प्रभाव प्रदान कर सकते हैं. रिसर्च से पता चलता है कि खट्टे फल स्तन कैंसर सहित कई अन्य कैंसर के जोखिम को कम करने में आपकी मदद कर सकते हैं. अगर आप ब्रेस्ट कैंसर से ग्रसित हैं, तो आपको अपने आहार में संतरा, अंगूर, नींबू, मौसंबी और कीनू को शामिल करना चाहिए.

फैटी फिश

फैटी फिश जैसे- सैल्मन, सार्डिन, और मैकेरल आपके स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं. इसमें मौजूद ओमेगा-3 फैट, सेलेनियम और एंटीऑक्सीडेंट जैसे कैनथाक्सान्थिन पाए जाते हैं, जो कैंसर से सुरक्षित रखने में आपकी मदद कर सकते हैं. कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि वसायुक्त मछली खाने से विशेष रूप से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा कम हो सकता है. अगर किसी को ब्रेस्ट कैंसर है, तो आप फैटी फिश का सेवन कर सकते हैं. इससे काफी हद तक कैंसर के सेल्स को बढ़ने से रोका जा सकता है.

(और पढ़ें - कैंसर का आयुर्वेदिक इलाज)

बेरीज

नियमित रूप से बेरीज का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर सहित अन्य कैंसर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोका जा सकता है. दरअसल, बेरीज में फ्लेवोनोइड्स और एंथोसायनिन जैसे एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो सेलुलर क्षति के साथ-साथ कैंसर की कोशिकाओं के विकास और प्रसार को रोकने में असरदार हो सकते हैं.

फर्मेंटेड फूड

फर्मेंटेड खाद्य पदार्थ जैसे - दही, इडलीडोसा जैसी चीजों में प्रोबायोटिक्स और अन्य पोषक तत्व शामिल होते हैं, जो स्तन कैंसर से आपको सुरक्षित रख सकते हैं. अध्ययनों में बताया गया है कि फर्मेंटेड फूड उत्पादों जैसे कि दही का सेवन करने से स्तन कैंसर से बचाव किया जा सकता है. इतना ही नहीं पशु अनुसंधान से पता चलता है कि कुछ प्रोबायोटिक आहार रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में आपकी मदद कर सकते हैं.

(और पढ़ें - कैंसर में क्या खाएं)

एलियम वेजिटेबल

लहसुनप्याज जैसी सब्जियां एलियम होती हैं. इन सब्जियों में मौजूद पोषक तत्व एंटीकैंसर गुणों से भरपूर होती हैं. इसमें ऑर्गोसल्फर यौगिक, फ्लेवोनोइड एंटीऑक्सीडेंट पाए जाते हैं, जो ब्रेस्ट कैंसर से आपको सुरक्षित रखने में असरदार हो सकते हैं.

ब्रेस्ट कैंसर में खा सकते हैं कुछ अन्य आहार-

ब्रेस्ट कैंसर में फास्ट फूड्स, फ्राइड फूड्स, एल्कोहल जैसी चीजों से परहेज करना चाहिए. इस तरह की चीजें ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को बढ़ा सकती हैं. साथ ही आपकी परेशानी भी काफी ज्यादा बढ़ सकती है. आइए, विस्तार से जानते हैं इसके बारे में-

फास्ट फूड

नियमित रूप से फास्ट फूड खाने से हृदय रोग, मधुमेह व मोटापा स्तन कैंसर होने का जोखिम बढ़ता है. साथ ही अगर किसी को ब्रेस्ट कैंसर की समस्या है, तो ये उसके लिए और नुकसानदेह हो सकता है.

(और पढ़ें - पेट के कैंसर का होम्योपैथिक इलाज)

फ्राइड फूड्स

रिसर्च से पता चलता है कि तले हुए खाद्य पदार्थों का सेवन करने से स्तन कैंसर का खतरा काफी ज्यादा बढ़ सकता है. दरअसल, 620 ईरानी महिलाओं पर हुए अध्ययन में देखा गया कि तले हुए भोजन का सेवन करने से स्तन कैंसर का विकास काफी तेजी से हो सकता है.

एल्कोहल

शराब का सेवन करने से भी ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ता है. खासतौर से जो अधिक मात्रा में शराब का सेवन करते हैं, उनमें स्तन कैंसर का खतरा काफी बढ़ सकता है. इसलिए, शराब से दूरी बनाए रखना जरूरी है.

(और पढ़ें - आंत के कैंसर का उपचार)

प्रोसेस्ड मीट

बेकन और सॉसेज जैसे प्रोसेस्ड मीट का सेवन करने से स्तन कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. इसलिए, इनका सेवन नहीं करना चाहिए.

शुगर

अतिरिक्त चीनी को अपने आहार में शामिल करने से सूजन और कैंसर की कोशिकाओं का विकास तेजी से हो सकता है.

(और पढ़ें - बोन कैंसर में क्या खाना चाहिए)

रिफाइंड कार्ब्स

रिफाइंड कार्ब्स जैसे- सफेद ब्रेड और मीठे पके हुई चीजों का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा बढ़ सकता है.

ब्रेस्ट कैंसर में मरीजों को हेल्दी चीजें- जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, खट्टे फल, गुड फैट को अपने आहार में शामिल करना चाहिए. इस तरह के आहार का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर में होने वाली परेशानी और ब्रेस्ट कैंसर के खतरे को कम किया जा सकता है, लेकिन ध्यान रखें कि ब्रेस्ट कैंसर में शराब, ज्यादा चीनी, रिफाइंड कार्ब्स का सेवन करने से परहेज करना चाहिए. इस तरह के आहार का सेवन करने से ब्रेस्ट कैंसर का खतरा रहता है. हालांकि, ध्यान रखें कि कैंसर रोगियों को आहार में किसी भी तरह का बदलाव करने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर लेना चाहिए, ताकि किसी भी तरह के नुकसान से बचा जा सके.

Dr. Patil C N

Dr. Patil C N

ऑन्कोलॉजी
11 वर्षों का अनुभव

Dr. Vinod Kumar Mudgal

Dr. Vinod Kumar Mudgal

ऑन्कोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

Dr. Anoop Mantri

Dr. Anoop Mantri

ऑन्कोलॉजी
7 वर्षों का अनुभव

Dr. Mehlam Kausar

Dr. Mehlam Kausar

ऑन्कोलॉजी
6 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें