ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट (टीयूआरपी) एक सर्जरी प्रोसीजर है, जिसमें पौरुष ग्रंथि (प्रोस्टेट ग्लैंड) के कुछ हिस्सों को निकाल दिया जाता है। टीयूआरपी सर्जरी को बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया का इलाज करने के लिए किया जाता है। बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया में प्रोस्टेट ग्लैंड का आकार असाधारण रूप से बढ़ जाता है। प्रोस्टेट ग्रंथि मूत्राशय के नीचे होती है और मूत्रमार्ग इसके बीच के निकलता है। मूत्रमार्ग एक विशेष नली होती है, जो पेशाब को मूत्राशय से शरीर के बाहर निकालती है। यदि पौरुष ग्रंथि का आकार बढ़ जाता है, तो इसके कारण मूत्रमार्ग संकुचित हो जाता है और पेशाब संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। उदाहरण के लिए प्रोस्टेट ग्लैंड बढ़ने से पेशाब करने में दिक्कत, बार-बार पेशाब आना और मूत्राशय को खाली न कर पाना आदि लक्षण होने लगते हैं।

(और पढ़ें - बार-बार पेशाब आने के घरेलू उपाय)

टीयूआरपी सर्जरी में सर्जन एक लंबे व पतले उपकरण का इस्तेमाल करते हैं, जिसे रिसेक्टोस्कोप कहा जाता है। रिसेक्टोस्कोप के सिरे पर एक विशेष विद्युत उपकरण लगा होता है, जिससे प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़े हुए हिस्से को काट दिया जाता है। यह सर्जरी होने में लगभग 60 से 90 मिनट का समय लगता है। सर्जरी के बाद आपके मूत्राशय में कैथेटर लगा दिया जाता है, जिसकी मदद से पेशाब व रक्त निकलता है। कैथेटर को आमतौर पर दो से तीन दिन तक लगाकर रखा जाता है, तब तक पेशाब के साथ रक्त निकलना बंद हो जाता है। यदि आप सर्जरी के बाद स्वस्थ महसूस करते हैं, तो आपको एक या दो दिन बाद अस्पताल से छुट्टी दी जा सकती है। हालांकि, यदि स्वास्थ्य में सुधार नहीं हुआ है, तो समय अधिक भी लग सकता है। यह सर्जरी पेशाब संबंधी समस्याओं और बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया के लक्षणों को ठीक करने में मदद करती है।

(और पढ़ें - प्रोस्टेट की सूजन का इलाज)

  1. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी क्या है - What is TURP surgery in Hindi
  2. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी किसलिए की जाती है - Why is TURP surgery done in Hindi
  3. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी से पहले - Before TURP surgery in Hindi
  4. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी के दौरान - During TURP surgery in Hindi
  5. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी कैसे की जाती है - After TURP surgery in Hindi
  6. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी की जटिलताएं - Complications of TURP surgery in Hindi
  7. ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट के डॉक्टर

टीयूआरपी सर्जरी क्या है?

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी को मुख्य रूप से पौरुष ग्रंथि के कुछ हिस्से को हटाने के लिए किया जाता है। यह सर्जिकल प्रोसीजर मूत्रमार्ग के अंदर उपकरण डालकर किया जाता है। मूत्रमार्ग एक विशेष नली है, जो मूत्राशय में एकत्रित पेशाब को शरीर से बाहर निकालने का काम करती है।

पौरुष ग्रंथि पुरुषों के शरीर में पाया जाने वाला एक अंग है, जो मूत्राशय के ठीक नीचे स्थित होता है और मूत्रमार्ग इसके ठीक बीच से निकलता है। यह ग्रंथि वीर्य (सीमेन) बनाने में मदद करती है। वीर्य वह द्रव है, जिसकी मदद से शुक्राणु बाहर निकलते हैं। हालांकि, उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर में होने वाले कुछ बदलावों के कारण कई बार प्रोस्टेट ग्रंथि असाधारण रूप से बढ़ने लगती है, जिसे बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया कहा जाता है, यह कैंसर से संबंधित नहीं होता है। प्रोस्टेट ग्रंथि का आकार बढ़ने के कारण मूत्रमार्ग पर दबाव पड़ता है और वह संकुचित हो जाता है। इस स्थिति में पेशाब में दर्द व जलन, पेशाब की धार कम होना, मूत्राशय खाली न कर पाना और बार-बार पेशाब आने जैसी समस्याएं होने लगती हैं।

(और पढ़ें - वीर्य की जांच कैसे की जाती है)

टीयूआरपी सर्जरी के दौरान मूत्रमार्ग में एक पतले व लंबे उपकरण को डालते हैं, जो अंदर जाकर प्रोस्टेट ग्लैंड के कुछ हिस्से को काट देता है। पौरुष ग्रंथि के कुछ हिस्से निकलने पर दबाव कम हो जाता है और मूत्रमार्ग भी खुल जाता है।

(और पढ़ें - पेशाब में दर्द के घरेलू उपाय)

टीयूआरपी सर्जरी क्यों की जाती है?

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी को बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया से ग्रस्त उन लोगों के लिए किया जाता है, जिनको दवाओं से आराम नहीं हो रहा है। बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया से निम्न लक्षण व समस्याएं हो सकती हैं -

इसके अलावा यदि किसी व्यक्ति को प्रोस्टेट कैंसर है, तो इसके कुछ लक्षणों को नियंत्रित करने के लिए भी टीयूआरपी सर्जरी की जा सकती है।

टीयूआरपी किसे नहीं करवानी चाहिए?

यदि आपको निम्न में से कोई भी समस्या है, तो डॉक्टर आपको टीयूआरपी सर्जरी करवाने की सलाह नहीं देते हैं -

  • मूत्र पथ में संक्रमण
  • रक्त संबंधी विकार (जिसे नियंत्रित नहीं किया गया हो)
  • अचानक से गुर्दे काम करना बंद कर देना (आमतौर पर मूत्राशय में रुकावट होने के कारण)

यदि आपके मूत्राशय में कोई बड़ी पथरी हो गई है, तो टीयूआरपी सर्जरी के साथ-साथ सिस्टोलिथोलेपेक्सी नामक सर्जरी भी की जाती है। सिस्टोलिथोलेपेक्सी की मदद से मूत्राशय की पथरी को निकाल दिया जाता है।

(और पढ़ें - गुर्दे की पथरी का इलाज)

टीयूआरपी सर्जरी से पहले क्या तैयारी की जाती है?

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी से पहले आपके शारीरिक स्वास्थ्य, बढ़ी प्रोस्टेट ग्रंथि के आकार और लक्षणों की गंभीरता आदि की जांच करेंगे। सर्जरी से दो हफ्ते पहले आपको अस्पताल बुलाया जाएगा। इस दौरान आपकी शारीरिक जांच की जाएगी और आपके स्वास्थ्य संबंधी पिछली जानकारियां ली जाएंगी। इसके अलावा कुछ टेस्ट भी किए जा सकते हैं, जिनमें निम्न शामिल हैं -

इसके अतिरिक्त सर्जरी से पहले आपको निम्न की सलाह भी दी जा सकती है -

  • यदि आप पहले या हाल ही में कोई दवा, हर्बल उत्पाद, विटामिन, मिनरल या अन्य कोई सप्लीमेंट ले रहे हैं, तो इनके बारे में डॉक्टर को बता दें। डॉक्टर इनमें से कुछ दवाओं को एक निश्चित समय के लिए न लेने की सलाह दे सकते हैं। इनमें आमतौर पर एस्पिरिन, क्लोपिडोग्रेल और कुछ प्रकार के विटामिन शामिल हैं। रक्त पतला होने पर सर्जरी के दौरान अधिक रक्तस्राव होने का खतरा बढ़ जाता है।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की कोई स्वास्थ्य समस्या है, तो उसके बारे में सर्जरी से पहले ही डॉक्टर को बता दें। उदाहरण के लिए यदि आपको बीपी या डायबिटीज संबंधी कोई रोग है, तो डॉक्टर सर्जरी से पहले उन्हें नियंत्रित करते हैं। (और पढ़ें - लो बीपी के कारण)
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है, तो डॉक्टर को इस बारे में बता दें। ऐसा इसलिए क्योंकि यदि आपको एनेस्थीसिया, टेप, लेटेक्स, डाई या अन्य किसी भी दवा से एलर्जी है, तो सर्जरी के दौरान आपको जटिलताएं हो सकती हैं। 
  • यदि आप धूम्रपान या शराब का सेवन करते हैं, तो सर्जरी से कुछ दिन पहले ही डॉक्टर इसे छोड़ने की सलाह दे सकते हैं। ऐसा करने पर आपको सर्जरी के बाद ठीक होने में कम समय लगता है।
  • ऑपरेशन वाले दिन आपको खाली पेट अस्पताल आने की सलाह दी जाएगी, इसके लिए आप ऑपरेशन वाले दिन से पहली आधी रात के बाद कुछ भी खाएं या पिएं नहीं।
  • आपको अपने साथ अपने करीबी रिश्तेदार या मित्र को अस्पताल लाने की सलाह दी जाती है, जो सर्जरी से पहले के कामों में आपकी मदद कर सकें और सर्जरी के बाद आपको घर ले जा सकें।

(और पढ़ें - शराब की लत के लक्षण)

टीयूआरपी सर्जरी कैसे की जाती है?

जब आप ऑपरेशन के लिए अस्पताल में पहुंच जाते हैं, तो सबसे पहले आपको एक सहमति पत्र दिया जाता है। सहमति पत्र पर हस्ताक्षर करके आप सर्जन को सर्जरी करने की अनुमति दे देते हैं, इस पत्र पर हस्ताक्षर करने से पहले इसे अच्छे से पढ़ व समझ लेना चाहिए। आपको अपने आभूषण व घड़ी आदि उतारने को कहा जाएगा। आपको शामक दवाएं दी जाएंगी, जिससे आप शांत हो जाएंगे और चिंता नहीं होगी। इसके बाद आपको ऑपरेशन थिएटर में ले जाया जाएगा।

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी रिसेक्टोस्कोप नामक उपकरण के साथ की जाती है। रिसेक्टोस्कोप एक छड़ी नुमा उपकरण होता है, जिसके सिरे पर कैमरा, लाइट व इलेक्ट्रिकल वायर लूप (Wire loop) लगा होता है। टीयूआरपी सर्जरी को आमतौर पर निम्न के अनुसार किया जाता है -

  • आपको ऑपरेशन टेबल पर पीठ के बल लेटने को कहा जाएगा।
  • आपको एनेस्थीसिया का इंजेक्शन लगाया जाएगा, जिससे आप सर्जरी के दौरान गहरी नींद में सो जाएंगे और आपको कुछ भी महसूस नहीं होगा।
  • विशेष फ्रेम व उपकरणों की मदद से आपकी टांगों को आवश्यकतानुसार चौड़ा कर दिया जाएगा।
  • आपके गले में ब्रीथिंग ट्यूब लगा दी जाती है, ताकि सर्जरी के दौरान आपको सांस लेने में मदद मिल सके।
  • इसके बाद रिसेक्टोस्कोप को लिंग के अंदर डालते हुए आपके मूत्रमार्ग और प्रोस्टेट तक पहुंचाया जाता है।
  • रिसेक्टोस्कोप की मदद से बढ़ी हुई प्रोस्टेट ग्रंथि के छोटे-छोटे टुकड़े काटकर निकाले जाते हैं। इसके बाद मूत्राशय में पानी डाल दिया जाता है, ताकि अंदर बचे हुए टुकड़े उसके साथ बाहर आ सकें। अंदर हो रहे रक्तस्राव को रोकने के लिए भी रिसेक्टोस्कोप का इस्तेमाल किया जाता है।
  • प्रोस्टेट के हिस्से को काटने के बाद रिसेक्टोस्कोप को हटा दिया जाता है और कैथेटर डाल दिया जाता है। कैथेटर एक नरम व लचीली ट्यूब होती है, जिसकी मदद से मूत्राशय में पानी भरा जाता है, ताकि पेशाब के साथ ऊतकों के कटे हुए टुकड़े निकल जाएं।

इस ऑपरेशन में लगभग 60 से 90 मिनट का समय लगता है। ऑपरेशन के दौरान व बाद में लगातार आपके शारीरिक संकेतों पर नजर रखी जाएगी, जैसे नाड़ी, ब्लड प्रेशर, हृदय दर और सांस लेने की प्रक्रिया आदि। प्रोसीजर होने के बाद जब आपके शारीरिक संकेत सामान्य हो जाते हैं, तो आपको रिकवरी वार्ड में शिफ्ट कर दिया जाता है। सर्जरी के बाद आपको एक या दो दिन अस्पताल में रुकना पड़ता है, कुछ मामलों में अधिक समय तक भी रुकना पड़ सकता है, जो कि आपके स्वास्थ्य पर निर्भर करता है। ऑपरेशन के बाद अस्पताल में भर्ती होने के दौरान निम्न प्रक्रियाएं होती हैं -

  • टीयूआरपी सर्जरी के बाद आपको दर्द महसूस नहीं होता है। हालांकि, यदि आपको दर्द महसूस हो रहा है, तो इंट्रावेनस लाइन की मदद से आपको दर्द निवारक दवाएं दी जाती हैं। सर्जरी के बाद आपको होश आते ही आप सामान्य रूप से खा व पी सकते हैं। डॉक्टर आपको खाने-पीने से संबंधित कुछ विशेष सलाह दे सकते हैं, जैसे थोड़ी-थोड़ी मात्रा में खाना और हल्के आहार लेना आदि। (और पढ़ें - दर्द निवारक दवा के साइड इफेक्ट)
  • आपको कुछ प्रकार के व्यायाम भी सिखाए जा सकते हैं, जिनकी मदद से आपके शरीर में रक्त का संचार सामान्य रहता है।
  • यदि आपके पेशाब में खून (हेमाट्यूरिया) है, तो आपको रोजाना 2.5 लीटर पानी पीने की सलाह दी जाती है। इससे रक्त के थक्के बनने का खतरा कम हो जाता है और कैथेटर में रुकावट नहीं होती है।
  • यदि आपको किसी भी प्रकार की तकलीफ, दर्द या कैथेटर के कारण मूत्राशय में ऐंठन महसूस हो रही है, तो जल्द से जल्द डॉक्टर को बता दें।
  • जब पेशाब में रक्त आना बंद हो जाता है, तो कैथेटर को निकाल दिया जाता है, जिसमें आमतौर पर दो से तीन दिन का समय लगता है। हालांकि, कुछ लोगों को कैथेटर निकालने के बाद पेशाब करने में थोड़ी परेशानी हो सकती है। ऐसी स्थितियों में मूत्रमार्ग में एक नए कैथेटर को कुछ दिन के लिए लगा दिया जाता है। अधिकतर मामलों में दूसरा कैथेटर हटाने के बाद किसी प्रकार की समस्या महसूस नहीं होती है।

(और पढ़ें - पेशाब में पस आने का इलाज)

टीयूआरपी सर्जरी के बाद की देखभाल कैसे करें?

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी के बाद कुछ हफ्तों तक निम्न लक्षण महसूस होना सामान्य है -

सर्जरी के बाद देखभाल करने के लिए डॉक्टर आपको कुछ विशेष सलाह दे सकते हैं, जैसे -

  • आहार -
    आपको फाइबर से भरपूर आहार लेने और पर्याप्त मात्रा में पानी पीने को कहा जाता है, जिससे आपको मल त्याग करते समय जोर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी।
     
  • कब्ज -
    सर्जरी के बाद कब्ज होना एक आम समस्या है। डॉक्टर आपको सर्जरी के बाद कब्ज की दवाएं दे देते हैं, जिन्हें निर्देशानुसार लेते रहना चाहिए। (और पढ़ें - कब्ज की होम्योपैथिक दवा)
     
  • कठोर शारीरिक गतिविधियां -
    सर्जरी के बाद लगभग चार से छह हफ्तों तक आपको कोई भी ऐसी गतिविधि करने से मना किया जाता है, जिससे शरीर की अधिक मेहनत या जोर लगता हो जैसे दौड़ना, सीढ़ियां चढ़ना या कोई भारी वस्तु उठाना आदि। कठोर शारीरिक गतिविधियां रक्तस्राव का खतरा बढ़ा देती हैं।
     
  • विशेष एक्सरसाइज -
    यदि सर्जरी के बाद छींकने, खांसने, जोर से हंसने या अन्य कोई शारीरिक मेहनत करते समय आपका पेशाब रिसाव (स्ट्रेस इंकॉन्टिनेंस) होता है, तो आपको पेल्विक फ्लोर की कुछ एक्सरसाइज करना सिखाया जाएगा। पेल्विक फ्लोर की एक्सरसाइज करने से मूत्राशय और उसके स्फिंक्टर मजबूत होते हैं। (और पढ़ें - एक्सरसाइज करने का सही समय क्या है)
     
  • कैथेटर की सफाई -
    यदि घर पर आने के बाद भी आपको कुछ दिन तक कैथेटर लगाकर रखना है, तो आपको कुछ विशेष दिशा-निर्देश दिए जाएंगे, जिनकी मदद से आप कैथेटर को साफ रखेंगे। (और पढ़ें - कैथेटराइजेशन क्या है)
     
  • यौन संबंध -
    सर्जरी के बाद यौन क्रियाएं शुरू करने के लिए आपको चार से छह हफ्तों तक इंतजार करना पड़ सकता है। (और पढ़ें - सुरक्षित सेक्स का तरीका)
     
  • ड्राइविंग -
    सर्जरी के बाद जब तक आपके डॉक्टर अनुमति न दें तब तक गाड़ी चलाना या अन्य कोई मशीन ऑपरेट करना शुरू न करें।

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी से प्राप्त होने वाले रिजल्ट आमतौर पर लंबे समय तक रहते हैं। इस सर्जरी की मदद से पेशाब का बहाव बढ़ जाता है और बिनाइन प्रोस्टेट हाइपरप्लासिया के लक्षण भी ठीक हो जाते हैं। इस सर्जरी में त्वचा पर कोई चीरा आदि नहीं लगाया जाता है और इसलिए इससे कोई स्कार (स्थायी निशान) भी नहीं बनता।

डॉक्टर को कब दिखाएं?

यदि आपको सर्जरी के बाद निम्न में से कोई भी लक्षण महसूस हो रहा है, तो जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करें -

(और पढ़ें - यूरिन कलर चार्ट)

टीयूआरपी सर्जरी से क्या जोखिम हो सकते हैं?

ट्रांस यूरेथ्रल रिसेक्शन ऑफ प्रोस्टेट सर्जरी से आपको निम्न जोखिम व जटिलताएं हो सकती हैं -

(और पढ़ें - सांस लेने में दिक्कत का इलाज)

Dr. Virender Kaur Sekhon

Dr. Virender Kaur Sekhon

यूरोलॉजी
14 वर्षों का अनुभव

Dr. Rajesh Ahlawat

Dr. Rajesh Ahlawat

यूरोलॉजी
44 वर्षों का अनुभव

Dr. Prasun Ghosh

Dr. Prasun Ghosh

यूरोलॉजी
26 वर्षों का अनुभव

Dr. Pankaj Wadhwa

Dr. Pankaj Wadhwa

यूरोलॉजी
26 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Johns Hopkins Medicine [Internet]. The Johns Hopkins University, The Johns Hopkins Hospital, and Johns Hopkins Health System; Transurethral resection of the prostate (TURP)
  2. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria. Australia; Transurethral resection of the prostate (TURP) - for benign prostate disease
  3. Nemours Children’s Health System [Internet]. Jacksonville (FL): The Nemours Foundation; c2017; Male Reproductive System
  4. National Health Service [Internet]. UK; Transurethral resection of the prostate (TURP)
  5. Mount Sinai [Internet]. Icahn School of Medicine. New York. US; Transurethral resection of the prostate
  6. University Hospitals Birmingham [Internet]. NHS Foundation Trust. National Health Service. UK; Transurethral resection of the prostate (TURP)
  7. Brigham Health [Internet]. Brigham and Women's Hospital. Massachusetts. US; Transurethral resection of the prostate
  8. Guy's and St. Thomas' Hospital: NHS Foundation Trust [Internet]. National Health Service. UK; Having a Transurethral resection of the prostate (TURP)
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ