परिचय

मुंह का खराब या कड़वा होना ज्यादातर मामलों में सामान्य होता है। यह अधिक स्वादिष्ट भोजन खाने, शराब पीने या फिर मुंह संबंधी कोई आम समस्या होने के कारण हो सकता है। कुछ प्रकार के भोजन खाने से कई बार मुंह का स्वाद बिगड़ जाता है और तम्बाकू चबाने से मुंह का स्वाद कड़वा हो जाता है। 

यह समस्या हर व्यक्ति को कभी ना कभी हो ही जाती है। हमें इस स्थिति का पता भी चल जाता है और फिर रोजाना की गतिविधियों में व्यस्त होकर भूल जाते हैं कि हमें यह समस्या हुई थी। जब मुंह का स्वाद खराब हो जाता है और लंबे समय तक यह समस्या रहती है, तो यह चिंता का विषय बन सकती है। मुंह का स्वाद खराब होने के साथ-साथ कुछ अन्य लक्षण भी हो सकते हैं, जैसे स्वाद को बिलकुल ही महसूस ना कर पाना, मुंह अंदर से लाल होना, दर्द, सांसों से बदबू आना और खांसी आदि। 

(और पढ़ें - काली खांसी के लक्षण)

मुंह का स्वाद एक या दो दिन तक भी ठीक ना हो पाए तो इस स्थिति के कारण का पता लगाने के लिए अपने डॉक्टर की मदद लें। इसके अलावा यदि आपके सूंघने की क्षमता या भूख में किसी प्रकार का बदलाव हुआ है तो डॉक्टर को इस बारे में भी जरूर बता दें।

मुंह का स्वाद कड़वा होने से बचाने के लिए नियमित रूप से ब्रश, फ्लॉस (धागे से दांत साफ करना) व जीभ की सफाई करते रहें और अपने मुंह को साफ रखें। इसके अलावा धूम्रपान छोड़ना व पर्याप्त मात्रा में पानी पीते रहना भी मुंह का स्वाद कड़वा होने से बचाने के लिए बहुत जरूरी होता है।

मुंह का स्वाद कड़वा होने की स्थिति का उपचार करने के लिए इसका कारण बनने वाली स्थिति का पता लगाया जाता है और उसका इलाज किया जाता है। हालांकि ज्यादातर लोग सामान्य घरेलू उपचार की मदद से ही इस स्थिति का इलाज कर लेते हैं। 

(और पढ़ें - धूम्रपान छोड़ने के घरेलू उपाय)

  1. मुंह का स्वाद खराब होना क्या है - What is Bad Taste in Mouth in Hindi
  2. मुंह का स्वाद खराब (कड़वा) होने के लक्षण - Bad Taste in Mouth Symptoms in Hindi
  3. मुंह का स्वाद कड़वा होने के कारण व जोखिम कारक - Bad Taste in Mouth Causes Risk Factors in Hindi
  4. मुंह का स्वाद खराब होने के बचाव - Prevention of Bad Taste in Mouth in Hindi
  5. मुंह का स्वाद कड़वा होने का परीक्षण - Diagnosis of Bad Taste in Mouth in Hindi
  6. मुंह का स्वाद खराब (कड़वा) होने का इलाज - Bad Taste in Mouth Treatment in Hindi
  7. मुंह का स्वाद खराब होने की जटिलताएं - Bad Taste in Mouth Complications in Hindi
  8. मुंह का स्वाद खराब (कड़वा) होना के डॉक्टर

मुंह का स्वाद खराब होना क्या है?

मुंह का स्वाद बिगड़ जाना एक आम समस्या होती है। इसमें मुंह का स्वाद कड़वा, खट्टा या बदबूदार हो जाता है, जो आमतौर पर आपके द्वारा खाए गए भोजन के प्रति रिएक्शन होता है। हालांकि यदि यह समस्या लगातार बनी रहती है या बार-बार हो रही है, तो चिंता का कारण बन सकती है। 

(और पढ़ें - मुंह की बदबू के लक्षण)

मुंह का स्वाद खराब होने के लक्षण क्या हैं?

मुंह का स्वाद कड़वा होना या खराब होना खुद में एक लक्षण होता है। यह अन्य कई स्थितियों के साथ जुड़ा हो सकता है, जो आमतौर इसका कारण बनने वाली समस्याओं के अनुसार विकसित होती हैं:

(और पढ़ें - छाती में जलन के लिए क्या करें)

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि आपको लगता है कि हेपेटाइटिस या अन्य किसी गंभीर समस्या के कारण आपके मुंह का स्वाद खराब हो रहा है, तो आपको जल्द से जल्द डॉक्टर के पास जाकर चेकअप करवाना चाहिए।

यदि आपको मुंह का स्वाद बिगड़ने के साथ-साथ स्वास्थ्य संबंधी निम्नलिखित कोई अन्य लक्षण भी महसूस हो रहा है, तो भी जल्द से जल्द डॉक्टर के पास चले चले जाना चाहिए, जैसे: 

(और पढ़ें - वायरल बुखार का इलाज)

मुंह का स्वाद खराब क्यों होता है?

स्वास्थ्य संबंधी ऐसी बहुत सारी समस्याएं हैं, जो मुंह के स्वाद को बिगाड़ देती हैं, जैसे:

  • एसिड रिफ्लक्स:
    जब पेट के अम्ल वापस भोजन नली में आ जाएं, तो इससे एसिड रिफ्लक्स या सीने में जलन की समस्या हो जाती है। (और पढ़ें - एसिडिटी का इलाज)
     
  • मुंह की स्वच्छता:
    दांतों में कैविटी (कीड़ा लगना), मसूड़ों के रोग, फोड़ा बनना और मुंह या दांतों में इन्फेक्शन होने से भी मुंह का स्वाद कड़वा हो जाता है।  (और पढ़ें - फंगल इन्फेक्शन का इलाज)
     
  • मुंह सूखना:
    लार मुंह को स्वस्थ रखने के लिए बहुत जरूरी होती है, क्योंकि यह मुंह मे मौजूद बैक्टीरिया को कम कर देती है और मुंह में फंसे भोजन के टुकड़ों को भी निकाल देती है। मुंह में लार की कमी हो जाने पर मुंह सूखने लग जाता है या उसमें चिपचिपापन आ जाता है, जिसके साथ-साथ मुंह का स्वाद कड़वा होना और सांसों से बदबू आना आदि समस्याएं भी होने लग जाती हैं। कुछ प्रकार की दवाएं खाना, तम्बाकू चबाना और अधिक उम्र हो जाना भी मुंह का स्वाद खराब होने का कारण बन सकता है।  (और पढ़ें - बैक्टीरियल वेजिनोसिस के उपचार)
     
  • श्वसन तंत्र में संक्रमण:
    टॉन्सिल, साइनस और मध्य कान में संक्रमण होने से मुंह के अंदर धातु (तांबा आदि) के जैसा स्वाद आ जाता है।  (और पढ़ें - कान के रोग का इलाज)
     
  • हार्मोन में बदलाव:
    गर्भावस्था के शुरुआती समय में हार्मोन के स्तर में बदलाव होने लग जाते हैं, जिसके कारण मुंह का स्वाद खराब हो जाता है और सांसों में भी बदबू हो जाती है। गर्भावस्था का शुरुआती समय जाने के बाद ज्यादातर महिलाओं के मुंह का स्वाद ठीक हो जाता है।  (और पढ़ें - गर्भावस्था में होने वाली समस्या)
     
  • रजोनिवृत्ति:
    रजोनिवृत्ति से होने वाले हार्मोन के बदलाव में भी मुंह सूखने लग जाता है, जो मुंह का स्वाद कड़वा होना और सांस से बदबू आना आदि से जुड़ा होता है।  (और पढ़ें - समय से पहले रजोनिवृत्ति रोकने के उपाय)
     
  • कैंसर थेरेपी:
    कीमोथेरेपी और रेडिएशन थेरेपी से भी मुंह का स्वाद बिगड़ जाता है। इनसे मुंह का स्वाद अक्सर कड़वा या खट्टा हो जाता है।  (और पढ़ें - कैंसर का इलाज)
     
  • न्यूरोलॉजिकल समस्याएं:
    जब मस्तिष्क की नसें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो स्वाद की पहचान करने में बदलाव होने लग जाता है। कुछ न्यूरोलॉजिकल स्थितियां हैं, जो मुंह के स्वाद को खराब कर देती है, जैसे:

 (और पढ़ें - मिर्गी रोग के लिए घरेलू उपाय)

मुंह का स्वाद कब खराब होता है?

कुछ स्थितियां हैं, जो मुंह का स्वाद खराब होने की संभावना को बढ़ा देती है, जैसे: 

  • विटामिन:
    रोजाना विटामिन की गोलियां व अन्य सप्लीमेंट्स लेने से मुंह का स्वाद खराब होने लग जाता है। अन्य कई सप्लीमेंट्स हैं, जो मुंह का स्वाद खराब कर सकते हैं, जैसे: 
  • दवाएं:
    ऐसी कई प्रकार की दवाएं हैं, जिन्हें खाने से मुंह में धातु जैसा स्वाद आने लग जाता है। इनमें मुख्य रूप से ये दवाएं शामिल हैं:
  • ओरल थ्रश:
    यह मुंह में होने वाला एक संक्रमण हैं, जो कैंडिडा फंगस अधिक बढ़ने के कारण होता है। ओरल थ्रश ज्यादातर शिशुओं, वृद्ध व्यक्तियों, डायबिटीज के मरीजों और जो लोग एंटीबायोटिक लेते हैं, उनको होता है। हालांकि यह किसी को भी हो सकता है। (और पढ़ें - डायबिटीज में क्या खाना चाहिए)
     
  • हेपेटाइटिस बी:
    यह लीवर में होने वाला एक प्रकार का इन्फेक्शन होता है और यदि इसका इलाज ना किया जाए तो यह जीवन के लिए हानिकारक हो सकता है। मुंह का स्वाद खराब होना इसके लक्षणों में से एक हो सकता है।  (और पढ़ें - लीवर रोग का इलाज)
     
  • केमिकल पदार्थों से संपर्क में आना:
    यदि कोई व्यक्ति शक्तिशाली मरकरी (पारा) या लेड आदि के संपर्क में आता है या फिर इनकी गंध सूंघ लेता है, तो उनके मुंह का स्वाद बिगड़ जाता है।

(और पढ़ें - हेपेटाइटिस बी का इलाज)

मुंह का स्वाद खराब होने से कैसे बचाव करें?

निम्नलिखित कुछ उपाय है जिनकी मदद से मुंह का स्वाद कड़वा होने से बचाव किया जा सकता है:

  • दांतों संबंधी समस्याएं होने से बचाव करने के लिए रोजाना ब्रश व फ्लॉस (धागे से साफ करना) करें।
  • रोजाना अपनी जीभ साफ करें।
  • अपने दांतों व मसूड़ों को स्वस्थ रखने के लिए नियमित रूप से डेंटिस्ट (दांतों के डॉक्टर) के पास जाते रहें और जांच करवाते रहें।
  • मीठे पदार्थों को अधिक मात्रा में ना खाएं, क्योंकि ये खाद्य पदार्थ ओरल थ्रश का कारण बन सकते हैं।
  • खाद्य पदार्थों जैसे वसायुक्त व मसालेदार खाना न खाएं क्योंकि ये एसिड रिफ्लक्स का कारण बन सकते हैं।
  • बिना मीठे की चुइंगम चबाएं, ऐसा करने से लार बनने की मात्रा बढ़ जाती है।
  • रोजाना पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। (और पढ़ें - रोज कितना पानी पीना चाहिए)
  • धूम्रपान ना करें।
  • शराब ना पिएं। (और पढ़ें - शराब छुड़ाने के उपाय)
  • कैफीन (चायकॉफी आदि) और सोडा आदि जैसे पेय पदार्थों को भी कम से कम मात्रा में पिएं।

(और पढ़ें - ग्रीन कॉफी के फायदे)

मुंह का स्वाद खराब होने की जांच कैसे की जाती है?

इस स्थिति की जांच आपके लक्षणों के आधार पर की जाती है। परीक्षण के दौरान डॉक्टर आप से मुंह के स्वाद से जुड़े कुछ सवाल पूछेंगे, जिसकी मदद से वे अंदरुनी समस्या का  पता लगाने की कोशिश करेंगे। इस दौरान डॉक्टर आमतौर पर निम्नलिखित प्रकार के सवाल पूछ सकते हैं:

  • क्या सभी भोजन व पेय पदार्थों का स्वाद एक जैसा लगता है?
  • आप कितने समय में डेंटिस्ट के पास जाते हैं? (और पढ़ें - क्रिएटिनिन टेस्ट क्या है)
  • आपने हाल ही में कौन सी दवा खाई थी या अभी भी खा रहे हैं?
  • स्वाद संबंधी समस्या कितने समय से है?
  • क्या आप सामान्य रूप से सभी खाद्य पदार्थों का स्वाद महसूस कर पा रहे हैं?
  • क्या आपने अपना टूथपेस्ट या माउथवॉश बदला है? (और पढ़ें - कोलेस्ट्रॉल टेस्ट इन हिंदी)
  • मुंह का स्वाद खराब होने के अलावा आपको और कौन से लक्षण महसूस हो रहे है?
  • क्या आप धूम्रपान करते हैं?
  • क्या आपको खाने या चबाने में कठिनाई हो रही है?

(और पढ़ें - एचएसजी टेस्ट क्या है)

इस दौरान डॉक्टर आपके मुंह के अंदर की जांच करेंगे जिसमें दांत, गाल, जीभ और गला शामिल है। जांच के दौरान मुंह से सभी भागों में किसी प्रकार की असामान्यता का पता लगा लिया जाता है।

आपके लक्षणों के आधार पर डॉक्टर आपको कुछ टेस्ट करवाने के लिए भी कह सकते हैं,जैसे:

(और पढ़ें - यूरिन टेस्ट क्या है)

मुंह का स्वाद खराब होने का इलाज कैसे करें?

मुंह का स्वाद बिगड़ने या कड़वे स्वाद का इलाज करने के लिए निम्नलिखित तरीके अपनाए जा सकते हैं:

  • मुंह की स्वच्छता बनाए रखना:
    मुंह में बदबू होने या स्वाद खराब होने से बचाव करने के लिए मुंह को स्वच्छ रखना बहुत जरूरी होता है। फ्लोराइड वाले टूथपेस्ट के साथ लगातार 2 मिनट तक अपने दांतों के ब्रश करें। एक दिन में दो बार ब्रश करना चाहिए। दांतों को ब्रश करने के साथ-साथ फ्लॉस भी कर लेना चाहिए और अपनी जीभ को भी साफ कर लेना चाहिए। दांतों की उन जगहों पर जहां ब्रश नहीं पहुंच पाते वहां पर फ्लॉसिंग से सफाई की जा सकती है। ( और पढ़ें - टूथपेस्ट के हैरान कर देने वाले फायदे)
     
  • जीभ को साफ करना:
    जीभ को साफ करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले उपकरण को टंग स्क्रेपर (Tongue Scraper) कहा जाता है। टंग स्क्रेपर को जीभ के अगले भाग से पीछे की तरफ ले जा सकते हैं, ऐसा हल्के दबाव के साथ करना चाहिए। बेहतर परिणाम के लिए इसे दो या तीन बार करें।
     
  • दांतों के ब्रश करने के लिए बेकिंग सोडा का इस्तेमाल करना:
    बेकिंग सोडा मुंह का स्वाद बिगड़ने का एक सामान्य इलाज है। बेकिंग सोडा को अपने ब्रश पर रख कर उसके साथ कम से कम 3 मिनट ब्रश करें और फिर टूथपेस्ट से ब्रश करें। इसे दिन में दो बार करने से मुंह का खराब स्वाद ठीक हो सकता है। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के फायदे)
     
  • खट्टे फल:
    यदि आपके मुंह का स्वाद कड़वा या खराब हो गया है, तो खट्टे फल खाकर इसे ठीक किया जा सकता है। खट्टे फल खाने से लार बनने की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे मुंह का खराब स्वाद ठीक हो जाता है। संतरा या नींबू आदि खाकर मुंह के खराब स्वाद को ठीक किया जा सकता है। (और पढ़ें - नींबू पानी के गुण)
     
  • कुल्ला करना:
    मुंह का स्वाद बिगड़ने पर कुल्ला करना भी काफी लाभदायक हो सकता है। पानी में एक छोटी चम्मच क्लोरहेक्सिडीन मिलाकर उससे लगातार एक मिनट तक कुल्ला करना चाहिए। दिन में ऐसा दो बार करने से मुंह का स्वाद ठीक हो जाता है।
     
  • एंटासिड्स:
    यदि एसिड रिफ्लक्स के कारण मुंह का स्वाद खराब हो गया है, तो उसका इलाज करने के लिए एंटासिड्स सबसे बेहतर दवा है। एंटासिड्स दवाएं लेने से एसिड रिफ्लक्स की समस्या ठीक हो जाती है और इससे जुड़े लक्षण भी नहीं हो पाते जिन में मुंह का स्वाद खराब होना भी शामिल है। एंटासिड्स दवाएं डॉक्टर की पर्ची के बिना ही मेडिकल स्टोर से मिल जाती हैं, यदि इनसे लक्षण ठीक ना हो पाएं तो डॉक्टर एसिड रिफ्लक्स के लिए अन्य दवाएं लिखते हैं।

मुंह का स्वाद बिगड़ने पर कुछ अन्य उपाय भी किए जा सकते हैं जो एसिड रिफ्लक्स के लिए काफी लाभदायक होते हैं, जैसे:

  • पेट में एसिड का स्तर कम करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीना
  • मसालेदार खाना खाने के बाद पेपरमिंट (एक प्रकार का पुदीना) लेना
  • कम से कम एक छोटी चम्मच दालचीनी चबाना

(और पढ़ें - पुदीने की चाय के फायदे)

एसिड रिफ्लक्स से क्या जटिलताएं हो सकती हैं?

मुंह का स्वाद बिगड़ना किसी गंभीर बीमारी का संकेत भी दे सकता है। इसलिए यदि इस स्थिति का इलाज ना किया जाए तो इससे गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं और शरीर में स्थायी रूप से किसी प्रकार की क्षति भी हो सकती है। 

जब इस स्थिति के अंदरुनी कारणों का इलाज हो जाता है तो डॉक्टर द्वारा निर्धारित इलाज का पालन करना बहुत जरूरी होता है। क्योंकि वह इलाज विशेष रूप से आपके लिए तैयार किया जाता है, जो निम्नलिखित संभावित जटिलताओं से बचाता है:

(और पढें - बैक्टीरियल संक्रमण का कारण)

Dr. Kapil Sharma

Dr. Kapil Sharma

सामान्य चिकित्सा

Dr. Mayank Yadav

Dr. Mayank Yadav

सामान्य चिकित्सा

Dr. Nilesh shirsath

Dr. Nilesh shirsath

सामान्य चिकित्सा

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...