myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

गले के छाले बहुत दर्दनाक और मरीज को परेशान कर देने वाली स्थिति पैदा कर देते हैं। गले में छाले अक्सर किसी अंदरुनी बीमारी के संकेत के रूप में भी विकसित हो जाते हैं। गले के घावों या छालों से होने वाला दर्द आपके बोलने, खाने, पीने और चबाने की क्षमता को कम कर देता है। अगर गले में छाले काफी अधिक बढ़ जाए तो जल्द से जल्द अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं। गले में छाले के शुरूआती लक्षणों के लिए आप कुछ घरेलू उपाय भी इस्तेमाल कर सकते हैं। यह उपाय आपके गले के छालों को दूर करने में मदद करेंगे।

(और पढ़ें - मुंह के छाले के लक्षण)

तो चलिए इस लेख में आपको बताते हैं गले में छाले मिटाने के उपाय –

  1. गले में छाले के घरेलू उपाय - Gale me chhale ke gharelu upay
  2. गले के छाले कैसे ठीक करें - Gale ke chhale kaise theek kare
  3. गले के छाले दूर करने के उपाय - Gale ke chhale door karne ke upay
  4. गले के छाले मिटाने के टिप्स - Gale ke chhale mitane ke tips

गले के छाले दूर करने के लिए शहद का इस्तेमाल करें - Gale ke chhale door karne ke liye shehad ka istemal kare

जब बात गले के छाले ठीक करने की आती है तो शहद बहुत ही बेहतरीन उपाय माना जाता है, क्योंकि शहद में संक्रमण को खत्म करने के गुण मौजूद होते हैं। शहद में अधिक मात्रा में पानी भी होता है जो छाले के इलाज में तेजी लाता है। गले के छालों को ठीक करने के लिए आप शहद को मुंह में डालें और कुछ मिनट तक उससे कुल्ला करें। आप पानी में शहद डालकर भी गरारे कर सकते हैं। इस उपाय को पूरे दिन में दो से तीन बार दोहराएं। आप शहद को चाय के तौर पर ले सकते हैं या पूरे दिन में एक छोटा चम्मच शहद भी खा सकते हैं। इससे गले के छाले तो ठीक होंगे ही, साथ ही कफ की समस्या भी कम होगी।

(और पढ़ें - गले में दर्द के लक्षण)

गले के छाले ठीक करने का उपाय है ग्रीन टी - Gale ke chhale theek karne ka upay hai green tea

ग्रीन टी में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट मौजूद होते हैं। इससे न सिर्फ संक्रमण कम होता है, बल्कि फैलने से भी रुकता है। गले में छालों को ठीक करने के लिए ग्रीन टी बेहद प्रभावी उपाय है। ग्रीन टी का आप दो तरीकों से इस्तेमाल कर सकते हैं -

पहला तरीका -

सामग्री -

  1. ग्रीन टी की पत्तियां। (और पढ़ें - ग्रीन टी के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले चार से पांच ग्रीन टी की पत्तियों को लें और फिर उन्हें अच्छे से धो लें।
  2. अब पत्तियों के बीच में चुटकीभर नमक डालें।
  3. फिर पत्तियों को मुंह में रखकर 10 से 15 मिनट तक चबाएं।
  4. इस तरह ग्रीन टी की पत्तियों का जूस गले तक पहुंचेगा और गले में छाले की समस्या धीरे-धीरे कम होने लगेगी।
  5. अब मुंह को साफ पानी से धो लें।
  6. इस तरह आप देखेंगे कि गले में छाले कम होते जा रहे हैं।

दूसरा तरीका -

सामग्री -

  1. ग्रीन टी पत्तियां।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले एक कप गर्म पानी लें।
  2. अब उसमें ग्रीन टी की पत्तियों को मिलाएं या फिर आप ग्रीन टी बैग का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।
  3. फिर पांच मिनट तक पानी को ऐसे ही उबालते रहें।
  4. अब ग्रीन टी थोड़ी ठंडी हो जाने के बाद पी जाएं।
  5. गले के छाले ठीक करने के लिए आप सुबह-सुबह ग्रीन टी पी सकते हैं।
  6. अगर आप अनिद्रा की समस्या से पीड़ित हैं तो ग्रीन टी को शाम में पीने की बजाए सुबह में पिएं।

(और पढ़ें - गले में दर्द के घरेलू उपाय

गले के छाले मिटाने के लिए नमक के पानी से गरारे करें - Gale ke chhale mitane ke liye namak ke pani se garare kare

छालों में द्रव की वजह से उसके आसपास की त्वचा में सूजन आने लगती है, ऐसे में नमक का पानी अत्यधिक मवाद को निकालने में मदद करता है। नमक का पानी गले की श्लेष्म झिल्ली की कोशिकाओं में आई सूजन को भी कम करता है। गले के छाले ठीक करने के लिए डॉक्टर भी नमक के पानी से गरारे करने की सलाह देते हैं।

नमक के पानी का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एक छोटा चम्मच नमक। (और पढ़ें - नमक के फायदे)
  2. एक ग्लास गुनगुना पानी। (और पढ़ें - गुनगुना पानी पीने के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले एक ग्लास पानी को गुनगुना कर लें।
  2. अब उसमें एक छोटा चम्मच नमक मिला दें।
  3. अच्छे से मिलाने के बाद मिश्रण को मुंह में लें और एक मिनट तक गरारे करें।
  4. जब तक गले के छाले ठीक न हो जाएं तब तक इस उपाय को पूरे दिन में दो से तीन बार दोहराएं।

(और पढ़ें - गले में इन्फेक्शन के लक्षण

गले में छाले होने का उपाय है मुलेठी - Gale me chhale hone ka upay hai mulethi

मुलेठी एनाल्जेसिक की तरह कार्य करती है और यह श्लेष्म झिल्ली के आसपास सुरक्षा परत बनाती है। मुलेठी संक्रमण से लड़ने में मदद करती है, जिसकी वजह से छाले होते हैं। मुलेठी में सूजनरोधी और एंटीबैक्टीरियल गुण भी होते हैं, जो गले में छालों की वजह से होने वाले दर्द और जलन से राहत दिलाते हैं। रिसर्चर की सलाह है कि स्तनपान कराने वाली महिलायें या गर्भवती महिलायें मुलेठी का इस्तेमाल न करें।

मुलेठी का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एक से दो बड़ा चम्मच कूटी हुई मुलेठी की डंडी। (और पढ़ें - मुलेठी के फायदे)
  2. एक ग्लास पानी।

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले एक ग्लास पानी में मुलेठी की डंडी को दो से तीन घंटे तक भिगोकर रखें।
  2. अब इस पानी का इस्तेमाल पूरे दिन में कई बार गरारे करने के लिए करें।
  3. इस उपाय को तब तक आजमाएं जब तक गले के छाले अच्छे से ठीक न हो जाएं।

(और पढ़ें - गले में सूजन के लक्षण

गले के छाले टमाटर से ठीक होते हैं - Gale ke chhale tamatar se thik hote hai

टमाटर में विटामिन ए होता है। यह कई फायदेमंद पोषक तत्वों से समृद्ध होता है जैसे केरोटीन, लाइकोपीन, विटामिन और पोटैशियम। यह सभी पोषक तत्व स्वास्थ्य के लिए बेहद अच्छे होते हैं। खासकर, विटामिन बी, विटामिन सी और बीटा कैरोटीन शरीर में ऑक्सीडेशन से लड़ने में मदद करते हैं, इससे हृदय रोग और कैंसर का जोखिम कम हो जाता है। टमाटर पाचन क्रिया को ठीक रखता है और इस तरह गले में छालों की परेशानी नहीं होती।

टमाटर का इस्तेमाल दो तरीकों से कर सकते हैं -

पहला तरीका -

सामग्री -

  1. एक टमाटर। (और पढ़ें - टमाटर के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. टमाटर को धोकर आप उसे कच्चा भी खा सकते हैं। यह गले के छाले के लिए बेहद प्रभावी है।

दूसरा तरीका -

सामग्री -

  1. दो से तीन टमाटर

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले दो से तीन टमाटर को मिक्सर में डाल दें।
  2. अब उसका जूस निकलने के बाद उसे पी जाएं।
  3. इसी तरह पूरे दिन में दो से तीन कप टमाटर का जूस जरूर पिएं।
  4. इससे न सिर्फ आपके गले के छाले ठीक होंगे बल्कि आपकी रंगत में भी सुधार आएगा।

(और पढ़ें - गले की खराश दूर करने के उपाय

गले में छाले होने पर मिश्री और कपूर का उपयोग करें - Gale me chhale hone par misri aur kapoor ka upyog kare

मिश्री और कपूर गले के छाले के लिए बेहतरीन उपाय है। यह उपाय प्राकृतिक और आसान है।

मिश्री और कपूर का इस्तेमाल कैसे करें -

सामग्री -

  1. एक बड़ी चम्मच मिश्री। (और पढ़ें - मिश्री के फायदे)
  2. एक कपूर। (और पढ़ें - कपूर के फायदे)

बनाने व उपयोग करने का तरीका -

  1. सबसे पहले मिश्री और कपूर को एक साथ मिक्सर में मिक्स कर लें। मिक्सर से मिक्स करने से पाउडर तैयार होगा।
  2. आप पाउडर को एक कप पानी में डालकर गरारे भी कर सकते हैं या फिर पाउडर में पानी डालकर पेस्ट तैयार कर लें और फिर उस पेस्ट को मुंह में रखें। कुछ मिनट तक पेस्ट को मुंह में घुमाते रहें।
  3. अब थूक दें और फिर मुंह में पानी लेकर कुल्ला करें।

(और पढ़ें - गले में इन्फेक्शन के उपाय

दही खाने से होते हैं गले के छाले ठीक - Dahi khane se hote hai gale ke chhale theek

दही किण्वित दूध (Fermented milk) से बनता है। दही खाने से पाचन क्रिया एकदम स्वस्थ रहती है, लेकिन रोजाना दही खाने से गले के छालों से भी काफी आराम मिलता है। यह बेहद आसान उपाय है जो मुंह के बैक्टीरिया को संतुलित रखने में मदद करता है। अगर मुंह के बैक्टीरिया संतुलित नहीं होते हैं, तो इससे गले के छाले और बढ़ सकते हैं। गले के छाले कम करने के लिए रोजाना दही जरूर खाएं।

(और पढ़ें - खांसी के लक्षण)

गले के छाले ठीक करने से देसी घी और नारियल के तेल का प्रयोग करें - Gale ke chhale theek karne se desi ghee aur nariyal tel

गले के छाले ठीक करने के लिए नारियल तेल प्राकृतिक उपाय है। मुंह में नारियल का तेल लेकर उससे कुल्ला करें या फिर एक कप पानी में दो बड़े चम्मच नारियल का तेल डालकर भी गरारे कर सकते हैं। इस उपाय का इस्तेमाल हर तीसरे दिन करें। यह दर्द और सूजन कम करने में आपकी मदद करेगा। ऐसे ही, गले के छाले दूर करने के लिए देसी घी भी बेहद लाभदायक है। एक छोटा चम्मच देसी घी मुंह में लें और कुछ मिनट तक उसे मुंह में घुमाते रहें। इस उपाय को तब तक आजमाएं जब तक पूरी तरह से गले के छाले ठीक न हो जाएं।

(और पढ़ें - टॉन्सिल के लक्षण)

तुलसी के पत्ते रखें गले के छाले दूर - Tulsi ke patte rakhe gale ke chhale door

तुलसी की पत्तियां गले के छाले के लिए अच्छी होती हैं। बस आपको तुलसी की पत्तियों को कुछ देर चबाकर निगलना है। तुलसी का स्वाद थोड़ा तीखा और कड़वा लग सकता है, लेकिन ये उपाय गले के छालों के लिए बेहद प्रभावी है।

इसके अलावा आप मुट्ठीभर तुलसी की पत्तियों को दो कप पानी में डालकर गर्म करने के लिए छोड़ दें। तीन मिनट बाद गैस बंद कर दें और मिश्रण को थोड़ा गुनगुना होने के लिए रख दें। अब इस मिश्रण को छान लें और फिर दो से तीन मिनट तक गरारे करें। इस उपाय को पूरे दिन में तीन से चार बार दोहरा सकते हैं।

(और पढ़ें - गले में खराश हो तो क्या करें)

गले के छाले  मिटाने के टिप्स इस प्रकार हैं –

  • मसालेदार खाना या खट्टी चीजें न खाएं। ऐसे माउथवाश या पेय पदार्थ का इस्तेमाल न करें जिसमें अल्कोहल होता है। तम्बाकू और धूम्रपान न करें, इनसे गले के छाले और बढ़ सकते हैं।
  • एकदम मुलायम, क्रीमी और हल्के खाद्य पदार्थों को खाएं जैसे चीज, मसले हुए आलू और दही।
  • ऐसे चीजें न खाएं जो चबाने में सख्त हो जैसे चिप्स, नट्स और कुछ फलसब्जियां। 
  • गले के छालों को ठीक करने के लिए नमक के पानी, गर्म पानी और बेकिंग सोडा से गरारे करें, लेकिन इन मिश्रण को आपने निगलना नहीं है।
  • गुनगुने या ठंडे खाद्य पदार्थ या पेय पदार्थ लेने से आपके गले को काफी आराम पहुंचेगा।
  • पूरे दिन ज्यादा से ज्यादा पेय पदार्थ पिएं, खासकर पानी। (और पढ़ें - पानी कब कितना और कैसे पीना चाहिए)
  • ऐसी दवाइयों का इस्तेमाल न करें जिनसे आपके गले में परेशानी हो जैसे एस्पिरिन, आइबुप्रोफेन और एलेंड्रोनिक एसिड।
  • गर्ड (एसिड भाटा रोग) का जोखिम कम करने के लिए वजन को नियंत्रित रखें और ऐसे खाद्य पदार्थ न खाएं जिनमें एसिड की मात्रा अधिक हो।
  • रात को सोने से पहले ज्यादा फैट वाला खाना न खाएं।

(और पढ़ें - गले में कुछ अटक जाए तो क्या करें

और पढ़ें ...